गर्मियों में हृदय को दे सुरक्षा

गर्मियों में हृदय को दे सुरक्षा

र्मी के मौसम  मे बुुजुर्ग और अस्वस्थ व्यक्ति  और खासतौर से हृदय रोग से पीडि़त व्यक्ति को  खास ध्यान देने की जरूरत होती है। वे जिन्हें पहले से ही हृदय की समस्या है उन्हें ब्लड प्रेशर और हृदय गति को नियंत्रित रखने के लिए कुछ प्रकार की दवाओं का प्रयोग करना चाहिए। अत्यधिक गर्मी और उमस शरीर के संतुलन को बिगाडऩे का काम करती है। 

खासतौर पर लो ब्लड प्रेशर और हार्ट फेलियर वालों के लिए पानी की कमी और पसीने के कारण इलेक्ट्रोलेट असंतुलन के कारण ब्लड प्रेशर को मेंटेन रखना कठिन होता है साथ ही जो डाइयुरेटिक्स (मूत्र बनाने वाली दवा) लेते हैं उन्हें डिहाइड्रेशन (पानी की कमी) और सॉल्ट डिप्लेशन (नमक की कमी) हो जाता है। हमारा शरीर 98.40 फा. (370से)  तक के सामान्य बॉडी टेम्प्रेचर कोबनाए  रखने के  लिये  सेट होता है जिससे यह अत्यधिक गर्मी में हार्ड वर्क (कूलिंग इफेक्ट) कर सकता है। जैसा कि हम सभी गर्मियों में सन स्ट्रोक या हीट स्ट्रोक के प्रभाव के बारे में जानते हैं,  लेकिन कुछ मामलों में इसके सामान्य लक्षणों में गर्मी से थकान, (हीट एग्जर्शन), सिर दर्द, बेचैनी, चिढ़चिड़ापन और प्यास का बढऩा नजर  आता है।

    दिल शरीर का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा होता है जो असंतुलन को ठीक करने के लिए कड़ी मेहनत करता है। जैसे-जैसे टेम्प्रेचर बढ़ता है शरीर वासोडिलेटेशन (त्वचा के ब्लड वेसेल्स को ठंडक पहुंचाने वाला) के द्वारा गर्मी को नष्ट करता है जिसकी वजह से पसीना त्वचा के तापमान को ठंडा करता है लेकिन इस वासोडिलेटेशन का असर ब्लड प्रेशर पर पड़ता है जिससे ब्लड प्रेशर को बनाए रखने के लिए हृदय के पम्प करने की गति (हार्ट रेट) बढ़ जाती है। ऐसे रोगी जो हाई ब्लड प्रेशर से ग्रस्त हैं उन्हें ब्लड प्रेशर कम करने और हार्ट रेट को नियंत्रित रखने की दवाएं दी जाती हैं। इसलिए इस तरह के परिवर्तन कभी-कभी मुश्किल से दिखते हैं।

   इसके लिए सामान्य तौर पर बीटा ब्लॉकस, कैल्शियम चैनल ब्लॉकर्स, एसीई इनहैबिटर्स आदि दवाएं हैं।
समस्त गंभीर बीमारियों से संबंधित हार्ट स्ट्रोक तब होता है जब टेम्प्रेचर 1050 फा. से ऊपर चला जाता है यह प्राणघातक भी होता है। नीचे दी गई परिस्थिति में फिजिशियन को दिखाना जरूरी है--शरीर का तापमान अत्यधिक (1030फा.) बढ़ जाना, गर्म और रुखी त्वचा (बिना पसीने के),धमक के साथ सिरदर्द,चक्कर आना व भ्रम/बेचैनी।

       इस तरह की परिस्थिति में तरल चीजें पर्याप्त नहीं होती, सबसे पहले बॉडी टेम्प्रेचर को ठंडा इलेक्ट्रोलेट के असंतुलन को ठीक करना जरूरी होता है। इससे भी ज्यादा प्रत्येक हृदय रोगी को बदलते मौसम के दौरान अपने दवा को रिएडजेस्ट कराने के लिए नियमित रूप से डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

 गर्मियों में हृदय को स्वस्थ रखने के लिए खास उपाय-

      दोपहर में 2 से 3 बजे के बीच घर से बाहर निकलने से बचें, क्योंकि इस दौरान गर्मी चरम पर होती है।
बुजुर्ग अपने दोस्तों, रिश्तेदारों या किसी जानकार के साथ अपना नियमित व्यायाम जरूर करें, जिससे किसी इमरर्जेंसी में वे आपकी सहायता कर सकें।

