पुरुषों की अपेक्षा ज्यादा समय तक जीवित रहती हैं महिलाएं आइये जानें कैसे

पुरुषों की अपेक्षा ज्यादा समय तक जीवित रहती हैं महिलाएं आइये जानें कैसे

शोध में बताया गया है कि महिलाओं को यह लाभ ज्यादातर जैविक तथ्यों के चलते मिलता है, जैसे अनुवांशिकी या हार्मोन खासकर एस्ट्रोजन, जो संक्रामक बीमारियों के खिलाफ शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है. अमेरिका के डरहम में ड्यूक यूनिवर्सिटी में सहायक प्रोफेसर वर्जीनिया जारुली के नेतृत्व में शोधकर्ताओं ने कहा, "हमारे परिणाम जीवित रहने में लिंग भिन्नता की पहेली में एक और अध्याय जोड़ते हैं." नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज के जर्नल प्रोसीडिंग में प्रकाशित इस शोध की टीम ने मृत्यु दर आंकड़ों का विश्लेषण किया था

पुरुषों की तुलना में महिलाएं अधिक मजबूत हैं और अपने पुरुष समकक्षों के मुकाबले ज्यादा दिन तक जीवित रहती हैं. एक नए शोध में यह बात कही गयी है, जो अब तक की इस धारणा को चुनौती देता है कि महिलाएं कमजोर होती हैं.

नतीजे यह भी दिखाते हैं कि महिलाएं न सिर्फ आमतौर पर पुरुषों की अपेक्षा ज्यादा समय तक जीवित रहती हैं, बल्कि खराब परिस्थितियों जैसे महामारी, अकाल में भी उनके जीवित रहने की संभावना ज्यादा होती है. महिलाओं की जीवन प्रत्याशा इसलिए ज्यादा होती है क्योंकि प्रतिकूल परिस्थिति में नवजात बालकों की अपेक्षा नवजात बालिकाओं के जीवित रहने की संभावना ज्यादा होती है. हालांकि, जब दोनों लिंगों के लिए मृत्यु दर ज्यादा थी, तब भी महिलाएं पुरुषों की अपेक्षा औसतन छह महीने से लेकर लगभग चार साल तक ज्यादा जीवित रहती थी.

आइए और जाने कैसे 

 महिलाएं कमजोर होती हैं.नतीजे यह भी दिखाते हैं कि महिलाएं न सिर्फ आमतौर पर पुरुषों की अपेक्षा ज्यादा समय तक जीवित रहती हैं, बल्कि खराब परिस्थितियों जैसे महामारी, अकाल में भी उनके जीवित रहने की संभावना ज्यादा होती है. महिलाओं की जीवन प्रत्याशा इसलिए ज्यादा होती है क्योंकि प्रतिकूल परिस्थिति में नवजात बालकों की अपेक्षा नवजात बालिकाओं के जीवित रहने की संभावना ज्यादा होती है. हालांकि, जब दोनों लिंगों के लिए मृत्यु दर ज्यादा थी, तब भी महिलाएं पुरुषों की अपेक्षा औसतन छह महीने से लेकर लगभग चार साल तक ज्यादा जीवित रहती थी.
शोध में बताया गया है कि महिलाओं को यह लाभ ज्यादातर जैविक तथ्यों के चलते मिलता है, जैसे अनुवांशिकी या हार्मोन खासकर एस्ट्रोजन, जो संक्रामक बीमारियों के खिलाफ शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है. अमेरिका के डरहम में ड्यूक यूनिवर्सिटी में सहायक प्रोफेसर वर्जीनिया जारुली के नेतृत्व में शोधकर्ताओं ने कहा, “हमारे परिणाम जीवित रहने में लिंग भिन्नता की पहेली में एक और अध्याय जोड़ते हैं.” नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज के जर्नल प्रोसीडिंग में प्रकाशित इस शोध की टीम ने मृत्यु दर आंकड़ों का विश्लेषण किया था.
आइसलैंड दुनिया में सबसे ज्यादा लैंगिक समानता वाला देश है. शिक्षा, स्वास्थ्य, आर्थिक अवसरों और राजनीतिक सशक्तिकरण के क्षेत्रों में मौजूद अंतर के विश्लेषण के आधार पर यह बात कही गई. दूसरी तरफ, यमन की स्थिति इस मामले में सबसे खराब है.दुनिया भर में महिलाओं का सालाना औसत वेतन 12 हजार डॉलर है जबकि पुरुषों का औसत वेतन 21 हजार डॉलर है. डब्ल्यूईएफ का कहना है कि वेतन के मामले में समानता कायम करने के लिए दुनिया को 217 वर्ष लगेंगे.वेतन में अंतर को पाटने के लिए ब्रिटेन की जीडीपी में अतिरिक्त 250 अरब डॉलर, अमेरिका की डीजीपी में 1,750 अरब डॉलर और चीन की डीजीपी में 2.5 ट्रिलियन डॉलर डालने होंगे.2017 के दौरान महिला और पुरुषों के बीच प्रति घंटा मेहनताने का अंतर 20 वर्ष के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया. सरकारी आकंड़ों के मुताबिक एक फुलटाइम पुरुष कर्मचारी ने महिला कर्मचारियों की तुलना में 9.1 प्रतिशत ज्यादा वेतन पाया.

