सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए

सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए

सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए :कारण
********************************************
जब भी महिलाओं की निजी बातें आती हैं तब रात में ब्रा पहनने या न पहनने पर विवाद होना आम है। यदि आप 10 महिलाओं से यह सवाल पूछेंगे तो बिना संदेह आपको 10 अलग अलग उत्तर मिलेंगे। परंतु यदि आप किसी विशेषज्ञ से पूछेंगे तो वे बताएँगे कि यदि आप आरामदायक ब्रा का चुनाव करते हैं तो सोते समय ब्रा पहनने में कोई समस्या नहीं है।

कई महिलाओं को सोते समय ब्रा पहनना आरामदायक लगता है जबकि कुछ महिलायें सोते समय ब्रा पहनने के दुष्परिणामों से चिंतित रहती हैं। यदि आप हल्की, नॉन अंडरवायर ब्रा या कैमिसोल स्टाईल पजामा टॉप्स जिसमें इनबिल्ट ब्रा हो, पहनती हैं तो आप आराम से सो सकती हैं।

गलत फिटिंग ब्रा पहनने के नुकसान
***********************************
आप जिस ब्रा का चुनाव करते हैं वह बहुत अधिक टाइट (कसी हुई) और कठोर नहीं होना चाहिए। जब सोते समय ब्रा पहनने की बात होती हैं तो यह आपका व्यक्तिगत चुनाव होता है। परन्तु गलत नाप की ब्रा का चुनाव करने से बात और भी ख़राब हो सकती हैं। आरामदायक ब्रा उन महिलाओं के लिए सहायक होती है जो या तो गर्भवती हैं या जो स्तनपान करवाती हैं। हालाँकि टाइट फिट (कसी हुई) और सोते समय असुविधाजनक ब्रा पहनने से स्वास्थ्य पर दुष्परिणाम हो सकते हैं।

यदि आप सोते समय टाइट ब्रा पहनते हैं तो इसके कुछ दुष्परिणाम हो सकते हैं।

रक्त परिसंचरण में कमी:
***********************
सोते समय ब्रा पहनने से रक्त के परिसंचरण में रूकावट आती है। यदि आप इलास्टिक वाली टाइट फिट ब्रा पहनते हैं तो ऐसा होने की संभावना होती है। इसके स्थान पर स्पोर्ट्स ब्रा का विकल्प चुनें जो अधिक आरामदायक होता है।

पिगमेंटेशन :
**************
ब्रा के लगातार उपयोग से उस स्थान पर पिगमेंटेशन बढ़ जाता है जहाँ इलास्टिक होता है। सोते समय ब्रा पहनने से यह बढ़ जाता है। सोते समय ब्रा पहनने से होने वाले दुष्परिणामों से बचने के लिए नरम और ढ़ीली ढाली ब्रा पहनें।

नींद में परेशानी:
***************
इस बात में कोई संदेह नहीं है कि शांत और अच्छी नींद इस बात पर निर्भर करती है कि सोते समय आप कितने आराम से सोते हैं। यदि आप टाइट ब्रा पहनते हैं तो आप आराम महसूस नहीं करेंगे और इसके कारण निश्चित रूप से ही आपकी नींद ख़राब होगी।

त्वचा में जलन:
*****************
टाइट फिटिंग ब्रा पहनने से त्वचा में जलन हो सकती है। रात के लिए स्पोर्ट्स ब्रा पहनना भी एक अच्छा विकल्प है। इससे आपकी छाती को आवश्यक सहारा मिलता है तथा रात में ब्रा पहनने के दुष्परिणाम भी नहीं होते।

बेचैनी:
*******
सोते समय टाइट ब्रा पहनने से त्वचा में जलन हो सकती है तथा इसके कारण आपको रात में बेचैनी भी हो सकती है। इससे नींद के दौरान असुविधा हो सकती है जिसके कारण आपके स्वास्थ्य पर दुष्प्रभाव हो सकते हैं। इसके कारण आपके स्तनों को भी तकलीफ़ हो सकती है।

सूजन:
********
यदि आप नियमित तौर पर टाइट ब्रा का उपयोग करते हैं तो इसके कारण लसिका रूकावट की समस्या आ सकती है। इसके कारण इस रूकावट से जुड़ी हुई अन्य समस्याएं भी आ सकती हैं। इसमें सूजन या स्तन में द्रव पदार्थ का जमा होना आदि समस्या हो सकती है। सोते समय ब्रा पहनने का यह एक गंभीर दुष्परिणाम हो सकता है।

