अश्वगंधा के फायदे शरीर के लिए उत्तम प्रकार का टॉनिक

अश्वगंधा के फायदे शरीर के लिए उत्तम प्रकार का टॉनिक

अश्वगंधा के फायदे शरीर के लिए उत्तम प्रकार का टॉनिक जिसका अर्थ संकट मोचन,घोड़े जैसी ताकत देने वाला,
अश्वगंधा । जिसका अर्थ उसके नाम में ही छुपा है -जिसकी घोडे जैसी महक हो । इसमें एक खास महक तो होती है पर वह घोडे जैसी होती है कि हाथी जैसी यह आप ख़ुद सूँघ कर देख लीजियेगा पर मैं यह ज़रूर आपको बताना चाहूंगा कि इसको खाने से घोडे जैसी ताकत जरूर आ जाती है ।
चूँकि हमारे ऋषियों ने इसे अश्वगंधा नाम दिया है तो सही ही दिया होगा।वैसे तो अश्वगंधा का प्रत्येक भाग-जड़ ,पत्तियां ,बीज और फल भी दवाई के रूप में प्रयोग होते हैं। परन्तु इसकी जड़ों का प्रयोग आम जन-मानस के लिए सरल है । इसकी जड़ें नर,नारी ,बालक ,बुजुर्ग सबके लिए एक टॉनिक का काम करती है।
जड़ों के चूर्ण का सेवन अगर तीन महीने तक बच्चों को करवाया जाए तो कमजोर बच्चों के शरीर का सही विकास होने लगता है । सामान्य आदमी अगर इसका प्रयोग करे तो उसके शरीर में स्फूर्ति ,शक्ति ,चैतन्यता तथा कान्ति[चमक]आ जाती है। यह जडी सभी प्रकार के वीर्य विकारों को मिटा करके बल-वीर्य बढाता है। साथ ही धातुओं को भी पुष्ट करती है। इसका सेवन करने से शरीर का दुबलापन भी ख़त्म हो जाता है और शरीर कि हड्डियों पर माँस भी चढ़ता है। साथ ही नसें भी सुगठित हो जाती हैं। लेकिन डरिये मत इससे मोटापा नहीं आता । गठिया, धातु, मूत्र तथा पेट के रोगों के लिए यह बहुत उपयोगी है। इससे आप खांसी, साँस फूलना तथा खुजली की भी दवा बना सकते हैं । इसका आप अगर नियमित सेवन शुरू कर दें तो आपकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ जायेगी जिसका दूर गामी परिणाम यह होगा कि आप लंबे समय तक युवा बने रहेंगे बुढापे के रोग आपसे काफ़ी समय तक दूर रहेंगे। महिलाओं कि बीमारी में यह जड़ काफी लाभकारी है। इसके नियमित उपयोग से नारी की गर्भ-धारण की क्षमता बढती है ,प्रसव हो जाने के उपरांत उनमें दूध कि मात्रा भी बढती है तथा उनकी श्वेत प्रदर, कमर दर्द एवं शारीरिक कमजोरी से जुड़ी सारी समस्याएं दूर हो जाती हैं। इसके नियमित सेवन से हिमोग्लोविन तथा लाल रक्त कणों की सख्या में वृद्धि होती है । व्यक्ति की सामान्य बुद्धि का विकास होता है। कैंसर से लड़ने की क्षमता विकसित होती है। गैस की बीमारी,एसिडिटी ,अल्सर ,जोडों का दर्द, ल्यूकोरिया तथा उच्च रक्तचाप में इसे आजमाकर देखिये । आप ख़ुद कहेंगे कि इसका नाम तो संजीवनी बूटी होना चाहिए।
अब मुख्य बात है कि इसका प्रयोग कैसे करें?
आप सामान्य तौर पर अश्वगंधा कि जड़ें पीसकर उसका चूर्ण बनालें । और [2ग्राम से 5ग्राम] सुबह खाली पेट पानी से निगल जाएँ फिर एक कप गर्म दूध या चाय पी लें .इस प्रक्रिया के दस मिनट बाद बाकी नाश्ता करें। कुछ जडी -बूटी सवेरे खाली पेट खाने से ज्यादा फायदा पहुंचाती है। यह २००/- से ५००/- रु० किलो तक बाज़ार में उपलब्ध है। अगर किसी बीमारी में इसका प्रयोग करना चाहते हैं तो किसी वैद्य से थोड़ा राय-मशविरा कर लें। क्योकि हर बीमारी में इसकी मात्रा तथा इसे खाने का तरीका बदल जाता है। मेरी राय है कि आपको कोई बीमारी न हो तो भी प्रतिदिन इसका सेवन करें .चेहरे पर चमक तो बढेगी ही और कितना ही काम कर लें थकान से बुखार इत्यादि नहीं होगा । हरारत कि गोली खाने से छुटकारा मिल जायेगा । इसका वैज्ञानिक नाम Withania somnifera।
 