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 56,395 35
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 25,345 27
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 57,036 25
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 17,111 20
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 16,222 20
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 25,437 18
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 9,214 14
प्याज से करें प्यार और रहें फिट 2,081 9
झाइयां होने के कारण 6,527 9
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 4,979 9
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 9,335 8
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 4,037 7
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 5,910 7
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 4,907 7
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 7,612 7
फिट रहना है तो रात में कम, सुबह ज्यादा खाएं 807 6
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 6,477 6
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 5,872 6
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 5,861 6
किडनी डायलीसिस क्यों......? 317 5
इस मौसमी सीताफल के फायदे जानकर आप रह जाएगे हैरान 3,216 5
आखें लाल हो तो करें ये उपाय 1,621 4
जल्‍दी पिता बनने के लिए एक घंटे में करें दो बार सेक्‍स 5,883 4
फल और सब्जियों के 'रंगों' में छिपा है हमारे स्‍वास्‍थ्‍य का राज 2,009 4
हाइड्रोसील के कारण लक्षण और इलाज इस प्रकार है जानिए 2,240 4
मसूड़ों में रक्त स्राव को रोकने के लिए कारण और उपचार 953 3
दही दूर कर सकता है अपके पैरों का फंगल इंफेक्शन 521 3
गुप्तांगो या बगलों के बालों की सफाई का महत्व 10,185 3
पेट दर्द और पेट में मरोड़ का कारण, लक्षण और उपचार आइए जानें 1,815 3
जबरदस्त फोरप्ले ही देता है दमदार सम्बन्ध का मजा 387 3
स्प्राउट्स- सेहत को रखे आहार भरपूर 2,298 3
मोती जैसे सफेद दांत पाने के लिए ट्राई करें ये 5 घरेलू उपाय 2,752 3
हाई बीपी और माइग्रेन में मेंहदी इस प्रकार फायदेमंद 911 3
ब्रेस्ट कम कैसे करे- एक्सर्साइज़ टिप्स 2,478 3
सेहत को रखना है फिट तो इस तरह से लें प्रोटीन... 781 3
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 7,470 3
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 21,827 3
खासी का काढ़ा 858 2
दिमागी दौरा या ब्रेन स्ट्रोक से पाएं छुटकारा 1,794 2
ब्‍लड ग्रुप के अनुसार कैसा होना चाहिये आपका आहार 2,841 2
गुर्दे की बीमारियों की चपेट में अब युवा भी 386 2
लौंग के तेल के फायदे जानकर रह जायेंगे हैरान 948 2
टाइफाइड में लिए दिए जाने वाले आहार 1,250 2
कैसे लें खुद हाफ बाथ? 264 2
तनाव को दूर करें और भी मनोवैज्ञानिक तरीके से जानें 697 2
हर 4 में से 1 भारतीय बच्चे को है डिप्रेशन! 444 2
जानिए अनार का जूस पीने के और अनार को खाने के फायदे 1,597 2
क्यों रहते हैं हाथ-पैर ठंडे? 4,224 2
मूंग की खेती इस प्रकार करें 1,290 2
पीलिया कैसा भी हो जड़ से खत्म करेंगे 4,403 2