पुरुषों की अपेक्षा ज्यादा समय तक जीवित रहती हैं महिलाएं आइये जानें कैसे

पुरुषों की अपेक्षा ज्यादा समय तक जीवित रहती हैं महिलाएं आइये जानें कैसे

शोध में बताया गया है कि महिलाओं को यह लाभ ज्यादातर जैविक तथ्यों के चलते मिलता है, जैसे अनुवांशिकी या हार्मोन खासकर एस्ट्रोजन, जो संक्रामक बीमारियों के खिलाफ शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है. अमेरिका के डरहम में ड्यूक यूनिवर्सिटी में सहायक प्रोफेसर वर्जीनिया जारुली के नेतृत्व में शोधकर्ताओं ने कहा, "हमारे परिणाम जीवित रहने में लिंग भिन्नता की पहेली में एक और अध्याय जोड़ते हैं." नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज के जर्नल प्रोसीडिंग में प्रकाशित इस शोध की टीम ने मृत्यु दर आंकड़ों का विश्लेषण किया था

पुरुषों की तुलना में महिलाएं अधिक मजबूत हैं और अपने पुरुष समकक्षों के मुकाबले ज्यादा दिन तक जीवित रहती हैं. एक नए शोध में यह बात कही गयी है, जो अब तक की इस धारणा को चुनौती देता है कि महिलाएं कमजोर होती हैं.

नतीजे यह भी दिखाते हैं कि महिलाएं न सिर्फ आमतौर पर पुरुषों की अपेक्षा ज्यादा समय तक जीवित रहती हैं, बल्कि खराब परिस्थितियों जैसे महामारी, अकाल में भी उनके जीवित रहने की संभावना ज्यादा होती है. महिलाओं की जीवन प्रत्याशा इसलिए ज्यादा होती है क्योंकि प्रतिकूल परिस्थिति में नवजात बालकों की अपेक्षा नवजात बालिकाओं के जीवित रहने की संभावना ज्यादा होती है. हालांकि, जब दोनों लिंगों के लिए मृत्यु दर ज्यादा थी, तब भी महिलाएं पुरुषों की अपेक्षा औसतन छह महीने से लेकर लगभग चार साल तक ज्यादा जीवित रहती थी.

आइए और जाने कैसे 

 महिलाएं कमजोर होती हैं.नतीजे यह भी दिखाते हैं कि महिलाएं न सिर्फ आमतौर पर पुरुषों की अपेक्षा ज्यादा समय तक जीवित रहती हैं, बल्कि खराब परिस्थितियों जैसे महामारी, अकाल में भी उनके जीवित रहने की संभावना ज्यादा होती है. महिलाओं की जीवन प्रत्याशा इसलिए ज्यादा होती है क्योंकि प्रतिकूल परिस्थिति में नवजात बालकों की अपेक्षा नवजात बालिकाओं के जीवित रहने की संभावना ज्यादा होती है. हालांकि, जब दोनों लिंगों के लिए मृत्यु दर ज्यादा थी, तब भी महिलाएं पुरुषों की अपेक्षा औसतन छह महीने से लेकर लगभग चार साल तक ज्यादा जीवित रहती थी.
शोध में बताया गया है कि महिलाओं को यह लाभ ज्यादातर जैविक तथ्यों के चलते मिलता है, जैसे अनुवांशिकी या हार्मोन खासकर एस्ट्रोजन, जो संक्रामक बीमारियों के खिलाफ शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है. अमेरिका के डरहम में ड्यूक यूनिवर्सिटी में सहायक प्रोफेसर वर्जीनिया जारुली के नेतृत्व में शोधकर्ताओं ने कहा, “हमारे परिणाम जीवित रहने में लिंग भिन्नता की पहेली में एक और अध्याय जोड़ते हैं.” नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज के जर्नल प्रोसीडिंग में प्रकाशित इस शोध की टीम ने मृत्यु दर आंकड़ों का विश्लेषण किया था.
आइसलैंड दुनिया में सबसे ज्यादा लैंगिक समानता वाला देश है. शिक्षा, स्वास्थ्य, आर्थिक अवसरों और राजनीतिक सशक्तिकरण के क्षेत्रों में मौजूद अंतर के विश्लेषण के आधार पर यह बात कही गई. दूसरी तरफ, यमन की स्थिति इस मामले में सबसे खराब है.दुनिया भर में महिलाओं का सालाना औसत वेतन 12 हजार डॉलर है जबकि पुरुषों का औसत वेतन 21 हजार डॉलर है. डब्ल्यूईएफ का कहना है कि वेतन के मामले में समानता कायम करने के लिए दुनिया को 217 वर्ष लगेंगे.वेतन में अंतर को पाटने के लिए ब्रिटेन की जीडीपी में अतिरिक्त 250 अरब डॉलर, अमेरिका की डीजीपी में 1,750 अरब डॉलर और चीन की डीजीपी में 2.5 ट्रिलियन डॉलर डालने होंगे.2017 के दौरान महिला और पुरुषों के बीच प्रति घंटा मेहनताने का अंतर 20 वर्ष के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया. सरकारी आकंड़ों के मुताबिक एक फुलटाइम पुरुष कर्मचारी ने महिला कर्मचारियों की तुलना में 9.1 प्रतिशत ज्यादा वेतन पाया.

