पढ़ाई के समय मन की एकाग्रता

पढ़ाई के समय मन की एकाग्रता

पढ़ाई शुरू करने के पहले उसके महत्व बारे में लिख लें ताकि उसको देखते रहने से आपका मन पड़ाई पर बना रहे |
जब आप पढ़ने बैठे तब कठिन विषय को पहले पढ़े क्योंकि उस वक्त आपका मन फ्रेश रहता है और एकाग्रता का स्तर ज़्यादा होता है
योगा या ध्यान का अभ्यास करने से मन की एकाग्रता बढ़ती है
टाइम टेबल बनायें ,पर्याप्त नींद लें ,तनावमुक्त रहें, खान-पान का ध्यान रखें ,खुद को शबाशी दें
पढ़ाई का सही एटमोस्फियर बनाये :पढ़ाई शुरू करने के पहले पढ़ाई संबंधी सारे चीजों को एक जगह पर रख लें ताकि बार-बार उठना न पड़े।
करें टेक्निकल  मेथड से पढाई – यदि आप शुरू से अपनी पढाई को लेकर एक्टिव रहते है तो परीक्षा की तैयारी जैसा कांसेप्ट आपको मुश्किल नहीं लगेगा है,  अगर आप परीक्षा के समय ही पड़ाई करते  हैं तो आप किसी भी विषय को टेक्निकल अप्रोच के साथ पढने के लिए आप चार्ट बना लीजिये और किसी सब्जेक्ट के टॉपिक्स को एक विशेष महत्वपूर्ण तरीके से जरुरी बिन्दुओ के साथ हाईलाइट कीजिये. उससे नोट्स तैयार कर सकते है | जिससे आपको किसी भी विषय का टॉपिक पढ़ते समय बोरियत नहीं होगी है क्योंकि जरुरी चीजों को याद कर लेने पर उसके आस पास या उससे जुड़े टॉपिक्स याद करने में आपको आसानी होती है  | नोट्स बनाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण  है की आप उसे रेगुलर किताबों में लिखी चीजों की तरह न लिखे और न ही उनका विस्तारपूर्ण तरीका इस्तेमाल करें बल्कि खुद का एक तरीका अपनाएं जिस से आपको याद करने में आसानी हो.
परीक्षा की तैयारी ऐसे करें बेहतरीन
हमारा माइंड पुरानी चीजों की अपेक्षा नयी चीजों को सीखने में अपना बेहतर योगदान देता है. पुरानी चीजों के मामले में माइंड में एक सोच होती है कि ये तो हमे पहले से आता है, जो चीज़े हमने पढ़ी हुई होती है उसके बारे में हम उतना गंभीर नहीं हो पाते जितना नयी चीज़ को सीखने लिए तत्पर रहते है क्योंकि पुरानी चीजों के विषय में मस्तिष्क में एक सोच बनी होती है कि ये तो हमे पहले से आता है इसलिए छोटे स्पेशल वर्ड्स और कोड्स का इस्तेमाल करें ताकि आपको सब्जेक्ट हमेशा के लिए याद हो जाएँ और आप उसे आसानी से याद रख पायें |
फार्मूला बनाकर करे याद – परीक्षा के समय, लगातार याद करने को बहुत कुछ है लेकिन समय सीमा बहुत कम है | थोडा टेक्निकल और बने और केमिस्ट्री और बायोलॉजी में सबसे मुश्किल पार्ट किसी रसायन या किसी जीव का वैज्ञानिक नाम याद रखने के लिए उसके नाम का पहला अक्षर और लास्ट अक्सर को दिमाग में बैठते हुए एक शोर्ट फॉर्म दिमाग में बना लें जिस से याद करने में आसानी हो  |
ध्यान दें  :हर चीज़ पढने में – परीक्षा के समय केवल बुक खोलकर खुद को यह अहसास दिलाना कि मैं पढ़ तो रहा हूँ ये गलत है | अगर आपको बोरियत हो रही है तो थोडा टहल सकते है | नहीं तो थोड़ी देर आंखे बंद करके लेट जाएँ और उसके बाद दोबारा से शुरू करें | जो भी पढ़े ध्यान रहे आपका माइंड  आपके साथ हो |
बहुत सारे बच्चे पढाई को टेक्निकल तरीके से पढ़ते है जिसकी वजह से वो बाकि बच्चो की अपेक्षा कम समय में अधिक से अधिक सिलेबस कवर कर पाते है और परीक्षा की तैयारी अच्छे से कर पाते है जिसकी वजह से लगातार उनका प्रदर्शन बेहतर होता जाता है  |

Vote: 
No votes yet