आखें लाल हो तो करें ये उपाय

आँखों के रोग (aankh ke rog) में आँखों का लाल होना एक ऐसी समस्या है जिसमें आपकी आँखों में जलन (aankhon mein jalan) एवं खुजलाहट होती है। इसे कंजंक्टिवाइटिस कहते हैं और इसके होने के कई कारण होते हैं जैसे एलर्जी, बैक्टीरिया और वायरस और धुल, प्रदूषण, मेकअप, धुएं और आँखों के ड्राप से ये स्थिति और भी गंभीर हो जाती है। इसमें आँखों में दर्द, आँख लाल होना,आँख से पानी आना,खुजली और जलन जैसे लक्षण देखे जाते हैं।

आँख की बीमारी, अगर ये स्थिति वायरस के कारण हुई है तो पहले यह एक आँख में होती है और फिर दुसरे में फैलती है। बैक्टीरिया के संक्रमण की स्थिति में दोनों ही आँखें एक साथ प्रभावित होती हैं। नीचे इस स्थिति के उपचार के कुछ आसान उपाय दिए जा रहे हैं।

आँखों के लाल होने को कंजंक्टिवाइटिस (conjunctivitis) कहते हैं, जिसके अंतर्गत कांजन्क्टिवा (conjunctiva) की लाल होने या सूजने की समस्या उत्पन्न होती है। यह एक प्रकार की म्यूकस मेम्ब्रेन (mucus membrane) होती है, जो आँखों की पलकों और आँखों की सतह के पास होती है। आँखों की बनी हुई रेखा आमतौर पर बिलकुल साफ़ होती है, और अगर चिडचिडापन या जलन की समस्या उत्पन्न हो तो यह रेखा लाल और सूजी हुई हो जाती है।

कारण 

आँखों का लाल होना काफी सामान्य समस्या है और यह 7 से 10 दिनों में बिना किसी उपचार के खुद ब खुद ठीक हो 

  • आंसुओं में कमी की वजह से आँखों का सूखना। इसका मुख्य कारण हवा और सूरज से आँखों का अतिरिक्त संपर्क होना है।
  • किसी प्रकार की एलर्जी (allergy) होना।
  • वायरस या बैक्टीरिया (virus or bacteria) से पैदा हुआ संक्रमण।
  • रसायन या धुंए के संपर्क में आना।

वायरल और बैक्टीरियल कारणों से आँखों में आया लालपन संक्रामक होता है और काफी आसानी से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फ़ैल सकता है। यह हाथों को ठीक से ना धोने, तौलिये और नहाने के कपड़े आदि बांटने से फैलता है और इसीलिए इन चीज़ों से परहेज़ करना अच्छा होता है। वायरल रूप से आँखों का लाल होना अडेनो वायरस (adenovirus) की वजह से होता है, जो एक सामान्य साँसों में पलने वाला वायरस है। यह गले की सूजन या सांसों के संक्रमण का कारण बनता है।

लक्षण 

  • आँखों की पलकों में सूजन आना
  • कानों के सामने के भाग का सूजना और नर्म पड़ना
  • साफ़, गाढ़ा और हलके सफ़ेद रंग का द्रव्य निकलना
  • आँखों के सफ़ेद भाग में लालपन आना
  • आँखों की पलकों में खुजली और जलन होना
  • काफी ज़्यादा आंसू निकलना।

घरेलू नुस्खे 

ठन्डे मौसम की वजह से आँखों का लाल होना (Pink eye treatment in Hindi)

अगर आपको ठंडी हवा या ठंडे मौसम की वजह से आँखे लाल होने की समस्या होती है तो इसके उपचार का सीधा और आसान उपाय है ठण्ड या ठंडी जगह से बचाव. आँखों को सीधे ठंडी हवा के संपर्क में न आने दें, बाइक चलाते समय चश्मे का प्रयोग आवश्यक रूप से करें. ठण्ड के दिनों में ठंडी चीज़ों जैसे आइसक्रीम आदि न खाएं. ठंडा पानी न पीएं. ठंडी हवा या मौसम की वजह से आँखे लाल होने पर गर्म सेंक लेना लाभदायक होता है.

