कोल्‍ड और फ्लू से लड़ने में मददगार हैं ये फल आइये जानें

कोल्‍ड और फ्लू से लड़ने में मददगार हैं ये फल आइये जानें

कोल्‍ड और फ्लू से बचाने में मददगार फल कौन कौन से है 

कोल्‍ड और फ्लू एक परेशान करने वाली बीमारी है जिसमें अच्‍छे से अच्‍छे व्‍यक्ति भी परेशान हो जाता है। यह बीमारी अक्‍सर उन लोगों को ज्‍यादा घेरती है जिनकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है। फ्लू के दौरान थकान महसूस होना सामान्‍य लक्षण है। और कोल्‍ड और फ्लू के कारण रोगी के शरीर में एनर्जी लेवल भी कम होने लगता है। लेकिन यहां दिये 7 आहार को नियमित रूप से दिनचर्या में शामिल करने से वह कोल्‍ड और फ्लू से बचा जा सकता है। क्‍योंकि इन हेलदी फल को खाने से आपकी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। साथ ही फल, प्रोटीन और विटामिन का प्राकृतिक स्रोत होते है। संतरा, अंगूर, केला और सेब आदि खाने से फ्लू के दौरान शरीर को ताकत मिलती है। फल खाने से शरीर डिहाई्ड्रेट होने से बचता है। 

कोल्‍ड और फ्लू एक परेशान करने वाली बीमारी है जिसमें अच्‍छे से अच्‍छे व्‍यक्ति भी परेशान हो जाता है। यह बीमारी अक्‍सर उन लोगों को ज्‍यादा घेरती है जिनकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है। लेकिन यहां दिये आहार को नियमित रूप से दिनचर्या में शामिल करने से वह कोल्‍ड और फ्लू से बचा रह सकता है 

पपीता का सेवन से 

जिन लोगों को बार-बार कोल्‍ड और फ्लू की समस्‍या होती रहती है, उनके लिए पपीते का नियमित सेवन काफी लाभकारी होता है। इससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। आरडीए के 250 प्रतिशत के साथ विटामिन सी, के कारण आपके शरीर से कोल्‍ड को दूर करने में मदद करता है। इसके अलावा, पपीते में बीटा कैरोटीन और विटामिन सी और ई अस्थमा के प्रभाव को कम करने के साथ पूरे शरीर में सूजन को कम करने में मदद करता है। 

सेब के खाने से 

सेब हमारे आहार में एंटी-ऑक्‍सीडेंट का सबसे लो‍कप्रिय स्रोत है। एक सेब में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट लगभग 1500 मिलीग्राम विटामिन सी के बराबर होता है। इसके अलावा सुरक्षात्मक फ्लेवोनॉयड से भरपूर होने के कारण, यह हृदय रोग और कैंसर की रोकथाम में मदद करता है। 

केला खाने से 

हालांकि लोग कोल्‍ड और फ्लू में केला खाने को माना करते हैं लेकिन यह सही नहीं, केला विटामिन बी-6 के सबसे अच्‍छे स्रोतों में से एक है। यह थकान, तनाव, अनिद्रा और अवसाद के साथ कोल्‍ड को दूर करने में मदद करता है। इसके साथ केला मैग्‍नीशियम से भरपूर होने के कारण हड्डियों को मजबूत रखता है और इसमें मौजूद पोटेशियम हृदय रोग और उच्च रक्तचाप को रोकने में मदद करता है। 

ग्रेपफ्रूट खाये 

विटामिन सी से भरपूर होने के साथ ग्रेपफ्रूट में प्राकृतिक तत्‍व लिमोनोइड भी पाया जाता है, जो कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा ग्रेपफ्रूट की लाल किस्‍म में कैंसर से लड़ने वाला लाइकोपीन नामक शाक्तिशाली तत्‍व भी पाया जाता है। 

क्रैनबेरी फायदेमंद 

अन्‍य फलों और सब्जियों की तुलना में क्रैनबेरी में बहुत अधिक मात्रा में एंटी-ऑक्‍सीडेंट होता है। एक बार क्रैनबेरी खाने से आपको ब्रोकली के मुकाबले पांच गुना ज्‍यादा एंटीऑक्‍सीडेंट प्राप्‍त होता है। क्रैनबेरी एक प्राकृतिक प्रोबायोटिक हैं, जो पेट में गुड बैक्‍टीरिया के स्‍तर को बढ़ाकर यह आहार जनित बीमा‍रियों से बचाती है। 

