अस्थमा के घरेलू उपचार

दमा के उपचार, बच्चों में अस्थमा के लक्षण, अस्थमा के लिए योग, अस्थमा का सफल उपचार, अस्थमा के लिए आहार, अस्थमा परिभाषा, अस्थमा का कारण बनता है

आजकल इस बदलते हुए वातावरण, प्रदूषण, खाने पीने की चीजों में मिलावट का होना और शुद्धता में कमी होना आदि के कारण मरीजों की सख्या में वृद्धि हो रही है, ऐसे में जब किसी व्यक्ति को श्वास नलियों में किसी प्रकार का कोई रोग उत्त्पन हो जाता है, तो उसे सांस लेने में बहुत ही कठिनाई होती है, जिसके कारण उसे खांसी होने की संभावना बढ़ जाती है। ऐसी स्थिति को अस्थमा या दमा कहा जाता है। यह श्वास तन्त्र की ऐसी गंभीर बीमारी होती है, जिसके कारण हमें साँस लेने में बहुत ही कठिनाई होती है। क्योंकि हमारे श्वास मार्ग में सूजन आ जाती है, उससे हमें छोटी-छोटी सांस लेनी पडती है और हमारी छाती में कसाव जैसा महसूस होने लगता है तथा सांस फूलने लगती है और बार-बार खांसी आने लगती है।

अस्थमा के लक्षण

जब भी हमारे फेफड़ों तक सही ढंग से हवा नहीं पहुंचती, तो हमें अक्सर सांस लेने में कठिनाई होती है। दमा एक ऐसा रोग है, जो या तो अचानक शुरू हो जाता है या फिर अधिक खांसी होने पर, छींक या सर्दी जैसी एलर्जी वाले लक्षणों से शुरू होता है। ऐसे ही अस्थमा के लक्षण इस प्रकार से है…

  • सांस लेने में बहुत ही कठिनाई होना।
  • सीने में जकडन का महसूस होना।
  • बैचेनी महसूस होना।
  • सांस लेने पर घरघराहट की आवाज सुनाई देना।
  • सांस लेते समय पसीना आना।
  • सांस लेते समय थकावट का होना।
  • अस्थमा से पीड़ित रोगी की कफ का सख्त होना और साथ में उसमें से बदबू आना।

अस्थमा के कारण

अस्थमा के अटैक के बहुत से कारण हो सकते हैं, लेकिन उनमें से सबसे बड़ा वायु का प्रदुषण हो सकता है। अस्थमा का अटैक आने पर हमारे श्वास मार्ग में सूजन आ सकती है, जिसके कारण हम अच्छे से सांस नहीं ले पाते। जो अस्थमा के मरीज होते हैं उन्हें सांस लेने और सांस को छोड़ने में बहुत ही कठिनाई होती है। एलर्जी होने पर उनका कष्ट और भी बढ़ जाता है। इसके अलावा अस्थमा के और भी कई कारण हो सकते हैं जैसे कि…

  • घर में धूल का वातावरण होना।
  • घर में पालतू जानवर होना।
  • वायु प्रदूषण।
  • अधिक धूम्रपान करना।
  • अधिक मात्रा में शराब पीना।
  • सर्दी,फ्लू आदि का संक्रमण।
  • खाद्य पदार्थ से एलर्जी होना।
  • तनाव के कारण।
  • सर्दी के मौसम में अधिक ठंड होना।
  • ज्यादा नमक खाना आदि अस्थमा के कारण हो सकते हैं।

अस्थमा के घरेलू उपचार

अगर देखा जाए तो इसका किसी भी प्रकार से उपचार नहीं किया जा सकता, लेकिन जब हम दवा और कुछ घरेलू नुस्खे अपनाते हैं, तो इसे कम कर सकते हैं जैसे कि…

