आप अपने घर पर बालों में मेंहदी कैसे लगाए, मेंहदी लगाने के फायदे जानकर हैरान रह जायगे

आप मेंहदी तैयार करके किसी की मदद के द्वारा अपने बालों में किस तरह से लगा सकते हैं। हम तस्वीर में साथ मेंहदी लगाने के आसान टिप्स (सुझाव) और प्रक्रिया को आपके लिए उपलब्ध करा रहे हैं, ताकि आप जैसा चाहते हैं, उसके बारे में और अधिक जान सकें। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि, आजकल का वातावरण प्रदूषण से भरा हुआ है, जो बहुत से तरीकों से हमारे शारीरिक, मानसिक और सामाजिक स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। हमें अपने स्वास्थ्य और आत्मविश्वास को बनाए रखने के लिए स्वंय की बहुत अधिक देखभाल करने की आवश्यकता है। बाल, विशेषरुप से महिलाओं के लिए बहुत महत्वपूर्ण भाग है। यह औरतों की सुन्दरता का सबसे महत्वपूर्ण कारण है। अच्छे बाल औरतों की सुन्दरता और आत्मविश्वास को बढ़ाने के साथ ही व्यक्तित्व में सुधार करते हैं। मुलायम, चमकदार, रेशमी और रुसी रहित बालों के लिए, हमें समय-समय पर बालों को शैंपू और कंडीशनर करने की आवश्यकता पड़ती है। घर पर ही बालों को कंडीशनिंग देने का सबसे सस्ता और सबसे अच्छा घरेलू उपाय मेंहदी है।

बालों में मेंहदी लगाने के लिए जरूरी चीजें

आपको अपने बालों में मेंहदी लगाना शुरु करने से पहले कुछ बुनियादी वस्तुओं का प्रबंध करने की आवश्यकता है। सामान्य उद्देश्यों के लिए मेंहदी लगाने के लिए आपको निम्नलिखित सामग्री की आवश्यकता है:

  • मेंहदी (अपनी पसंद के अनुसार, लेकिन बालों के लिए हर्बल मेंहदी सबसे अच्छी होती है),
  • गुनगुना पानी,
  • मिश्रण के लिए कटोरा,
  • एक चम्मच,
  • थोड़ी सी पेट्रोलियम जैली (वैसलीन),
  • एक तौलिया,
  • मेंहदी लगाने के लिए एक ब्रुश
  • दस्ताने (हाथों को महेंदी के दागों से बचाने के लिए रबर के दस्ताने),
  • पॉलिथीन का आवरण (मेंहदी लगाने के बाद बालों को लपेटने के लिए)
  • आप अपने बालों में मेंहदी लगाने के उद्देश्यों के अनुसार अंडा, आवंला, सतरीठा, नींबू का पानी, कॉफी, तेल, मेंथी के बीज, दही आदि का प्रयोग कर सकते हैं।

मेंहदी लगाने से पहले ध्यान रखे यह बातें

बालों में मेंहदी लगाने से पहले निम्नलिखित बातों का ध्यान अवश्य रखना चाहिए:

  • यदि आपने अपने बालों में मेंहदी लगाने का निर्णय लिया है, तो आपको कम से कम मेंहदी लगाने से 12 घंटे पहले बालों को धोने से बचना चाहिए।
  • आप अपने बालों को हल्का सा गीला कर सकते हैं अन्यथा सूखा ही रहने दें।
  • मेंहदी लगाने से पहले बालों में थोड़े से जैतून के तेल (ऑलिव ऑयल) की मालिश कर सकते हैं।
  • मिश्रण के कटोरे का प्रयोग करके मेंहदी को गुनगुने पानी के साथ मिलाकर 4 से 5 घंटे के लिए रख दें। इसे गाढ़ा और मुलायम करने के साथ ही उसे गांठ रहित करने के लिए मिश्रण को चम्मच से चलाओ।
  • आप मिश्रण को अधिक मुलायम करने के लिए थोड़ी सी चीनी भी डाल सकती है।
  • मेंहदी के मिश्रण में अपने अनुकूल कुछ अन्य चीजों (जैसे; नींबू, कॉफी, चीनी, काली कॉफी, अंडा, दही आदि) को मिला सकती है, अपने बालों के लिए हानिकारक अन्य सुझावों को न अपनाएं।
  • एक समय में एक साथ बहुत सी सामग्री को मिश्रित न करें, क्योंकि वे प्रतिक्रिया करके हानि पहुँचा सकते हैं।
  • मेंहदी के बालों में लगने के बाद आप अपने बालों पर बेहतर रंग लाने के लिए लपेट सकती है।
  • अपने माथे, कानों के सहारे और गर्दन के पीछे त्वचा पर मेंहदी के रंग से बचने के लिए थोड़ी सी मात्रा में वैसलीन लगाए।
  • आप मेंहदी लगाने के 3 या 4 घंटे बाद साफ पानी से बालों को धो सकती है हालांकि, आपको अपने बालों को 48 घंटे के बाद शैंपू करना चाहिए क्योंकि बालों पर गहरा रंग करने में यह समय लेती है।

