इंगलिश आइवी प्‍लांट

टॉक्सिकोडेंड्रोन रेडिकंस (पॉइज़न आइवी ; पुराने समानार्थक शब्द रुस टॉक्सिकोडेंड्रोन, रुस रेडिकंस), ऐनाकार्डियासी परिवार का एक पौधा है। यह एक जंगली लता है जो युरुशियोल नामक एक त्वचा प्रदाहक उत्पन्न करने की अपनी क्षमता के लिए काफी मशहूर है जो अधिकांश लोगों में होने वाली एक खुजली वाली फुंसी का कारण है जिसे तकनीकी तौर पर युरुशियोल-प्रेरित संपर्क त्वचादाह के रूप में जाना जाता है लेकिन यह एक वास्तविक आइवी (हेडेरा) नहीं है।

पॉइज़न आइवी के पर्णपाती पत्ते, बादाम के आकार के तीन पत्रक युक्त त्रिपत्रधारी होते हैं। पत्ते का रंग हल्का हरा (आम तौर पर युवा या नई पत्तियां) से लेकर गाढ़ा हरा (परिपक्व पत्तियां) होता है, जो पतझड़ में चमकीले लाल रंग में बदल जाते हैं; हालांकि अन्य सूत्रों का कहना है कि पत्तियां लालनुमा होती हैं जब ये बढ़ रही होती हैं, परिपक्व या परिपूर्ण रूप से बढ़ जाने पर हरे रंग की हो जाती हैं और उसके बाद पतझड़ में या इनके झड़ने के दौरान ये फिर से लाल, नारंगी, या पीले रंग में बदल जाती हैं। परिपक्व पत्तियों के पत्रक कुछ-कुछ चमकीले होते हैं। इनके पत्रक 3 से 12 सेमी. तक लम्बे होते हैं और शायद ही कभी ये 30 सेमी. तक लम्बे होते हैं। प्रत्येक पत्रक के किनारों पर दांतों की संख्या बहुत कम संख्या में या बिलकुल ही नहीं होती है। लताओं पर स्थित पत्रक समूह एकांतर क्रम में होते हैं और इस पौधे में कांटे बिलकुल ही नहीं होते हैं। पेड़ के तने पर बढ़नेवाली लताएं कई हवाई लाघुमूलों के माध्यम से काफी मजबूती से जुड़ जाती हैं। लताएं अपस्थानिक जड़ों को विकसित करती हैं, या पौधे प्रकंदों या मूल शिखरों से फ़ैल सकते हैं। पॉइज़न आइवी का दूधिया रस हवा के संपर्क में आने के बाद काला हो जाता है।

पॉइज़न आइवी वानस्पतिक या लैंगिक दोनों रूप से फैलता है। पॉइज़न आइवी डाइऑइसियस होते हैं; इस पौधे में मई से जुलाई तक फूल लगते हैं। पीलानुमा- या हरानुमा-सफ़ेद फूल आम तौर पर अस्पष्ट होते हैं जो पतियों के ऊपर 8 सेमी. तक स्थित समूहों में अवस्थित होते हैं। इसका फल बेर जैसा और गुठलीदार होता है जो अगस्त से नवम्बर तक पक जाता हैं और पकने के बाद भूरापन लिए हुए सफ़ेद रंग का होता है। इसका फल कुछ पक्षियों और अन्य पशुओं के लिए सर्दियों के मौसम का एक पसंदीदा भोजन है। इनके बीज मुख्य रूप से पशुओं द्वारा फैलते हैं और पाचक नली से होकर गुजरने के बाद भी इनमें जीवन की क्षमता होती है।

पहचान में सहायक[संपादित करें]
अधिकांश स्थितियों में पॉइज़न आइवी की पहचान के लिए निम्नलिखित तीन विशेषताएं पर्याप्त हैं: (a) तीन पत्रकों का समूह, (b) एकांतर पत्र व्यवस्था और (c) कांटों का अभाव. हालांकि असंख्य अन्य पौधे इस सरलीकृत वर्णन के अनुरूप होते हैं, लेकिन फिर भी इन मानदंडों वाले किसी भी पौधे से उन लोगों को अपने सहज ज्ञान का इस्तेमाल करके बचना चाहिए जो पॉइज़न आइवी की पहचान से अपरिचित हैं। पत्तियों के क्षतिग्रस्त होने, सर्दियों के मौसम में पत्तीरहित होने और पर्यावरण/या आनुवंशिक कारकों के कारण आसामान्य वृद्धि के दौरान अनुभवी लोगों द्वारा इसकी पहचान कर पाना अक्सर मुश्किल हो जाता है।

विभिन्न स्मरक काव्यात्मक पंक्तियां, पॉइज़न आइवी के अभिलाक्षणिक रूप का वर्णन करती हैं:

