बच्चों में खाने की अच्छी आदतें विकसित करें

बच्चों में खाने की अच्छी आदतें विकसित करें

पूर्वस्कूली बच्चे दूसरों की नकल करना पसंद करते हैं। संभव है कि वे आपकी भोजन वरीयताओं को अपनाएँ या शारीरिक गतिविधियों के स्तर जैसी आपकी जीवन-शैली की नकल करें। जब भी संभव हो, अपने बच्चों के साथ पारिवारिक भोजन करने की कोशिश करें। आपके बच्चों को भोजन तथा नाश्ता करते समय फल, सब्जियाँ और अनाज खाने का मज़ा लेने दें। 

अपने बच्चों को परिवार के बाक़ी लोगों के साथ खाने दें 
परिवार के साथ भोजन करने से बच्चों का ध्यान खाने की ओर जाता है और आपको भी बढ़िया आहार खाने से संबंधित व्यवहार दिखाने का मौक़ा मिलता है। जितना संभव हो, उतनी बार सपरिवार भोजन करने की कोशिश करें।

नाना प्रकार के खाद्य पदार्थों की पेशकश करें 
पूर्वस्कूली बच्चों को कई प्रकार के खाद्य पदार्थों की पेशकश से उन्हें प्रत्येक खाद्य समूह से ज़रूरी पोषक पदार्थ पाने में मदद मिलती है। उनके द्वारा नए और कई क़िस्म के खाद्य पदार्थों को आज़माने व खाने की संभावना भी बढ़ती है।  
प्रमुख भोजन में कम से कम 3-4 खाद्य समूहों से आहार उपलब्ध कराएँ। खाए जाने वाले स्वास्थ्यकारी खाद्य पदार्थों के रेंज को विस्तृत करने के लिए, नाश्ते में फल, पनीर या दूध के उत्पाद, गेहूँ की ब्रेड जैसे पोषक तत्वों से समृद्ध खाद्य पदार्थ चुनें।

नियमित समय पर भोजन और नाश्ता कराएँ 
हर दिन 3 मुख्य भोजन करें और 2 या 3 बार स्नैक्स खाएँ। मुख्य भोजन हेतु भूख बनाए रखने के लिए मुख्य भोजन और स्नैक्स के बीच कम से कम 1.5 घंटे का अंतर रखें। भोजन के लिए पर्याप्त समय-सीमा, जैसे 30 मिनट का समय रखें। जब आपके बच्चे की भोजन में दिलचस्पी न हो, तो इसका मतलब है कि उसका पेट भर चुका है। मुख्य भोजन के बाद उन्हें दूध पिलाने या स्नैक्स खिलाने से बचें। अन्यथा आपका बच्चा मुख्य भोजन को छोड़ने और स्नैक्स का इंतज़ार करने के लिए प्रोत्साहित होगा। नाश्ता कराने के समय में लचीलापन रखें, अगर आपका बच्चा कहता है कि उसे भूख लगी है, तो पहले थोड़ा-सा स्वास्थ्यकारी स्नैक्स खाने के लिए दें।       

अपने बच्चों को तय करने दें कि कितना खाएँ 
अपने बच्चों को छोटे और आराम से खाने लायक़ मात्रा में आहार की पेशकश करें। उनसे कहें कि यदि फिर भी उनकी भूख न मिटे तो उन्हें और खाने के लिए दिया जाएगा। पूरा खाना ख़त्म करने पर ज़ोर न दें। आपके बच्चों को अपने आप अपनी भूख मिटाना सीखने दें। कितना खाना है, यह उन्हीं को तय करने दें। इससे वे लंबे समय में ज़्यादा खाने और मोटापे से बचेंगे। यह भोजन के समय को अधिक मनोरंजक तथा तनाव मुक्त भी करता है।

नए आहार खिलाने की कोशिश में हार न मानें 
बच्चे हमेशा सीधे नए आहार और सब्जियों को स्वीकार नहीं करते। कभी-कभी बच्चों द्वारा नए आहार को आज़माने की कोशिश कराने में 10 से भी ज़्यादा बार प्रयास करना पड़ सकता है।   
आप अपने बच्चे के लिए अच्छे मॉडल बनें। यदि आप उनके साथ वही खाना खाते हैं, तो वे उसे आज़माने के लिए ज़्यादा तैयार होंगे। 
कुछ बच्चे अन्य परिचित खाद्य पदार्थों के साथ नए आहार को खाने के लिए ज़्यादा तैयार हो सकते हैं जब कि कुछ बच्चे ऐसा नहीं करते। आहार को विभिन्न तरीक़ों से पेश करने का प्रयास करें, जैसे नए खाद्य पदार्थ को और अन्य व्यंजनों को सामान्य व अलग ढंग से परोसने की कोशिश करें। 