गर्म या ठंडी सेंक 

गुलाबी आँखों की वजह से आँखों में आई सूजन और आँखों का लाल होना ठीक करने के लिए गर्म या ठंडी सेंक का प्रयोग करें। एक साफ़ सूती का कपड़ा लें और उसे ठन्डे या गर्म पानी में डुबोएं। अतिरिक्त पानी को निचोड़ें और कपडे को अपनी बंद आँखों पर रखें। इस प्रक्रिया को दिन में 3 से 4 बार दोहराएं। यह उपचार आँखों में दर्द, आँख से पानी आना निकलने की समस्या का भी निदान करता है। दोनों आँखों में अलग कपड़ों का इस्तेमाल करें।

आँखों की देखभाल काली चाय से

गुलाबी आँखों पर काली चाय एक बढ़िया घरेलू औषधि है। यह अपने टैनिंस से आँखों की जलन और खुजली कम करता है और अपने बायो फ्लेवोनॉयड्स द्वारा वायरल संक्रमणों से लड़ता है।

2 काली चाय के बैग लें और उन्हें कुछ देर तक फ्रिज में रखें। इन्हें बाहर निकालकर अपनी आँखों पर 10 से 15 मिनट तक रखें। इस प्रक्रिया का दिन में 3 से 4 बार इस्तेमाल करें। आप कैमोमाइल टी या ग्रीन टी के बैग्स का भी प्रयोग कर सकते हैं।

खारे पानी का मिश्रण 

यह गुलाबी आँखों को घर बैठे ठीक करने की बेहतरीन विधि है। यह एक प्राकृतिक सफाई यंत्र की तरह काम करता है और समस्या का जल्दी निवारण करता है। एक कप शुद्ध पानी लें और उसमें आधे से एक चम्मच नमक डालें। अब इस मिश्रण को उबालें और ठंडा होने के लिए छोड़ दें। थोड़ी सी मात्रा लें और आँखों पर ड्रॉपर की तरह इस्तेमाल करें। अच्छे परिणामों के लिए दिन में कई बार इस विधि का प्रयोग करें।

आँखों की देखभाल बोरिक एसिड से 

बोरिक एसिड आँखों को ठीक करने का काफी प्रभावी तरीका है। यह एंटी बैक्टीरियल तथा एंटी फंगल गुणों के द्वारा खुजली,आँखों के लाल होने तथा जलन को कम करता है। 1 कप पानी उबालें और उसमें 1 चम्मच बोरिक एसिड डालें। अब सूती के बॉल द्वारा इस मिश्रण को अपनी आँखों पर लगाएं या फिर ड्रॉपर की मदद से इसका आई वाश की तरह प्रयोग करें। इसके बाद इसे गुनगुने पानी से धो दें और एक साफ़ कपडे से पोंछ लें। दिन में इस विधि का 2 से 3 बार उपयोग करें।

आँखों की देखभाल एलोवेरा से

एलोवेरा अपने एंटीसेप्टिक एवं एस्ट्रिंजेंट के गुणों से गुलाबी आँखें और उससे जुड़े लक्षणों को हटाता है। एलो वेरा के पौधे से जेल निकालें और इसे ताज़े पानी में डालें। इसे अच्छे से मिलाकर इस मिश्रण को आँख धोने के लिए एक ड्रॉपर की मदद से अपनी आँखों में डालें। आँख से पानी गिरना, इस उपचार का प्रयोग दिन में 3 से 4 बार करें।

शहद 

शहद आँखों के लाल होने की समस्या को दूर करने का काफी अच्छा उपाय साबित होता है। शहद में एंटी बैक्टीरियल, एंटी वायरल और जलनरोधी (antibacterial, antiviral, and anti-inflammatory) गुण होते हैं। ऐसा मुख्य रूप से इसमें मौजूद कंपाउंड डिहाइड्रोक्सीएसीटोन (compound dihydroxyacetone) की वजह से होता है। एक चौथाई चम्मच कच्चा शहद, एक चौथाई कप शुद्ध पानी और एक चुटकी नमक लें। कच्चे शहद और नमक को शुद्ध पानी में मिश्रित करें और इसे अच्छे से पूरी तरह मिला लें। इस बात को सुनिश्चित करें कि पानी पूरी तरह गर्म ना हो, क्योंकि इससे पानी के उपकारी गुणों का विनाश हो जाता है। इस मिश्रण की एक से दो बूँदें एक साफ़ ड्रॉपर (dropper) की मदद से दोनों आँखों में डालें और हर कुछ घंटों में इस प्रक्रिया को दोहराएं।