अपने बालों में मेंहदी कैसे लगाए

बालों में मेंहदी लगाना बहुत ही आसान है हालांकि, बेहतर परिणाम पाने के लिए कुछ नियमों का सावधानी से पालन करने की आवश्यकता है। इसे सालों से प्रयोग किया जाता रहा है, क्योंकि यह बालों को सुन्दर बनाए रखने का अच्छा तरीका है। यह न केवल आपके बालों को रंग प्रदान करती है, बल्कि बालों को स्वस्थ, चमकदार और मुलायम बनाती है। बाजार में उपलब्ध विभिन्न रासायनिक उत्पादों के स्थान पर घरेलू उपायों का प्रयोग करना सबसे अच्छा है। यह हमारे बालों की प्राकृतिक गुणवत्ता को बनाए रखती है और हमारे बालों की सुन्दरता को बनाए रखती है। यह पूरी तरह से प्राकृतिक है और किसी भी तरह का बुरा प्रभाव नहीं डालती है। यह बालों की लम्बाई में भी सुधार करती है।

बालों में मेंहदी लगाने की विधि इस प्रकार है -

हम यहाँ बालों में मेंहदी लगाने की विधि के सभी चरणों की प्रक्रिया को बता रहे हैं, जो बालों में आसानी से मेंहदी को लगाने में मदद करेगी:

  • सभी आवश्यक वस्तुओं (तैयार मेंहदी का कटोरा, ब्रश, कंघा, दस्ताने आदि) को ड्रेसिंग टेबल पर अपने पास रख लें ताकि, आपको चीजों को लाने ले जाने के लिए कई बार आना-जाना न पड़े।
  • सबसे पहले, आप अपने माथे, कान के सहारे और गर्दन आदि की त्वचा पर मेंहदी के रंग के लगने से बचाने के लिए पेट्रोलियम जैली (वैसलीन) की एक पतली परत लगा लें।
  • आप जैली लगाने के पहले या बाद में हाथ के दस्ताने पहन सकती है।
  • अब, अपने बालों को सिर के बीच में से दो भागों में बाँट लें (आप विडियो देखकर इस बारे में अधिक जान सकती है)।
  • सिर के बीच में से थोड़े से बालों का भाग लें और बालों की जड़ों से सही तरीके से मेंहदी को लगाना शुरु करें। इसके बाद, इनका जूड़ा बनाने के लिए घुमाते हुए एक ही दिशा में बांधे। इसे बंधे रखने के लिए बाहरी तरफ से थोड़ी सी मेंहदी लगाए।
  • यही प्रक्रिया तब तक दोहराए तब तक कि, सारे बाल सही से बंध न जाए।
  • बचे हुए मेंहदी के मिश्रण को बालों को पूरी तरह से ढकने के लिए सिर के चारों ओर लगाए। यह आपके जूड़ा को बिना किसी पिन या क्लिप की मदद से सही तरह से बनाए रखने में मदद करेगा।
  • लगाई हुई मेंहदी को सूखा होने से बचाने के लिए प्लास्टिक या पॉलिथीन का कैप पहन लें, ताकि यह आपके बालों को सही रंग दे सकें।
  • आप इसे (हल्के रंग के लिए) 1 घंटे तक और (गहरे रंग के लिए) 3 से 4 घंटे तक रहने दें।
  • मेंहदी को साफ पानी से धो दें हालांकि, बेहतर परिणाम पाने के लिए कम से कम 24 घंटे तक शैम्पू न करें।

मेंहदी के लिए सुझाव

आप बेहतर परिणाम प्राप्त करने के लिए कुछ अन्य सुझावों को भी मान सकती है:

