स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए

स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए

आपको बता दें कि स्वस्थ पुरुष के वीर्य या सीमेन में 40 मिलियन से 300 मिलियन के बीच में स्पर्म प्रति मिलिलीटर होना चाहिए। यदि स्पर्म प्रति मिलिलीटर 10 मिलियन से 20 मिलियन के बीच है तो इसे खराब यानि लो स्पर्म काउंट माना जाता है। यदि स्पर्म हेल्दी है तो प्रेग्नेंसी के लिए 20 मिलियन स्पर्म प्रति मिलिलीटर पर्याप्त हो सकता है।

लो स्पर्म काउंट के नुकसान

 

लो स्पर्म काउंट या शुक्राणु की कमी बांझपन तक ही सीमित नहीं है, बल्कि यह पुरुषों में बीमारी के जोखिम को भी बढ़ा सकता है।
एक नए अध्ययन में पता चला है कि लो स्पर्म काउंट या कम शुक्राणुओं वाले पुरुषों में हृदय रोग और मधुमेह जैसी संभावित घातक बीमारियों का खतरा ज्यादा रहता है। शोध में पाया गया कि कम शुक्राणुओं की संख्या वाले लोगों में उच्च रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल और शरीर में अधिक फैट का प्रतिशत 20 अधिक है।

इटली के ब्रेशिया विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर और अध्ययन के मुख्य लेखक अल्बटरे फेरलिन के मुताबिक, “हमारा अध्ययन स्पष्ट रूप से बताता है कि पुरुषों में स्पर्म की कमी मेटाबॉलिक परिवर्तन, हृदय जोखिम और हड्डी के द्रव्यमान में कमी से जुड़ा हुआ है। इसके लिए शोधकर्ताओं ने बांझ दंपतियों के 5,177 पुरुषों पर यह अध्ययन किया।

स्पर्म काउंट को लेकर वैज्ञानिकों की चेतावनी

 

एक अध्ययन में पाया गया कि वैश्विक रूप में हाल के वर्षों में स्पर्म की संख्या और क्वालिटी में गिरावट हुई है। इसको देखते हुए कई वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है, यह मानव जाति के भविष्य के लिए बड़ी समस्याओं का चेतावनी संकेत हो सकता है। इसके लिए जेनेटिक और बिगड़ती लाइफस्टाइल को जिम्मेदार बताया गया है।

पुरुषों में हार्मोनल या ऑटोइम्यून ऑटोइम्यून एबनॉर्मिलिटी हैं जो शुक्राणु उत्पादन में बाधा देती हैं या शुक्राणु को नष्ट करती हैं। इसके अलावा तनाव, शराब और मोटापा जैसे कारक भी प्रजनन क्षमता को प्रभावित करते हैं।

स्पर्म बढ़ाने के उपाय

जंक फूड से परहेज

जंक फूड शब्द का अर्थ उस भोजन से है, जो आपके शरीर के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं होता है। इसमें पोषण की कमी होती है और शरीर के तंत्र के लिए नुकसानदेह होता है। उसी तरह शुगर भी आपके शरीर के लिए नुकसानदेह है।

जंक फूड, कैफीन, शुगर और प्रोसेस्ड फूड यह कुछ ऐसी चीजें है जिसकी वजह से आपका स्पर्म काउंट घट सकता है। इसलिए इसका सेवन बहुत ही कम कर दीजिए। इसके अलावा जंक फूड खाने से दिल के रोगों का खतरा बढ़ जाता है क्योंकि जंक फूड में कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसेराइड प्रचुर मात्रा में होता है।

सिगरेट और अल्कोहल दूरी

 

शराब और सिगरेट की लत ऐसी है कि अच्छे अच्छों का घर और शरीर को तबाह हो जाता है। एक बार अगर नशे की लत लग गई तो इससे पीछा छुड़ाना बहुत ही मुश्किल हो जाता है।

यदि स्पर्म बढ़ाने के उपाय के बारे में आप सोच रहे हैं तो आपको सबसे पहले सिगरेट और अल्कोहल जैसी बुरी आदतों छुटकारा पाना होगा। यह न केवल आपके लिवर और फेफड़े को बर्बाद करते हैं बल्कि आपने प्रजनन क्षमता को भी प्रभावित करते हैं।

स्पर्म बढ़ाने के लिए पौष्टिक आहारों का सेवन

 

विटामिन और मिनरल से भरपूर पौष्टिक आहार आपके स्पर्म बढ़ाने के उपाय में एक बेहतरी उपाय है। इसके लिए आप अपने आहार में हरी पत्तेदार सब्जियां तथा फलों को शामिल कीजिए। इसके अलावा ड्राई फ्रूट भी इसमें योगदान दे सकता है।

