पीलिया होने पर घरेलु इलाज

पीलिया होने पर घरेलु इलाज

पाचन तंत्र कमजोर होना पीलिया का प्रमुख कारण है। पीलिया(Jaundice) के रोग का प्रभाव शरीर में खून बनने पर पड़ता है जिससे शरीर में ब्लड की कमी होने लगती है। इस रोग में अगर लापरवाही की जाये तो ये काला पीलिया बन जाता है जो जानलेवा रोग हो सकता है। पीलिया पुराना हो या नया घरेलू देसी नुस्खे और आयुर्वेदिक दवा से आप इसका उपचार कर सकते है। इस बीमारी से छुटकारा पाने में इलाज के साथ परहेज करना भी जरुरी है और जैसे ही पीलिये के लक्षण आपको दिखने लगे इसका उपचार शुरू करे। पीलिया तीन तरह का होता है, हेपेटाइटिस सी (काला पीलिया), हेपेटाइटिस बी और हेपेटाइटिस ए। इस लेख में हम जानेंगे 

इसके लक्षण शुरुआत में दिखाई नहीं देते पर ये रोग जब बढ़ जाता है तब मरीज की आँखे और नाख़ून पीले पड़ जाते है, इसके इलावा पेशाब पीले रंग का आने लगता है और खाना ठीक से नहीं पचता। इसके इलावा कुछ और लक्षण भी है जिनसे पीलिया की पहचान कर सकते है।

1* बुखार आना

2* सिर दर्द होना

3* आँखे दर्द होना

4* भूख कम लगना

5* उल्टी आना और जी मचलना

6* कमज़ोरी आना और जल्दी थकान आना

पीलियाके कारण :

1* इंफेक्शन होने से

2* लिवर कमज़ोर होने से

3* शरीर में ब्लड की कमी होने से

4* सड़क किनारे कटी, खुली और दूषित चीज़े खाने से

उपाय :-

पहला प्रयोगः एक केले का छिलका जरा-सा हटाकर उसमें 1 चने जितना भीगा हुआ चूना लगायें एवं रात भर ओस में रखें। सुबह उस केले का सेवन करने से पीलिया में लाभ होता है।

दूसरा प्रयोगः आकड़े की 1 ग्राम जड़ को शहद में मिलाकर खाने अथवा चावल की धोवन में घिसकर नाक में उसकी बूँद डालने से पीलिया में लाभ होता है।

तीसरा प्रयोगः 5-5 ग्राम कलमी शोरा एवं मिश्री को नींबू के रस में लेने से केवल छः दिन में पीलिया में बहुत लाभ होता है। साथ में गिलोय का 20 से 50 मि.ली. काढ़ा पीना चाहिए।

चौथा प्रयोगः आँवला, सोंठ, काली मिर्च, पीपर (पाखर), हल्दी और उत्तम लोहभस्म इन सबको बराबर मात्रा में लेकर मिला लें। दो आनी भार (करीब 1.5 ग्राम) जितना चूर्ण दिन में तीन बार शहद के साथ लेने से पीलिया का उग्र हमला भी 3 से 7 दिन में शांत हो जाता है।

पाँचवाँ प्रयोगः पीलिया में गौमूत्र या शहद के साथ 2 से 4 ग्राम त्रिफला देने से एक माह में यह रोग मिट जाता है।

छठा प्रयोगः दही में मीठा सोडा डालकर खाने से भी लाभ होता है।

सातवाँ प्रयोगः जामुन में लौहतत्त्व पर्याप्त मात्रा में होता है अतः पीलिया के रोगियों के लिए जामुन का सेवन हितकारी है।

पथ्यः पीलिया में केवल मूँग एवं चने ही आहार में लें। गन्ने को छीलकर एवं काटकर उसके टुकड़ों को ओस में रखकर सुबह खाने से पीलिया में लाभ होता है।

विशेष :- “अच्युताय हरिओम लिवर टोनिक सिरप” के सेवन से  पीलिया में लाभ होता है।

पीलिया का मंत्र

ॐ नमो आदेश गुरु का… श्रीराम सर साधा… लक्ष्मण साधा बाण… काला-पीला-रीता…. नीला थोथा पीला…. पीला चारों झड़े तो रामचंद्रजी रहै नाम…. मेरी भक्ति…. गुरु की शक्ति…. फुरे मंत्र ईश्वरोवाचा।

काँसे के पात्र में जल भरकर, नीम के पत्तों को सरसों के तेल में भीगोकर इस मंत्र का जाप करते हुए रोगी को सात बार झाड़े। शीघ्र लाभ होगा।

कुछ देसी नुस्खे :

1. प्याज का प्रयोग पीलिया के उपचार में बेहद उपयोगी है। प्याज छील कर इसे बारीक़ काटे फिर पीसी हुई काली मिर्च, थोड़ा काला नमक और नींबू का रस इसमें मिलाकर हर रोज दिन में सुबह शाम सेवन करे।

2. ताजा मुल्ली के हरे पत्ते पीस कर रस निकाले और इसे छान कर पिए। इस उपाय से मरीज के जिगर की कमजोरी दूर होती है, पेट की आंते साफ़ होती है और भूख लगने लगती है।

3. जॉन्डिस के मरीज को प्रतिदिन ताज़ा गन्ने का जूस पीना चाहिए इससे पीलिया से जल्दी राहत मिलती है।