"लीव्स ऑफ़ थ्री, लेट इट बी." (तीन पत्रकों वाली पत्तियां, इसे छोड़ दो)
"हेयरी वाइन, नो फ्रेंड ऑफ़ माइन." (मैं रोमदार लता हूं, मेरा कोई दोस्त नहीं है) पॉइज़न आइवी की लताएं बहुत ज़हरीली होती हैं।
"रैगी रोप, डोंट बी ए डोप!" (मेरी चिथड़ेदार रस्सी हैं, लेकिन मूर्ख मत बनो)
!" पेड़ों पर पनपने वाली पॉइज़न आइवी की लताएं देखने में रोएंदार "चिथड़ेदार" होती हैं। यह काव्यपंक्ति पेड़ पर चढ़ने वालों को सावधान रहने की चेतावनी देता हैं।

"वन, टू, थ्री? डोंट टच मी." (एक, दो, तीन? मुझे मत स्पर्श करो)
"बेरीज़ ह्वाइट, रन इन फ्राईट" (बेर सफ़ेद रंग के हैं, लेकिन डरकर भाग जाओ) और "बेरीज़ ह्वाइट, डेंजर इन साईट." (बेर सफ़ेद रंग के हैं, लेकिन सामने खतरा है)
"लोंगर मिडिल स्टेम, स्टे अवे फ्रॉम देम." (बीच वाला तना काफी लम्बा है, लेकिन उनसे दूर रहो) यह मध्य पत्रक को सन्दर्भित करता है जिसका तना जो दोनों तरफ के पत्रकों के डंठलों की तुलना में विशेष रूप से अधिक लम्बा है और जो इसे इसी तरह की दिखने वाली रुस एरोमेटिका - फ्रैग्रंट स्यूमक से अलग सिद्ध करने का एक मुख्य साधन है।
"रेड लीफलेट्स इन द स्प्रिंग, इट्स ए डेंजरस थिंग." (वसंत के मौसम में इसके पत्रकों का रंग लाल हो जाता है, लेकिन यह एक खतरनाक चीज़ है) यह इसके लाल रूप को सन्दर्भित करता है जिसे नए पत्रक कभी-कभी वसंत के मौसम में धारण करते हैं। (ध्यान दें कि बाद में, गर्मियों के मौसम में, पत्रक हरे रंग के हो जाते हैं जो इसे अन्य पौधों से अलग दिखने में काफी मुश्किल बना देता है, जबकि पतझड़ के मौसम में ये लालनुमा-नारंगी रंग के हो सकते हैं।)
"साइड लीफलेट्स लाइक मिटेंस, विल इच लाइक द डिकेंस." (किनारे के पत्रक दस्तानों की तरह लगते हैं, जो डिकेंस की तरह खुजली पैदा करेगा) यह पॉइज़न आइवी की कुछ, न कि सभी, पत्तियों की आकृति को सन्दर्भित करता है, जहां दोनों तरफ के प्रत्येक पत्रक में एक छोटा सा निशान होता है जिससे पत्रक दिखने में एक "अंगूठे" वाले एक दस्ताने की तरह लगता है। (ध्यान दें कि इस काव्यपंक्ति का गलती से इस यह मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए कि केवल किनारे वाले पत्रक ही खुजली पैदा करते हैं, क्योंकि वास्तव में पौधे का सम्पूर्ण भाग खुजली पैदा कर सकता है।)
"इफ बटरफ्लाईज़ लैंड देयर, डोंट पुट योर हैण्ड देयर." (अगर तितलियां वहां बैठती हैं, तो आप अपना हाथ वहां न रखें) यह इस बात को सन्दर्भित करता है कि कुछ तितलियां पॉइज़न आइवी पर बैठती हैं, क्योंकि उन पर इसका प्रभाव नहीं पड़ता है, जो उन्हें सुरक्षा प्रदान करती हैं क्योंकि उनके शिकारी पौधे के भक्षण से दूर ही रहते हैं।

 

आराम की नींद पाने के लिये बेड़रूम में लगाएं ये पौधे

आराम की नींद पाने के लिये बेड़रूम में लगाएं ये पौधे

कई लोंगो को रात में अच्‍छी नींद नहीं आती, जिसके लिये वे दवाइयों का सेवन करना शुरु कर देते हैं। आज हम आपको ऐसे पांच पौधों के नाम बताएंगे, जिसे आप आराम से अपने बेड़रूम में लगा सकते हैं।

इन पौधों को लगाने से आपको नींद आएगी और शांति का एहसास होगा। आइये जानते हैं इनके बारे में...

एलोवेरा
कहते हैं कि एलोवेरा रात को ऑक्‍सीजन छोड़ता है जिससे नींद ना आने की बीमारी में लाभ मिलता है और नींद भी अच्‍छी क्‍वालिटी की आती है।