डिप्रेशन का शिकार क्यों बन रहे हैं लोग जानें क्यों

अध्ययन दल के प्रमुख डॉ. मनमोहन सिंह ने 'इंडिया साइंस वायर' को बताया कि किशोरों में अवसाद के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इस समस्या को गंभीरता से लेने की जरूरत है क्योंकि किशोरावस्था बचपन से वयस्कता के बीच के एक संक्रमण काल की अवधि होती है। इस दौरान किशोरों में कई हार्मोनल और शारीरिक परिवर्तन होते हैं। ऐसे में अवसाद का शिकार होना उन बच्चों के करियर निर्माण और भविष्य के लिहाज से घातक साबित हो सकता है।

 

किशोरों में अवसाद के इन विभिन्न स्तरों के लिए कई तरह के पहलुओं को जिम्मेदार पाया गया है। इनमें सुदूर ग्रामीण इलाकों में अध्ययन, पारिवारिक सदस्यों द्वारा शारीरिक शोषण, पिता द्वारा शराब का सेवन एवं धूम्रपान, शिक्षकों द्वारा प्रोत्साहन एवं सहयोगी व्यवहार की कमी, पर्याप्त अध्ययन की कमी, सांस्कृतिक गतिविधियों में सीमित भागीदारी, अध्ययन व शैक्षिक प्रदर्शन से असंतुष्टि और गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड की बढ़ती पश्चिमी संस्कृति जैसे कारकों को प्रमुख रूप से जिम्मेदार पाया गया है।

 

शोधकर्ताओं के अनुसार किशोरों में अवसाद के ज्यादातर कारक परिवर्तनीय हैं। घर एवं स्कूल के वातावरण को अनुकूल बनाकर छात्रों में अवसाद को कम करने में मदद मिल सकती है। किशोरों में अवसाद की उपेक्षा नहीं करनी चाहिए। अवसाद से संबंधित कारकों को समझने के लिए और भी अधिक विस्तृत अनुसंधान की आवश्यकता है जिससे कि देश की शिक्षा नीति में इन कारणों का भी ध्यान रखा जा सके।

 

अध्ययनकर्ताओं का मानना है कि किशोरों में बढ़ रहे अवसाद और इससे जुड़े कारकों के संदर्भ में समझ विकसित करने के लिहाज से यह अध्ययन उपयोगी हो सकता है। इसकी तर्ज पर देश के अन्य इलाकों में भी स्कूलों में अध्ययन के गिरते स्तर और किशोरों में बढ़ रहे अवसाद की समस्या को समझने में मदद मिल सकती है।

 

  डॉ. मनमोहन सिंह के अलावा डॉ. मधु गुप्ता और डॉ. संदीप ग्रोवर शामिल हैं। यह शोध 'इंडियन जर्नल ऑफ मेडिकल रिसर्च' में प्रकाशित किया गया है। 

 

 

वास्को-डि-गामा (गोवा)। एक ताजा अध्ययन में भारतीय शोधकर्ताओं ने पाया है कि स्कूल जाने वाले 13 से 18 वर्ष के अधिकतर किशोर अवसाद (डिप्रेशन) का शिकार बन रहे हैं। चंडीगढ़ स्थित स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ और स्नातकोत्तर चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (पीजीआईएमईआर) के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए अध्ययन में ये तथ्य उभरकर आए हैं।
 

 

शोधकर्ताओं ने पाया है कि लगभग 40 प्रतिशत किशोर किसी न किसी रूप में अवसाद के शिकार हैं। इनमें 7.6 प्रतिशत किशोर गहरे अवसाद से पीड़ित हैं जबकि 32.5 प्रतिशत किशोरों में अवसाद संबंधी अन्य विकार देखे गए हैं। करीब 30 प्रतिशत किशोर अवसाद के न्यूनतम स्तर और 15.5 प्रतिशत किशोर अवसाद के मध्यम स्तर से प्रभावित हैं। 3.7 प्रतिशत किशोरों में अवसाद का स्तर गंभीर स्थिति में पहुंच चुका है, वहीं 1.1 प्रतिशत किशोर अत्यधिक गंभीर अवसाद से ग्रस्त पाए गए हैं।

