शहाना कान्ह्डा

थाट: 

राग शहाना कान्हड़ा में धैवत एक महत्वपूर्ण स्वर है जिस पर न्यास किया जाता है। अन्य न्यास स्वर पंचम है। इस राग की राग वाचक स्वर संगती है - ग१ म ध ; ध नि१ प ; नि१ ध नि१ प ; ध म प सा' ; ध नि१ प ; ग१ म रे सा

इस राग का निकटस्थ राग बहार है, जिसका न्यास स्वर मध्यम होता है (नि१ ध नि१ प म)। जबकि शहाना कान्हड़ा में न्यास स्वर पंचम है (नि१ ध नि१ प)। यह उत्तरांग प्रधान राग है, जिसका विस्तार मध्य और तार सप्तक में खिलता है। यह स्वर संगतियाँ राग शहाना कान्हडा का रूप दर्शाती हैं -

नि१ सा रे ग१ म ; म प म ग१ म ध ; ध नि१ प ; ग१ म प ध नि१ सा'; सा' नि१ ध नि१ प ; ध म प सा' ; नि१ सा' रे' सा' ; सा' नि१ ध नि१ प ; म प ग१ ग१ म ; रे सा ;

 

There is currently no content classified with this term.