मियादी बुखार का कारण क्या है

मियादी बुखार का कारण क्या है

मियादी बुखार ( Typhoid ) का कारण क्या है और यह कैसे फैलता हैं ?

1. Typhoid बुखार का फैलाव संक्रमित पानी और खाद्यपदार्थ से होता हैं।
2. Typhoid बुखार से पीड़ित व्यक्ति के मल, मूत्र और रक्त में यह बैक्टीरिया रहता हैं। पीड़ित व्यक्ति के मल-मूत्र से दूषित पानी के कारण Typhoid बुखार फैलने की अधिक संभावना रहती हैं।
3. Typhoid बुखार दूषित पानी से नहाने से और ऐसे दूषित पानी से खाद्यपदार्थ धोकर खाने से भी फैलता हैं।
यह बैक्टीरिया पानी में कई हफ्तों तक जीवित रह सकता हैं। लगभग 3% से 5% Typhoid बुखार से पीड़ित व्यक्ति कोई लक्षण न होने के बावजूद भी Typhoid बुखार फैला सकते हैं।
4. Typhoid बुखार से पीड़ित व्यक्ति के झूटे खाने-पिने से भी Typhoid हो सकता हैं। 
5. Typhoid बैक्टीरिया से संक्रमित रक्त लगाने से भी हो सकता हैं।

इस बुखार के क्या क्या ( Symptoms )  लक्षण होते हैं ??

 

1. नियमित बढनेवाला तेज बुखार

2. बदनदर्द 

3. कमजोरी 

4. सिरदर्द, पेट दर्द 

5. कम भूक लगना 

6. बच्चो में दस्त की शिकायत 

7. बड़ो में कब्ज की शिकायत 

8. बीमारी अधिक बढ़ जानेपर आंतो में अल्सर हो सकते है और इनके फट जाने पर Operation की जरुरत पड़ सकती हैं। 

 

बुखार का निदान और इसको Diagnosis करने का तरीका निम्न प्रकार हैं ।

 

1. Typhidot Test : रोगी के रक्त का नमूना एक किट में डालकर जांच की जाती हैं। इसका परिणाम Positive आनेपर Typhoid बुखार का निदान किया जाता हैं।
2. Blood Culture : यह बिमारी के पहले हफ्ते में रक्त में Typhoid बुखार का बैक्टीरिया की मौजूदगी की जांच करने के लिए किया जाता हैं।
3. Stool Culture : यह रोगी व्यक्ति के मल में Typhoid बुखार का बैक्टीरिया की मौजूदगी की जांच करने के लिए किया जाता हैं। 
4. WIDAL Test : इस जांच में रोगी व्यक्ति के रक्त की जांच की जाती हैं। इसमें O और H antigen में 180 से ज्यादा अनुपात आने पर Typhoid बुखार का निदान किया जाता हैं।
5. Sonography / Xray : पीड़ित व्यक्ति पेट को अधिक पेट दर्द और उलटी होने पर आंतो में अल्सर का निदान करने हेतु यह जांच की जाती हैं। 
ज़रूरत पड़ने पर इसके इलावा डॉक्टर की सलाह अनुसार और अन्य जांच की आवश्यकता पड़ सकती है

Typhoid बुखार का ईलाज :

* Typhoid बुखार का ईलाज करने के लिए Antibiotics का इस्तेमाल किया जाता हैं।
पहले के ज़माने लगभग 20% Typhoid बुखार के रोगियों की मृत्यु हो जाती थी परंतु अब ज्यादा असरदार
Antibiotics का उपयोग करने के कारण सिर्फ 1 से 2% रोगियों की ही मृत्यु होती है और वह भी किसी बड़े complication के कारण होती हैं।

* अगर पीड़ित व्यक्ति को ज्यादा कमजोरी नहीं है और आहार अच्छे से ले रहा है तो घर पर भी Antibiotics दवा लेकर Typhoid बुखार का ईलाज किया जा सकता हैं। कम से कम 2 हफ्तों तक Typhoid बुखार की दवा लेना होता हैं।

* अधिक कमजोरी और उलटी, दस्त इत्यादि समस्या होने पर हॉस्पिटल में दाखिल होकर ईलाज कराना जरुरी होता हैं।
* Typhoid बुखार के कारण आंतो में अल्सर होने पर जरुरत पड़ने पर operation भी किया जाता हैं।

Typhoid बुखार से बचने के लिए क्या क्या सावधानी बरतनी चाहिए ?