पसीना:
*********
सोते समय ब्रा पहनने से, विशेष रूप से गर्मियों में आपको अधिक पसीना आता है। इस मामले में सामान्यत: फैंसी ब्रा ज़िम्मेदार होती हैं। सिंथेटिक कपड़े जैसे पॉलिएस्टर या लिनेन से बनी ब्रा के स्थान पर कॉटन से बनी ब्रा पहनें।

कैंसर:
*******
सोते समय ब्रा पहनने से ब्रेस्ट कैंसर होता है, यह आज भी विवाद का विषय है। सोते समय ब्रा पहनने से होने वाले कैंसर पर किये गए कई अध्ययन इस बात का समर्थन और कई अध्ययन इसका विरोध करते हैं।

नॉन कैंसरस गांठें:
*****************
सिस्ट या गाँठ ऊतकों की नॉन कैंसरस गांठें होती हैं जो शरीर के किसी भी भाग पर हो सकती हैं। डॉक्टर जॉन मैकडोगल “द मैकडोगल प्रोग्राम फॉर हेल्दी हार्ट” में लिखते हुए बताते हैं कि ब्रा के कसाव के कारण सूजन आ सकती है तथा अनुचित निकास के कारण गांठें बनने की संभावना अधिक होती है।

Vote: 
5
Average: 5 (1 vote)

New Health Updates

Total views Views today
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 53,003 10
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 14,998 5
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 54,535 4
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 5,631 4
सुबह का नाश्ता राजा की तरह, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का भोजन भिखारी की तरह करना चाहिए।’ 4,827 3
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 14,485 3
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 24,013 3
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 24,208 3
तिल तथा मस्से हटाने के आसान घरेलू उपचार 10,461 2
व्रत रखने के फायदे 639 2
दिमाग को तेज कैसे बनाये 933 2
प्याज से करें प्यार और रहें फिट 1,854 2
उम्र के अंतर का संबंधों पर प्रभाव 1,222 2
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 5,467 2
लकवा (पैरालिसिस): लक्षण और कारण 1,083 2
ब्लड प्रेशर को कैसे रखें नियंत्रित 407 2
हार्ट अटैक से बचना है तो रोज़ पीजिये 3 से 5 बार कॉफी: शोध 2,241 1
मोती जैसे सफेद दांत पाने के लिए ट्राई करें ये 5 घरेलू उपाय 2,679 1
जामुन के गुण और फायदे 2,851 1
ख़तरनाक है सेक्स एडिक्शन 5,275 1
स्मार्टफ़ोन बिगाड़ रहा है आंखों की सेहत जानिए कैसे 583 1
आंख की एपीस्कलेराइटिस : लक्षण, कारण, उपचार को करें निरोग 755 1
टी .बी से बचाब के घरेलु तरीके 619 1
नीली रोशनी के ख़तरे? 273 1
पायरिया के आयुर्वेदिक उपचार: 437 1
फल और सब्जियों के 'रंगों' में छिपा है हमारे स्‍वास्‍थ्‍य का राज 1,926 1
मौसमी का जूस पीने के फायदे 4,435 1
तुलसी का काढ़ा फायदा ही फायदा 2,164 1
होठों की क्या ज़रूरत है 2,471 1
टांसिल्स से बचने के घरेलु उपाय 1,156 1
घमौरियों से छुटकारा पाने के आयुर्वेदिक उपाय 665 1
कच्ची् लहसुन और शुद्ध शहद खाने के लाभ 202 1
हार्ट अटैक के कारण 205 1
नीम और उसके फायदे 1,447 1
मधूमेह रोग कब और कैसे 486 1
चमकती हुई त्वचा के लिए हर्बल ब्यूटी टिप्स 3,104 1
एनीमिया की शिकार महिलाओं के लिए चुकंदर आत्याधिक लाभदायक 801 1
जामुन के गुण 1,257 1
शल्य क्रिया से स्तनों का आकार घटाने का तरीका 2,344 1
अंगुली के नाम, रोग और कार्य 756 1
सुबह उठ कर खाली पेट कैसे पानी पीना चाहिए 1,595 1
जानिए अनार का जूस पीने के और अनार को खाने के फायदे 1,510 1
टैनिंग को हटाया जा सकता है 223 1
सेब खाने के फायदे 843 1
गूलर लंबी आयु वाला वृक्ष है 3,736 1
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 6,052 1
पारिजात (हरसिंगार) के लाभ 798 1
झाइयां होने के कारण 6,026 1
अस्थमा के घरेलू उपचार 502 1
क्या आपका बच्चा चाय पीता है, तो जरूर पढ़ें 241 1