विटामिन डी, विटामिन सी और विटामिन ई जैसे कुछ प्रकार के विटामिन, हेल्दी स्पर्म के लिए महत्वपूर्ण हैं। इसके अलावा मछली का तेल ओमेगा -3 फैटी एसिड में समृद्ध हैं जो स्वस्थ पुरुष प्रजनन के लिए आवश्यक हैं। स्पर्म बढ़ाने वाले आहार 

स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए वजन पर करें कंट्रोल

यदि आपका वजन ज्यादा है तो इसे कम करने की कोशिश कीजिए। स्पर्म काउंट बढ़ाने के उपायों में यह बहुत ही असरदार उपाय है।
अध्ययनों से पता चला है कि वजन घटाने से वीर्य या सीमेन की मात्रा, एकाग्रता और गतिशीलता के साथ ही साथ स्पर्म की समग्र स्वास्थ्य में वृद्धि हो सकती है।

स्पर्म बढ़ाने के लिए नियमित रूप से करें व्यायाम

 

अगर पूरे दिन सक्रिय रहते हैं तो इससे आपको स्पर्म बढ़ाने में मदद मिलेगी। स्वस्थ जीवनशैली और व्यायाम करने से आपके शुक्राणुओं या स्पर्म को बढ़ाने में मदद मिल सकती है। एक अध्ययन में पाया गया कि आउटडोर एक्सरसाइज शुक्राणु के स्वास्थ्य में मदद कर सकता है।

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 6,116 3
प्याज से करें प्यार और रहें फिट 691 2
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 37,245 2
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 2,691 2
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 13,097 2
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 27,921 2
घमौरियों से छुटकारा पाने के आयुर्वेदिक उपाय 361 2
डिप्रेशन का शिकार क्यों बन रहे हैं लोग जानें क्यों 366 1
मियादी बुखार का कारण क्या है 2,387 1
कम उम्र में सफेद हुए बालों को काला करे 786 1
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 2,911 1
कलौंजी एक फायदे अनेक : कलयुग में संजीवनी है कलौंजी (मंगरैला) 319 1
पथरी के लक्षण और पथरी का इलाज 1,507 1
शयनकक्ष में बहुत रोशनी बढ़ा सकती है मोटापा 524 1
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 3,068 1
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 1,990 1
थायराइड की समस्या और घरेलु उपचार 1,262 1
आत्मा के लिए चुनें पर्दे इस प्रकार 369 1
बाइपोलर डिस-ऑर्डर को न्योता? 72 1
क्यों मच्छर के काटने पर खुजली होती है जानिए 687 1
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 17,471 1
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 2,824 1
चमकती हुई त्वचा के लिए हर्बल ब्यूटी टिप्स 2,765 0
धनिया के औषधीय गुण 232 0
आधे सर का दर्द और उसका इलाज 863 0
गन्ने के रस में है कैंसर से लड़ने की ताकत 463 0
नीम और उसके फायदे 846 0
ब्लैक कॉफी पीने के फायदे 2,176 0
बंद धमनियों को साफ करने के लिए आजमाएं ये आसान जर्मन नुस्खा 281 0
नवजात शिशु की देखभाल कैसे करें 398 0
सेब बचाता है स्किन कैंसर से 266 0
गिलोय के फायदे और अनेक प्रकार से रोगों से छुटकारा 743 0
आपका रसोई घर बनाम दवाखाना 770 0
झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय 676 0
हड्डियों को मजबूत करते हैं ये 324 0
सर्दियों में त्वचा की देखभाल 330 0
पानी पीने का मन नहीं होता तो इन भोजन को करें डायट में शामिल 258 0
इडली को क्‍यूं माना जाता है वर्ल्‍ड का बेस्‍ट ब्रेकफास्‍ट 755 0
ब्रेस्ट कैंसर के लिए कीमोथेरेपी क्यों ज़रूरी है? 189 0
ख़ूबसूरती के फायदे ही नहीं नुकसान भी होते है! 1,268 0
गले में सूजन और दर्द, लिम्फोमा कैंसर के हो सकते हैं संकेत 514 0
स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक पिस्‍ता सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है आइए जानें 406 0
दिमाग को तेज कैसे बनाये 493 0
कैविटी का है कारगर इलाज 711 0
मोबाइल गेमिंग डिसऑर्डर क्या है? 124 0
हार्टफेल से बचाएगा एरोबिक एक्‍सरसाइज 1,450 0
तरह-तरह के व्रत 174 0
मोतिया बिन्द है तो करें ये घरेलु उपाय 392 0
क्यों होता है अल्जाइमर 255 0
बिना सर्जरी स्तन छोटे करने के उपाय 1,662 0