पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज

पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज

पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज

पथरी होना आजकल एक आम समस्या बन गयी है अगर किसी को पथरी हो जाये तो उसको बहुत तकलीफ झेलनी पढ़ती है इसीलिए आज हम आपको इस पोस्ट में पथरी के इलाज के बारे में बताएँगे जो एकदम सरल और प्रभावी भी है पथरी औरतों की अपेक्षा मर्दों में तीन गुना अधिक पाई जाते है और ज़्यादातर पथरी 20 से लेकर 30 साल तक के लोगों में देखने को मिलते है अगर आप जानना चाहते हैं के पथरी के लक्षण क्या होते हैं और इसका इलाज कैसे संभव है 

पथरी के लक्षण 

पेट के निचले हिस्से में आपको पथरी के लक्षण देखने को मिलते हैं मतलब टुंडी से नीचे और गुप्तांग के ठीक ऊपर के हिस्से में इसका दर्द होता है और ये दर्द कभी बहुत तेज़ होता है तो कभी धीरे धीरे और ये दर्द कभी कुछ देर के लिए होता है और कभी कभी बहुत लम्बे समय तक लगातार बन रहता है बीच बीच में इस दर्द में थोड़ी रहत भी रोगी को मिलती रहती है. पथरी के लक्षण का एक और रूप देखने को मिलता है जिसमे रोगी को उल्टी होनेकी शिकायत या जी मचलाने लगता है.

सामान्य तोर पर पथरी के लक्षण शुरुआती तोर पर ही पहचान लिए जाते हैं इसमें शामिल हैं बार बार पेशाब आना, पेशाब करते वक़्त दर्द का होने, या रुक रुक कर पेशाब आना, एकदम से बहुत तेज़ी से पेशाब आना और पेशाब करने पर बूँद बूँद, या थोड़ा थोड़ा पेशाब निकलना. कुछ लोगों को अंडकोषों में दर्द होने की शिकायत होती है और पेशाब का रंग असामान्य हो जाता है ये पथरी के प्रमुख लक्षण होते हैं.

पथरी होने के प्रमुख कारण

वैसे तो सामान्यतः पथरी किसी को भी हो सकती है लेकिन अधिकतर इसका एक मुख्य कारण ये देखा गया है की जब किसी खान पान की वजह से मूत्र गाढ़ा हो जाता है तो पथरी बनना चालू हो जाती है और ये गाढ़े पेशाब के कण धीरे धीरे जमा होने लगते हैं और कुछ दिनों में वो पथरी का रूप ले लेते हैं. और जब ये मूत्र मार्ग में रुकावट डालते हैं मतलब के पेशाब करने पर दर्द महसूस होने लगता है तब रोगी को इसका एहसास होता है के उसको पथरी हो गयी है.

रोज़ खाना खाते वक़्त या हमारे शरीर में पाचन क्रिया के ठीक से न होने के कारण जो केल्शियम और फास्फेट के कण रह जाते हैं वो धीरे धीरे हमारे गुर्दे में जमा होने लगते हैं  कैल्शियम, फॉस्फेट के छोटे छोटे सूक्ष्म कण तो पेशाब के ज़रिये बाहर निकलते रहते हैं और जो नहीं निकल पाते वो धीरे धीरे एक दुसरे से मिलकर जमा होते रहते हैं और एक दिन ये गुर्दे की पथरी के रूप में नज़र आते हैं. पथरी होने का मुख्य कारण आपके शरीर मे ज़रूरत से ज़्यादा मात्रा मे कैलशियम का होना है इसका सीधा ये मतलब है के जिनको पथरी हुई है उसके शरीर मे जरुरत से ज़्यादा मात्रा मे कैलशियम है लेकिन वो किसी वजह से शरीर मे पच नहीं रहा है और जिनको किसी भी तरह की पथरी हो उन्हें कभी भी केल्शियम यानि के चूना नहीं खाना चाहिए. वो तत्काल चूना खाना बंद कर दें तो ज़्यादा अच्छा रहेगा.

पथरी का इलाज –

आपने सुना हो शायद कभी पखानबेद नाम का एक छोटा सा पौधा होता है ! कुछ लोग उसे स्थानीय भाषा में पत्थरचट्टा भी बोलते है ! जिनको पथरी है वो इस पखानबेद पौधे (पत्थरचट्टा पौधा) के पत्तों को पानी मे अच्छी तरह से उबाल कर के काढ़ा बना लें और ठंडा करके पिएं इससे मात्र 10 से 15 दिन मे पूरी पथरी पेशाब के रस्ते गलकर बाहर निकल जाती है. और कई बार तो इससे भी जल्दी खत्म हो जाती है.

पथरी का होमियोपेथी इलाज

पथरी के लिए होमियोपेथी की एक दवा है ये आपको किसी भी होमियोपेथी की दुकान पर मिल जाएगी इस दवा का नाम हे वलवेरिस वलगेरिस “BERBERIS VULGARIS” आपको ये दवा के आगे लिखना है MOTHER TINCHER मतलब इस तरह से “berberis vulgaris mother tincture” ये उसकी पोटेंसी है और आप इस नाम से यह दवा मांगेंगे और दुकानदार से बोलना के “मदर टिंचर” में दो तो वो दुकान वाला समझ जायेगा यह दवा आप होमियोपेथी की दुकान से ले आइये और अब इस दवा की 10-15 बूंदों को एक चौथाई (1/ 4) कप में गुन गुने पानी मे मिलाके रोज़ाना दिन मे चार टाइम लेना है (सुबह,दोपहर,शाम और रात) को! इस दवा को आप लगातार एक से डेढ़ महीने तक इसी तरह से लेना है कभी कभी आराम पढ़ने में दो महीने भी लग सकते हैं !