      व्यायाम के दौरान कई बार ब्रेक लें या फिर किसी शेड या ठंडी जगह पर सुस्ता लें।

व्यायाम के दौरान अच्छी तरह के  हवादार जूते और मोजे पहनें जिससे पसीना कम निकलेगा।

     अगर आप हेल्दी भोजन करेंगे तो गर्मी का सामना भी आसानी से कर सकेंगे और आपका हृदय भी स्वस्थ रहेगा। बॉडी टेम्प्रेचर, भूख और प्यास  को संतुलित रखने में मस्तिष्क का एक भाग हाइपोथैल्मस मदद करता है। इसलिए हीट स्ट्रोक से बचे रहने के लिए सबसे जरूरी है हाइपोथैल्मस जो एंड्रोसाइन का हिस्सा होता है उसकी कार्य प्रणाली ठीक प्रकार से होती रहे। पत्तेदार हरी सब्जियां, ऑलिव आईल , बादाम और काजू आदि फैटी एसिड्स और मिनरल से भरपूर खाद्य पदार्थ लें, ये खतरनाक गर्मी से बचने में सहायता करेंगे।
तरबूज, नाशपाती और पाईनेपल  पानी से भरपूर होते हैं। इन्हें खाने से  खेलते वक्त, व्यायाम करते वक्त या गर्मियों के प्रतिदिन के काम करते वक्त डिहाइड्रेशन से बच सकते हैं।

    ब्रॉथ, सूप और नट मिल्क के साथ अनाज आदि लेने से शरीर की नमी बनी रहती है। इस तरह के खाद्य पदार्थ आपके जलीयांश  के स्तर को बढ़ाते हैं जिससे आपके शरीर को पोषण मिलता है और हाइड्रेट भी रहता है। 

    कॉफी से बचने का प्रयास करें क्योंकि यह मूत्र वर्धक का काम करता है, जिससे आपको बार-बार पेशाब  की आवश्यकता हो सकती है जिससे शरीर का मूल्यवान पानी निकल जाता है।
अगर आप इन सावधानियों का अनुसरण करें तो हीट स्ट्रोक से बच सकते हैं। 

 

 

Vote: 
0
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 40,053 87
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 3,869 70
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 30,524 62
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 7,047 55
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 2,943 31
झुर्रिया हो या पिंपल्स, आपके चेहरे को बेदाग बनाएगी 34 27
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 4,727 27
लहसुन : हानिकारक प्रभाव भी दे सकती हैं। 29 27
घर पर आसानी से मिनटों में निकाले व्हाइटहेड्स 31 23
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 2,598 20
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 15,392 20
झाइयां होने के कारण 2,888 19
क्या खाएं और क्या न खाएं, जानिए 1,789 19
बिना एक्सरसाइज किए 1 महीने में घटाएं जांघों और कूल्हों की चर्बी! 24 19
पीलिया कैसा भी हो जड़ से खत्म करेंगे 2,890 19
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 2,031 18
इस मौसमी सीताफल के फायदे जानकर आप रह जाएगे हैरान 1,528 18
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 13,897 17
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 3,723 16
अपने दांतों की देखभाल और उनको रखे दूध जैसे चमकीले तथा स्वच्छ 879 15
बिना सर्जरी स्तन छोटे करने के उपाय 1,887 14
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 5,250 14
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 3,433 13
मिनटों में गायब हो जाएंगे 'लव बाइट' के निशान, करें ये आसान काम 47 13
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 3,526 13
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 3,934 12
ब्रेस्ट कम कैसे करे- एक्सर्साइज़ टिप्स 1,576 12
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 5,693 12
ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए जरूर खाएं टमाटर 13 11
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 18,260 11
क्यों जरूरी है विटामिन बी-12? 61 10
तिल तथा मस्से हटाने के आसान घरेलू उपचार 9,091 10
हैल्दी बालों के लिए डाइट 47 9
पेट फूलना, गैस व खट्टी डकार से तुरंत राहत दिलाने उपचार के 1,498 9
रस्सी कूदें, वज़न घटाएं 1,595 8
इडली को क्‍यूं माना जाता है वर्ल्‍ड का बेस्‍ट ब्रेकफास्‍ट 819 8
मियादी बुखार का कारण क्या है 2,890 8
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 2,993 7
सुबह उठते ही चेहरे पर दिखती है सूजन तो जरूर जानिए इसकी वजह 36 7
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 5,204 7
गन्ने के रस में है कैंसर से लड़ने की ताकत 544 7
सेब बचाता है स्किन कैंसर से 299 7
सर दर्द से राहत के लिए करें ये घरेलु उपचार 1,350 7
क्या होती है नेगेटिव कैलोरी? 45 6
पोषाहार क्या है जानिए 714 6
लाल लकीर वाली दवाए बिना डॉ की सलाह के कभी न लें 1,525 6
हार्ट अटैक से बचना है तो रोज़ पीजिये 3 से 5 बार कॉफी: शोध 2,062 6
डायबिटीज से बचने के लिए जरूरी है भरपूर नींद लेना 42 6
स्ट्रेस दूर करने के लिए साइकोलॉजिकल ट्रिक्स 63 6
जानिए मांसाहार अच्छा है या शाकाहार?? 29 6