माँ का दूध बढ़ाने के तरीके

माँ का दूध बढ़ाने के तरीके

नवजात शिशु को जन्मदेते समय एक माँ को बहुत अधिक ख़ुशी होती है। लेकिन अगर किसी भी कारणवश कोई गर्भवती माँ प्रसव के समय तनाव, डीहाइड्रेशन, अनिद्रा आदि की शिकार हो जाए तो प्रसव के बाद उनके स्तनों में कम दूध बन सकता है। जिससे उनका बच्चा भूखा रह सकता है। जबकि माँ का दूध बच्चे के स्वास्थ्य के लिए सबसे ज़्यादा ज़रूरी होता है। अतः ऐसे में माँ को अपने आहार पर उचित ध्यान देना चाहिए और अपने भोजन में उन सभी चीज़ों को शामिल करना चाहिए जो एक माँ का दूध बढ़ाने में सहायक हो। अतः आज हम आपको ऐसे ही कुछ प्राकृतिक चीज़ों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके सेवन से ब्रेस्ट फ़ीडिंग कराने वाली स्त्री का दूध बढ़ जाता है।

माँ का दूध बढ़ाने के प्राकृतिक उपाय

स्तनपान कराते समय स्तन को बदलें

जब भी माँ बच्चे को स्तनपान कराए तो दोनों स्तनों से दूध पिलाए। इससे आपका बच्चा आराम से स्तनपान कर सकेगा। इससे माँ के शरीर में दूध का उत्पादन अच्छे से होगा। इसीलिए स्तनपान कराते समय कम से कम दो से तीन बार स्तन ज़रूर बदलें।

मेथी खाएं

अगर प्रसव के बाद माँ के शरीर में दूध कम बन रहा हो या न बन रहा हो तो घर की बड़ी बुजुर्ग उसे मेथी के बीज खाने की सलाह देते हैं। इसके सेवन भी माँ का दूध बढ़ाने में सहायक होता है। ध्यान रहें इसका सेवन कम मात्रा में करना है। अधिक मात्रा से गैस की समस्या हो सकती है।

दूध और दूध से बने पदार्थ

जो चीज़ दूध से बनती है जैसे पनीर, दही, खोया आदि उसे खाएं और दूध पिएं। दूध पीने से भी स्तनों में दूध बढ़ने लगता है। यह शरीर को ताकत भी प्रदान करता हैं।

संतुलित भोजन

Video: