पायरिया के आयुर्वेदिक उपचार:

पायरिया के आयुर्वेदिक उपचार:

1. नीम के पत्ते साफ कर के छाया में सुखा लें। अच्छी तरह सूख जाएँ तब एक बर्तन में रखकर जला दें और बर्तन को तुरंत ढँक दें। पत्ते जलकर काले हो जाएँगे और इसकी राख काली होगी। इसे पीसकर कपड़छान कर लें। जितनी राख हो, उतनी मात्रा में सेंधा नमक पीसकर शीशी में भर लें। इस चूर्ण से तीन-चार बार मंजन कर कुल्ले कर लें। भोजन के बाद दाँतों की ठीक से सफाई कर लें। यह नुस्खा अत्यंत गुणकारी है।
2. चुटकी भर सादा नमक चुटकी भर हल्दी में चार पांच बुंद सरसों का तेल मिला कर उंगली से दांतों पर लगाकर 20 मिनट तक रखें लार आवे तो थुकते रहें लिजिये सर पायरिया एक ही दिन में ठीक हो जावेगा तथा ज्यादा ही पुराना है तो 3 दिन लगेगें व रोज करेंगें तो जिदंगी भर वापस नहीं होगा। साथ में त्रिफला गुग्गल की 1 से 3 दिन में तीन बार लें और रात में 1 से 3 ग्राम त्रिफला का सेवन करें।
3. अपने दाँत नीम के दातुन से ब्रश करें।
4. कच्चे अमरुद पर थोडा सा नमक लगाकर खाने से भी पायरिया के उपचार में सहायता मिलती है, क्योंकि यह विटामिन सी का उम्दा स्रोत होता है जो दाँतों के लिए लाभकारी सिद्ध होता है।
5. घी में कपूर मिलाकर दाँतों पर मलने से भी पायरिया मिटाने में सहायता मिलती है।
6. काली मिर्च के चूरे में थोडा सा नमक मिलाकरदाँतों पर मलने से भी पायरिया के रोग से छुटकारा पाने के लिए काफी मदद मिलती है।
7. 200 मिलीलीटर अरंडी का तेल, 5 ग्राम कपूर, और 100 मिलीलीटर शहद को अच्छी तरह मिला दें, और इस मिश्रण को एक कटोरी में रखकर उसमे नीम के दातुन को डुबोकर दाँतों पर मलें और ऐसा कई दिनों तक करें। यह भी पायरिया को दूर करने के लिए एक उत्तम उपचार माना जाता है।
8. आंवला जलाकर सरसों के तेल में मिलाएं,इसे मसूड़ों पर धीरे-धीरे मलें।
9.खस, इलायची और लौंग का तेल मिलाकर मसूड़ों में लगाएं।
10. जीरा, सेंधा नमक, हरड़, दालचीनी, दक्षिणी सुपारी को समान मात्रा में लें, इसे बंद बर्तन में जलाकर पीस लें,इस मंजन का नियमित प्रयोग करें।

11. सादी तम्बाकू, पर्याप्त मात्रा में लेकर तवे पर काला होने तक भूनें। फिर पीसकर कपड़छान कर महीन चूर्ण कर लें। इसके वजन से आधी मात्रा में सेंधा नमक और फिटकरी बराबर मात्रा में लेकर पीस लें और तीनों को मिलाकर तीन बार छान लें, ताकि ये एक जान हो जाएँ।
इस मिश्रण को थोड़ी मात्रा में हथेली पर रखकर इस पर नीबू के रस की 5-6 बूँदें टपका दें। अब इससे दाँतों व मसूढ़ों पर लगाकर हलके-हलके अँगुली से मालिश करें। यह प्रयोग सुबह और रात को सोने से पहले 10 मिनट तक करके पानी से कुल्ला करके मुँह साफ कर लें।जो तम्बाकू का प्रयोग नहीं करते उन्हें इसके प्रयोग में तकलीफ होगी। उन्हें चक्कर आ सकते हैं। अत: सावधानी के साथ कम मात्रा में मंजन लेकर प्रयोग करें।

बचाव और सावधानियाँ :