  • मेंहदी के मिश्रण को हमेशा लोहे के कटोरे या बर्तन में बनाना चाहिए, क्योंकि इसमें यह अधिक रंग देता है।
  • बेहतर परिणाम प्राप्त करने के लिए मिश्रण को 4 से 5 घंटे के लिए रख दें।
  • मिश्रण में स्थिरता लाने के लिए मिश्रण को गुनगुने पानी से तैयार करें।
  • यह सुनिश्चित करे कि, सभी बालों को समान रंग देने के लिए प्रत्येक बाल पर मेंहदी ठीक से लगी है या नहीं।
  • गहरा रंग प्राप्त करने के लिए बालों को प्लास्टिक कैप से ढक लें।
  • मुलायम, चमकदार और रेशमी बालों के लिए बालों को गुनगुने पानी से धो लें।
  • यदि आपके बाल घुंघराले बाल हैं और आप बिल्कुल सीधे बाल प्राप्त करना चाहती है, तो सीधे और मुलायम बालों के लिए नियमित मेंहदी लगाना सबसे अच्छा तरीका है। इसके लिए आप मेंहदी के मिश्रण में अंडा और दही डाल सकती है।
  • जुकाम, सर्दी या बुखार के दौरान मेंहदी न लगाए, क्योंकि मेंहदी की भी प्रकृति ठंडी होती है।
  • बालों को पोषण और चमकदार, मुलायम, और रेशमी बनाने के लिए नियमित मेंहदी लगानी चाहिए।
  • मेंहदी को लम्बें समय तक बालों में लगा छोड़ने पर क्षतिग्रस्त बालों की मरम्मत हो जाती है।

कुछ अलग परिणाम प्राप्त करने के लिए सुझाव

बालों के प्रकार और आपके चुनाव के अनुसार आप निम्नलिखित सुझावों को भी अपना सकते हैं:

  • बालों की लम्बाई में सुधार करने और स्वस्थ बाल पाने के लिए, आप मेंहदी में चाय पत्ती का पानी या कॉफी पाउडर को मिला सकती है।
  • बालों पर सैलून की तरह रंग लाने के लिए, आप मेंहदी में अंडे और नींबू का प्रयोग करना चाहिए, जो बालों को प्राकृतिक गहरा लाल रंग प्रदान करता है। आप गहरा और प्राकृतिक रंग पाने के लिए कॉफी के पाउडर और लोहे के बर्तन का उपयोग मिश्रण बनाने के लिए करें।
  • आप बालों को पोषण देने के लिए अंडे की सफेद परत, नींबू का जूस मेंहदी के साथ मिला सकती है। इसे 2 से 3 घंटों के लिए बालों में लगा छोड दे और बाद में इसे सादा पानी से साफ कर दे।
  • बालों को बढ़ाने और स्वस्थ बनाने के लिए, आप अपने आवश्यक तेल को मेंहदी के साथ मिला सकती है, जो बालों का गिरना, बालों का भूरा होना और प्रदूषण के प्रभाव से बचाता है।
  • आप बालों की स्वस्थ वृद्धि के लिए मेंथी के दाने और सरसों के तेल को मेंहदी के साथ प्रयोग कर सकती है। यह रुखे बालों को मुलायम और रेशमी बनाएगा, क्योंकि मेंथी बालों को पोषण के लिए आवश्यक प्रोटीन प्रदान करती है और सरसों का तेल बालों की त्वचा में रक्त परिसंचरण में सुधार करता है।
  • मेंहदी के साथ प्राकृतिक रुप से कंडीशनर लेने के लिए मेंहदी में दही मिलाकर प्रयोग करना चाहिए।
  • बालों को गिरने से रोकने के लिए और प्रभावी कंडीशनर लेने के लिए आप ग्रीन टी का प्रयोग कर सकती है। यह बालों की लोचशीलता को बढ़ाने के द्वारा बालों को मुलायम बनाएगी। इस प्रकार, बालों का टूटना कम होता है।
  • यदि आप रुसी और सिर में खुजली की समस्या से राहत पाना चाहते हो, तो इसके लिए नींबू, दही, मेंथी और मेंहदी के मिश्रण का प्रयोग बालों में करना चाहिए।
  • आप ऑलिव ऑयल (जैतून का तेल), अंडे और मेंहदी के पाउडर के प्रयोग के द्वारा बालों की जड़ों में से अधिक रूखेपन को हटा सकते हो।
  • बालों का गिरना आवंला, मेंथी और मेंहदी का प्रयोग करने के द्वारा रोका जा सकता है। धनिये की पत्तियों और काली मिर्ची के पाउडर के साथ मेंहदी का प्रयोग भी बालों के गिरने के इलाज में प्रभावी हो सकता है।

 

मेंहदी डैंड्रफ और बालों के गिरने की समस्या को भी दूर करती है। अगर आपके बालों में भी रूसी है तो मेंहदी का इस्तेमाल करना आपके लिए बहुत फायदेमंद रहेगा।

मेंहदी में एंटी-बैक्‍टीरियल गुण पाया जाता है जो संक्रमण से सुरक्षा देने का काम करता है। तो आइए हम बताते है आपको बालों में मेहंदी लगाने के और भी कई फायदे।

बालो में मेहंदी लगने के कौन कौन से फायदे है जानिए 

बालों को बनाए मजबूत

हमने आपको बताया की मेहंदी से बालों का झड़ना भी रोका जा सकता है क्योकि ये हमारे बालो की जड़ो को मजबूत करता है। मेहंदी हमारे बालों को बाहरी पोषण देने के साथ साथ उन्हें अंदर से भी मजबूत करती है।