 

चंडीगढ़ के 8 सरकारी एवं निजी स्कूलों में पढ़ने वाले 542 किशोर छात्रों को सर्वेक्षण में शामिल किया गया था। अवसाद का मूल्यांकन करने के लिए कई कारक अध्ययन में शामिल किए गए हैं जिनमें माता-पिता की शिक्षा एवं व्यवसाय, घर तथा स्कूल में किशोरों के प्रति रवैया, सामाजिक एवं आर्थिक पृष्ठभूमि, यौन-व्यवहार और इंटरनेट उपयोग प्रमुख हैं।

 

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 48,337 98
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 51,276 73
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 22,357 56
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 12,305 53
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 22,210 46
जापानी प्रोफेसर ने आश्चर्यजनक शोध किया। 39 34
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 12,456 33
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 2,775 27
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 7,662 26
प्रेगनेंसी में डांस करने से मुझे क्या फायदे हैं? 27 21
गोरी और सफेद त्वचा के लिए घरेलू नुस्खे 3,460 20
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 7,750 19
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 3,891 18
शादीशुदा जीवन में चाहती है भरपूर रोमांस तो पहने ऐसे अंत-वस्त्र 73 18
ब्रेस्ट कम करने के लिए क्या खाएं 3,095 17
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 4,307 16
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 4,907 14
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 5,503 12
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 5,121 12
सुबह का नाश्ता राजा की तरह, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का भोजन भिखारी की तरह करना चाहिए।’ 4,466 12
अंतरंग सम्बन्ध के दौरान लड़की के इन इशारों का करें इंतजार 308 11
दिमाग को तेज कैसे बनाये 839 9
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 7,139 9
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 20,728 9
इस मौसमी सीताफल के फायदे जानकर आप रह जाएगे हैरान 2,826 9
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 4,805 8
नीम और उसके फायदे 1,305 8
हर बीमारी का ताल्लुक़ विटामिन डी से नहीं 37 8
कलौंजी एक फायदे अनेक : कलयुग में संजीवनी है कलौंजी (मंगरैला) 933 8
झाइयां होने के कारण 5,448 8
तिल तथा मस्से हटाने के आसान घरेलू उपचार 10,126 8
पेट बाहर है उसे अंदर करने के तरीके 2,114 8
बिना सर्जरी स्तन छोटे करने के उपाय 2,541 7
सेब खाने के फायदे 743 7
व्रत से जुड़ी गलतफहमियां 969 7
मियादी बुखार का कारण क्या है 3,741 6
एडियाँ फटने पर करे उपाय 802 6
पैर के दर्द का घरेलू उपचार 830 6
गुड़ और मूंगफली खाना सेहत और स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद 1,652 6
ब्रेस्ट कम कैसे करे- एक्सर्साइज़ टिप्स 2,219 6
ख़तरनाक है सेक्स एडिक्शन 5,065 6
मौसमी का जूस पीने के फायदे 4,199 6
चिकनपॉक्स (छोटी माता): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज 1,736 5
पीलिया होने पर घरेलु इलाज 981 5
ब्लैक कॉफी पीने के फायदे 2,996 5
हर्निया परिचय कारण लक्षण भोजन पथ्य अपथ्य उपचार 44 5
पीलिया कैसा भी हो जड़ से खत्म करेंगे 4,018 5
मुह में छाले हैं तो करें ये घरेलू उपाय 582 5
इंसानी दूध पीने को लेकर ब्रिटेन में चेतावनी 7,165 5
पियें मेथी का पानी और दूर करें बीमार जिंदगी 5,501 5