पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज

पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज

पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज

पथरी होना आजकल एक आम समस्या बन गयी है अगर किसी को पथरी हो जाये तो उसको बहुत तकलीफ झेलनी पढ़ती है इसीलिए आज हम आपको इस पोस्ट में पथरी के इलाज के बारे में बताएँगे जो एकदम सरल और प्रभावी भी है पथरी औरतों की अपेक्षा मर्दों में तीन गुना अधिक पाई जाते है और ज़्यादातर पथरी 20 से लेकर 30 साल तक के लोगों में देखने को मिलते है अगर आप जानना चाहते हैं के पथरी के लक्षण क्या होते हैं और इसका इलाज कैसे संभव है 

पथरी के लक्षण 

पेट के निचले हिस्से में आपको पथरी के लक्षण देखने को मिलते हैं मतलब टुंडी से नीचे और गुप्तांग के ठीक ऊपर के हिस्से में इसका दर्द होता है और ये दर्द कभी बहुत तेज़ होता है तो कभी धीरे धीरे और ये दर्द कभी कुछ देर के लिए होता है और कभी कभी बहुत लम्बे समय तक लगातार बन रहता है बीच बीच में इस दर्द में थोड़ी रहत भी रोगी को मिलती रहती है. पथरी के लक्षण का एक और रूप देखने को मिलता है जिसमे रोगी को उल्टी होनेकी शिकायत या जी मचलाने लगता है.

सामान्य तोर पर पथरी के लक्षण शुरुआती तोर पर ही पहचान लिए जाते हैं इसमें शामिल हैं बार बार पेशाब आना, पेशाब करते वक़्त दर्द का होने, या रुक रुक कर पेशाब आना, एकदम से बहुत तेज़ी से पेशाब आना और पेशाब करने पर बूँद बूँद, या थोड़ा थोड़ा पेशाब निकलना. कुछ लोगों को अंडकोषों में दर्द होने की शिकायत होती है और पेशाब का रंग असामान्य हो जाता है ये पथरी के प्रमुख लक्षण होते हैं.

पथरी होने के प्रमुख कारण

वैसे तो सामान्यतः पथरी किसी को भी हो सकती है लेकिन अधिकतर इसका एक मुख्य कारण ये देखा गया है की जब किसी खान पान की वजह से मूत्र गाढ़ा हो जाता है तो पथरी बनना चालू हो जाती है और ये गाढ़े पेशाब के कण धीरे धीरे जमा होने लगते हैं और कुछ दिनों में वो पथरी का रूप ले लेते हैं. और जब ये मूत्र मार्ग में रुकावट डालते हैं मतलब के पेशाब करने पर दर्द महसूस होने लगता है तब रोगी को इसका एहसास होता है के उसको पथरी हो गयी है.

रोज़ खाना खाते वक़्त या हमारे शरीर में पाचन क्रिया के ठीक से न होने के कारण जो केल्शियम और फास्फेट के कण रह जाते हैं वो धीरे धीरे हमारे गुर्दे में जमा होने लगते हैं  कैल्शियम, फॉस्फेट के छोटे छोटे सूक्ष्म कण तो पेशाब के ज़रिये बाहर निकलते रहते हैं और जो नहीं निकल पाते वो धीरे धीरे एक दुसरे से मिलकर जमा होते रहते हैं और एक दिन ये गुर्दे की पथरी के रूप में नज़र आते हैं. पथरी होने का मुख्य कारण आपके शरीर मे ज़रूरत से ज़्यादा मात्रा मे कैलशियम का होना है इसका सीधा ये मतलब है के जिनको पथरी हुई है उसके शरीर मे जरुरत से ज़्यादा मात्रा मे कैलशियम है लेकिन वो किसी वजह से शरीर मे पच नहीं रहा है और जिनको किसी भी तरह की पथरी हो उन्हें कभी भी केल्शियम यानि के चूना नहीं खाना चाहिए. वो तत्काल चूना खाना बंद कर दें तो ज़्यादा अच्छा रहेगा.

पथरी का इलाज –

आपने सुना हो शायद कभी पखानबेद नाम का एक छोटा सा पौधा होता है ! कुछ लोग उसे स्थानीय भाषा में पत्थरचट्टा भी बोलते है ! जिनको पथरी है वो इस पखानबेद पौधे (पत्थरचट्टा पौधा) के पत्तों को पानी मे अच्छी तरह से उबाल कर के काढ़ा बना लें और ठंडा करके पिएं इससे मात्र 10 से 15 दिन मे पूरी पथरी पेशाब के रस्ते गलकर बाहर निकल जाती है. और कई बार तो इससे भी जल्दी खत्म हो जाती है.

पथरी का होमियोपेथी इलाज

पथरी के लिए होमियोपेथी की एक दवा है ये आपको किसी भी होमियोपेथी की दुकान पर मिल जाएगी इस दवा का नाम हे वलवेरिस वलगेरिस “BERBERIS VULGARIS” आपको ये दवा के आगे लिखना है MOTHER TINCHER मतलब इस तरह से “berberis vulgaris mother tincture” ये उसकी पोटेंसी है और आप इस नाम से यह दवा मांगेंगे और दुकानदार से बोलना के “मदर टिंचर” में दो तो वो दुकान वाला समझ जायेगा यह दवा आप होमियोपेथी की दुकान से ले आइये और अब इस दवा की 10-15 बूंदों को एक चौथाई (1/ 4) कप में गुन गुने पानी मे मिलाके रोज़ाना दिन मे चार टाइम लेना है (सुबह,दोपहर,शाम और रात) को! इस दवा को आप लगातार एक से डेढ़ महीने तक इसी तरह से लेना है कभी कभी आराम पढ़ने में दो महीने भी लग सकते हैं !

