कर्नाटक ताल पद्धति

ताल एक निश्चित समय के चक्र या मीटर, एक विशेष रचना के लिए निर्धारित है, जो धड़कनो के समूहों से बनाया गया है | ताल की धड़कन की एक निर्धारित संख्या का चक्र है और शायद ही कभी एक गीत के भीतर बदलता है | ताल सात प्रकार की होती है -

  • अत ताल
  • ध्रुव ताल
  • एक ताल
  • झंपताल
  • मत्या ताल
  • रूपक ताल
  • त्रिपुटा ताल
  •  

भारतीय संगीत में आध्यात्मिकता स्रोत

भारतीय संगीत में आध्यात्मिकता स्रोत

भारतीय संगीत मूल रूप में ही आध्यात्मिक संगीत है। भारतीय संगीत को ईश्वर प्राप्ति का मार्ग माना है तो कहीं साक्षात ईश्वर माना गया है। अध्यात्म अर्थात व्यक्ति के मन को ईश्वर में लगाना व व्यक्ति को ईश्वर का साक्षात्कार कराना अध्यात्म कहलाता है संगीत को अध्यात्मिक अभिव्यक्ति का साधन मानकर संगीत की उपासना की गई है। संगीत को ईश्वर उपासना हेतु मन को एकाग्र करने का सबसे सशक्त माध्यम माना गया है। वेदों में उपासना मार्ग अत्यंत सहज तथा ईश्वर से सीधा सम्पर्क स्थापित करने का सरल मार्ग बताया है। संगीत ने भी उपासना मार्ग को अपनाया है। Read More : भारतीय संगीत में आध्यात्मिकता स्रोत about भारतीय संगीत में आध्यात्मिकता स्रोत