लम्बाई बढ़ाने के घरेलू उपचार

लम्बाई बढ़ाने के घरेलू उपचार

आज के दौर में हर आदमी चाहता है की उसकी लम्बाई अच्छी हो। जिन लोगों की हाइट कम होती है वे लोग अपने पर्सनालिटी में कुछ कमी सी महसूस करते हैं। ज्यादातर लोग यही सोचते हैं कि हम लोगों की लंबाई केवल 18 साल तक ही बढ़ सकती है पर ऐसा भी नहीं है कि 18 साल के बाद लम्बाई बिल्कुल नहीं बढ़ाई जा सकती हैं नियमित रूप से व्यायाम, पौष्टिक आहार के सेवन और कुछ नियमों का पालन करके हम अपनी लम्बाई को अवश्य ही कुछ और इंच तक बढा सकते हैं।
इसके अलावा अगर लंबाई बढानी है तो एक्सरसाइज करें और हेल्दी डाइट अपनाएं। इसके अलावा कई लोग अपनी लंबाई बढाने के लिये बाजार में मिलने वाली कई तरह की दवाइयों का भी सेवन करने लगते हैं जिससे तमाम साइड इफेक्ट्स भी होते हैं। नीचे कुछ प्राकृतिक तरीके दिये जा रहे हैं जिसके बिल्कुल भी साइड इफेक्ट नहीं होगें और आपकी हाइट 18 साल के बाद भी बढ़ सकती है।
* लम्बाई और स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए गेहूँ के दाने के बराबर मात्रा में चूना रोज दही, दाल या सब्जी में मिलाकर खाना चाहिए । या पानी में मिलाके पीना चाहिए । इससे लम्बाई और स्मरण शक्ति दोनों का ही विकास होता है। शरीर में चैतन्यता और चपलता आती है। 
इस उपाय को करने से 3 माह में ही कद का बढ़ना शुरू हो जाता है , इसका नियमित रूप से सेवन करने वाले लोग त्रीव बुद्दि वाले और अच्छी लम्बाई वाले होते है । ( लेकिन पथरी के मरीज चूने का सेवन ना करें )
* कद बढ़ाने के लिये सूखी नागौरी, अश्वगंधा की जड़ को कूटकर बारीक कर चूर्ण बना लें। बराबर मात्रा में खांड मिलाकर किसी टाईट ढक्कन वाली कांच की शीशी में रखें। इसे रात सोते समय रोज दो चम्मच गाय के दूध के साथ लें। 
इससे दुबले व्यक्ति भी मोटे हो जायेंगे। कम कद वाले लोग लंम्बे हो सकते हैं। इससे नया नाखून भी बनना शुरू होता है। इस चूर्ण का सेवन करने से कमजोर व्यक्ति अपने अंदर स्फूर्ति महसूस करने लगता है। इस चूर्ण को लगातार 45 दिन तक लेते रहें। इससे मात्र 45 से 60 दिन में ही लम्बाई बढ़ जाती है । इस चूर्ण को शीतकाल में लेने से अधिक लाभ मिलता है।
* 1 से 2 ग्राम अश्वगंधा चूर्ण, 1 से 2 ग्राम काले तिल, 3 से 5 खजूर को 5 से 20 ग्राम गाय के घी में एक महीने तक खाने से लाभ होता है। साथ में पादपश्चिमोत्तानासन, 'पुल्ल-अप्स'करने से एवं हाथ से शरीर झुलाने से ऊँचाई बढ़ती है। 
इस चूर्ण का सेवन करते समय खटाई, तली चीजें न खायें और जिन्हें आंव की शिकायत हो,तो अश्वगंधा न लें। 
* मनुष्य को अपने हाथ तथा पैरों के बल झूलने तथा दौड़ने जैसी कसरतों के अलावा भोजन में प्रोटीन, कैल्शियम तथा विटामिनों की जरूरत बहुत आवश्यक है तथा पौष्टिक भोजन करने से लम्बाई बढ़ने में फायदा मिलता है। 
1. प्रोटीन, कैल्शियम, वसा और आयरन को अपने आहार में शामिल करें । इसके अलावा खूब सारी सब्जियां और फल का भी नियमित रूप से सेवन करें। 
2. शरीर में ग्रोथ हार्मोन को बढाने के लिये आपको दिन में 3 बार खाना खाने के अलावा 6 बार छोटे छोटे मील अवश्य ही खाने चाहिये। 
3. लम्बाई बढ़ाने के लिए प्रातःकाल दौड़ लगायें, नित्य सूर्य नमस्कार करें,किसी चीज़ से लटक कर पुल अप्स करें वा ताड़ासन करें । 
4. हाइट बढाने के लिये एंटीबायोटिक्स का सेवन ज्यादा नहीं करना चाहिये, नहीं तो इसके अधिक प्रयोग से हाइट रुक भी सकती है। 
5. लम्बाई बढ़ाने हेतु नित्य 2 काली मिर्च के टुकड़े 20 ग्राम मक्खन में मिलाकर उसे निगल जायें। देशी गाय का दूध कद बढ़ाने में विशेष रूप से सहायक है। 
6. ठीक से सोएं क्योंकि सोते समय आपकी मासपेशियां और शरीर फैलता है, तो ठीक प्रकार से नींद लें। 
7. अपनी गर्दन और सिर को हमेशा सीधा और तान कर रखे। यदि आप हमेशा अपने सिर को झुका कर रखेगें तो आपका स्पाइनल कार्ड दब जाएगा और पूरा शरीर छोटा लगेगा। 
