सर्वांगासन

विधि-सर्वप्रथम सीधे पीठ के बल लेट जायें । दोनो हाथों को शरीर के बराबर,हथेलियाँ ज़मीन पर ,अब दोनो पैरो को 30 डिग्री पर उठाइए, हाथों को कमर पर रख कर सहारा दीजिए और दोनो पैरो को 90 डिग्री के कोण बनाते हुए सीधा कर लीजिए । कोहनियाँ फर्श पर लगी रहेंगी ।  ठुड्डी को सीने से सटा लीजिए। कुछ देर इसी स्थिति में (5-10 सेकेंड ) रुकिये। बहुत धीरे से वापिस आइए ।

 अब आराम के लिए सीधे शवासन मे  आ जाइए।
 

सावधानियाँ- कमर दर्द, गर्दन दर्द ,हृदय रोगी, हाई बीपी  व स्लिप डिस्क के रोगी न करें।
 

लाभ-जैसा की इस आसन का नाम है सर्वांगसन -यह पूरे शरीर अर्थात सभी अंगों को स्वस्थ रखता हैं ।पाचन तंत्र को मजबूत करता है। पैरो की मासपेशयों  में रक्त संचार तेज करता है ।मस्तिष्क व  बालों में भी रक्त संचार तेज करता है ।महिलाओं की मासिक गड़बड़ी को ठीक करता है।

 

Vote: 
No votes yet