आखें लाल हो तो करें ये उपाय

आँखों के रोग (aankh ke rog) में आँखों का लाल होना एक ऐसी समस्या है जिसमें आपकी आँखों में जलन (aankhon mein jalan) एवं खुजलाहट होती है। इसे कंजंक्टिवाइटिस कहते हैं और इसके होने के कई कारण होते हैं जैसे एलर्जी, बैक्टीरिया और वायरस और धुल, प्रदूषण, मेकअप, धुएं और आँखों के ड्राप से ये स्थिति और भी गंभीर हो जाती है। इसमें आँखों में दर्द, आँख लाल होना,आँख से पानी आना,खुजली और जलन जैसे लक्षण देखे जाते हैं।

आँख की बीमारी, अगर ये स्थिति वायरस के कारण हुई है तो पहले यह एक आँख में होती है और फिर दुसरे में फैलती है। बैक्टीरिया के संक्रमण की स्थिति में दोनों ही आँखें एक साथ प्रभावित होती हैं। नीचे इस स्थिति के उपचार के कुछ आसान उपाय दिए जा रहे हैं।

आँखों के लाल होने को कंजंक्टिवाइटिस (conjunctivitis) कहते हैं, जिसके अंतर्गत कांजन्क्टिवा (conjunctiva) की लाल होने या सूजने की समस्या उत्पन्न होती है। यह एक प्रकार की म्यूकस मेम्ब्रेन (mucus membrane) होती है, जो आँखों की पलकों और आँखों की सतह के पास होती है। आँखों की बनी हुई रेखा आमतौर पर बिलकुल साफ़ होती है, और अगर चिडचिडापन या जलन की समस्या उत्पन्न हो तो यह रेखा लाल और सूजी हुई हो जाती है।

कारण 

आँखों का लाल होना काफी सामान्य समस्या है और यह 7 से 10 दिनों में बिना किसी उपचार के खुद ब खुद ठीक हो 

  • आंसुओं में कमी की वजह से आँखों का सूखना। इसका मुख्य कारण हवा और सूरज से आँखों का अतिरिक्त संपर्क होना है।
  • किसी प्रकार की एलर्जी (allergy) होना।
  • वायरस या बैक्टीरिया (virus or bacteria) से पैदा हुआ संक्रमण।
  • रसायन या धुंए के संपर्क में आना।

वायरल और बैक्टीरियल कारणों से आँखों में आया लालपन संक्रामक होता है और काफी आसानी से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फ़ैल सकता है। यह हाथों को ठीक से ना धोने, तौलिये और नहाने के कपड़े आदि बांटने से फैलता है और इसीलिए इन चीज़ों से परहेज़ करना अच्छा होता है। वायरल रूप से आँखों का लाल होना अडेनो वायरस (adenovirus) की वजह से होता है, जो एक सामान्य साँसों में पलने वाला वायरस है। यह गले की सूजन या सांसों के संक्रमण का कारण बनता है।

लक्षण 

  • आँखों की पलकों में सूजन आना
  • कानों के सामने के भाग का सूजना और नर्म पड़ना
  • साफ़, गाढ़ा और हलके सफ़ेद रंग का द्रव्य निकलना
  • आँखों के सफ़ेद भाग में लालपन आना
  • आँखों की पलकों में खुजली और जलन होना
  • काफी ज़्यादा आंसू निकलना।

घरेलू नुस्खे 

ठन्डे मौसम की वजह से आँखों का लाल होना (Pink eye treatment in Hindi)

अगर आपको ठंडी हवा या ठंडे मौसम की वजह से आँखे लाल होने की समस्या होती है तो इसके उपचार का सीधा और आसान उपाय है ठण्ड या ठंडी जगह से बचाव. आँखों को सीधे ठंडी हवा के संपर्क में न आने दें, बाइक चलाते समय चश्मे का प्रयोग आवश्यक रूप से करें. ठण्ड के दिनों में ठंडी चीज़ों जैसे आइसक्रीम आदि न खाएं. ठंडा पानी न पीएं. ठंडी हवा या मौसम की वजह से आँखे लाल होने पर गर्म सेंक लेना लाभदायक होता है.

