तुलसी का काढ़ा फायदा ही फायदा

तुलसी का काढ़ा फायदा ही फायदा

तुलसी का काढ़ा पीने से निकलती है किडनी की पथरी बाहर, ये हैं 10 फायदे

भारत के हर हिस्से में तुलसी का पौधा पाया जाता है। इसका पौधा केवल डेढ़ या दो फुट तक बढ़ता है। तुलसी को हिन्दू संस्कृति में अतिपूजनीय पौधा माना गया है। माता तुल्य तुलसी को आंगन में लगा देने मात्र से अनेक रोग घर में प्रवेश नहीं करते हैं। यह हवा को भी शुद्ध बनाने का कार्य करती है। तुलसी का वानस्पतिक नाम ओसीमम सैन्कटम है। आदिवासी भी तुलसी को अनेक हर्बल नुस्खों में अपनाते हैं। आज हम तुलसी से जुडे आदिवासियों के ऐसे 10 हर्बल नुस्खों के बारे में बता रहे है जिनके बारे में शायद ही आपने कभी सुना हो।

तुलसी का काढ़ा पीने से निकलती है किडनी की पथरी बाहर, ये हैं 10 फायदे
तुलसी के इन फायदों के बारे में विस्तार से जानिए।

1- किडनी की पथरी बाहर निकल सकती है
किडनी की पथरी हो, तो तुलसी की पत्तियों को उबालकर बनाया गया काढ़ा शहद के साथ नियमित 6 महीने सेवन करने से पथरी मूत्र मार्ग से बाहर निकल आती है।

2- पानी की शुद्धता के लिए
आदिवासी अंचलों मे पानी की शुद्धता के लिए तुलसी के पत्ते जल पात्र में डाल दिए जाते हैं और कम से कम एक से सवा घंटे पत्तों को पानी में रखा जाता है। कपड़े से पानी को छान लिया जाता है और फिर यह पीने योग्य माना जाता है।

3- त्वचा संक्रमण से बचाव
औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी के रस में थाइमोल तत्व पाया जाता है जिससे त्वचा के रोगों में लाभ होता है। पातालकोट के आदिवासी हर्बल जानकारों के अनुसार तुलसी के पत्तों को त्वचा पर रगड़ दिया जाए, तो त्वचा पर किसी भी तरह के संक्रमण में आराम मिलता है।

4- दिल की बीमारी में वरदान
दिल की बीमारी में यह वरदान साबित होती है, क्योंकि यह खून में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करती है। जिन्हें हार्ट अटैक हुआ हो, उन्हें तुलसी के रस का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए। तुलसी और हल्दी के पानी का सेवन करने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा नियंत्रित रहती है और इसे कोई भी व्यक्ति सेवन में ला सकता है।

5- झाइयां कम करने के लिए
इसकी पत्तियों का रस निकाल कर बराबर मात्रा में नींबू का रस मिलाएं और रात को चेहरे पर लगाएं, तो झाइयां नहीं रहतीं, फुंसियां ठीक होती हैं और चेहरे की रंगत में निखार आता है।

6- फ्लू से बचाव
फ्लू रोग में तुलसी के पत्तों का काढ़ा, सेंधा नमक मिलाकर पीने से ठीक होता है। डांग- गुजरात में आदिवासी हर्बल जानकार फ्लू के दौरान बुखार से ग्रस्त रोगी को तुलसी और सेंधा नमक लेने की सलाह देते हैं।

7- थकान मिटाने के लिए
पातालकोट के आदिवासी हर्बल जानकार तुलसी को थकान मिटाने वाली एक औषधि मानते हैं। इनके अनुसार अत्यधिक थकान होने पर तुलसी की पत्तियों और मंजरी के सेवन से थकान दूर हो जाती है।

8- माइग्रेन से बचाव
इसके नियमित सेवन से 'क्रोनिक-माइग्रेन' के निवारण में मदद मिलती है। प्रतिदिन दिन में 4-5 बार तुलसी से 6-7 पत्तियों को चबाने से कुछ ही दिनों में माइग्रेन की समस्या में आराम मिलने लगता है।

9- संतान सुख
आदिवासियों द्वारा शिवलिंगी के बीजों को तुलसी और गुड़ के साथ पीसकर नि:संतान महिला को खिलाया जाता है, तो महिला को जल्द ही संतान सुख की प्राप्ति होती है।

10- घमौरियों का इलाज
गर्मियों में घमौरियों के इलाज के लिए डांग- गुजरात के आदिवासी संतरे के छिलकों को सुखाकर पाउडर बना लेते हैं और इसमें थोड़ा तुलसी का पानी और गुलाबजल मिलाकर शरीर पर लगाते हैं। ऐसा करने से तुरंत आराम मिलता है।

