रोज करें ये 2 काम, डायबिटीज से हमेशा के लिए मिलेगा छुटकारा

प्राचीन काल से ही योग कई बीमारियों को ठीक करने के काम आता रहा है। तेज़ी से फै ल रही मधुमेह की बीमारी को भी योग द्वारा नियंत्रित किया जा सकता है। योग करने से कोशिकाओं को ऑक्सीजन ज्य़ादा मात्रा में मिलती है जो बीटा-सेल्स में नई ऊर्जा लाती है। यह प्रक्रिया इंसुलिन ज्य़ादा बनाने में मदद करती है। आइए जाने योग एक्सपर्ट आशीष सिंह से ऐसे ही कुछ आसनों के बारे में, जो मधुमेह में हैं लाभकारी।

अपने घुटनों को सीधा रखते हुए पैरों को ऊपर की तरफ 90 डिग्री का कोण बनाते हुए धीरे-धीरे उठाएं। अब अपनी हथेलियों के सहारे नितंबों को धीरे-धीरे उठाते हुए पैरों को सिर के पीछे की ओर झुकाते जाएं। ध्यान रहे कि इससे रीढ़ पर किसी तरह का दबाव न पड़े। धीरे-धीरे अपने पंजों को सिर के पीछे इस तरह ले जाएं कि पंजे जमीन को छूने लगें। कुछ सेकंड्स इसी स्थिति में रह कर धीरे-धीरे वापस अपनी स्थिति में लौट आएं। पहले हथेलियों के बल 90 और फिर 60 डिग्री में पैरों को लाते हुए ज़मीन पर टिका दें। इसे किसी अच्छे योग एक्सपर्ट की मदद से ही करें।

अर्धमत्स्येंद्रासन

मत्स्येंद्रासन की रचना स्वामी मत्स्येंद्रनाथ ने की थी। मत्स्येंद्रासन की आधी क्रिया को लेकर ही अर्धमत्स्येंद्रासन प्रचलित हुआ। रीढ़ की हड्डी में कोई शिकायत हो या फिर पेट में कोई गंभीर बीमारी हो ऐसी स्थिति में यह आसन न करें।

अर्धमत्स्येंद्रासन के लाभ

यह आसन डायबिटीज़ में लाभकारी है। अर्धमत्स्येंद्रासन से मेरुदंड स्वस्थ रहता है और स्फूर्ति बनी रहती है। पीठ, पेट, पैर, गर्दन, हाथ, कमर, नाभि से नीचे के भाग एवं छाती पर खिंचाव पडऩे से उन पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। शरीर में ऊर्जा का संचार होता है। कमर, पीठ और जोड़ों के दर्द में यह आसन लाभदायक है। यह आसन करने से लीवर भी मजबूत होता है।

विधि

दोनों पैरों को लंबा करके बैठ जाएं। बायें पैर को घुटने से मोड़कर बैठ जाएं। दाहिने पैर को घुटने से मोड़कर सीधा रखें। बायें हाथ से दाहिने पैर का अंगूठा पकड़ें। सिर को दाहिनी ओर मोड़ें, जिसमें दाहिने पैर के घुटने के ऊपर बायें कंधे का दबाव पड़े। अब दाहिना हाथ पीठ के पीछे से घुमा कर बायें पैर के पास ले जाएं। सिर दाहिनी ओर इस तरह घुमाएं कि ठोड़ी और बायां कंधा एक सीधी रेखा में आ जाए। 30 सेकेंड तक इसी पोजि़शन में रहने के बाद रिलैक्स हो जाएं। इस आसन को नियमित करने से जल्द लाभ मिलता है।

अनुलोम-विलोम प्राणायाम

प्राणायाम सीखने के लिए शुरुआत में अनुलोम-विलोम का अभ्यास किया जाता है। फिर क्रमश: अन्य प्राणायामों का अभ्यास किया जाता है। अनुलोम-विलोम प्राणायाम करते समय तीन क्रिया करते हैं- 1.पूरक 2.कुंभक 3.रेचक।

लाभ

तनाव घटाकर शांति प्रदान करने वाले प्राणायाम से सभी प्रकार की नाडिय़ों को भी स्वास्थ्य लाभ मिलता है। मधुमेह के रोगी इस आसन को नियमित करें। यह आसन नेत्र ज्योति बढ़ाने में भी सहायक है। इस आसन से शरीर को किसी प्रकार का नुकसान नहीं होता।

इसे करने के लिए ज़मीन पर आराम से बैठ जाएं। दाहिने हाथ के अंगूठे से नाक के दायें छेद को बंद कर लें और नाक के बायें छेद सेे चार तक की गिनती करते हुए सांस को भीतर भरें और बायीं नाक के अंगूठे के बगल वाली दो उंगलियों से बंद कर दें। इसके बाद दायीं नाक से अंगूठे को हटा दें और सांस बाहर छोड़ दें।

