सेब की खेती

शिमला: सेब की खेती के लिए एशिया का सबसे अमीर और पूरी दुनिया में मशहूर हिमाचल का ये गांव है। जानकारी के मुताबिक शिमला जिले के मड़ावग गांव को एशिया का सबसे अमीर गांव भी माना जाता है। यहां के सेबों को विदेशों में काफी पसंद किया जाता है। बता दें कि सेब की खेती ने इस गांव को डेवलप बना दिया है।

एक साल में 150 करोड़ का सेब
बताया जा रहा है कि मड़ावग गांव शिमला जिले के चौपाल तहसील में स्थित है। मड़ावग गांव की आबादी करीब 2 हजार की है। यहां हर साल 150 करोड़ रुपए का सेब उगाया जाता है। इस गांव में हरेक परिवार की सालाना आया 75 लाख के करीब है। आपको बता दें कि मड़ावग कहने को तो गांव है, लेकिन यहां आलीशान मकानों की कमी नहीं है। 

ऐसे करते हैं बगीचों का मेंटेनेंस
मड़ावग गांव के लोग लैटेस्ट टेक्नोलॉजी के जरिए सेब की खेती करते हैं। सोशल मीडिया के जरिए यहां के किसान विदेशों से भी जानकारी हासिल करते रहते हैं। सबसे खास बात तो यह है कि यहां सेब की खेती को ऑन ईयर प्रोडक्शन और ऑफ इयर प्रोडक्शन के जरिए किया जाता है।

गुजरात के गांव से आगे
बता दें कि मड़ावग गांव ने प्रति व्यक्ति आय के मामले में गुजरात को भी पीछे छोड़ दिया है। इस गांव से पहले गुजरात का माधवपर एशिया का सबसे अमीर गांव रह चुका है। मड़ावग के ग्रामीणों का प्रति व्यक्ति आय लाखों में है। शिमला जिले का एक और गांव क्यारी भी एशिया का सबसे अमीर गांव रह चुका है।

Vote: 
No votes yet

आप भी अपने लेख फिज़िका माइंड वेबसाइट पर प्रकाशित कर सकते है|

आप अपने लेख WhatsApp No 9259436235 पर भेज सकते है जो की पूरी तरह से निःशुल्क है | आप 1000 रु (वार्षिक )शुल्क जमा करके भी वेबसाइट के साधारण सदस्य बन सकते है और अपने लेख खुद ही प्रकाशित कर सकते है | शुल्क जमा करने के लिए भी WhatsApp No पर संपर्क करे. या हमें फ़ोन काल करें 9259436235