आपकी जानकारी के लिए यहाँ बता दें के ये जो दवा है वो पत्थरचट्टा पौधे से ही बानी हुयी है यहाँ फर्क बस इतना है ये Dilutions Form में पत्थरचट्टा पौधे का Botanical नाम “BERBERIS VULGARIS” वलवेरिस वलगेरिस ही है इस दवा को लेने के बाद जितने भी Stones हैं वो चाहे गॉलब्लेडर (Gall Bladder) में हो या किडनी मे हो,या युनिद्रा के आसपास हो,या फिर मुत्रपिंड मे हो| वो सभी पथरी के Stones को गलाकरबहार निकाल देती है !

ज़्यादातर 80% केस मे डेढ़ से दो महीने मे ही सब स्टोन टूट टूट के बहार निकल जाते हैं कभी कभी हो सकता हे तीन महीने भी लग जाएँ आप 45 दिन के बाद सोनोग्राफी करवा लें जिससे यह पता चल जायेगा के कितना स्टोन टूट गया है और कितना बाकी रह गया है. अगर कुछ स्टोन रह गया हो तो इस दवा को कुछ दिन और ले सकते हैं इस दवा का कोई साइड इफेक्ट नहीं है.

पथरी के निकल जाने के बाद आप क्या करें?

एक बार जब सारी पथरी गलकर बहार निकल जाय Stone फिरसे दोबारा आपके शरीर में भविष्य मे ना बने उसके लिए आप एक और होमियोपेथी की दवा ले लें यह दवा का नाम है CHINA 1000 प्रवाही स्वरुप की इस दवा को आप एक ही दिन सुबह-दोपहर-शाम मे दो-दो बूंद करके सीधे जीभ पर डाल लीजिए फिर कभी भी भविष्य मे आपको स्टोन नहीं बनेगा. ये दवा इसीलिए ज़रूरी है क्योंकि कुछ लोगों को बार बार पथरी की शिकायत होती है.

Vote: 
3
Average: 3 (1 vote)

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 91,346 164
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 31,370 105
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 77,803 76
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 33,206 64
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 37,532 54
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 36,438 40
महिलाएं बिना शारीरिक सम्बन्ध बनाये हो रही है प्रेग्नेंट, जानें कारण 6,814 34
ख़तरनाक है सेक्स एडिक्शन 10,478 32
क्या खाएं और क्या न खाएं, जानिए 7,337 31
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 16,174 30
बवासीर का आयुर्वेदिक इलाज 1,281 29
जलेबी के लाभ 29 25
ब्रेस्ट साइज़ कैसे करे कम| घरेलू नुस्खे| 4,744 24
कमर पतली बनाने के लिए करें अतिसरल सुझाव और जाने इसको बनाने के तरीके 2,700 23
ब्रेस्ट कम करने के लिए क्या खाएं 9,843 22
कम उम्र में सेक्‍स करने से बढ़ जाता है इस चीज का खतरा 8,475 22
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 9,224 21
सप्ताह में इतनी बार सेक्स करना जरूरी है 10,166 20
जबरदस्त फोरप्ले ही देता है दमदार सम्बन्ध का मजा 4,865 19
मस्सा या तिल हटाना 1,561 18
ब्रेस्ट कम कैसे करे- एक्सर्साइज़ टिप्स 4,645 17
क्या महिलाओ में भी शीघ्रपतन जैसी समस्या होती है? 81 15
झाइयां होने के कारण 11,283 15
फिस्टुला रोग क्या है , इसको पहचाने के लक्षण इस प्रकार 6,658 15
टूथपेस्‍ट से इस तरह करें प्रेगनेंसी का टेस्‍ट 1,189 13
यौन संबंध के दौरान दर्द का सच क्या है? 2,876 12
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 7,477 12
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 9,736 12
स्तनों का ढीलापन दूर करने के घरेलू नुस्खे 8,726 12
बच्चे के कान के पीछे शंकु का समाधान 4,028 11
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 10,877 11
ब्रेस्ट का आकार कैसे कम करें माइक्रो लिपो से 1,554 10
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 8,941 10
पेट दर्द और पेट में मरोड़ का कारण, लक्षण और उपचार आइए जानें 3,127 10
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 7,380 10
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 8,824 10
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 12,040 9
मौसमी को खाने और मौसमी के जूस को पीने के फायदे और नुकसान 2,944 9
सेक्स एडिक्शन - बड़ी समस्या है. 2,160 9
साइकिल चलाने के चमत्कारी फायदे 1,233 9
तिल तथा मस्से हटाने के आसान घरेलू उपचार 13,086 9
गिलोय के फायदे और अनेक प्रकार से रोगों से छुटकारा 2,663 8
फिट रहना है तो रात में कम, सुबह ज्यादा खाएं 1,386 8
श्वेत प्रदर के रोग को जड़ से मिटा देंगे यह घरेलू उपाय 1,942 8
छोटे ब्रेस्‍ट है तो अभी से शुरू कर दें ये योगासन 1,108 8
पारिजात (हरसिंगार) के लाभ 2,297 8
अखरोट खाने के कौन - कौन से फायदे और नुकसान होते है 2,971 8
मौसमी का जूस पीने के फायदे 6,209 7
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 7,229 7
इंसानी दूध पीने को लेकर ब्रिटेन में चेतावनी 9,131 7