स्त्री यौन रोग (श्वेत प्रदर) के लिए औषधि ॥

स्त्री यौन रोग (श्वेत प्रदर) के लिए औषधि ॥

महिलाओ की योनि से सफ़ेद रंग का तरल पदार्थ निकलना "श्वेतप्रदर" कहलाता है ॥ यह कभी भी निकलता रहता है जोकि काफी दुर्गंध पूर्ण होता है ,,इसकी वजह से शरीर मे दर्द रहता है ॥ और शरीर दुर्बल भी होता जाता है ॥ इस रोग को खत्म करने के लिए निम्न औषधि का सेवन करना चाहिए ॥

१) एक ज्यादा पका केला पूरे एक चम्मच देशी घी के साथ खाएं। १५ दिन में फ़र्क नजर आएगा। एक महीना प्रयोग करें।

२)आंवला बीज का पावडर बनालें एक चम्मच पावडर शहद और सौंफ के साथ प्रातःकाल लें।

३)गिलोय+ सतावर को मिलाकर पाउडर बना ले फिर उसका काढ़ा बनाए और रोज सुबह -शाम 1/2 कप ले ,,लाभ होगा ॥

४)पाँव भर दूध में इतना ही पानी तथा एक चम्मच सुखा अदरक डालकर उबालें जब आधा रह जाय तो इसमें एक चम्मच शहद घोलकर पीयें बहुत गुणकारी है।

५)आयुर्वेदिक औषधि अशोकारिष्ट इस रोग में अत्यंत लाभप्रद सिद्ध होती है प्रदरान्तक चूर्ण का भी व्यवहार किया जाता है ।

६)भोजन में दही और लहसुन का प्रचुर प्रयोग लाभकारी होता है बाहरी प्रयोग के लिए लहसुन की एक कली को बारीक कपडे में लपेटकर रात को योनी के अंदर रखें , यह कीटाणु नाशक है ,इसी प्रकार दही को योनी के भीतर बाहर लगाने से श्वेत प्रदर में लाभ मिलता है।

७ ) १० ग्राम मेथी बीज पाव भर पानी में उबालें आधा रह जाने पर गरम गरम दिन में २ बार पीना लाभकारी है।

८) छाछ ३-४ गिलास रोज पीना चाहिए इससे योनी में बेक्टीरिया और फंगस का सही संतुलन बना रहता है

९) गुप्त अंग को निम्बू मिले पानी से धोना भी एक अच्छा उपाय है फिटकरी का पावडर पानी में पेस्ट बनाकर योनी पर लगाने से खुजली और रक्तिमा में फायदा होता है। फ़िटकरी श्रेष्ठ जीवाणुनाशक है और सरलता से मिल जाती है। यौनि की भली प्रकार साफ़ सफ़ाई रखना बेहद जरूरी है। फ़िटकरी के जल से यौनि धोना अच्छा उपाय है।

१०)मांस मछली,मसालेदार पदार्थों का परहेज करें॥

११) भोजन में हरे पत्तेदार सब्जीयाँ और फल अधिक से अधिक शामिल करें।

१२) माजूफ़ल चूर्ण ५० ग्राम तथा टंकण क्षार २५ ग्राम लेकर भली प्रकार मिलाकर इसकी ५० पुडी बनालें सुबह -शाम एक पुडी शहद के साथ चाटने से श्वेत प्रदर रोग नष्ट हो जाता है।

१३) अशोकारिष्ट दवा ४-४ चम्मच बराबर पानी मिलाकर खाने के बाद दोनों समय लेना हितकारी उपाय है।

१४) सुपारी पाक एक चम्मच सुबह -शाम दूध के साथ लेने से श्वेत प्रदर रोग नष्ट होता है।

१५) गोंद को देसी घी में तलकर फ़िर शकर की चाशनी में डालकर खाने से श्वेत प्रदर रोग ठीक हो जाता है।

१६) शिलाजीत में असंख्य सूक्ष्म पोषक तत्व होते है। नियमित एक माह तक दूध के साथ सेवन करने से लाभ मिलता है।

