तुलसी का काढ़ा फायदा ही फायदा

तुलसी का काढ़ा फायदा ही फायदा

तुलसी का काढ़ा पीने से निकलती है किडनी की पथरी बाहर, ये हैं 10 फायदे

भारत के हर हिस्से में तुलसी का पौधा पाया जाता है। इसका पौधा केवल डेढ़ या दो फुट तक बढ़ता है। तुलसी को हिन्दू संस्कृति में अतिपूजनीय पौधा माना गया है। माता तुल्य तुलसी को आंगन में लगा देने मात्र से अनेक रोग घर में प्रवेश नहीं करते हैं। यह हवा को भी शुद्ध बनाने का कार्य करती है। तुलसी का वानस्पतिक नाम ओसीमम सैन्कटम है। आदिवासी भी तुलसी को अनेक हर्बल नुस्खों में अपनाते हैं। आज हम तुलसी से जुडे आदिवासियों के ऐसे 10 हर्बल नुस्खों के बारे में बता रहे है जिनके बारे में शायद ही आपने कभी सुना हो।

तुलसी का काढ़ा पीने से निकलती है किडनी की पथरी बाहर, ये हैं 10 फायदे
तुलसी के इन फायदों के बारे में विस्तार से जानिए।

1- किडनी की पथरी बाहर निकल सकती है
किडनी की पथरी हो, तो तुलसी की पत्तियों को उबालकर बनाया गया काढ़ा शहद के साथ नियमित 6 महीने सेवन करने से पथरी मूत्र मार्ग से बाहर निकल आती है।

2- पानी की शुद्धता के लिए
आदिवासी अंचलों मे पानी की शुद्धता के लिए तुलसी के पत्ते जल पात्र में डाल दिए जाते हैं और कम से कम एक से सवा घंटे पत्तों को पानी में रखा जाता है। कपड़े से पानी को छान लिया जाता है और फिर यह पीने योग्य माना जाता है।

3- त्वचा संक्रमण से बचाव
औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी के रस में थाइमोल तत्व पाया जाता है जिससे त्वचा के रोगों में लाभ होता है। पातालकोट के आदिवासी हर्बल जानकारों के अनुसार तुलसी के पत्तों को त्वचा पर रगड़ दिया जाए, तो त्वचा पर किसी भी तरह के संक्रमण में आराम मिलता है।

4- दिल की बीमारी में वरदान
दिल की बीमारी में यह वरदान साबित होती है, क्योंकि यह खून में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करती है। जिन्हें हार्ट अटैक हुआ हो, उन्हें तुलसी के रस का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए। तुलसी और हल्दी के पानी का सेवन करने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा नियंत्रित रहती है और इसे कोई भी व्यक्ति सेवन में ला सकता है।

5- झाइयां कम करने के लिए
इसकी पत्तियों का रस निकाल कर बराबर मात्रा में नींबू का रस मिलाएं और रात को चेहरे पर लगाएं, तो झाइयां नहीं रहतीं, फुंसियां ठीक होती हैं और चेहरे की रंगत में निखार आता है।

6- फ्लू से बचाव
फ्लू रोग में तुलसी के पत्तों का काढ़ा, सेंधा नमक मिलाकर पीने से ठीक होता है। डांग- गुजरात में आदिवासी हर्बल जानकार फ्लू के दौरान बुखार से ग्रस्त रोगी को तुलसी और सेंधा नमक लेने की सलाह देते हैं।

7- थकान मिटाने के लिए
पातालकोट के आदिवासी हर्बल जानकार तुलसी को थकान मिटाने वाली एक औषधि मानते हैं। इनके अनुसार अत्यधिक थकान होने पर तुलसी की पत्तियों और मंजरी के सेवन से थकान दूर हो जाती है।

8- माइग्रेन से बचाव
इसके नियमित सेवन से 'क्रोनिक-माइग्रेन' के निवारण में मदद मिलती है। प्रतिदिन दिन में 4-5 बार तुलसी से 6-7 पत्तियों को चबाने से कुछ ही दिनों में माइग्रेन की समस्या में आराम मिलने लगता है।