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 37,613 22
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 1,934 15
झाइयां होने के कारण 2,022 13
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 2,483 13
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 3,747 12
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 28,262 10
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 17,545 10
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 3,157 9
फिस्टुला रोग क्या है , इसको पहचाने के लक्षण इस प्रकार 1,175 9
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 4,616 9
सुबह का नाश्ता राजा की तरह, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का भोजन भिखारी की तरह करना चाहिए।’ 2,891 9
ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण क्‍या हैं? 2,842 7
टाइफाइड में लिए दिए जाने वाले आहार 759 7
पोषाहार क्या है जानिए 503 7
क्‍या सोते समय ब्रा पहननी चाहिये ? 10,448 6
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 14,691 6
दिमाग को तेज कैसे बनाये 511 6
प्याज से करें प्यार और रहें फिट 719 6
ब्‍लड ग्रुप के अनुसार कैसा होना चाहिये आपका आहार 2,037 6
गले में मछली का कांटा फंस जाए तो करें ये काम 449 6
टीबी से कैसे करें बचाव, क्या हैं लक्षण, जानें सब. 1,645 6
फिटकरी के घरेलू उपाय, . 263 6
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 3,010 6
चेहरे का ऐसा दर्द देता है इस गंभीर बीमारी के संकेत, जानें लक्षण और बचाव 446 5
वजन कम करने के फायदे, जानकर रहे जायगे हैरान 1,015 5
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 2,063 5
तिल तथा मस्से हटाने के आसान घरेलू उपचार 8,694 5
मौसमी का जूस पीने के फायदे 2,731 5
इस मौसमी सीताफल के फायदे जानकर आप रह जाएगे हैरान 1,277 5
तुलसी का काढ़ा फायदा ही फायदा 1,647 5
होठों की क्या ज़रूरत है 1,920 5
मौसमी को खाने और मौसमी के जूस को पीने के फायदे और नुकसान 740 5
काफी खतरनाक है हाइपोग्लाइसीमिया, इसकी मार से रहें सजग 582 5
कैविटी का है कारगर इलाज 723 5
एनीमिया की शिकार महिलाओं के लिए चुकंदर आत्याधिक लाभदायक 489 5
स्वाद से भरपूर पोहे खाने के लाभ और फायदे 426 5
कई रोगों में चमत्कार का काम करती है दूब घास, जानें इसके फायदे 453 5
कसरत के लिए कौन सा टाइम बेस्ट है? 529 5
जीभ हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के बारे में बताती है जैसे 1,150 5
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 2,796 5
पेट दर्द और पेट में मरोड़ का कारण, लक्षण और उपचार आइए जानें 978 5
मुहांसे दूर करने के नुस्खे 845 4
एक माँ का अपने बच्चों के साथ सोना कितना जरूरी है आइए जानें इस प्रकार 401 4
सेहत के लिए कितनी खतरनाक है ब्रेड 3,509 4
हल्दी का प्रयोग आप को करे निरोग 1,448 4
पुरुषों की अपेक्षा ज्यादा समय तक जीवित रहती हैं महिलाएं आइये जानें कैसे 285 4
कैंसर, बीमारी नहीं बिजनेस है, जानें चौंकाने वाला सच 278 4
पीलिया होने पर घरेलु इलाज 523 4
बाल अधिक झड़ते है तो अपनाये यह तरीका 575 4
खाने से पहले या ठीक बाद में फल खाना क्यों है गलत? 709 4