  1. एक लिटर पानी में एक चम्मच मेथी का उबाले फिर इस पानी को छान लें, फिर दो चम्मच अदरक के पेस्ट से उसका रस निकालकर मेथी वाले पानी में डाल दें, फिर उसमें शहद एक चम्मच डालकर मिश्रण तैयार करें। यह तैयार किया हुआ मिश्रण दमा वाले रोगियों को रोज सुबह पीना चाहिए।
  2. दो चम्मच आंवले का पाउडर में एक चम्मच शहद का मिलाकर एक मिश्रण बनाएं, इसका सेवन हर रोज सुबह करें।
  3. जब भी दमा के मरीजों को सांस लेने में परेशानी हो तो एक कटोरी में शहद लेकर सूंघे।
  4. सरसों के तेल में कपूर को डालकर अच्छे से गर्म करें फिर उसकी मालिश अच्छे से पीठ और सीने पर करें, ऐसा करने से दमा के मरीजों को काफी हद तक राहत का एहसास होगा।
  5. दमा के मरीज को गरमा गरम कॉफी पीने से बहुत ही राहत मिलती है, क्योंकि इससे उनकी श्वास नली साफ होती है जिससे वो आसानी से सांस ले सकते हैं।
  6. एक चम्मच अदरक का रस, अनार का रस और शहद डालकर एक मिश्रण तैयार करें, इसका सेवन दिन में तीन से चार बार करें, ऐसा करने से दमा से राहत मिलेगी।

 

 

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 56,740 61
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 57,395 50
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 17,311 36
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 25,547 28
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 16,399 26
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 25,612 22
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 5,056 17
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 4,128 15
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 5,102 14
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 7,683 13
मोती जैसे सफेद दांत पाने के लिए ट्राई करें ये 5 घरेलू उपाय 2,774 13
स्तन घटाने के उपाय, तरीके और टिप्स 2,573 11
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 9,297 10
ब्रेस्ट कम करने के लिए क्या खाएं 4,210 9
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 21,893 9
झाइयां होने के कारण 6,598 9
कब्ज और पेट साफ रखने के आसान घरेलू उपाय 600 8
वजन कम करने के फायदे, जानकर रहे जायगे हैरान 2,547 8
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 7,519 7
प्याज से करें प्यार और रहें फिट 2,119 7
कलौंजी एक फायदे अनेक : कलयुग में संजीवनी है कलौंजी (मंगरैला) 1,170 7
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 5,938 7
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 4,992 7
इस मौसमी सीताफल के फायदे जानकर आप रह जाएगे हैरान 3,248 6
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 9,433 6
प्राकृतिक चिकित्सा 1,472 6
सेक्‍स करने से लोगों को होते हैं ये 10 फायदे 4,602 5
मधुमेह का आयुर्वेदिक उपचार 407 5
सूजी हुई नसों में आराम देगी हरे टमाटर से बनी यह प्राकृतिक दवा 226 5
दिमागी दौरा या ब्रेन स्ट्रोक से पाएं छुटकारा 1,812 5
चेहरे और शरीर की हार्डवेयर की मालिश करवाये इस प्रकार 340 5
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 6,529 5
दोस्त बनाने के सबसे आसान तरीके 1,972 5
तिल तथा मस्से हटाने के आसान घरेलू उपचार 10,704 5
पेट बाहर है उसे अंदर करने के तरीके 2,417 5
सर्दियों में जुकाम और नाक से पानी आने को दूर करनें के लिए पिये गर्म पानी और भी चीजो का प्रयोग करें आइये जानें 1,188 5
जामुन के गुण और फायदे 3,041 5
सुबह का नाश्ता राजा की तरह, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का भोजन भिखारी की तरह करना चाहिए।’ 5,148 5
काफी खतरनाक है हाइपोग्लाइसीमिया, इसकी मार से रहें सजग 981 4
कम उम्र में सफेद हुए बालों को काला करे 1,205 4
जोड़ो में दर्द है तो करें ये उपाय 1,071 4
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 5,955 4
क्या खाएं और क्या न खाएं, जानिए 3,536 4
इम्सोम्निआ (अनिन्द्रा) से निपटने के कारगर तरीक़े 401 4
क्‍या सोते समय ब्रा पहननी चाहिये ? 11,678 4
सप्ताह में इतनी बार सेक्स करना जरूरी है 6,234 3
मौसमी का जूस पीने के फायदे 4,650 3
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 5,466 3
गिलोय के फायदे और अनेक प्रकार से रोगों से छुटकारा 1,710 3
अंजीर में फाइबर उच्च मात्रा में होता है 184 3