8. अपने वजन को नियंत्रित करें, क्योंकि अगर आपका वजन कम है तो आपकी हाइट ठीक से नहीं बढेगी। 
9. खूब पानी और दूध पियें। इसके अलावा अंडा, चिकन और मछली का सेवन भी अनिवार्य है। 
10. जमीन से 7 फुट पर एक छंड गाडे़ और उस पर जितनी देर हो सके उतनी देर तक रोज लटकें। इससे रीढ़ की हड्डी लचीली बनेगी और आपकी लंबाई बढे़गी। 
11. प्रतिदिन 10 से 20 मिनट रस्सी अवश्य ही कूदें इससे भी लम्बाई बढ़ती है । 
12. कद लम्बा करने के लिए अंगूठों को खीचिए ताकि मांसपेशियों में खिंचाब बढे़ इससे शरीर में रक्त का दौरा भी बढ़ता है । 
13. 16 से 18 वर्ष की आयु के बाद ज्यादातर बच्चों के शरीर में कार्टिलेज फैलने के बजाय जमा होने लगता है जिससे हड्डियों का विकास रुक जाता है। ऐसे में कम उम्र से ही अगर बच्चों को स्ट्रेचिंग करने अभ्यास कराएं तो बहुत लाभ मिलता है । स्ट्रेचिंग से रीढ़ की हड्डी को बल व मांसपेशियों को विस्तार मिलता है।
इसके लिए बच्चे को सीधा दीवार की ओर मुंह करके खड़ा करें और उसके कद को मार्क करें। अब बच्चे को हाथ ऊपर करके खुद को ऊपर की ओर जितना हो सके खींचने को कहें। शरीर का सारा भार सिर्फ पैर के अंगूठों पर ही होना चाहिए। फिर उसकी हाथ के छोर को भी मार्क करें। बच्चे से रोजाना यह स्ट्रेचिंग करवाएं और साथ-साथ उसकी हाइट व स्ट्रेचिंग की क्षमता को भी चेक करते रहें। 
14. बच्चों को कंप्यूटर पर गेम खेलने के बजाय बाहर बास्केटबॉल, बैडमिंटन, टेनिस, दौड़, स्विमिंग और साइकिलिंग जैसे खेल खेलने के प्रोत्साहित करें। इससे उनकी मांसपेशियां भी प्राकृतिक तरीके से मजबूत होती हैं और लंबाई बढ़ती है।
15. कभी भी झुककर बैठना या झुककर चलना नहीं चाहिए । चलते और बैठते समय अपनी कमर और छाती को सीधा रखे ।
16. भुजंग आसन करें, इससे आपके सीने और पेट की मांसपेशियों में खिंचाव होगा। इसको रोजाना करने से लंबाई बढाई जा सकती है। इसको करते समय जितना पीछे हो सके उतना हों। इसी पोजीशन में करीब 20 सेकेंड तक रहें और कम से कम 3-4 बार करें। 
17. कैल्शियम शरीर के लिए एक आवश्यक खनिज है। यह हड्डियों को मजबूत बनाता है। कैल्शियम हमें दूध, चीज़, दही आदि में मिलता है। ऊंचा लंबा कद पाने के लिए कैल्शियम बेहद जरूरी है। मिनरल-खनिज हड्डी के ऊतकों का निर्माण करता है। ये हड्डी के विकास और शरीर में रक्त के प्रवाह में सुधार करते हैं। 
18. अगर आपको अपनी लंबाई बढ़ानी है तो खनिज से भरपूर तत्वों का इस्तेमाल करें। यह पालक, हरी बीन्स, फलियां, ब्रोकोली, गोभी, कद्दू, गाजर, दाल, मूंगफली, केले, अंगूर और आड़ू में पाया जाता है। लंबाई बढ़ाने के लिए जिस विटामिन की सबसे ज्यादा जरूरत होती है वह विटामिन डी। यह मछली, दाल, अंडा, टोफू, सोया मिल्कर, सोया बीन, मशरूम और बादाम आदि में पाया जाता है। इसके साथ ही टेनिस व बास्केट बॉल भी अनिवार्य रूप से खेलें।
19.अश्वगंधा जड़ का आधा चम्मच चूर्ण सुबह खाली पेट पानी से ले इसके 5 मिनट बाद एक कप गर्म दूध अवश्य ही पियें। इसे 3 माह तक लगातार लेने से शरीर की हड्डियाँ मजबूत होती है, शरीर बलवान होता है और लम्बाई बढ़ने लगती है 
20. लम्बाई और स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए गेहूँ के दाने के बराबर मात्रा में चूना रोज दही, दाल या सब्जी में मिलाकर खाना चाहिए या पानी में मिलाके पीना चाहिए । इससे लम्बाई और स्मरण शक्ति दोनों का ही विकास होता है। शरीर में चुस्ती फुर्ती बनी रहती है । लेकिन जिन लोगो को पथरी की समस्या हो उन्हें इसका सेवन नहीं करना चाहिए ।  

Vote: 
No votes yet

आप भी अपने लेख फिज़िका माइंड वेबसाइट पर प्रकाशित कर सकते है|

आप अपने लेख WhatsApp No 9259436235 पर भेज सकते है जो की पूरी तरह से निःशुल्क है | आप 1000 रु (वार्षिक )शुल्क जमा करके भी वेबसाइट के साधारण सदस्य बन सकते है और अपने लेख खुद ही प्रकाशित कर सकते है | शुल्क जमा करने के लिए भी WhatsApp No पर संपर्क करे. या हमें फ़ोन काल करें 9259436235