बोर्ड परीक्षा के दौरान बच्‍चे करें ये 2 आसान काम, तनाव रहेगा कोसों दूर

न टीवी, न फोन और न ही दोस्तों के साथ घूमने जाने की परमीशन, अगर कुछ सबसे ज्यादा नज़दीक होगा तो वो है किताबें और नोट्स! बोर्ड का इम्तहांन दे रहे छोत्रों को माता-पिता से कुछ इस प्रकार के निर्देश ही मिलते हैं। हर माता-पिता की बोर्ड परिक्षा दे रहे अपने बच्चे से बस एक ही इच्छा होती है, कि इस बार उनका बच्च परीक्षा में अव्वल आये और ज्यादा से ज्यादा स्कोर करे। यह इच्छा दरअसल बच्चे के सुनहरे भविष्य के सपने से जो जुड़ी होती है। इस सपने का होना बहुत स्वाभाविक है, लेकिन कई बार यह सपना पद, पैसा और रुतबा पाने जैसी महत्वाकांक्षाओं का रूप ले लेता है, जो बच्चों पर अनावश्यक दबाव डालने लगता है और बच्चे परिक्षा के परिणामों के समय अपना विवेक और सब्र खोने लगते हैं, जिसके कुछ बेहद गंभीर परिणाम भी सामने आते हैं। लेकिन बोर्ड परिक्षाओं के परिणामों को समय बच्चों का साथ देने का होता है, न कि उन पर और ज्यादा दबाव बनाने का। तो चलिये जानें कि कैसे बोर्ड रिजल्ट के तनाव से अपने बच्चे को बचाया जा सकता है और मनोचिकित्सकों व अन्य विशेषज्ञों की इस बारे में क्या राय है।

बहुत ज्यादा महत्वाकांक्षी न बनें

मनोचिकित्सक डॉ सुनील मित्तल के अनुसार, अपने बच्चे की क्षमताओं व रुचियों को पहचानना बेहद जरूरी होता है। माता-पिता और समाज द्वारा अनुचित रूप से बहुत ज्यादा उम्मीदें लगाना आज के युवाओं में तनाव और उच्च रक्तचाप के कारण बनते हैं।

 

उनसे बात करें

जब परिक्षा के परिणाम आने वाले हों तो माता-पिता को चाहिये कि वे बच्चे के कंधे पर हाथ रखें, उसके साथ खड़े हों और कहें कि किसी भी परीक्षा परिणाम जिंदगी से बड़ा नहीं होता, उठो और आगे के बारे में सोचो। ऐसे रास्तों के बारे में सोचो, जो तुम्हें बेहतर कल की ओर ले जायें। क्योंकि अगर परिणाम खराब भी आए तो जितना वक्त तुम खराब परिणाम से दुखी होने, निराशा और अवसाद को हावी होने देने में जाया करोगे, उतने वक्त में तुम आगेबहुत कुछ बेहतर कर सकते हो। हार के बाद भी जीत संभव है, बशर्ते अगर इंसान दिमाग की परीक्षा से गुजरना न बंद करे।

इस साल के दसवीं-बारहवीं के रिजल्ट आ रहे हैं, साथ ही आगे की पढ़ाई के लिए प्रवेश परीक्षाओं के परिणाम भी आने शुरू हो चुके हैं। ऐसे में जरूरी है कि अभिभावक हर हाल में अपने बच्चे के साथ खड़े हों। बच्चे को रिजल्ट अच्छा न आने पर डांट कर हतोत्साहित करने की बजाय, इसके कारण जानने का कोशिश करें और बच्चे को मोटिवेट करें और भावनात्मक सहारा दें।

समझदार बनें

रिजल्ट के समय माता-पिता के द्वारा बच्चों को प्रोत्साहित करने, उनका समर्थन व सराहना करने तथा समझदार बनने की आवश्यकता होती है, बजाए पहले बेहद तनावपूर्ण स्थिति से गुजर रहे बच्चों पर और दबाव बनाने के। बच्चों की परवाह करना जरूरी होता है, लेकिन जरूरी नहीं कि रिजल्ट के समय घर जंग के मैदान जैसा बना दिया जाए।

