टैक्नोलॉजी

कैसे इस्तेमाल करें आधार पेमेंट एप, क्या है इसका फायदा?

आधार पेमेंट एप

पिछले कुछ समय से सरकार देश में डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने पर जोर दे रही है। इसके लिए सरकार ने कई नई सेवाएं भी शुरू की हैं साथ ही भीम एप जैसी भी सुविधा उपलब्ध कराई है। डिजिटल पेमेंट को और बढ़ावा देने के लिए IDFC Bank भी एक नई और आसान सेवा के साथ आया है। जिसमें स्मार्टफोन नहीं बल्कि आधार से हो पाएगी पेमेंट।

आधार पे के जरिए अब व्यापारी ग्राहक के आधार नंबर और उसके साथ दर्ज हुए बायोमीट्रिक आंकड़े की मदद से भुगतान ले पाएंगे। इसके लिए ग्राहक को स्मार्टफोन या एप या फिर इंटरनेट की आवश्यता नहीं है। हालाँकि मर्चेंट के पास इस एप और इंटरनेट का होना जरुरी है।

अब याहू का नाम हो जाएगा 'अल्ताबा'!

अब याहू का नाम हो जाएगा 'अल्ताबा'!

याहू दुनिया के सबसे पॉपुलर सर्च इंजन में से एक है। गूगल के बाद याहू का ही नाम लिया जाता है। लेकिन कुछ समय से घाटे में चल रही इस कंपनी में काफी कुछ बदलने वाला है। जिसमें सबसे पहले आता है इसका नाम, अब आपका प्यारा याहू जल्द ही याहू से बदलकर अल्ताबा होने जा रहा है।

 

 

अब याहू का नाम हो जाएगा 'अल्ताबा'!

 

एंड्रायड और आईओएस डिवाइस पर कैसे सेट करें व्‍हाट्सएप रिंगटोन

एंड्रायड और आईओएस डिवाइस पर कैसे सेट करें व्‍हाट्सएप रिंगटोन

व्‍हाट्सएप ने जब से कॉल फीचर को लांच किया है लोगों के बीच आपसी बातचीत का ये सबसे अच्‍छा जरिया बन चुका है। ऐसे में अब लोग अपने स्‍मार्टफोन में व्‍हाट्सएप की रिंगटोन को सेट करने में लगे हुए है।

अगर आपके एंड्रायड या आईओएस डिवाइस है तो हम आपको बताएंगे कि आप किस प्रकार व्‍हाट्सएप की रिंगटोन को सेट कर सकते हैं। आगे पढें:

आईओएस स्‍मार्टफोन में व्‍हाट्सएप की रिंगटोन

आधार कार्ड का फायदा

आधार कार्ड का फायदा

आधार कार्ड का फायदा.....
ध्यान रखें व ज्यादा से ज्यादा शेयर करें .....यदि कोई खोया या मां बाप से बिछड़ा बच्चा आपको मीले तो उसे आधार कार्ड सेन्टर ले जाएं..... यदी उसका आधार कार्ड बना हुआ होगा तो आधार कार्ड सेन्सर पर हथेली या अंगूठा रखते ही उस बच्चे की  पुरी जानकारी आधार स्करीन पर आ जायेगी........ कृपया इसलिए हर बच्चे का आधार कार्ड जरुर बनवाएं । 
Good information for all kindly share..

आईफ़ोन स्लो करने पर एप्पल ने मांगी माफ़ी

पुराने वर्जन वाले आईफ़ोन के प्रोसेसर को धीरे किए जाने को लेकर आलोचना झेल रही एप्पल कंपनी ने माफ़ी मांगी है.

एप्पल का तर्क था कि लिथियम आयन से बनी बैट्री वाले पुराने आईफ़ोन ढंग से चलते रहें, इसलिए ऐसा किया गया.

