पीलिया कैसे होता है

पीलिया रोग जिसे अंग्रेजी में जॉण्डिश ( jaundiceकहते है। यह रोग किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। यह रोग होने का मुख्य कारण शरीर के खून का दूषित(गन्दा) हो जाना या कम हो  जाना ही है। इस रोग के होने पर शुरू में तो इसके लक्षण कम दिखायी देते है लेकिन रोग होने के कुछ समय बाद इसके लक्षण रोगी के शरीर पर पूर्ण रूप से दिखाई देने लगते है तो चलिए आगे हम आपको विस्तार से पीलिया के लक्षण,कारण, परहेज और उपाय के बारे में बताएंगे।

 

पीलिया रोग का लक्षण-( jaundice ka lakshan)

1-शरीर में हल्का दर्द का बने रहना खास कर पैरो और हाथो में।

2-आँखो का गहरा पिला हो जाना।

3-त्वचा और नाखुनो का पिला पड़ जाना।

“अगर आपको ऐसा महसूस हो की आपके नाख़ून पीले पड़ रहे है तो आप अपने नाखुनो को थोड़ी देर दबाए रखे और कुछ समय बाद उसे छोड़े अगर नाख़ून का रंग लाल पिला होता है तो ठीक है और अगर उसका रंग पिला ही रह जाता है तो तुरंत किसी डॉक्टर को दिखा ले |”

4-हल्का बुखार शरीर में हर समय बने रहना।

“अगर आपको लगता है की आपको बुखार रह रहा है तो थर्मामीटर खरीद कर घर पर ही रखे और शरीर का तापमान चेक करते रहे | अग़र आपके शरीर का तापमान 96 और 97 फोरेनहाईट है तो ठीक है पर इससे ज्यादा का मतलब है आपको बुखार है |”

5-मल मूत्र का पिला होना।

” एक दो बार अगर मूत्र पिला हो तो यह पानी की कमी या ज्यादा गर्मी की वजह से हो सकता है लेकिन बार बार पिला पेसाब होना ठीक नही |”

6-जल्दी थकावट का लगना।

7-उलटी का होना या जी का मिचलाना।

8-भूख का न लगना या भोजन करने का इच्छा जाहिर न होना।

 

9-सिर का भारी बने रहना या मन का न लगना।

10-गले का बार बार सुख जाना।

11- कई रोगियों के हाथ पाव और चेहरे का सुज जाना |

पीलिया होने पर घरेलु इलाज

पीलिया होने पर घरेलु इलाज

पाचन तंत्र कमजोर होना पीलिया का प्रमुख कारण है। पीलिया(Jaundice) के रोग का प्रभाव शरीर में खून बनने पर पड़ता है जिससे शरीर में ब्लड की कमी होने लगती है। इस रोग में अगर लापरवाही की जाये तो ये काला पीलिया बन जाता है जो जानलेवा रोग हो सकता है। पीलिया पुराना हो या नया घरेलू देसी नुस्खे और आयुर्वेदिक दवा से आप इसका उपचार कर सकते है। इस बीमारी से छुटकारा पाने में इलाज के साथ परहेज करना भी जरुरी है और जैसे ही पीलिये के लक्षण आपको दिखने लगे इसका उपचार शुरू करे। पीलिया तीन तरह का होता है, हेपेटाइटिस सी (काला पीलिया), हेपेटाइटिस बी और हेपेटाइटिस ए। इस लेख में हम जानेंगे  Read More : पीलिया होने पर घरेलु इलाज about पीलिया होने पर घरेलु इलाज