स्त्री यौन रोग (श्वेत प्रदर) के लिए औषधि ॥

स्त्री यौन रोग (श्वेत प्रदर) के लिए औषधि ॥

महिलाओ की योनि से सफ़ेद रंग का तरल पदार्थ निकलना "श्वेतप्रदर" कहलाता है ॥ यह कभी भी निकलता रहता है जोकि काफी दुर्गंध पूर्ण होता है ,,इसकी वजह से शरीर मे दर्द रहता है ॥ और शरीर दुर्बल भी होता जाता है ॥ इस रोग को खत्म करने के लिए निम्न औषधि का सेवन करना चाहिए ॥

१) एक ज्यादा पका केला पूरे एक चम्मच देशी घी के साथ खाएं। १५ दिन में फ़र्क नजर आएगा। एक महीना प्रयोग करें।

२)आंवला बीज का पावडर बनालें एक चम्मच पावडर शहद और सौंफ के साथ प्रातःकाल लें।

३)गिलोय+ सतावर को मिलाकर पाउडर बना ले फिर उसका काढ़ा बनाए और रोज सुबह -शाम 1/2 कप ले ,,लाभ होगा ॥

४)पाँव भर दूध में इतना ही पानी तथा एक चम्मच सुखा अदरक डालकर उबालें जब आधा रह जाय तो इसमें एक चम्मच शहद घोलकर पीयें बहुत गुणकारी है।

५)आयुर्वेदिक औषधि अशोकारिष्ट इस रोग में अत्यंत लाभप्रद सिद्ध होती है प्रदरान्तक चूर्ण का भी व्यवहार किया जाता है ।

६)भोजन में दही और लहसुन का प्रचुर प्रयोग लाभकारी होता है बाहरी प्रयोग के लिए लहसुन की एक कली को बारीक कपडे में लपेटकर रात को योनी के अंदर रखें , यह कीटाणु नाशक है ,इसी प्रकार दही को योनी के भीतर बाहर लगाने से श्वेत प्रदर में लाभ मिलता है।

७ ) १० ग्राम मेथी बीज पाव भर पानी में उबालें आधा रह जाने पर गरम गरम दिन में २ बार पीना लाभकारी है।

८) छाछ ३-४ गिलास रोज पीना चाहिए इससे योनी में बेक्टीरिया और फंगस का सही संतुलन बना रहता है

९) गुप्त अंग को निम्बू मिले पानी से धोना भी एक अच्छा उपाय है फिटकरी का पावडर पानी में पेस्ट बनाकर योनी पर लगाने से खुजली और रक्तिमा में फायदा होता है। फ़िटकरी श्रेष्ठ जीवाणुनाशक है और सरलता से मिल जाती है। यौनि की भली प्रकार साफ़ सफ़ाई रखना बेहद जरूरी है। फ़िटकरी के जल से यौनि धोना अच्छा उपाय है।

१०)मांस मछली,मसालेदार पदार्थों का परहेज करें॥

११) भोजन में हरे पत्तेदार सब्जीयाँ और फल अधिक से अधिक शामिल करें।

१२) माजूफ़ल चूर्ण ५० ग्राम तथा टंकण क्षार २५ ग्राम लेकर भली प्रकार मिलाकर इसकी ५० पुडी बनालें सुबह -शाम एक पुडी शहद के साथ चाटने से श्वेत प्रदर रोग नष्ट हो जाता है।

१३) अशोकारिष्ट दवा ४-४ चम्मच बराबर पानी मिलाकर खाने के बाद दोनों समय लेना हितकारी उपाय है।

१४) सुपारी पाक एक चम्मच सुबह -शाम दूध के साथ लेने से श्वेत प्रदर रोग नष्ट होता है।

१५) गोंद को देसी घी में तलकर फ़िर शकर की चाशनी में डालकर खाने से श्वेत प्रदर रोग ठीक हो जाता है।

१६) शिलाजीत में असंख्य सूक्ष्म पोषक तत्व होते है। नियमित एक माह तक दूध के साथ सेवन करने से लाभ मिलता है।