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 39,063 51
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 45,540 28
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 7,702 23
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 9,365 23
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 18,012 23
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 18,599 21
सप्ताह में इतनी बार सेक्स करना जरूरी है 4,982 16
जल्‍दी पिता बनने के लिए एक घंटे में करें दो बार सेक्‍स 5,094 14
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 4,911 13
सुबह उठ कर खाली पेट कैसे पानी पीना चाहिए 1,226 12
अचानक बढ़ जाती है दिल की धड़कन तो हो सकती है ये खतरनाक बीमारी 780 11
झाइयां होने के कारण 4,271 11
कम उम्र में सेक्‍स करने से बढ़ जाता है इस चीज का खतरा 2,925 9
पेट में दर्द तथा पेट फूलना 810 9
एड़ियों के दर्द से छुटकारा दिलाते हैं ये घरेलू नुस्खे 1,285 8
बाल झड़ने की समस्या से बचने के लिए कुछ टिप्स 963 8
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 6,391 8
मैथी के फायदे और गुण 108 8
सर्दियों में जुकाम और नाक से पानी आने को दूर करनें के लिए पिये गर्म पानी और भी चीजो का प्रयोग करें आइये जानें 911 8
ब्रेस्ट कम करने के लिए क्या खाएं 2,100 7
मौसमी का जूस पीने के फायदे 3,797 7
दही खाने के बेहतरीन फायदो और खूबियों के बारे में जानें क्या हैं 1,039 7
बेल खाने के फायदे जानकर रहें जायगे हैरान 1,103 7
क्‍या सोते समय ब्रा पहननी चाहिये ? 11,045 7
सुबह का नाश्ता राजा की तरह, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का भोजन भिखारी की तरह करना चाहिए।’ 3,907 6
होठों की क्या ज़रूरत है 2,165 6
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 6,261 6
श्वेत प्रदर के रोग को जड़ से मिटा देंगे यह घरेलू उपाय 530 6
गले में मछली का कांटा फंस जाए तो करें ये काम 779 6
क्यों रहते हैं हाथ-पैर ठंडे? 3,508 6
हाइपरटेंशन या उच्च रक्तचाप 296 6
हस्तमैथुन करने वाली महिलाएं होती है इन बीमारियों का शिकार 344 6
डायबिटीज का प्राकृतिक इलाज हैं आम के पत्ते, जानें कैसे? 573 6
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 19,589 5
घमौरियों से छुटकारा पाने के आयुर्वेदिक उपाय 543 5
डायरिया होने पर अपनाएं घरेलू उपचार! 613 5
ल्यूकेमिया: लक्षणों को जानिये यह क्या है 356 5
पीलिया होने पर घरेलु इलाज 819 5
गिलोय के फायदे और अनेक प्रकार से रोगों से छुटकारा 1,178 5
दिमागी दौरा या ब्रेन स्ट्रोक से पाएं छुटकारा 1,409 5
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 4,329 5
व्रत से हो सकते हैं नुकसान भी 738 5
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 1,499 5
हरी मिर्च खाने के चमत्कार 58 5
क्या है आई वी एफ की प्रक्रिया, जानें 824 5
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 4,610 5
क्या खाएं और क्या न खाएं, जानिए 2,236 5
*ऊर्जा का स्त्रोत है राजमा* 30 5
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 6,152 5
फिस्टुला रोग क्या है , इसको पहचाने के लक्षण इस प्रकार 2,617 5