संतरा खाना लाभकारी  

संतरे में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है। इसके सेवन से आपको कोल्‍ड और फ्लू जैसी समस्याएं नहीं होती और साथ ही आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ जाती है। संतरे के बारे में अक्‍सर यह भी कहा जाता हैं कि यदि नियमित रूप से संतरा खाया जाए तो आपको घर में एंटीबायोटिक दवाएं रखने की जरुरत नहीं पड़ेगी।

कीवी फल 

यह मीठा, हरा फल एंटीऑक्सीडेंट जैसे विटामिन सी और ई विटामिन सी का शक्तिशाली पॉवरहाउस है। यह कोल्ड या फ्लू से छुटकारा पाने में मदद करने के साथ इसे पहली ही स्‍टेज में रोकने में मदद करता है। विटामिन सी संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में मददगार एंटीबॉडी और सफेद रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ने में मदद करता है। और विटामिन ई इम्युनोग्लोबुलिन के उत्पादन के लिए आवश्यक है। दिन में दो कीवी खाकर शरीर को भरपूर विटामिन सी दिया जा सकता है। यह कफ और कोल्ड से लड़ने में आपकी मदद करता है। 

 

 

Video: 
Vote: 
2
Average: 2 (1 vote)

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 47,986 14
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 51,022 7
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 12,317 7
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 12,118 6
मियादी बुखार का कारण क्या है 3,725 6
ब्लैक कॉफी पीने के फायदे 2,987 5
धनिया के औषधीय गुण 352 5
हस्तमैथुन करने वाली महिलाएं होती है इन बीमारियों का शिकार 575 5
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 22,053 4
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 7,578 4
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 3,836 3
हल्दी का प्रयोग आप को करे निरोग 2,036 3
सेक्स एडिक्शन - बड़ी समस्या है. 793 3
ब्रेस्ट कैंसर के लिए कीमोथेरेपी क्यों ज़रूरी है? 432 3
प्रकति स्वयं चिकित्सक है 141 3
पपीता के बीज के गुण 155 3
छाती को कम करने के उपाय एरोबिक्स से 965 3
झाइयां होने के कारण 5,424 2
अखरोट खाने के कौन - कौन से फायदे और नुकसान होते है 1,747 2
फिस्टुला रोग क्या है , इसको पहचाने के लक्षण इस प्रकार 3,086 2
मोती जैसे सफेद दांत पाने के लिए ट्राई करें ये 5 घरेलू उपाय 2,598 2
लड़की नही समझ पा रही है इशारे तो ऐसे कराएं प्यार का अहसास 170 2
नीली रोशनी के ख़तरे? 237 2
मखाना की खेती 670 2
अब नारियल बतायेगा ब्लड ग्रुप 2,787 2
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 7,695 2
सर्दियों में लहसुन का फायदा 638 2
कई रोगों में चमत्कार का काम करती है दूब घास, जानें इसके फायदे 811 2
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 5,470 1
उच्च रक्तचाप की बीमारी ठीक करने के लिए 659 1
जल्‍दी पिता बनने के लिए एक घंटे में करें दो बार सेक्‍स 5,488 1
प्रेग्नेंट होने,पर दूर रहें माइक्रोवेव और मोबाइल से 550 1
पुरूषों को बुढ़ापे तक स्‍वस्‍थ रखेंगी उनकी ये 5 अच्‍छी आदतें 523 1
तेजपत्ते में होते हैं ये औषधीय गुण 376 1
डायरिया होने पर करें घरेलु उपाय 471 1
आखों के काले घेरे दूर करिये 998 1
बच्चे के कान के पीछे शंकु का समाधान 1,815 1
घर पर कैसे बनाएं – एगलैस चॉकलेट केक आइये जानें 899 1
स्त्रियों के ये अंग होते हैं सबसे ज्यादा कामुक 485 1
आयुर्वेद दोहे 194 1
वेलेंटाइन डे के पहले कैसे पाएं साफ और गोरी त्‍वचा 1,596 1
हार्मोन और स्किन को नुकसान पहुंचाते हैं ये आहार 559 1
लकवा (पैरालिसिस): लक्षण और कारण 955 1
एपेंडिसाइटिस करें निर्धारित, कुछ उपयोगी टिप्स 415 1
दही खाने के बेहतरीन फायदो और खूबियों के बारे में जानें क्या हैं 1,180 1
मोटापे से कमज़ोर होती है याददाश्त? 706 1
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 5,353 1
यदि आप अपनी मस्तिष्क की देखभाल करते हैं 151 1
क्या है आई वी एफ की प्रक्रिया, जानें 502 1
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 22,198 1