उनका थोड़ा समय दें

पढ़ाई के दौरान ब्रेक लेना भी जरूरी होता है। बिना किसी ब्रेक के घंटों तक लगातार बढ़ते रहने से तनाव और दबाव ज्यादा होता है। सीबीएसई की जनसंपर्क अधिकारी, रमा शर्मा कहती हैं कि वे अपनी बेटी को उसकी परिक्षा के एक दिन पहले आइसक्रीम ब्रेक पर लेकर गईं। रमा जी की दो बेटियों ने इस वर्ष बोर्ड की परिक्षा पास की हैं। रमा शर्मा करह ती हैं कि बोर्ड की सदस्या होने के नाते उन्हें अपने खुद के बच्चों पर भी परिक्षा या उनके परिणामों तनाव को हावी नहीं होने दिया। वे कहती हैं कि उन्हें अपनी बेटी की क्षमताओं के बारे में पता है और वे उससे अधिक के लिये कभी उस पर दबाव नहीं बनाती हैं।

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 30,985 62
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 40,503 33
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 15,568 30
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 4,203 25
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 14,077 25
सप्ताह में इतनी बार सेक्स करना जरूरी है 4,105 16
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 2,676 12
पेट फूलना, गैस व खट्टी डकार से तुरंत राहत दिलाने उपचार के 1,525 11
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 4,906 10
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 5,379 9
सेक्‍स करने से लोगों को होते हैं ये 10 फायदे 3,201 8
एक डॉक्टर द्वारा अपनी ओ पी डी के बाहर लगाई गई ये pic.. Zoom करके देखिये 46 8
नीम और उसके फायदे 998 8
आर्टिकल जो आपकी जान बचा सकता है 1,361 8
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 4,049 7
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 18,381 6
बिना एक्सरसाइज किए 1 महीने में घटाएं जांघों और कूल्हों की चर्बी! 39 6
क्यों रहते हैं हाथ-पैर ठंडे? 3,112 6
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 7,163 6
स्वस्थ रहने की 10 अच्छी आदतें 596 6
आंख की एपीस्कलेराइटिस : लक्षण, कारण, उपचार को करें निरोग 439 5
घर पर आसानी से मिनटों में निकाले व्हाइटहेड्स 45 5
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 5,810 5
पीलिया कैसा भी हो जड़ से खत्म करेंगे 2,964 5
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 3,840 5
जानें शंखपुष्‍पी स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कितनी फायदेमंद है प्रयोग करें 776 5
जल्‍दी पिता बनने के लिए एक घंटे में करें दो बार सेक्‍स 4,565 5
क्‍या सोते समय ब्रा पहननी चाहिये ? 10,735 4
भरे हुए होंठ और जवानी में सम्बन्ध 1,656 4
कम उम्र में सेक्‍स करने से बढ़ जाता है इस चीज का खतरा 2,664 4
प्राकृतिक चिकित्सा 1,060 4
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 3,075 4
लड़कियों को 'इन दिनों' यौन संबंध बनाने में आता है सबसे अधिक आनंद 4,407 4
फिस्टुला रोग क्या है , इसको पहचाने के लक्षण इस प्रकार 1,926 3
तिल तथा मस्से हटाने के आसान घरेलू उपचार 9,167 3
एड़ियों के दर्द से छुटकारा दिलाते हैं ये घरेलू नुस्खे 1,023 3
शरीर में रक्त की कमी का होना, रक्त की कमी पूरी करने के लिए क्या करें, जानें 952 3
रस्सी कूदें, वज़न घटाएं 1,620 3
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 3,615 3
धनिया के औषधीय गुण 255 3
ब्रेन ट्यूमर के उपाय 576 3
झाइयां होने के कारण 3,050 3
पोषाहार क्या है जानिए 758 3
स्प्राउट्स- सेहत को रखे आहार भरपूर 1,473 2
स्मार्टफोन का बुरा असर 152 2
थायराइड की समस्या और घरेलु उपचार 1,582 2
टी .बी से बचाब के घरेलु तरीके 408 2
मौसमी का जूस पीने के फायदे 3,288 2
अपनी आँखों को रखे हमेशा सलमात 1,103 2
सेक्स एडिक्शन - बड़ी समस्या है. 516 2