आड़ू का फल

आडू की खेती

आड़ू या सतालू (अंग्रेजी नाम : पीच (Peach); वास्पतिक नाम : प्रूनस पर्सिका; प्रजाति : प्रूनस; जाति : पर्सिका; कुल : रोज़ेसी) का उत्पत्तिस्थान चीन है। कुछ वैज्ञानिकों का मत है कि यह ईरान में उत्पन्न हुआ। यह पर्णपाती वृक्ष है। भारतवर्ष के पर्वतीय तथा उपपर्वतीय भागों में इसकी सफल खेती होती है। ताजे फल खाए जाते हैं तथा फल से फलपाक (जैम), जेली और चटनी बनती है। फल में चीनी की मात्रा पर्याप्त होती है। जहाँ जलवायु न अधिक ठंढी, न अधिक गरम हो, 15 डिग्री फा. से 100 डिग्री फा.

आडू खाने के फायदे

आडू को अंग्रेजी में पीच कहा जाता है| यह एक फल होता है जो पीले कलर का होता है| इसमें अधिक बीज पाए जाते है| यह कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, मिनरल्स और फाइबर से भरपूर होता है जो शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होता है| 1. इस फल में कैलोरी बहुत कम होती है जो शरीर के लिए लाभदायक होता है| इसका सेवन आप नाश्ते में कर सकते हैं| आपका पेट लम्बे समय तक भरा भरा रहेगा| इसको खाने से मोटापे को आसानी से कंट्रोल किया जा सकता है| 2. विटामिन सी आड़ू में अधिक होता है जो शरीर में विटामिन की कमी को पूरा करता है| इसको खाने से इम्यून सिस्टम हैल्दी रहता है| 3.