4. लहसुन की तीन से चार कलियाँ पीस कर इसे दूध के साथ ले, इससे पीलिया का जड़ से इलाज होता है और लिवर को ताकत मिलती है।

5. चने की दाल रात को पानी में भिगो कर रखे। सुबह इसमें से पानी निकाल ले और गुड़ मिलाकर खाए। लगातार कुछ दिन इस नुस्खे को करने पर जॉन्डिस में राहत मिलती है।

6. पीलिया के मरीज को गाजर और गोभी का रस बराबर बराबर मिलाकर एक गिलास पिए। इस जूस को कुछ दिन लगातार पीने पर पीलिया से जल्दी आराम मिलता है।

7. निम्बू का रस पीलिया में काफी फायदेमंद है। पीलिये से ग्रस्त मरीज को प्रतिदिन नींबू का रस पंद्रह से बीस एम एल दो से तीन बार पीना चाहिए। नींबू की शिकंजी बना कर पीना भी अच्छा है।

8. जॉन्डिस ठीक करने में टमाटर का प्रयोग भी अच्छा उपाय है। एक गिलास टमाटर जूस में नमक और थोड़ी सी काली मिर्च मिलाकर सुबह खाली पेट पीने से चमत्कारी तरीके से फायदा मिलता है।

9. गुड़ और पीसी हुई सौंठ मिला ले और ठंडे पानी के साथ लेने से इस रोग में आराम मिलता है।

10. ताजे आँवले का रस दस ग्राम एक चम्मच शहद में मिला कर हर रोज पिए इससे दो से तीन हफ्ते में पीलिया ठीक हो जायेगा।

रोगी को दिन में कम से कम 2 हरे नारियल का पानी पिलायें, नारियल तुरंत खोल कर तुरंत ही पानी पिलाना है, इसको ज्यादा देर तक रखना नहीं है. एक दिन के बाद ही पेशाब का कलर बदलना शुरू हो जायेगा. ऐसा निरंतर ४-५ दिन करने के बाद आप बिलकुल स्वस्थ अनुभव करेंगे. ऐसे में रोगी को जो भी इंग्लिश दवा दी जा रही हो उसको एक बार बंद कर दी जाए.. और अगर रोगी कि हालत बहुत सीरियस हो तो उसको इसके साथ में ग्लूकोस दिया जा सकता है. और बाकी पूरा दिन सिर्फ नारियल पानी पर ही रखें. ये प्रयोग अनेक लोगों पर पूर्ण रूप से सफल रहा है. लीवर में होने वाले किसी भी रोग के लिए भी इस प्रयोग को निसंकोच अपनाया जा सकता है.

 

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 48,337 98
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 51,276 73
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 22,357 56
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 12,305 53
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 22,210 46
जापानी प्रोफेसर ने आश्चर्यजनक शोध किया। 39 34
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 12,456 33
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 2,775 27
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 7,662 26
प्रेगनेंसी में डांस करने से मुझे क्या फायदे हैं? 27 21
गोरी और सफेद त्वचा के लिए घरेलू नुस्खे 3,460 20
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 7,750 19
शादीशुदा जीवन में चाहती है भरपूर रोमांस तो पहने ऐसे अंत-वस्त्र 73 18
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 3,891 18
ब्रेस्ट कम करने के लिए क्या खाएं 3,095 17
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 4,307 16
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 4,907 14
सुबह का नाश्ता राजा की तरह, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का भोजन भिखारी की तरह करना चाहिए।’ 4,466 12
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 5,503 12
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 5,121 12
अंतरंग सम्बन्ध के दौरान लड़की के इन इशारों का करें इंतजार 308 11
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 7,139 9
इस मौसमी सीताफल के फायदे जानकर आप रह जाएगे हैरान 2,826 9
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 20,728 9
दिमाग को तेज कैसे बनाये 839 9
पेट बाहर है उसे अंदर करने के तरीके 2,114 8
तिल तथा मस्से हटाने के आसान घरेलू उपचार 10,126 8
नीम और उसके फायदे 1,305 8
हर बीमारी का ताल्लुक़ विटामिन डी से नहीं 37 8
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 4,805 8
झाइयां होने के कारण 5,448 8
कलौंजी एक फायदे अनेक : कलयुग में संजीवनी है कलौंजी (मंगरैला) 933 8
बिना सर्जरी स्तन छोटे करने के उपाय 2,541 7
सेब खाने के फायदे 743 7
व्रत से जुड़ी गलतफहमियां 969 7
गुड़ और मूंगफली खाना सेहत और स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद 1,652 6
ख़तरनाक है सेक्स एडिक्शन 5,065 6
ब्रेस्ट कम कैसे करे- एक्सर्साइज़ टिप्स 2,219 6
मौसमी का जूस पीने के फायदे 4,199 6
मियादी बुखार का कारण क्या है 3,741 6
एडियाँ फटने पर करे उपाय 802 6
पैर के दर्द का घरेलू उपचार 830 6
बढती उम्र में झुरियों को कैसे कम करें 449 5
पैरों में दर्द के लिए घरेलू उपचार 955 5
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 4,141 5
जामुन के गुण और फायदे 2,625 5
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 6,907 5
यौन संबंध के दौरान दर्द का सच क्या है? 1,022 5
चिकनपॉक्स (छोटी माता): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज 1,736 5
ब्लैक कॉफी पीने के फायदे 2,996 5