 

 

Vote: 
0
No votes yet

New Health Updates

Total views Views todaysort descending
डायबिटीज से आंखों को होता है डायबिटिक रेटिनोपैथी का खतरा, जानिये इसके लक्षण 335 0
गाजर खाने के फायदे 183 0
तेजपत्ते में होते हैं ये औषधीय गुण 272 0
मखाना के फायदे 137 0
गर्भावस्था के बाद महिलाएं अपनाएं ऐसी डाइट, नहीं होगी कमजोरी 351 0
लीवर इज़ार्ज इस रोग का कारण और उपचार करें और जानें 196 0
सेब खाने के फायदे 840 0
दिल के दौरे में है ब्लड ग्रुप का भी हाथ 109 0
कमर पतली बनाने के लिए करें अतिसरल सुझाव और जाने इसको बनाने के तरीके 398 0
भूने चने के साथ गुड़ खाने से मिलतें हैं ये अनेक फायदे 483 0
दोस्त बनाने के सबसे आसान तरीके 1,514 0
शयनकक्ष में बहुत रोशनी बढ़ा सकती है मोटापा 567 0
सेहत पर बहुत बुरा असर डालती है गेम खेलने की लत, ऐसे पाएं छुटकारा 193 0
सोने के समय ये करें ये बिल्कुल न करें 486 0
लिक्विड सोप से हाथ धोते हैं तो सतर्क हो जाएं! 172 0
स्वस्थ रहने की 10 अच्छी आदतें 585 0
झुर्रियां दूर करने के घरेलू उपाय 320 0
एपेंडिसाइटिस करें निर्धारित, कुछ उपयोगी टिप्स 244 0
याद्दाश्‍त खोना ही नहीं, ये लक्षण भी हैं अल्‍जाइमर के संकेत 233 0
कब्ज को करें गुडबाय 321 0
व्रत से जुड़ी गलतफहमियां 807 0
क्या है आई वी एफ की प्रक्रिया, जानें 364 0
मोटापे से कमज़ोर होती है याददाश्त? 555 0
दस सेकंड के एक चुंबन के दौरान क़रीब आठ करोड़ जीवाणु चुंबन करने वालों के मुंह में चले जाते हैं. 186 0
नवरात्रि ब्रत किस राशि के लिएशुभ किस के लिए अशुभ 311 0
शाकाहारी भोजन आपकी सर की रूसी दूर करने में सहायक होगा 280 0
बच्चों में खाने की अच्छी आदतें विकसित करें 363 0
बढती उम्र में झुरियों को कैसे कम करें 334 0
महिलाओं में हार्टअटैक इस प्रकार जानें 242 0
आंखों की रोशनी बढ़ाने के घरेलू उपाय 253 0
रोज करें ये 2 काम, डायबिटीज से हमेशा के लिए मिलेगा छुटकारा 303 0
अगर आप अंधेरे में यूज करते हैं स्मार्टफोन, सावधान ! 269 0
1अनार सौ बीमार नहीं, सौ फायदे कहिए जनाब 440 0
नींबू केस्वास्थ्यवर्धक घरेलु उपाय 132 0
कमर की चर्बी कम करने के लिये पीजिये ढेर सारा पानी 1,314 0
अपनी आखों की करें सही देखभाल 392 0
इम्सोम्निआ (अनिन्द्रा) से निपटने के कारगर तरीक़े 225 0
इस पॉपुलर डाइट का सेवन करने वाले लोग हो सकते हैं अंधे, जानिए बचने के उपाय 437 0
'सोने के पहले न देखें फोन' 159 0
ब्लड प्रेशर को कैसे रखें नियंत्रित 297 0
अधिक मुहांसो से परेशान है तो उनको दूर करने के नुस्खे 443 0
जल्द घसीटना शुरू कर देते है शीतकाल में जन्म लेने वाले बच्चे 445 0
हार्ट फेल होने से चली जाती है 23 प्रतिशत लोगों की जान 647 0
जानिये रक्तचाप से कैसे प्रभावित होता है आपका शरीर और कैसे करें इसे कंट्रोल 204 0
स्मार्टफ़ोन बिगाड़ रहा है आंखों की सेहत जानिए कैसे 411 0
ताई ची सीखें सेहतमंद रहें 235 0
एंटीबायोटिक दवाओं से अधिक गुण है लहसुन में! 676 0
लेसिक आई सर्जरी के फायदे और नुकसान 311 0
आखें लाल होने पर क्या उपाय करें 720 0
क्या है स्लीप डिस्ऑर्डर 320 0