अकात्सुकी मिशन

मिशन प्रकार, ऑर्बिटर. मुख्य ग्रह, शुक्र. कक्षीय प्रविष्टि ... अकात्सुकी (जापानी: あかつき, 暁, Akatsuki), एक जापानी मानवरहित अंतरिक्ष यान है, जिसका उद्देश्य शुक्र ग्रह का अन्वेषण था | इसे 20 मई 2010 को एक H-IIA 202 रॉकेट पर लादकर प्रमोचित किया गया था | 

जहां औसत तापमान 460 डिग्री सेल्सियस है

जहां औसत तापमान 460 डिग्री सेल्सियस है

हम जब भी अंतरिक्ष में जाने की बात करते हैं, हमारे ज़ेहन में चांद पर जाने या फिर मंगल ग्रह पर जाने का ख़्याल सबसे पहले आता है.

ये दोनों धरती के सबसे क़रीब जो हैं. मगर, एक और ग्रह जो धरती के क़रीब है वो है शुक्र. वहां जाने की ज़्यादा बात नहीं होती है.

लेकिन अब अमरीका और रूस के अलावा यूरोपीय देशों की स्पेस एजेंसी भी शुक्र ग्रह पर मिशन भेजने की तैयारी कर रही है.

शुक्र ग्रह, हमारे सौर मंडल के सबसे भयानक माहौल वाले ग्रहों में से एक है. ये पूरी तरह से गंधक के एसिड के बादलों से ढका है. Read More : जहां औसत तापमान 460 डिग्री सेल्सियस है about जहां औसत तापमान 460 डिग्री सेल्सियस है