Typhoid vaccine / लसीकरण : Typhoid बुखार से बचने के लिए दो तरह की vaccine उपलब्ध हैं। पहले तरह की Typhoid vaccine में injection दिया जाता है। यह vaccine 2 वर्ष से ऊपर के आयु के व्यक्तिओ में ही दी जाती हैं। दूसरी तरह की Typhoid vaccine में 4 गोलिया दी जाती है जिसमे से एक गोली एक दिन छोड़कर (1, 3, 5, 7) खाना होता हैं। यह vaccine 6 वर्ष से ऊपर के व्यक्तिओ में ही दी जाती हैं। इन दोनों vaccine का असर 2 हफ्ते बाद होता है और Typhoid बुखार के खिलाफ कुछ प्रमाण में प्रतिरोध शक्ति का निर्माण होता हैं। याद रहे की यह दोनों vaccine से 100% सुरक्षा की गारंटी नहीं मिलती हैं। 

पानी : पिने के लिए हमेशा स्वच्छ पानी का उपयोग करे। अगर घर में RO नहीं है तो पानी को कम से कम 1 मिनिट उबाले और बाद में ठंडा होने के बाद में ही उपयोग करे। अगर कही बाहर सफ़र कर रहे है तो बोतलबंद पानी का उपयोग करे। घर में सब्जी / फल को साफ़ करने के लिए भी स्वच्छ पानी का ही इस्तेमाल करे। बाहर मिलने वाले बर्फ का इस्तेमाल न करे।

हात धोना : हमेशा खाना बनाने या खाने से पहले और बाथरूम के बाद अच्छे साबुन से हात धोना चाहिए।हात धोते समय साबुन से अच्छा झाग बनाकर १५ सेकंड तक बहते पानी में हात को अच्छी तरह से धोए और बाद में स्वच्छ कपडे से हात को अच्छी तरह से साफ़ करे। नल बंद करने के लिए उसी साफ कपडे का इस्तेमाल करे जिससे हात को दुबारा दूषण (Contamination) न हो। अगर पानी उपलब्ध नहीं है तो अपने साथ हात साफ़ रखने के लिए Hand sanitizer पास रखे।

आहार : घर में बना स्वच्छ, गर्म और पौष्टिक आहार लेना चाहिए। बाजार में और रस्ते पर बिकनेवाले आहार पदार्थो से परहेज करे।

रोगी : अगर आपको Typhoid बुखार हैं तो आपने हमेशा अपने हात साफ़ और स्वच्छ रखना चाहिए। आपके कपडे, चद्दर, तौलिया इत्यादि गर्म पानी और साबुन से धोना चाहिए। आपने अन्य खाद्य पदार्थो को नहीं छूना चाहिए और औरो के लिए खाना नहीं पकाना चाहिए। 

Video: 

New Health Updates

Icon Total views
शल्य क्रिया से स्तनों शल्य क्रिया से स्तनों का आकार घटाने का तरीका 63
बिना सर्जरी स्तन छोटे करने के उपाय बिना सर्जरी स्तन छोटे करने के उपाय 88
ब्रेस्ट साइज़ कैसे करे कम| घरेलू नुस्खे| ब्रेस्ट साइज़ कैसे करे कम| घरेलू नुस्खे| 111
स्तन घटाने के उपाय, तरीके और टिप्स स्तन घटाने के उपाय, तरीके और टिप्स 111
ब्रेस्ट कम करने के लिए क्या खाएं ब्रेस्ट कम करने के लिए क्या खाएं 110
ब्रेस्ट कम कैसे करे- एक्सर्साइज़ टिप्स ब्रेस्ट कम कैसे करे- एक्सर्साइज़ टिप्स 57
ब्रेस्ट का आकार कैसे कम करें माइक्रो लिपो से ब्रेस्ट का आकार कैसे कम करें माइक्रो लिपो से 149
ब्रेस्ट कम करने के उपाय ब्रेस्ट कम करने के उपाय 194
छाती को कम करने के उपाय एरोबिक्स छाती को कम करने के उपाय एरोबिक्स से 171
Three cups of Coffee may prevent heart attacks हार्ट अटैक से बचना है तो रोज़ पीजिये 3 से 5 बार कॉफी: शोध 1,314
स्किन कैंसर से नहीं बचा सकते सन्सक्रीन स्किन कैंसर से नहीं बचा सकते सन्सक्रीन 231
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 844
चमकती हुई त्वचा के लिए हर्बल ब्यूटी टिप्स चमकती हुई त्वचा के लिए हर्बल ब्यूटी टिप्स 2,149
इडली को क्‍यूं माना जाता है वर्ल्‍ड का बेस्‍ट ब्रेकफास्‍ट इडली को क्‍यूं माना जाता है वर्ल्‍ड का बेस्‍ट ब्रेकफास्‍ट 311
खुश रहने के लिये खूब खाएं फल और सब्‍जियां खुश रहने के लिये खूब खाएं फल और सब्‍जियां 1,170
शोरगुल से बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा शोरगुल से बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा 957
कॉफी बना सकता है आपको बहरा कॉफी बना सकता है आपको बहरा 1,044
एरोबिक एक्‍सरसाइज हार्टफेल से बचाएगा एरोबिक एक्‍सरसाइज 1,058
शयनकक्ष में बहुत रोशनी बढ़ा सकती है मोटापा शयनकक्ष में बहुत रोशनी बढ़ा सकती है मोटापा 167
तुलसी का काढ़ा फायदा ही फायदा तुलसी का काढ़ा फायदा ही फायदा 600