Blog

वैज्ञानिक तरीके से रिपीट करना

हमें यह मानना पड़ेगा कि-
‘मजबूत मेमोरी उतनी अच्छी नहीं, जितना एक वीक प्वाइंट!’
जब तक हम रिपीट न करें, किसी चीज को पढ़ने और सीखने का कोई महत्व नहीं है। तुम हम सब जानते हो कि दोहराना कितना जरूरी है, लेकिन अच्छा रिजल्ट पाने के लिए वैज्ञानिक तरीके से रिपीट करना इम्पॉर्टेट है।
वैज्ञानिक तरीके से रिपीट करना
इसे हम एक उदाहरण से समझने की कोशिश करते हैं। अगर हम किसी टॉपिक को दो घंटे दिन में याद करते हैं, तो इसे कब रिपीट करना चाहिए? वैज्ञानिक तौर पर कहें तो पहले 24 घंटे खत्म होने तक हो जाना चाहिए। 

मोटी लड़कियों से शादी करने के फ़ायदे

मोटी लड़कियों से शादी करने के फ़ायदे

अधिकतर लड़कों को परफेक्ट फिगर वाली लडकियां ज़्यादा पसंद आती हैं. पर यह अपनी-अपनी पसंद पर निर्भर करता है. कुछ लड़कों को पतली लड़कियां पसंद होती हैं, कुछ को हेल्दी तो कुछ को मोटी. लेकिन क्या आपको पता है पतली लड़कियों की तुलना में मोटी लड़कियों से शादी करने के ज़्यादा फ़ायदे होते हैं. जी हां, यह बात बिल्कुल सच है. एक सर्वे के अनुसार मोटी लड़कियां पतली लड़कियों से ज़्यादा हंसमुख होती हैं. वह हमेशा खुश रहती हैं और अपने आस-पास के लोगों को भी खुश रखती हैं. उनका दिल पानी की तरह साफ़ होता है. ऐसी लड़कियां दिमाग की बजाय दिल का ज़्यादा इस्तेमाल करती हैं और जो उनका दिल कहता है वही करती हैं.

​LED की लीड

​ LED की लीड

एक साधारण-सी जरूरत के मिशन बन जाने की कहानी है LED रेवलूशन। उजाला यानी उन्नत ज्योति बाय अफर्डेबल फॉर ऑल योजना वाकई लोगों के घरों में उजाला भर रही है। इसके तहत देश में 77 करोड़ एलईडी बल्ब लगाने की योजना है और अब तक करीब 26 करोड़ से ज्यादा बल्ब लगाए भी जा चुके हैं। इस मिशन ने बिजली और पैसों की बचत के साथ-साथ प्रदूषण भी कम किया है। देश में हो रहे LED रेवलूशन का जायजा ले रहे हैं लोकेश के. भारती

इजरायल: जहां है घर-घर फौजी

इजरायल: जहां है घर-घर फौजी

इजरायल मिसाल है स्वाभिमान की, आत्मसम्मान की और आत्मविश्वास की! चारों तरफ दुश्मन देशों से घिरे होने और न के बराबर प्राकृतिक संसाधन के बावजूद इस देश ने अपनी अलग पहचान कायम की है। इजरायल की खूबियों-खामियों से रूबरू करा रहे हैं, हाल में वहां का दौरा कर लौटे सतीश मिश्र:

फर्स्ट-एड: जान बचाने का ज्ञान

फर्स्ट-एड: जान बचाने का ज्ञान

छोटी चोट, छोटी जलन, बीपी का अचानक बढ़ जाना जैसी समस्याएं बड़ी परेशानी में तब्दील न हो, इसलिए जरूरी है फौरी इलाज। यह इलाज तब ही मुमकिन है, जब हमारे पास फर्स्ट एड का सामान हो और हम उनका सही तरीके से इस्तेमाल करना जानते हों। ऐसी ही किसी इमर्जेंसी की स्थिति में कैसे करें फर्स्ट एड, एक्सपर्ट्स से बात करके जानकारी दे रही हैं प्रियंका सिंह