गर्म या ठंडी सेंक 

गुलाबी आँखों की वजह से आँखों में आई सूजन और आँखों का लाल होना ठीक करने के लिए गर्म या ठंडी सेंक का प्रयोग करें। एक साफ़ सूती का कपड़ा लें और उसे ठन्डे या गर्म पानी में डुबोएं। अतिरिक्त पानी को निचोड़ें और कपडे को अपनी बंद आँखों पर रखें। इस प्रक्रिया को दिन में 3 से 4 बार दोहराएं। यह उपचार आँखों में दर्द, आँख से पानी आना निकलने की समस्या का भी निदान करता है। दोनों आँखों में अलग कपड़ों का इस्तेमाल करें।

आँखों की देखभाल काली चाय से

गुलाबी आँखों पर काली चाय एक बढ़िया घरेलू औषधि है। यह अपने टैनिंस से आँखों की जलन और खुजली कम करता है और अपने बायो फ्लेवोनॉयड्स द्वारा वायरल संक्रमणों से लड़ता है।

2 काली चाय के बैग लें और उन्हें कुछ देर तक फ्रिज में रखें। इन्हें बाहर निकालकर अपनी आँखों पर 10 से 15 मिनट तक रखें। इस प्रक्रिया का दिन में 3 से 4 बार इस्तेमाल करें। आप कैमोमाइल टी या ग्रीन टी के बैग्स का भी प्रयोग कर सकते हैं।

खारे पानी का मिश्रण 

यह गुलाबी आँखों को घर बैठे ठीक करने की बेहतरीन विधि है। यह एक प्राकृतिक सफाई यंत्र की तरह काम करता है और समस्या का जल्दी निवारण करता है। एक कप शुद्ध पानी लें और उसमें आधे से एक चम्मच नमक डालें। अब इस मिश्रण को उबालें और ठंडा होने के लिए छोड़ दें। थोड़ी सी मात्रा लें और आँखों पर ड्रॉपर की तरह इस्तेमाल करें। अच्छे परिणामों के लिए दिन में कई बार इस विधि का प्रयोग करें।

आँखों की देखभाल बोरिक एसिड से 

बोरिक एसिड आँखों को ठीक करने का काफी प्रभावी तरीका है। यह एंटी बैक्टीरियल तथा एंटी फंगल गुणों के द्वारा खुजली,आँखों के लाल होने तथा जलन को कम करता है। 1 कप पानी उबालें और उसमें 1 चम्मच बोरिक एसिड डालें। अब सूती के बॉल द्वारा इस मिश्रण को अपनी आँखों पर लगाएं या फिर ड्रॉपर की मदद से इसका आई वाश की तरह प्रयोग करें। इसके बाद इसे गुनगुने पानी से धो दें और एक साफ़ कपडे से पोंछ लें। दिन में इस विधि का 2 से 3 बार उपयोग करें।

आँखों की देखभाल एलोवेरा से

एलोवेरा अपने एंटीसेप्टिक एवं एस्ट्रिंजेंट के गुणों से गुलाबी आँखें और उससे जुड़े लक्षणों को हटाता है। एलो वेरा के पौधे से जेल निकालें और इसे ताज़े पानी में डालें। इसे अच्छे से मिलाकर इस मिश्रण को आँख धोने के लिए एक ड्रॉपर की मदद से अपनी आँखों में डालें। आँख से पानी गिरना, इस उपचार का प्रयोग दिन में 3 से 4 बार करें।

शहद 

शहद आँखों के लाल होने की समस्या को दूर करने का काफी अच्छा उपाय साबित होता है। शहद में एंटी बैक्टीरियल, एंटी वायरल और जलनरोधी (antibacterial, antiviral, and anti-inflammatory) गुण होते हैं। ऐसा मुख्य रूप से इसमें मौजूद कंपाउंड डिहाइड्रोक्सीएसीटोन (compound dihydroxyacetone) की वजह से होता है। एक चौथाई चम्मच कच्चा शहद, एक चौथाई कप शुद्ध पानी और एक चुटकी नमक लें। कच्चे शहद और नमक को शुद्ध पानी में मिश्रित करें और इसे अच्छे से पूरी तरह मिला लें। इस बात को सुनिश्चित करें कि पानी पूरी तरह गर्म ना हो, क्योंकि इससे पानी के उपकारी गुणों का विनाश हो जाता है। इस मिश्रण की एक से दो बूँदें एक साफ़ ड्रॉपर (dropper) की मदद से दोनों आँखों में डालें और हर कुछ घंटों में इस प्रक्रिया को दोहराएं।