दूध और शहद 

दूध और शहद कंजंक्टिवाइटिस की स्थिति में आँखों को सूकून देते हैं और इनका उपचार करते हैं। शहद में काफी प्रभावी एंटी बैक्टीरियल गुण (anti-bacterial properties) होते हैं। शहद और दूध को बराबर मात्रा में लें और इनका प्रयोग करें। इस बात को सुनिश्चित करें कि दूध गर्म हो। इन दोनों को अच्छे से मिलाएं और तब तक हिलाते रहें, जब तक कि शहद दूध में अच्छी तरह से घुल ना जाए। आँखों की ड्रॉपर की मदद से 2 से 3 बूँदें लें और इन्हें कई बार अपनी आँखों में डालें। इस मिश्रण का प्रयोग एक सेंक की तरह करें। यह उपचार तुरंत काम करना शुरू करता है और 24 घंटों के अन्दर आपकी आँखों का लालपन दूर हो जाता है।

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 44,073 105
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 48,612 69
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 20,393 52
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 10,025 49
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 20,478 34
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 6,908 22
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 20,249 22
ब्रेस्ट कम करने के लिए क्या खाएं 2,641 21
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 10,875 19
झाइयां होने के कारण 4,904 18
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 2,154 17
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 4,421 17
इंसानी दूध पीने को लेकर ब्रिटेन में चेतावनी 6,960 15
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 5,105 15
सुबह उठ कर खाली पेट कैसे पानी पीना चाहिए 1,375 14
लड़कियों की शर्ट में पॉकेट क्यों नहीं होती ! आखिर क्या हैं राज 2,142 14
चिकनपॉक्स (छोटी माता): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज 1,591 14
माँ का दूध बढ़ाने के तरीके 4,478 13
सेक्‍स करने से लोगों को होते हैं ये 10 फायदे 4,015 13
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 7,143 12
जीभ हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के बारे में बताती है जैसे 1,835 11
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 4,809 11
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 3,917 11
क्या खाएं और क्या न खाएं, जानिए 2,607 11
दूध में डिटर्जेंट की जाँच करने के उपाय 2,006 10
माइग्रेन के दर्द से राहत देता है ये आहार 1,446 10
गूलर लंबी आयु वाला वृक्ष है 3,453 10
मूंगफली खाने के आत्याधिक फायदे 945 10
हाई बीपी और माइग्रेन में फायदेमंद है मेंहदी 1,218 10
ख़तरनाक है सेक्स एडिक्शन 4,804 10
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 6,921 10
गिलोय के फायदे और अनेक प्रकार से रोगों से छुटकारा 1,296 10
प्याज से करें प्यार और रहें फिट 1,354 9
जानिये कितना होना चाहिए आपका कोलेस्ट्रॉल और कब शुरू होती है इससे परेशानी 1,786 9
पीठ दर्द से मिलेगा तुरंत छुटकारा 622 9
बच्चे के कान के पीछे शंकु का समाधान 1,633 9
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 3,364 9
स्प्राउट्स- सेहत को रखे आहार भरपूर 1,795 9
किडनी को ख़राब करने वाली है ये आदतें……. 1,763 9
टीबी से कैसे करें बचाव, क्या हैं लक्षण, जानें सब. 2,144 8
क्यों रहते हैं हाथ-पैर ठंडे? 3,716 8
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 5,137 8
बेटी की बिदाई- मां के लिए बड़ी चुनौती है इस प्रकार 1,063 8
रोजाना भीगे हुए चने खाने के हैं कई फायदे, जानिए और स्वस्थ्य रहिए.... 2,531 8
मियादी बुखार का कारण क्या है 3,614 7
गले में मछली का कांटा फंस जाए तो करें ये काम 863 7
कई रोगों में चमत्कार का काम करती है दूब घास, जानें इसके फायदे 749 7
पीलिया कैसा भी हो जड़ से खत्म करेंगे 3,815 7
कम उम्र में सफेद हुए बालों को काला करे 1,005 7
जानें आपके पैरों में झुनझुनाहट क्यों होती है और आपकी सेहत के बारे में क्या कहते हैं! 876 7