अब कंपनी का कहना है कि वो बैट्री बदलने के लिए तैयार है और 2018 में एक ऐसा सॉफ्टवेयर लाया जाएगा, जिससे आईफ़ोन यूज़र अपने फ़ोन की बैट्री की लाइफ़ पर नज़र रख सकेंगे.

लंबे वक्त से आईफ़ोन यूज़र्स को ये शक था कि कंपनी नए फोन की ख़रीद बढ़ाने के लिए पुराने फ़ोन को धीमा कर देती थी.

उबर ने लॉन्च की नई सेवा uberASSIST और uberACCESS

उबर ने लॉन्च की नई सेवा uberASSIST और uberACCESS

भारत में पहली बार अब कैब सेवा के जरिए डिसेबल्ड यात्री भी आराम से यात्रा कर सकेंगे, वो भी बिना किसी परेशानी। Uber ने अपनी uberACCESS सेवा को आज बंगलुरु में लॉन्च किया है। यह सेवा फिलहाल केवल बंगलुरु में ही मौजूद है। कंपनी का कहना है की इसे जल्द ही अन्य शहरों में भी पेश कर दिया जाएगा।

देश की पॉपुलर कैब सेवा कंपनी uber अपने यात्रियों के लिए कई तरह की सुविधाएं पेश करती है, जिनमें से सबसे जरुरी सेवा uberASSIST और uberACCESS, जो आज लॉन्च की हुई है, यात्रियों के लिए काफी फायदेमंद होगी। Uber का कहना है कि कंपनी यह सेवा एशिया में सबसे पहले बैंगलोर में लॉन्च हुई है।

जानिए कैसा दिखता है दुनिया का पहला 5G Smartphone

जानिए कैसा दिखता है दुनिया का पहला 5G Smartphone

5जी नेटवर्क के बारे में इन दिनों काफी सुनने में आ रहा है। कई स्मार्टफोन निर्माता और उनकी कंपनियां इस टेक्नोलॉजी के विकास पर काम भी कर रही है। इस डेवलपमेंट पर फिलहाल काम चल रहा है, वहीं कई एनालिस्ट और एक्सपर्ट्स ने यह भी प्रडिक्ट भी किया है कि साल 2020 तक 5जी मोबाइल नेटवर्क आ जाएगा।

इन सब के मुताबिक फिलहाल इसमें थोड़ा समय लग सकता है, लेकिन जिस तरह विकास हो रहा है, लगता है यह सभी कुछ उम्मीद से काफी पहले हो जाएगा। मोबाइल स्पेस के पॉपुलर ब्रांड्स में से क्वालकॉम 5जी टेक्नोलॉजी के ऊपर बड़ी तेजी से काम कर रही है।

300 घंटे स्टैंडबाय टाइम के साथ बिंगो फिटनेस बैंड लॉन्च, कीमत सिर्फ 1599

अपनी हेल्थ को लेकर सतर्क रहने वाले यूजर्स के लिए मार्केट में इस समय हर कीमत पर हेल्थ गैजेट मौजूद हैं। इन हेल्थ गैजेट में फिटनेस बैंड यूजर्स के बीच सबसे ज्यादा पॉपुलर हैं। इलेक्ट्रॉनिक एक्सेसरीज बनाने वाली कंपनी बिंगो टेक्नोलॉजी ने मंगलवार को नया फिटनेस बैंड 'बिंगो एफ 2' इंडियन यूजर्स के लिए पेश कर दिया है।

 

इस बैंक ने शुरु की बायोमेट्रिक सुविधा, बिना कार्ड एटीएम से निकाल सकेंगे पैसे

इस बैंक ने शुरु की बायोमेट्रिक सुविधा, बिना कार्ड एटीएम से निकाल सकेंगे पैसे

डेवलपमेंट क्रेडिट बैंक यानि डीसीबी बैंक ने कार्डलैस लेन-देन के लिए बायोमेट्रिक सर्विस की शुरुआत की है। इस सुविधा के बाद बैंक के ग्राहक बिना डेबिट कार्ड और पिन के भी एटीएम से पैसा निकाल सकते हैं। ऐसे में अब उन ग्राहकों के लिए सुविधा होगी जो हमेशा अपना डेबिट कार्ड अपने साथ रखना नहीं चाहते हैं। तो चलिए आपको इस सर्विस से जुड़े फायदों के बारे में बताते हैं।

