घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज

घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज

लिगामेंट्स से संबंधित चोटों के बारे में जानने से पहले यह जानना जरूरी है कि लिगामेंट्स क्या हैं और ये कैसे जोड़ों (ज्वाइंट्स) को सुचारु रूप से संचालित करते हैं? वस्तुत: लिगामेंट्स रस्सीनुमा तंतुओं के ऐसे समूह हैं, जो हड्डियों को आपस में जोड़कर उन्हें स्थायित्व प्रदान करते हैं। इस कारण जोड़ सुचारु रूप से कार्य करते हैं। घुटने का जोड़ घुटने के ऊपर फीमर और नीचे टिबिया नामक हड्डी से बनता है। बीच में टायर की तरह के दो मेनिस्कस (एक तरह का कुशन) होता है। फीमर व टिबिया को दो रस्सीनुमा लिगामेंट (एनटीरियर क्रूसिएट लिगामेंट और पोस्टेरियर क्रूसिएट लिगामेंट) आपस में बांध कर रखते हैं और घुटनों को स्थायित्व प्रदान करते हैं। साइड में यानी कि घुटने के दोनों तरफ कोलेटेरल और मीडियल कोलेटेरल लिगामेंट और लेटेरल कोलेटरल लिगामेंट नामक रस्सीनुमा लिगामेंट्स होते हैं। इनका कार्य भी क्रूसिएट की तरह दोनों हड्डियों को बांध कर रखना है।

स्पोट्र्स इंजरी: मैदान में या घर से बाहर खेले जाने वाले खेलों (आउटडोर गेम्स या स्पोट्र्स) के दौरान जब घुटने पर घुमावदार ताकत या जोर (ट्विस्टिंग फोर्स) लगता है, तो घुटने के लिगामेंट्स में से एक या अधिक टूट जाते हैं। ऐसा फुटबॉल, क्रिकेट, दौड़ने-कूदने, बास्केटबॉल, बेसबॉल, आदि खेलों के दौरान अक्सर हो जाता है। इस स्थिति में ये लक्षण प्रकट होते हैं…

-घुटने में सूजन आ जाती है और दर्द होता है।

-घुटना अस्थिर हो जाता है।

-घुटने में शक्ति का अभाव महसूस होना और दर्द होना।

-कभी-कभी क्लिक जैसी की आवाज आती है।

-कभी घुटना एक पोजीशन में जाम हो जाता है।

-सीढि़यां चढ़ने-उतरने, पाल्थी मारने और उकड़ू बैठने में तकलीफ होती है। घुटना पूरा नहीं मुड़ता।

आर्थोस्कोपिक विधि से इलाज

आर्थोस्कोपिक विधि से अब स्पोट्र्स इंजरी का इलाज सफलतापूर्वक संभव है। चीरफाड़ किए बगैर आर्थोस्कोप से जो भी लिगामेंट टूट गया है, उसे रिपेयर कर दिया जाता है या फिर उसका दोबारा पुनर्निर्माण कर दिया जाता है। घुटने की लूज बॉडीज (चोट लगने के कारण लिगामेंट में टूट-फूट होने वाले भागों) को निकाल दिया जाता है। परिणामस्वरूप घुटने की अस्थिरता खत्म हो जाती है और दर्द दूर हो जाता है। ऐसे व्यक्ति की दिनचर्या बहाल हो जाती है। यह आधुनिक विधि दर्दरहित और सफल है।

Vote: 
0
No votes yet

New Health Updates

Total viewssort descending Views today
बाइपोलर डिस-ऑर्डर को न्योता? 78 1
नीली रोशनी के ख़तरे? 81 0
हार्ट अटैक के कारण 83 1
स्मार्टफ़ोन बिगाड़ रहा है आंखों की सेहत 86 0
दिल के दौरे में है ब्लड ग्रुप का भी हाथ 87 1
गेमिंग एडिक्शन एक 'बीमारी' 91 2
गेमिंग एडिक्शन का इलाज? 96 0
काली मिर्च के फायदे 96 0
स्मार्टफोन का बुरा असर 96 0
नींबू केस्वास्थ्यवर्धक घरेलु उपाय 97 0
'सोने के पहले न देखें फोन' 100 0
किडनी डायलीसिस क्यों......? 104 2
जानें बीयर के बारें में 110 1
कैसे लें खुद हाफ बाथ? 111 0
मखाना के फायदे 111 2
स्वास्थ्य क्या है आइए जाने की अपने आप को कैसे स्वास्थ्य रखें 113 0
मुहासे हटाने के घरेलु उपाय 115 0
टैनिंग को हटाया जा सकता है 116 0
रक्तदान से होने वाले फायदे 116 0
उंगलिया चटकाने पर आवाज़ क्यों होती है? 119 0
क्या हर गेम खेलने वाला बीमार है? 121 0
मोबाइल गेमिंग डिसऑर्डर क्या है? 127 1
सोने से पहले नहीं करें इन चीजों का सेवन: 128 3
बाजरा खाइए, हड्डियों के रोग नहीं होंगे 130 0
पालक की खेती 132 0
लिक्विड सोप से हाथ धोते हैं तो सतर्क हो जाएं! 133 0
बालों को स्‍ट्रेट करने के प्राकृतिक उपाय 136 0
मिठाई में इस्तेमाल होने वाला चांदी का वर्क असली है या नकली 139 1
खुलकर हंसने के होते हैं ये फायदे 140 0
सुबह उठकर नींबू पानी पीने के और भी फायदे हैं 141 1
केले खाने के फायदे 143 0
लोकस्वास्थ्य क्या है जानें 143 0
मटर की खेती 145 0
दस सेकंड के एक चुंबन के दौरान क़रीब आठ करोड़ जीवाणु चुंबन करने वालों के मुंह में चले जाते हैं. 151 0
आयुर्वेद से जुड़ी ये बाते हैं अजीब लेकिन सच! 154 0
अमरुद खाने के फायदे 155 0
पेट दर्द और पेट में मरोड़ का कारण, लक्षण और उपचार आइए जानें 155 0
स्वास्थ्य क्या है जाने और एक प्रकार के विज्ञान की तरह 157 0
छोटे ब्रेस्‍ट है तो अभी से शुरू कर दें ये योगासन 159 1
गाजर खाने के फायदे 162 0
चेहरे और शरीर की हार्डवेयर की मालिश करवाये इस प्रकार 163 0
यकृत कैंसर के को दूर करने के उपाय 167 1
ऐसी बातों से बिगड़ता है हार्मोन संतुलन, जन्म लेते हैं बुरे लक्षण.. 168 2
ज़्यादा ड्रिंकिंग की लत से कैसे निजात पाएं 169 0
सेहत पर बहुत बुरा असर डालती है गेम खेलने की लत, ऐसे पाएं छुटकारा 170 0
प्रकृति के नियम​ 170 0
पारिजात (हरसिंगार) के लाभ 175 5
लीवर इज़ार्ज इस रोग का कारण और उपचार करें और जानें 175 0
तरह-तरह के व्रत 178 0
जानिये रक्तचाप से कैसे प्रभावित होता है आपका शरीर और कैसे करें इसे कंट्रोल 178 0