घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज

घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज

लिगामेंट्स से संबंधित चोटों के बारे में जानने से पहले यह जानना जरूरी है कि लिगामेंट्स क्या हैं और ये कैसे जोड़ों (ज्वाइंट्स) को सुचारु रूप से संचालित करते हैं? वस्तुत: लिगामेंट्स रस्सीनुमा तंतुओं के ऐसे समूह हैं, जो हड्डियों को आपस में जोड़कर उन्हें स्थायित्व प्रदान करते हैं। इस कारण जोड़ सुचारु रूप से कार्य करते हैं। घुटने का जोड़ घुटने के ऊपर फीमर और नीचे टिबिया नामक हड्डी से बनता है। बीच में टायर की तरह के दो मेनिस्कस (एक तरह का कुशन) होता है। फीमर व टिबिया को दो रस्सीनुमा लिगामेंट (एनटीरियर क्रूसिएट लिगामेंट और पोस्टेरियर क्रूसिएट लिगामेंट) आपस में बांध कर रखते हैं और घुटनों को स्थायित्व प्रदान करते हैं। साइड में यानी कि घुटने के दोनों तरफ कोलेटेरल और मीडियल कोलेटेरल लिगामेंट और लेटेरल कोलेटरल लिगामेंट नामक रस्सीनुमा लिगामेंट्स होते हैं। इनका कार्य भी क्रूसिएट की तरह दोनों हड्डियों को बांध कर रखना है।

स्पोट्र्स इंजरी: मैदान में या घर से बाहर खेले जाने वाले खेलों (आउटडोर गेम्स या स्पोट्र्स) के दौरान जब घुटने पर घुमावदार ताकत या जोर (ट्विस्टिंग फोर्स) लगता है, तो घुटने के लिगामेंट्स में से एक या अधिक टूट जाते हैं। ऐसा फुटबॉल, क्रिकेट, दौड़ने-कूदने, बास्केटबॉल, बेसबॉल, आदि खेलों के दौरान अक्सर हो जाता है। इस स्थिति में ये लक्षण प्रकट होते हैं…

-घुटने में सूजन आ जाती है और दर्द होता है।

-घुटना अस्थिर हो जाता है।

-घुटने में शक्ति का अभाव महसूस होना और दर्द होना।

-कभी-कभी क्लिक जैसी की आवाज आती है।

-कभी घुटना एक पोजीशन में जाम हो जाता है।

-सीढि़यां चढ़ने-उतरने, पाल्थी मारने और उकड़ू बैठने में तकलीफ होती है। घुटना पूरा नहीं मुड़ता।

आर्थोस्कोपिक विधि से इलाज

आर्थोस्कोपिक विधि से अब स्पोट्र्स इंजरी का इलाज सफलतापूर्वक संभव है। चीरफाड़ किए बगैर आर्थोस्कोप से जो भी लिगामेंट टूट गया है, उसे रिपेयर कर दिया जाता है या फिर उसका दोबारा पुनर्निर्माण कर दिया जाता है। घुटने की लूज बॉडीज (चोट लगने के कारण लिगामेंट में टूट-फूट होने वाले भागों) को निकाल दिया जाता है। परिणामस्वरूप घुटने की अस्थिरता खत्म हो जाती है और दर्द दूर हो जाता है। ऐसे व्यक्ति की दिनचर्या बहाल हो जाती है। यह आधुनिक विधि दर्दरहित और सफल है।

New Health Updates

Icon Total views
Three cups of Coffee may prevent heart attacks हार्ट अटैक से बचना है तो रोज़ पीजिये 3 से 5 बार कॉफी: शोध 1,164
स्किन कैंसर से नहीं बचा सकते सन्सक्रीन स्किन कैंसर से नहीं बचा सकते सन्सक्रीन 173
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 449
चमकती हुई त्वचा के लिए हर्बल ब्यूटी टिप्स चमकती हुई त्वचा के लिए हर्बल ब्यूटी टिप्स 1,919
इडली को क्‍यूं माना जाता है वर्ल्‍ड का बेस्‍ट ब्रेकफास्‍ट इडली को क्‍यूं माना जाता है वर्ल्‍ड का बेस्‍ट ब्रेकफास्‍ट 204
खुश रहने के लिये खूब खाएं फल और सब्‍जियां खुश रहने के लिये खूब खाएं फल और सब्‍जियां 1,057
शोरगुल से बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा शोरगुल से बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा 885
कॉफी बना सकता है आपको बहरा कॉफी बना सकता है आपको बहरा 977
एरोबिक एक्‍सरसाइज हार्टफेल से बचाएगा एरोबिक एक्‍सरसाइज 975
शयनकक्ष में बहुत रोशनी बढ़ा सकती है मोटापा शयनकक्ष में बहुत रोशनी बढ़ा सकती है मोटापा 127
तुलसी का काढ़ा फायदा ही फायदा तुलसी का काढ़ा फायदा ही फायदा 359
गर्मियों में हृदय को दे सुरक्षा गर्मियों में हृदय को दे सुरक्षा 155
ब्‍लड ग्रुप के अनुसार कैसा होना चाहिये आपका आहार ब्‍लड ग्रुप के अनुसार कैसा होना चाहिये आपका आहार 307
हाइपर थाइरोइड में शंखपुष्पी का प्रयोग। हाइपर थाइरोइड में शंखपुष्पी का प्रयोग। 195
प्राकृतिक चिकित्सा प्राकृतिक चिकित्सा 176
सावधान! प्रेग्नेंट हैं, तो दूर रहें माइक्रोवेव और मोबाइल से 164
मोती जैसे सफेद दांत पाने के लिए ट्राई करें ये 5 घरेलू उपाय मोती जैसे सफेद दांत पाने के लिए ट्राई करें ये 5 घरेलू उपाय 512
इस पॉपुलर डाइट का सेवन करने वाले लोग हो सकते हैं अंधे, जानिए बचने के उपाय 118
क्यों रहते हैं हाथ-पैर ठंडे? क्यों रहते हैं हाथ-पैर ठंडे? 258
माइग्रेन के दर्द से बचाता है ये आहार माइग्रेन के दर्द से बचाता है ये आहार 241