1. कब्ज़ियत से बचें। गर्म पानी में एप्सम सॉल्ट मिलाकर नहाने की भी सलाह दी जाती है।
2. दिन में दो बार दाँतों को सही और नियमित रूप से ब्रश करना बहुत ज़रूरी होता है। शरीर में मौजूद विषैले तत्वों के निष्काशनके लिए पानी का सेवन भरपूर मात्रा में करें। विटामिन सी युक्त फल, जैसे कि आंवला, अमरुद, अनार, और संतरे का भी सेवन भरपूर मात्रा में करें।
3. पायरिया के इलाज के दौरान रोगी को मसाले रहित उबली सब्ज़ियों का ही सेवन करें।
4. मसालेदार खान पान, जंक फ़ूड और डिब्बाबंद आहार का सेवन बिल्कुल भी न करें।
चीज़ और दूध के अन्य उत्पादनों का सेवन बिल्कुल भी न करें, क्योंकि इनका दाँतों से चिपकने का खतरा होता है, और जीवाणुओं के बढ़ने में सहायता करते हैं।
6. धूम्रपान और तम्बाकू के सेवन से भी बचें क्योंकि यह पायरिया की बीमारी को बढाते हैं।
7. पायरिया रोग से पीड़ित रोगी को कभी-भी चीनी, मिठाई या डिब्बा बंद खाद्य पदार्थों का उपयोग नहीं करना चाहिए।

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 25,607 73
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 34,964 66
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 4,219 32
क्या खाएं और क्या न खाएं, जानिए 1,116 27
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 12,391 25
सुबह का नाश्ता राजा की तरह, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का भोजन भिखारी की तरह करना चाहिए।’ 2,567 21
तिल तथा मस्से हटाने के आसान घरेलू उपचार 8,288 20
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 16,895 20
झाइयां होने के कारण 1,331 17
थायराइड की समस्या और घरेलु उपचार 1,082 16
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 2,016 15
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 2,381 15
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 2,021 14
फिस्टुला रोग क्या है , इसको पहचाने के लक्षण इस प्रकार 667 14
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 2,473 13
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 1,123 13
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 4,011 12
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 2,466 11
आखों के काले घेरे दूर करिये 538 11
जामुन के गुण और फायदे 1,588 11
स्प्राउट्स- सेहत को रखे आहार भरपूर 1,100 10
ब्रेस्ट कम कैसे करे- एक्सर्साइज़ टिप्स 978 10
मौसमी का जूस पीने के फायदे 2,305 10
पीलिया कैसा भी हो जड़ से खत्म करेंगे 1,963 9
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 2,891 9
बिना सर्जरी स्तन छोटे करने के उपाय 1,428 9
ब्‍लड ग्रुप के अनुसार कैसा होना चाहिये आपका आहार 1,832 9
दूध को इस प्रकार पिये 415 8
दिमागी ताकत व तरावट लानेवाला प्रयोग 269 8
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 2,205 8
आटिज्म: समझें बच्चों को और उनकी भावनाओं को 396 8
दस सेकंड के एक चुंबन के दौरान क़रीब आठ करोड़ जीवाणु चुंबन करने वालों के मुंह में चले जाते हैं. 66 8
हल्दी का प्रयोग आप को करे निरोग 1,257 8
रस्सी कूदें, वज़न घटाएं 1,082 8
पियें मेथी का पानी और दूर करें बीमार जिंदगी 4,819 7
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 1,588 7
इस मौसमी सीताफल के फायदे जानकर आप रह जाएगे हैरान 1,043 7
कम उम्र में सेक्‍स करने से बढ़ जाता है इस चीज का खतरा 2,411 7
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 4,218 6
चेहरे और शरीर की हार्डवेयर की मालिश करवाये इस प्रकार 148 6
खुलकर हंसने के होते हैं ये फायदे 88 6
सेब खाने के फायदे 173 6
बाजरा खाइए, हड्डियों के रोग नहीं होंगे 67 6
सेहत के लिए कितनी खतरनाक है ब्रेड 3,433 6
दिमागी दौरा या ब्रेन स्ट्रोक से पाएं छुटकारा 745 6
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 575 6
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 435 6
हर तरह की खुजली से राहत दिलाते हैं ये घरेलू उपचार इस प्रकार करे पयोग 1,098 5
क्यों रहते हैं हाथ-पैर ठंडे? 2,513 5
इंसानी दूध पीने को लेकर ब्रिटेन में चेतावनी 5,803 5