१७) सिंघाडे के आटे का हलुवा श्वेत प्रदर में लाभकारी होता है।

१८) श्वेत प्रदर रोग निवारण में होम्योपैथिक दवाएं अति उपयोगी हैं। । रोग के लक्षण के मुताबिक औषधि का निर्वाचन किया जाता है। । ७-८ दवाएं एक साथ मिलाकर प्रयोग करने से भी बेहतर परिणाम की आशा की जा सकती है। निम्न औषधियां ल्युकोरिया में उपयोगी साबित हुई हैं- पल्सेटिला, कल्केरिया, हिपर सल्फ, कैलीक्यूर, बोविस्टा, बोरेक्स, ‍सिपिया, सेबाईना, क्रियोजोट, कार्बो एनिमेलिस, नेट्रम क्यूर, एल्यूमिना, हाईड्रैस्टिस, सल्फर, वाईवर्नम आपुलस इत्यादि। एक माह या कुछ अधिक समय तक ईलाज लेना हितकारी होता है॥

१९)त्रिबंग भष्म 1-1 रत्ती सुबह शाम पानी के साथ लेने पर श्वेत प्रदर मे लाभ होता है ॥ त्रिबंग भष्म आप को रामदेव जी की दुकानों मे मिल जाएगी ॥

20) बड़ के पत्तों का दूध ,,मिश्री के साथ ले फिर ऊपर से गाय का दूध पीने से लाभ होता है ॥

21) 4 सूखे सिंघाड़े रात को पनि मे भिगो दे ॥ सुबह उन्हे पीसकर उसमे मिश्री मिलाये और गाय के दूध के साथ खाली पेट सेवन करे,

22) तुलसी के रस मे शहद मिलाकर सुबह -शाम लेने से लाभ होता है ॥

23)सूखा आवला+ मुलहठी समान मात्रा मे लेकर चूर्ण बनाये और सुबह -शाम शहद के साथ चाटे और ऊपर से गाय का दूध लेने से लाभ होता है ॥

 

Vote: 
1
Average: 1 (1 vote)

New Health Updates

Total views Views today
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 37,241 59
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 27,918 53
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 1,693 43
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 6,113 35
झाइयां होने के कारण 1,907 28
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 2,687 27
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 3,605 26
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 4,708 25
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 17,468 24
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 13,095 24
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 2,909 22
चेहरे की झाइयाँ दूर करने के घरेलू उपचार 2,427 19
पीलिया कैसा भी हो जड़ से खत्म करेंगे 2,329 18
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 1,988 18
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 4,859 18
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 3,067 17
सुबह का नाश्ता राजा की तरह, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का भोजन भिखारी की तरह करना चाहिए।’ 2,851 17
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 1,506 16
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 2,823 15
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 14,596 15
बिना सर्जरी स्तन छोटे करने के उपाय 1,662 13
क्या खाएं और क्या न खाएं, जानिए 1,506 13
इस मौसमी सीताफल के फायदे जानकर आप रह जाएगे हैरान 1,252 12
जानिए अनार का जूस पीने के और अनार को खाने के फायदे 847 12
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 4,540 12
सर दर्द से राहत के लिए करें ये घरेलु उपचार 1,108 11
क्या हर गेम खेलने वाला बीमार है? 118 10
मौसमी का जूस पीने के फायदे 2,664 10
क्यों मच्छर के काटने पर खुजली होती है जानिए 686 9
मियादी बुखार का कारण क्या है 2,385 9
अखरोट खाने के कौन - कौन से फायदे और नुकसान होते है 985 9
क्‍या सोते समय ब्रा पहननी चाहिये ? 10,414 9
फिस्टुला रोग क्या है , इसको पहचाने के लक्षण इस प्रकार 1,087 9
तिल तथा मस्से हटाने के आसान घरेलू उपचार 8,643 9
ब्रेस्ट कम करने के लिए क्या खाएं 1,189 9
अपनी आँखों की देखभाल कैसे करें 274 8
आखें लाल हो तो करें ये उपाय 794 8
ये चीजें बताएंगी आपके प्यार की गहराई 735 8
गुप्तांगो या बगलों के बालों की सफाई का महत्व 8,406 8
हाइड्रोसील के कारण लक्षण और इलाज इस प्रकार है जानिए 1,228 7
मूंग की खेती इस प्रकार करें 569 7
इंसानी दूध पीने को लेकर ब्रिटेन में चेतावनी 5,993 7
चने खाने के फायदे 1,451 7
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 2,414 7
जामुन के गुण और फायदे 1,758 7
अपनी आँखों को रखे हमेशा सलमात 982 7
एड़ियों के दर्द से छुटकारा दिलाते हैं ये घरेलू नुस्खे 806 6
पीलिया होने पर घरेलु इलाज 508 6
मोबाइल गेमिंग डिसऑर्डर क्या है? 123 6
आपका रसोई घर बनाम दवाखाना 770 6