अपने बच्चों को आहार से नहीं, बल्कि उन पर अपने ध्यान से पुरस्कृत करें
अपने बच्चों को गले लगाकर, चूमकर, तारीफ़ करके, उनके साथ खेलकर, कहानी सुनाते हुए या बाहर की गतिविधियों में हिस्सा लेते हुए पुरस्कृत करें।    
बच्चों को इनाम स्वरूप व्यंजन खिलाने से उनमें उसे और खाने की इच्छा जगती है। यदि हम मिठाई या चिप्स को इनाम में दें, तो वे ऐसे पदार्थ ज़्यादा खाना पसंद करेंगे। अगर हम बच्चों से कहते हैं  कि "पहले अपनी सब्जी ख़त्म करो और तब तुम्हें मिठाई मिलेगी", तो वे मिठाई ज़्यादा पसंद करने लगेंगे और सब्जियाँ नापसंद करेंगे।  
जब बच्चे रूठ जाएँ तो उन्हें मनाने के लिए खाद्य पदार्थों का उपयोग करने से बचें। यह उन्हें खाने से राहत पाना सिखाता है। उन्हें गले लगाकर, चूमकर, या बातें करके मनाने की कोशिश करें।

खाने का सकारात्मक माहौल बनाएँ 
भोजन का समय खाद्य पदार्थों और खाने की सराहना करने का मौक़ा है। बड़े बच्चे टेबल सजाना, फल या सब्जियाँ धोना जैसे सामान्य भोजन-संबंधी कार्यों को करने में मदद कर सकते हैं। इससे बच्चों में आत्म-सम्मान और उपलब्धि की भावनाओं को बढ़ाने में मदद मिलती है। 
बच्चों के साथ खाने के लिए बैठकर ख़ुशनुमा माहौल पैदा करें। खिलौने और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जैसी सभी ध्यान भटकाने वाले चीज़ों को हटाएँ। भोजन करते समय टेलीविज़न बंद रखना चाहिए। 

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 44,082 114
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 48,615 72
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 20,396 55
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 10,029 53
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 20,479 35
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 6,909 23
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 20,250 23
ब्रेस्ट कम करने के लिए क्या खाएं 2,642 22
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 10,876 20
झाइयां होने के कारण 4,904 18
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 2,154 17
सुबह उठ कर खाली पेट कैसे पानी पीना चाहिए 1,378 17
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 4,421 17
इंसानी दूध पीने को लेकर ब्रिटेन में चेतावनी 6,960 15
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 5,105 15
लड़कियों की शर्ट में पॉकेट क्यों नहीं होती ! आखिर क्या हैं राज 2,143 15
सेक्‍स करने से लोगों को होते हैं ये 10 फायदे 4,017 15
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 7,145 14
चिकनपॉक्स (छोटी माता): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज 1,591 14
माँ का दूध बढ़ाने के तरीके 4,478 13
जीभ हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के बारे में बताती है जैसे 1,836 12
गूलर लंबी आयु वाला वृक्ष है 3,454 11
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 4,809 11
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 3,917 11
क्या खाएं और क्या न खाएं, जानिए 2,607 11
गिलोय के फायदे और अनेक प्रकार से रोगों से छुटकारा 1,296 10
दूध में डिटर्जेंट की जाँच करने के उपाय 2,006 10
टीबी से कैसे करें बचाव, क्या हैं लक्षण, जानें सब. 2,146 10
माइग्रेन के दर्द से राहत देता है ये आहार 1,446 10
मूंगफली खाने के आत्याधिक फायदे 945 10
हाई बीपी और माइग्रेन में फायदेमंद है मेंहदी 1,218 10
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 3,365 10
बेटी की बिदाई- मां के लिए बड़ी चुनौती है इस प्रकार 1,065 10
ख़तरनाक है सेक्स एडिक्शन 4,804 10
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 6,921 10
प्याज से करें प्यार और रहें फिट 1,354 9
जानिये कितना होना चाहिए आपका कोलेस्ट्रॉल और कब शुरू होती है इससे परेशानी 1,786 9
पीठ दर्द से मिलेगा तुरंत छुटकारा 622 9
बच्चे के कान के पीछे शंकु का समाधान 1,633 9
स्प्राउट्स- सेहत को रखे आहार भरपूर 1,795 9
किडनी को ख़राब करने वाली है ये आदतें……. 1,763 9
बिना सर्जरी स्तन छोटे करने के उपाय 2,392 8
क्यों रहते हैं हाथ-पैर ठंडे? 3,716 8
जानें शंखपुष्‍पी स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कितनी फायदेमंद है प्रयोग करें 1,005 8
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 5,137 8
रोजाना भीगे हुए चने खाने के हैं कई फायदे, जानिए और स्वस्थ्य रहिए.... 2,531 8
सभी प्रकार के घावों में कारगर है लेड 1,414 8
कम उम्र में सेक्‍स करने से बढ़ जाता है इस चीज का खतरा 3,055 8
मियादी बुखार का कारण क्या है 3,614 7
गले में मछली का कांटा फंस जाए तो करें ये काम 863 7