१७) सिंघाडे के आटे का हलुवा श्वेत प्रदर में लाभकारी होता है।

१८) श्वेत प्रदर रोग निवारण में होम्योपैथिक दवाएं अति उपयोगी हैं। । रोग के लक्षण के मुताबिक औषधि का निर्वाचन किया जाता है। । ७-८ दवाएं एक साथ मिलाकर प्रयोग करने से भी बेहतर परिणाम की आशा की जा सकती है। निम्न औषधियां ल्युकोरिया में उपयोगी साबित हुई हैं- पल्सेटिला, कल्केरिया, हिपर सल्फ, कैलीक्यूर, बोविस्टा, बोरेक्स, ‍सिपिया, सेबाईना, क्रियोजोट, कार्बो एनिमेलिस, नेट्रम क्यूर, एल्यूमिना, हाईड्रैस्टिस, सल्फर, वाईवर्नम आपुलस इत्यादि। एक माह या कुछ अधिक समय तक ईलाज लेना हितकारी होता है॥

१९)त्रिबंग भष्म 1-1 रत्ती सुबह शाम पानी के साथ लेने पर श्वेत प्रदर मे लाभ होता है ॥ त्रिबंग भष्म आप को रामदेव जी की दुकानों मे मिल जाएगी ॥

20) बड़ के पत्तों का दूध ,,मिश्री के साथ ले फिर ऊपर से गाय का दूध पीने से लाभ होता है ॥

21) 4 सूखे सिंघाड़े रात को पनि मे भिगो दे ॥ सुबह उन्हे पीसकर उसमे मिश्री मिलाये और गाय के दूध के साथ खाली पेट सेवन करे,

22) तुलसी के रस मे शहद मिलाकर सुबह -शाम लेने से लाभ होता है ॥

23)सूखा आवला+ मुलहठी समान मात्रा मे लेकर चूर्ण बनाये और सुबह -शाम शहद के साथ चाटे और ऊपर से गाय का दूध लेने से लाभ होता है ॥

 

Vote: 
1
Average: 1 (1 vote)

New Health Updates

Total views Views today
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 39,919 38
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 30,444 22
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 3,782 21
वजन बढ़ाने वाले हर्ब्स 82 17
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 2,903 15
जानिए अनार का जूस पीने के और अनार को खाने के फायदे 1,038 14
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 3,905 14
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 13,870 12
जानें बीयर के बारें में 138 9
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 3,413 8
क्या खाएं और क्या न खाएं, जानिए 1,769 8
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 15,363 8
हैल्दी बालों के लिए डाइट 29 8
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 4,691 8
सर दर्द से राहत के लिए करें ये घरेलु उपचार 1,341 7
झाइयां होने के कारण 2,858 6
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 3,699 6
हार्ट अटैक से बचना है तो रोज़ पीजिये 3 से 5 बार कॉफी: शोध 2,053 6
एड़ियों के दर्द से छुटकारा दिलाते हैं ये घरेलू नुस्खे 996 6
पीलिया कैसा भी हो जड़ से खत्म करेंगे 2,863 5
इंसानी दूध पीने को लेकर ब्रिटेन में चेतावनी 6,326 5
ब्लड प्रेशर को कैसे रखें नियंत्रित 290 5
फिस्टुला रोग क्या है , इसको पहचाने के लक्षण इस प्रकार 1,813 5
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 945 5
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 5,232 5
क्यों जरूरी है विटामिन बी-12? 50 4
गुप्तांगो या बगलों के बालों की सफाई का महत्व 8,775 4
सुबह उठते ही चेहरे पर दिखती है सूजन तो जरूर जानिए इसकी वजह 26 4
स्प्राउट्स- सेहत को रखे आहार भरपूर 1,448 4
किडनी को ख़राब करने वाली है ये आदतें……. 1,339 4
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 5,190 4
हाई बीपी और माइग्रेन में मेंहदी इस प्रकार फायदेमंद 625 4
ख़तरनाक है सेक्स एडिक्शन 4,070 4
सुपारी के सेवन से किया जा सकता है पागलपन को कम 562 4
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 18,242 4
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 3,501 4
अपने दांतों की देखभाल और उनको रखे दूध जैसे चमकीले तथा स्वच्छ 862 3
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 6,980 3
पेट फूलना, गैस व खट्टी डकार से तुरंत राहत दिलाने उपचार के 1,484 3
पैरो में सूजन है तो करें ये उपाय 403 3
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 2,979 3
क्या होती है नेगेटिव कैलोरी? 36 3
अखरोट खाने के कौन - कौन से फायदे और नुकसान होते है 1,206 3
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 2,577 3
कब्‍ज के उपचार के घरेलू उपाय 1,060 3
जामुन के गुण और फायदे 1,947 3
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 5,672 3
सेहत को रखना है फिट तो इस तरह से लें प्रोटीन... 559 3
इस मौसमी सीताफल के फायदे जानकर आप रह जाएगे हैरान 1,506 3
क्या है आई वी एफ की प्रक्रिया, जानें 617 3