गर्भावस्था में क्या खाएं क्या न खाएं

गर्भावस्था में क्या खाएं क्या न खाएं

प्रेग्नेंसी के दौरान एक हेल्दी डाइट मां के लिए सबसे बड़ी जरूरत होती है। इस दौरान शरीर को अतिरिक्त पोषक तत्वों, विटामिन्स और मिनरल्स की जरूरत पड़ती है। प्रेग्नेंसी की दूसरी और तीसरी तिमाही में गर्भवती महिला को हर दिन कम से कम 350-500 कैलोरी लेना आवश्यक है। मां के अंदर पोषक तत्वों की कमी उसके बच्चे के विकास पर बुरा प्रभाव डाल सकती है। कम खाने की आदत या फिर अधिक वेट गेन दोनों मां और बच्चे दोनों के स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह होते हैं। ऐसे में प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में संतुलित पोषक तत्वों की आपूर्ति के लिए आपको इन फूड्स का सेवन जरूर करना चाहिए जिसके बारे में आज हम आपको बताने वाले हैं।

डेयरी प्रोडक्ट्स – प्रेग्नेंट महिला के लिए अतिरिक्त प्रोटीन और कैल्शियम का सेवन बहुत जरूरी होता है। यह बच्चे के विकास के लिए महत्वपूर्ण तत्व होता है। इसके लिए डेयरी प्रोडक्ट्स बेहतर विकल्प होते हैं। डेयरी प्रोडक्ट्स यानी कि दूध से बने उत्पाद कैल्शियम, फास्फोरस, विटामिन बी, मैग्नीशियम और जिंक के बेहतरीन स्रोत होते हैं।ये सभी गर्भावस्था के लिए जरूरी पोषण होते हैं।

शकरकंद – विटामिन ए भ्रूण के कोशिकाओं और ऊतकों के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, इसलिए ही प्रेग्नेंट महिला को विटामिन ए के सेवन की मात्रा 10-40 प्रतिशत तक बढ़ाने की सलाह दी जाती है। शकरकंद बीटा कैरोटिन का बेहतरीन स्रोत है और गर्भवती महिलाओं में विटामिन ए की आपूर्ति के लिए बीटा कैरोटिन सबसे बेहतरीन विकल्प होता है। इसलिए प्रेग्नेंट महिलाओं को शकरकंद पकाकर खाने की आदत डालनी चाहिए।

अंडे – अंडे कोलिन के अच्छे स्रोत होते हैं। कोलिन शरीर में दिमाग के विकास तथा अच्छी सेहत के लिए बहुत आवश्यक पोषक तत्व है। प्रेग्नेंसी में कोलिन की कमी की वजह से तंत्रिका ट्यूब्स से संबंधित समस्याएं तथा दिमागी कार्यप्रणाली में कमी का खतरा बढ़ जाता है।

ब्रोकली और हरी पत्तेदार सब्जियां – प्रेग्नेंसी के दौरान कब्ज एक आम समस्या है। हरी पत्तेदार सब्जियां और ब्रोकली फाइबर के अच्छे स्रोत होते हैं जो कब्ज से राहत दिलाने में काफी मदद करते हैं। इसलिए गर्भवती महिलाओं को हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन जरूर करना चाहिए। यह कम बर्थ वेट वाले बच्चे के होने के खतरे को भी कम करता है।

साबुत अनाज – साबुत अनाज में विटामिन बी, फाइबर और मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह सभी पोषक तत्व गर्भवती महिलाओं के लिए बेहद आवश्यक होते हैं।

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 25,677 65
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 35,032 59
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 5,338 37
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 2,501 25
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 4,034 20
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 12,416 18
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 2,221 15
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 1,605 14
सुबह का नाश्ता राजा की तरह, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का भोजन भिखारी की तरह करना चाहिए।’ 2,582 13
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 2,904 12
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 4,234 12
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 16,910 12
एड़ियों के दर्द से छुटकारा दिलाते हैं ये घरेलू नुस्खे 629 12
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 2,394 12
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 2,034 12
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 2,030 12
वजन कम करने के फायदे, जानकर रहे जायगे हैरान 827 12
ब्‍लड ग्रुप के अनुसार कैसा होना चाहिये आपका आहार 1,843 11
ब्रेस्ट कम करने के लिए क्या खाएं 1,054 10
अपनी आँखों को रखे हमेशा सलमात 858 10
झाइयां होने के कारण 1,346 10
हाइड्रोसेफेलस है गंभीर मानसिक बीमारी, जानें इसके लक्षण और उपचार 306 10
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 1,137 10
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 588 9
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 444 9
पीलिया कैसा भी हो जड़ से खत्म करेंगे 1,972 9
रात में दूध पीने के फायदे 649 9
मौसमी का जूस पीने के फायदे 2,313 8
क्यों रहते हैं हाथ-पैर ठंडे? 2,523 8
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 2,476 8
तिल तथा मस्से हटाने के आसान घरेलू उपचार 8,297 8
गले में सूजन और दर्द, लिम्फोमा कैंसर के हो सकते हैं संकेत 436 7
प्राकृतिक चिकित्सा 894 7
जल्‍दी पिता बनने के लिए एक घंटे में करें दो बार सेक्‍स 4,222 7
रस्सी कूदें, वज़न घटाएं 1,089 6
सुबह उठ कर खाली पेट कैसे पानी पीना चाहिए 719 6
ब्रेस्ट कम कैसे करे- एक्सर्साइज़ टिप्स 986 5
मूड खराब को अच्छा मूड बनाने के टिप्स 473 5
सभी प्रकार के घावों में कारगर है लेड 776 5
दिमागी दौरा या ब्रेन स्ट्रोक से पाएं छुटकारा 751 5
अपनी आँखों की देखभाल कैसे करें 217 5
मियादी बुखार का कारण क्या है 2,194 5
टैनिंग को हटाया जा सकता है 80 5
अचानक बढ़ जाती है दिल की धड़कन तो हो सकती है ये खतरनाक बीमारी 473 5
दिमागी ताकत व तरावट लानेवाला प्रयोग 275 5
लकवा (पैरालिसिस): लक्षण और कारण 260 5
फिस्टुला रोग क्या है , इसको पहचाने के लक्षण इस प्रकार 674 5
जामुन के गुण और फायदे 1,592 4
ऐसी बातों से बिगड़ता है हार्मोन संतुलन, जन्म लेते हैं बुरे लक्षण.. 129 4
सोशल फोबिया के लक्षण 391 4