दूध और शहद 

दूध और शहद कंजंक्टिवाइटिस की स्थिति में आँखों को सूकून देते हैं और इनका उपचार करते हैं। शहद में काफी प्रभावी एंटी बैक्टीरियल गुण (anti-bacterial properties) होते हैं। शहद और दूध को बराबर मात्रा में लें और इनका प्रयोग करें। इस बात को सुनिश्चित करें कि दूध गर्म हो। इन दोनों को अच्छे से मिलाएं और तब तक हिलाते रहें, जब तक कि शहद दूध में अच्छी तरह से घुल ना जाए। आँखों की ड्रॉपर की मदद से 2 से 3 बूँदें लें और इन्हें कई बार अपनी आँखों में डालें। इस मिश्रण का प्रयोग एक सेंक की तरह करें। यह उपचार तुरंत काम करना शुरू करता है और 24 घंटों के अन्दर आपकी आँखों का लालपन दूर हो जाता है।

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 25,607 73
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 34,964 66
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 4,219 32
क्या खाएं और क्या न खाएं, जानिए 1,116 27
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 12,391 25
सुबह का नाश्ता राजा की तरह, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का भोजन भिखारी की तरह करना चाहिए।’ 2,567 21
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 16,895 20
तिल तथा मस्से हटाने के आसान घरेलू उपचार 8,288 20
झाइयां होने के कारण 1,331 17
थायराइड की समस्या और घरेलु उपचार 1,082 16
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 2,381 15
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 2,016 15
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 2,021 14
फिस्टुला रोग क्या है , इसको पहचाने के लक्षण इस प्रकार 667 14
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 2,473 13
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 1,123 13
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 4,011 12
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 2,466 11
आखों के काले घेरे दूर करिये 538 11
जामुन के गुण और फायदे 1,588 11
स्प्राउट्स- सेहत को रखे आहार भरपूर 1,100 10
ब्रेस्ट कम कैसे करे- एक्सर्साइज़ टिप्स 978 10
मौसमी का जूस पीने के फायदे 2,305 10
बिना सर्जरी स्तन छोटे करने के उपाय 1,428 9
ब्‍लड ग्रुप के अनुसार कैसा होना चाहिये आपका आहार 1,832 9
पीलिया कैसा भी हो जड़ से खत्म करेंगे 1,963 9
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 2,891 9
रस्सी कूदें, वज़न घटाएं 1,082 8
दूध को इस प्रकार पिये 415 8
दिमागी ताकत व तरावट लानेवाला प्रयोग 269 8
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 2,205 8
आटिज्म: समझें बच्चों को और उनकी भावनाओं को 396 8
दस सेकंड के एक चुंबन के दौरान क़रीब आठ करोड़ जीवाणु चुंबन करने वालों के मुंह में चले जाते हैं. 66 8
हल्दी का प्रयोग आप को करे निरोग 1,257 8
इस मौसमी सीताफल के फायदे जानकर आप रह जाएगे हैरान 1,043 7
कम उम्र में सेक्‍स करने से बढ़ जाता है इस चीज का खतरा 2,411 7
पियें मेथी का पानी और दूर करें बीमार जिंदगी 4,819 7
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 1,588 7
दिमागी दौरा या ब्रेन स्ट्रोक से पाएं छुटकारा 745 6
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 575 6
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 435 6
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 4,218 6
चेहरे और शरीर की हार्डवेयर की मालिश करवाये इस प्रकार 148 6
खुलकर हंसने के होते हैं ये फायदे 88 6
सेब खाने के फायदे 173 6
बाजरा खाइए, हड्डियों के रोग नहीं होंगे 67 6
सेहत के लिए कितनी खतरनाक है ब्रेड 3,433 6
चिकनपॉक्स (छोटी माता): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज 715 5
हाइड्रोसील के कारण लक्षण और इलाज इस प्रकार है जानिए 1,068 5
हर तरह की खुजली से राहत दिलाते हैं ये घरेलू उपचार इस प्रकार करे पयोग 1,098 5