यूजर को होंगे ये फायदे:

 

1. बैंक के यूजर्स बिना एटीएम या डेबिट कार्ड के भी निकाल पाएंगे अपने खाते से पैसा।

 

ये खबर पढ़ने के बाद एटीएम स्लिप नहीं डालेंगे कूड़ेदान में

ये खबर पढ़ने के बाद एटीएम स्लिप नहीं डालेंगे कूड़ेदान में

आजकल हर कोई एटीएम तो इस्तेमाल करता ही होगा और जाहिर है कि पैसा निकालने के बाद आप स्लिप भी निकालते होंगे। स्लिप को देखकर डस्टबिन में फेंक दिया जाता है ये सोच कर कि बाकी लोग भी तो स्लिप डस्टबिन में फेंक देते हैं तो हम भी फेंक दें। कई लोग ऐसा ही करते हैं लेकिन आपकी ये छोटी-सी गलती आपको काफी भारी पड़ सकती है। तो चलिए आपको इन्हीं से संबंधित कुछ बातें बता देते हैं।

1. अगर आपको लगता है कि आप रसीद को फाड़कर फेंक देंगे तो आपका एटीएम और पैसा सेफ रहेगा तो ये आपकी गलतफहमी है। आपको बता दें कि स्लिप के टुकड़ों को डिकोट कर हैकर्स आपके अकाउंट में दाखिल हो सकते हैं।

एटीएम से नहीं निकले पैसे और खाते से कट गए, तो तुरंत करना चाहिए ये काम

एटीएम से नहीं निकले पैसे और खाते से कट गए, तो तुरंत करना चाहिए ये काम

ATM यानी ऑटोमेटेड टेलर मशीन से वित्तीय लेन-देन की जा सकती है। एटीएम का इस्तेमाल कर ग्राहक पैसा निकालने, बैलेंस चेक करने आदि जैस काम कर सकते हैं। एटीएम इंडस्ट्री एसोसिएशन (ATMIA) के मुताबिक, दुनियाभर में करीब 3.5 मिलियन एटीएम इंस्टॉल्ड हैं। लेकिन हर तकनीक में कुछ न कुछ कमी जरुर होती है। इस खबर में हम आपको एटीएम की इन्हीं कमियों की जानकारी देने जा रहे हैं। साथ ही यह भी बताएंगे कि आप कैसे इन परेशानियों से निजात पा सकते हैं।

अब स्मार्टफोन लेगा डेबिट कार्ड की जगह, एटीएम से निकाल पाएंगे पैसे

अब स्मार्टफोन लेगा डेबिट कार्ड की जगह, एटीएम से निकाल पाएंगे पैसे

देशभर में नोटबंदी के बाद केंद्र सरकार कैशलेस लेन-देन को बढ़ावा दे रही है। इसी बीच सरकार एक नई तकनीक पर काम कर रही है, जिसके तहत यूजर अपने मोबाइल फोन के जरिए एटीएम से पैसे निकाल पाएंगे। खबरों के मुताबिक, सरकार 6 महीने के अंदर इस तकनीक का इस्तेमाल शुरू कर सकती है। यह सुविधा अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर और यूरोपीय देशों के लोग कर रहे हैं।

कैसे काम करेगी यह तकनीक?

1. इसके लिए यूजर को सबसे पहले अपने स्मार्टफोन में जिस बैंक का अकाउंट है, उस बैंक का एप डाउनलोड कर इंस्टॉल करना होगा।

2. यहां यूजर को अपने कार्ड की सारी डिटेल भरनी होगी।

Pages