चिंतन-मनन कीजिए

चिंतन-मनन कीजिए

आप जो भी पढ़ाई किए उसके बारे मे चिंतन-मनन कीजिए, कहने का मतलब हैं की उसपे ध्यान लगाए आप ने क्या-क्या पढ़ा। रात मे सोने से पहले या कोई एकांत जगह मे बैठ के सोचे की आपको क्या याद हैं कितना पढ़ा और क्या बाकी हैं। इससे आपका दिमाग़ मे रिभिजन होगा और आपने जो पढ़ा है वो ज़रूर याद होगा।
आप पढ़ते वक्त जो भी पढ़ रहे है उसे लिखते भी जाए. इससे आपको जो पढ़े वो अच्छी तरीका से याद होगा साथ मे एग्ज़ॅम के टाइम लिखने मे प्राब्लम नही होगा। ये एक बेहतरीन तरीका है अपने पढ़ाई के क्वालिटी को इंप्रूव करने का।

Vote: 
No votes yet