आपकी जानकारी के लिए यहाँ बता दें के ये जो दवा है वो पत्थरचट्टा पौधे से ही बानी हुयी है यहाँ फर्क बस इतना है ये Dilutions Form में पत्थरचट्टा पौधे का Botanical नाम “BERBERIS VULGARIS” वलवेरिस वलगेरिस ही है इस दवा को लेने के बाद जितने भी Stones हैं वो चाहे गॉलब्लेडर (Gall Bladder) में हो या किडनी मे हो,या युनिद्रा के आसपास हो,या फिर मुत्रपिंड मे हो| वो सभी पथरी के Stones को गलाकरबहार निकाल देती है !

ज़्यादातर 80% केस मे डेढ़ से दो महीने मे ही सब स्टोन टूट टूट के बहार निकल जाते हैं कभी कभी हो सकता हे तीन महीने भी लग जाएँ आप 45 दिन के बाद सोनोग्राफी करवा लें जिससे यह पता चल जायेगा के कितना स्टोन टूट गया है और कितना बाकी रह गया है. अगर कुछ स्टोन रह गया हो तो इस दवा को कुछ दिन और ले सकते हैं इस दवा का कोई साइड इफेक्ट नहीं है.

पथरी के निकल जाने के बाद आप क्या करें?

एक बार जब सारी पथरी गलकर बहार निकल जाय Stone फिरसे दोबारा आपके शरीर में भविष्य मे ना बने उसके लिए आप एक और होमियोपेथी की दवा ले लें यह दवा का नाम है CHINA 1000 प्रवाही स्वरुप की इस दवा को आप एक ही दिन सुबह-दोपहर-शाम मे दो-दो बूंद करके सीधे जीभ पर डाल लीजिए फिर कभी भी भविष्य मे आपको स्टोन नहीं बनेगा. ये दवा इसीलिए ज़रूरी है क्योंकि कुछ लोगों को बार बार पथरी की शिकायत होती है.

Vote: 
3
Average: 3 (1 vote)

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 52,706 116
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 54,318 60
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 14,843 59
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 23,928 41
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 14,391 37
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 24,121 35
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 8,482 22
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 4,489 20
ब्रेस्ट कम करने के लिए क्या खाएं 3,665 16
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 21,279 13
झाइयां होने के कारण 5,989 13
स्मार्टफोन का बुरा असर 403 12
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 5,129 12
ब्‍लड ग्रुप के अनुसार कैसा होना चाहिये आपका आहार 2,745 12
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 8,555 11
सुबह का नाश्ता राजा की तरह, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का भोजन भिखारी की तरह करना चाहिए।’ 4,812 10
कम उम्र में सेक्‍स करने से बढ़ जाता है इस चीज का खतरा 3,291 10
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 6,022 10
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 4,494 8
वजन कम करने के फायदे, जानकर रहे जायगे हैरान 2,205 8
जामुन के गुण और फायदे 2,834 8
ब्लैक कॉफी पीने के फायदे 3,162 8
स्त्री यौन रोग (श्वेत प्रदर) के लिए औषधि ॥ 939 8
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 3,440 7
प्याज से करें प्यार और रहें फिट 1,845 7
क्या है आई वी एफ की प्रक्रिया, जानें 1,210 7
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 5,445 7
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 5,513 7
क्या खाएं और क्या न खाएं, जानिए 3,237 6
क्या है स्लीप डिस्ऑर्डर 453 6
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 7,403 6
मौसमी को खाने और मौसमी के जूस को पीने के फायदे और नुकसान 1,616 6
आयुर्वेद में गुनगुना पानी पीने के कई फायदे बताए गए हैं 202 6
श्वेत प्रदर के रोग को जड़ से मिटा देंगे यह घरेलू उपाय 783 6
स्प्राउट्स- सेहत को रखे आहार भरपूर 2,169 5
महिलाओं में हार्टअटैक इस प्रकार जानें 392 5
सप्ताह में इतनी बार सेक्स करना जरूरी है 5,999 5
होठों की क्या ज़रूरत है 2,469 5
शरीर में रक्त की कमी का होना, रक्त की कमी पूरी करने के लिए क्या करें, जानें 1,425 5
धनिया के औषधीय गुण 413 5
मियादी बुखार का कारण क्या है 3,889 5
दालचीनी वाले दूध में छिपा है सेहत और खूबसूरत त्वचा का राज़ 117 5
हर तरह की खुजली से राहत दिलाते हैं ये घरेलू उपचार इस प्रकार करे पयोग 1,773 5
रात में दूध पीने के फायदे 1,141 5
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 4,714 5
गर्भावस्था के बाद महिलाएं अपनाएं ऐसी डाइट, नहीं होगी कमजोरी 467 5
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 5,613 4
पेट बाहर है उसे अंदर करने के तरीके 2,254 4
रस्सी कूदें, वज़न घटाएं 2,833 4
हाइड्रोसील के कारण लक्षण और इलाज इस प्रकार है जानिए 2,107 4