लम्बाई बढ़ाने के घरेलू उपचार

लम्बाई बढ़ाने के घरेलू उपचार

आज के दौर में हर आदमी चाहता है की उसकी लम्बाई अच्छी हो। जिन लोगों की हाइट कम होती है वे लोग अपने पर्सनालिटी में कुछ कमी सी महसूस करते हैं। ज्यादातर लोग यही सोचते हैं कि हम लोगों की लंबाई केवल 18 साल तक ही बढ़ सकती है पर ऐसा भी नहीं है कि 18 साल के बाद लम्बाई बिल्कुल नहीं बढ़ाई जा सकती हैं नियमित रूप से व्यायाम, पौष्टिक आहार के सेवन और कुछ नियमों का पालन करके हम अपनी लम्बाई को अवश्य ही कुछ और इंच तक बढा सकते हैं।

लंबी उम्र पाने के लिए रोज पीएं 3 कप कॉफी

लंबी उम्र पाने के लिए रोज पीएं 3 कप कॉफी

प्रतिदिन तीन कप कॉफी पीने से कुछ बीमारियों के कारण समयपूर्व मौत का खतरा कम हो सकता है। एक नए शोध में यह बात कही गई है
यॉर्क। प्रतिदिन तीन कप कॉफी पीने से कुछ बीमारियों के कारण समयपूर्व मौत का खतरा कम हो सकता है। एक नए शोध में यह बात कही गई है। हारवर्ड युनिवर्सिटी के 'टी. एच. चान स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ' के शोधकर्ताओं को अध्ययन में पता चला कि कैफीन युक्त या कैफीन रहित दोनों तरह की कॉफी पीने के कई फायदे हैं। अन्य फायदों के अतिरिक्त इससे दिल के रोगों, मस्तिष्क संबंधी रोगों, टाइप टू डायबिटीज और आत्महत्या का खतरा भी कम हो सकता है।

बिजनेस शुरू करने से पहले जानें कानून का फंडा

बिजनेस शुरू करने से पहले जानें कानून का फंडा

स्टार्टअप शुरू करने के बाद सबसे बड़ी चुनौती उससे जुड़ी औपचारिकताओं को पूरा करने की है। रजिस्ट्रेशन की रस्सी जकड़ने लगती है तो परमिशन का पंगा निपटाने में पसीने छूट जाते हैं। एक्सपर्ट्स की मदद से अमित मिश्रा बता रहे हैं कैसे निपटें स्टार्टअप के आड़े आने वाली लीगल अड़चनों से: बूझें स्टार्टअप की लीगल पहेली अक्सर देखने में आता है जब कोई स्टार्टअप बड़ा होने लगता है तो रजिस्ट्रेशन और परमिशन के भंवर में फंस कर रह जाता है। इससे बचने का सही तरीका यह है कि शुरुआत से ही कुछ वक्त और पैसा अपनी कंपनी के हिसाब से इनवेस्ट करें। स्टार्टअप की शुरुआत में दो तरह की कानूनी अड़चनें आती हैं: - रजिस्ट्रेशन: यह मुख्

भारत के बने इंजन विदेशों में मचाएंगे धूम

भारत के बने इंजन विदेशों में मचाएंगे धूम

हौंडा के आईडीटेक इंजन दो गाड़ियों के हिसाब से यहां पर बनाए जा सकते हैं जो कि सिविक, एचआर वी व सीआरवी को शक्ति दे सकते हैं। हौंडा अपने सशक्त 1.6 लीटर आईडीटेक डीजल इंजन को अपने तापूकारा प्लांट राजस्‍थान में जुलाई में बनाना शुरू कर रही है। यहां बने इंजन को फिलहाल हौंडा के थाईलैंड प्लांट को निर्यात किया जाएगा। उम्मीद की जा रही है कि यही इंजन फिलीपींस के हौंडा सिविक मॉडल में भी अपनी भूमिका अदा करेगा। 

पढ़ाई का सही वक्त

पढ़ाई का सही वक्त

पढ़ाई के लिए रूटीन जब भी बनाए तो सुबह का समय को ज़्यादा महत्व दे. सुबह का वक्त सबसे अच्छा है पढ़ने के लिए। इस समय माइंड पूरा फ्रेश रहता हैं और ग्रॅसपिंग पावर ज़्यादा होती हैं। दिन का 5 घंटा और सुबह का 1 घंटा बराबर हैं।

Pages