प्राकृतिक रूप से रंगे बालों को 

मेहंदी सर्वाधिक प्रयोग बालों को रंगने के लिए किया जाता है। इससे आपके बाल प्राकृतिक रूप से रंग जाते है। मेहंदी को बालों में लगाने से आपके बाल चमकदार हो जाते है। सबसे खास बात यह है कि इसके कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होते हैं।

बालों को लंबा करे

मेंहदी के इस्तेमाल से आपके बाल लंबे होते हैं। इसमें मेथी के दाने मिलाकर लगाने से इसका फायदा जल्दी नजर आता है।

बालों के लिए एक अच्छा कंडीशनर

मेंहदी बालों को कंडीशन करने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसके लगातार इस्तेमाल से आपके बाल घने, मजबूत हो जाते हैं। यह आपके बालों के रूखे क्यूटिकल्स को नरम बनाती है। साथ ही उनमें चमक भी लाती है।

आमतौर पर लोग अपने सफेद बालों को छिपाने के लिए ही मेंहदी लगाते हैं। पर मेंहदी केवल बालों को कलर करने के काम ही नहीं आता है। यह एक औषधि की तरह भी काम करती है। 

रुसी करे दूर

रुसी से बचने के लिए आप मेंहदी का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए बस आपको अब एक अलग बर्तन में मेहंदी डाले। साथ ही इसमें कुछ नींबू के रस की कुछ बुंदे मिलाएं। उसके बाद इसे आप अपने सर में लगाए इससे आपकी रुसी की स्या दूर हो जएगी।

 

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 39,938 57
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 30,455 33
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 3,793 32
मिनटों में गायब हो जाएंगे 'लव बाइट' के निशान, करें ये आसान काम 27 22
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 2,907 19
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 3,908 17
वजन बढ़ाने वाले हर्ब्स 82 17
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 13,874 16
जानिए अनार का जूस पीने के और अनार को खाने के फायदे 1,038 14
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 4,696 13
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 3,416 11
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 15,366 11
हैल्दी बालों के लिए डाइट 31 10
पीलिया कैसा भी हो जड़ से खत्म करेंगे 2,867 9
जानें बीयर के बारें में 138 9
झाइयां होने के कारण 2,861 9
फिस्टुला रोग क्या है , इसको पहचाने के लक्षण इस प्रकार 1,817 9
हार्ट अटैक से बचना है तो रोज़ पीजिये 3 से 5 बार कॉफी: शोध 2,056 9
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 18,247 9
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 3,506 9
सर दर्द से राहत के लिए करें ये घरेलु उपचार 1,343 9
पेट फूलना, गैस व खट्टी डकार से तुरंत राहत दिलाने उपचार के 1,489 8
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 3,701 8
क्या खाएं और क्या न खाएं, जानिए 1,769 8
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 2,983 7
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 5,193 7
ख़तरनाक है सेक्स एडिक्शन 4,073 7
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 5,676 7
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 947 7
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 5,234 7
पोषाहार क्या है जानिए 707 6
सुबह उठते ही चेहरे पर दिखती है सूजन तो जरूर जानिए इसकी वजह 28 6
किडनी को ख़राब करने वाली है ये आदतें……. 1,341 6
एड़ियों के दर्द से छुटकारा दिलाते हैं ये घरेलू नुस्खे 996 6
इंसानी दूध पीने को लेकर ब्रिटेन में चेतावनी 6,326 5
गुप्तांगो या बगलों के बालों की सफाई का महत्व 8,776 5
क्या होती है नेगेटिव कैलोरी? 38 5
स्प्राउट्स- सेहत को रखे आहार भरपूर 1,449 5
ब्लड प्रेशर को कैसे रखें नियंत्रित 290 5
हल्दी का प्रयोग आप को करे निरोग 1,662 5
कब्‍ज के उपचार के घरेलू उपाय 1,062 5
जामुन के गुण और फायदे 1,949 5
हाई बीपी और माइग्रेन में मेंहदी इस प्रकार फायदेमंद 626 5
इस मौसमी सीताफल के फायदे जानकर आप रह जाएगे हैरान 1,508 5
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 6,981 4
क्यों जरूरी है विटामिन बी-12? 50 4
अखरोट खाने के कौन - कौन से फायदे और नुकसान होते है 1,207 4
बॉलीवुड एक्ट्रेस में बढ़ रहा है कपिंग थैरेपी का क्रेज, जानिए इसके फायदे 36 4
ब्रेस्ट कम कैसे करे- एक्सर्साइज़ टिप्स 1,561 4
सुपारी के सेवन से किया जा सकता है पागलपन को कम 562 4