9- संतान सुख
आदिवासियों द्वारा शिवलिंगी के बीजों को तुलसी और गुड़ के साथ पीसकर नि:संतान महिला को खिलाया जाता है, तो महिला को जल्द ही संतान सुख की प्राप्ति होती है।

10- घमौरियों का इलाज
गर्मियों में घमौरियों के इलाज के लिए डांग- गुजरात के आदिवासी संतरे के छिलकों को सुखाकर पाउडर बना लेते हैं और इसमें थोड़ा तुलसी का पानी और गुलाबजल मिलाकर शरीर पर लगाते हैं। ऐसा करने से तुरंत आराम मिलता है।

 

 

Vote: 
0
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
बाल झड़ने की समस्या से बचने के लिए कुछ टिप्स 738 2
निम्बू है कई बिमारियों का इलाज 509 2
कलौंजी एक फायदे अनेक : कलयुग में संजीवनी है कलौंजी (मंगरैला) 343 2
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 17,572 1
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 1,969 1
हाइड्रोसील के कारण लक्षण और इलाज इस प्रकार है जानिए 1,265 1
आधे सर का दर्द और उसका इलाज 900 1
प्याज से करें प्यार और रहें फिट 729 1
ब्‍लड ग्रुप के अनुसार कैसा होना चाहिये आपका आहार 2,043 1
जामुन के गुण 855 1
किस उम्र में न रखें व्रत 249 1
लौंग के तेल के फायदे जानकर रह जायेंगे हैरान 543 1
सर दर्द से राहत के लिए करें ये घरेलु उपचार 1,167 1
लकवा के लक्षण ,कारण और इलाज 345 1
आयुर्वेद में गाय के घी को अमृत समान बताया गया है 2,745 1
योगासन से लाभ 878 1
मस्सा या तिल हटाना 338 1
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 3,033 1
जानें शंखपुष्‍पी स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कितनी फायदेमंद है प्रयोग करें 642 1
पेट दर्द या मरोड़ का कारण व उपचार 295 1
चने खाने के फायदे 1,472 1
अस्थमा के घरेलू उपचार 200 1
सेक्स सरदर्द की सबसे अच्छी दावा है 610 1
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 13,258 1
पेट दर्द और पेट में मरोड़ का कारण, लक्षण और उपचार आइए जानें 982 1
बेबी के सामने टीवी और मोबाइल का इस्तेमाल हो सकता है सेहत के लिए खतरनाक 563 1
स्प्राउट्स- सेहत को रखे आहार भरपूर 1,312 1
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 28,314 1
हल्दी का प्रयोग आप को करे निरोग 1,453 1
पेट बाहर है उसे अंदर करने के तरीके 1,486 1
मखाना की खेती 319 1
आत्मा के लिए चुनें पर्दे इस प्रकार 379 1
अपनी आँखों को रखे हमेशा सलमात 1,003 1
घमौरियों से छुटकारा पाने के आयुर्वेदिक उपाय 372 0
डायरिया होने पर अपनाएं घरेलू उपचार! 446 0
सेक्स एडिक्शन - बड़ी समस्या है. 428 0
इस मौसमी सीताफल के फायदे जानकर आप रह जाएगे हैरान 1,283 0
रोजाना भीगे हुए चने खाने के हैं कई फायदे, जानिए और स्वस्थ्य रहिए.... 1,924 0
मुहासे हटाने के घरेलु उपाय 115 0
एड़ियों के दर्द से छुटकारा दिलाते हैं ये घरेलू नुस्खे 837 0
सर्दियों में बालो की देखभाल 391 0
क्यों मच्छर के काटने पर खुजली होती है जानिए 712 0
तुलसी का काढ़ा फायदा ही फायदा 1,649 0
कैंसर, बीमारी नहीं बिजनेस है, जानें चौंकाने वाला सच 280 0
होठों की क्या ज़रूरत है 1,922 0
तेजी से फैल रहा है टेक स्ट्रेस, कहीं आप में भी तो नहीं ऐसे लक्षण? 213 0
शरीर में रक्त की कमी का होना, रक्त की कमी पूरी करने के लिए क्या करें, जानें 735 0
रस्सी कूदें, वज़न घटाएं 1,384 0
सभी प्रकार के घावों में कारगर है लेड 941 0
हार्ट अटैक के कारण 82 0