अब दायींनाक से ही सांस को चार तक गिनती करते हुए भीतर भरें और दायीं नाक को बंद करके बायीं नाक खोलकर सांस को आठ की गिनती में बाहर निकालें। इस प्राणायाम को पांच से 15 मिनट तक कर सकते हैं। इस आसन को हर वर्ग के लोग कर सकते हैं।

हलासन

इस आसन में शरीर का आकार हल के समान हो जाता है। इसीलिए इस आसन को हलासन कहा जाता है। रीढ़ संबंधी रोगों अथवा गले में कोई गंभीर रोग होने की स्थिति में यह आसन न करें। आसन करते वक्त ध्यान रहे कि पैर तने हुए तथा घुटने सीधे रहें। स्त्रियों को यह आसन एक्सपर्ट की सलाह पर ही करना चाहिए।

हलासन के लाभ

हलासन से रीढ़ सही स्थिति में बनी रहती है। मेरुदंड संबंधी नाडिय़ों के स्वस्थ रहने से वृद्धावस्था के लक्षण जल्दी नहीं आते। डायबिटीज़ के अलावा यह आसन कब्ज़, थायरॉइड, दमा, सिरदर्द, कफ, रक्त-विकार आदि में भी लाभदायक है। लीवर बढ़ गया हो तो हलासन से सामान्य अवस्था में आ जाता है। शवासन की अवस्था में भूमि पर लेट जाएं। दोनों पंजे मिलाएं। हथेलियों को भी सीधा रखें। सांस को सुविधानुसार बाहर छोडें। फिर दोनों पैरों को एक-दूसरे से सटाते हुए पहले 60 फिर 90 डिग्री के कोण तक एक साथ धीरे-धीरे भूमि से ऊपर उठाते जाएं।

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 39,926 45
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 3,786 25
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 30,446 24
वजन बढ़ाने वाले हर्ब्स 82 17
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 2,904 16
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 13,873 15
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 3,905 14
जानिए अनार का जूस पीने के और अनार को खाने के फायदे 1,038 14
मिनटों में गायब हो जाएंगे 'लव बाइट' के निशान, करें ये आसान काम 17 12
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 3,416 11
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 15,365 10
हैल्दी बालों के लिए डाइट 31 10
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 4,693 10
हार्ट अटैक से बचना है तो रोज़ पीजिये 3 से 5 बार कॉफी: शोध 2,056 9
जानें बीयर के बारें में 138 9
क्या खाएं और क्या न खाएं, जानिए 1,769 8
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 5,193 7
सर दर्द से राहत के लिए करें ये घरेलु उपचार 1,341 7
पीलिया कैसा भी हो जड़ से खत्म करेंगे 2,865 7
झाइयां होने के कारण 2,858 6
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 3,699 6
सुबह उठते ही चेहरे पर दिखती है सूजन तो जरूर जानिए इसकी वजह 28 6
फिस्टुला रोग क्या है , इसको पहचाने के लक्षण इस प्रकार 1,814 6
ख़तरनाक है सेक्स एडिक्शन 4,072 6
एड़ियों के दर्द से छुटकारा दिलाते हैं ये घरेलू नुस्खे 996 6
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 3,503 6
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 946 6
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 5,233 6
किडनी को ख़राब करने वाली है ये आदतें……. 1,340 5
हल्दी का प्रयोग आप को करे निरोग 1,662 5
ब्लड प्रेशर को कैसे रखें नियंत्रित 290 5
जामुन के गुण और फायदे 1,949 5
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 5,674 5
इंसानी दूध पीने को लेकर ब्रिटेन में चेतावनी 6,326 5
क्यों जरूरी है विटामिन बी-12? 50 4
गुप्तांगो या बगलों के बालों की सफाई का महत्व 8,775 4
अखरोट खाने के कौन - कौन से फायदे और नुकसान होते है 1,207 4
स्प्राउट्स- सेहत को रखे आहार भरपूर 1,448 4
कब्‍ज के उपचार के घरेलू उपाय 1,061 4
हाई बीपी और माइग्रेन में मेंहदी इस प्रकार फायदेमंद 625 4
सुपारी के सेवन से किया जा सकता है पागलपन को कम 562 4
इस मौसमी सीताफल के फायदे जानकर आप रह जाएगे हैरान 1,507 4
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 18,242 4
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 6,981 4
पेट फूलना, गैस व खट्टी डकार से तुरंत राहत दिलाने उपचार के 1,485 4
क्या होती है नेगेटिव कैलोरी? 36 3
पोषाहार क्या है जानिए 704 3
पैरो में सूजन है तो करें ये उपाय 403 3
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 2,979 3
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 2,011 3