स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए

स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए

आपको बता दें कि स्वस्थ पुरुष के वीर्य या सीमेन में 40 मिलियन से 300 मिलियन के बीच में स्पर्म प्रति मिलिलीटर होना चाहिए। यदि स्पर्म प्रति मिलिलीटर 10 मिलियन से 20 मिलियन के बीच है तो इसे खराब यानि लो स्पर्म काउंट माना जाता है। यदि स्पर्म हेल्दी है तो प्रेग्नेंसी के लिए 20 मिलियन स्पर्म प्रति मिलिलीटर पर्याप्त हो सकता है।

लो स्पर्म काउंट के नुकसान

 

लो स्पर्म काउंट या शुक्राणु की कमी बांझपन तक ही सीमित नहीं है, बल्कि यह पुरुषों में बीमारी के जोखिम को भी बढ़ा सकता है।
एक नए अध्ययन में पता चला है कि लो स्पर्म काउंट या कम शुक्राणुओं वाले पुरुषों में हृदय रोग और मधुमेह जैसी संभावित घातक बीमारियों का खतरा ज्यादा रहता है। शोध में पाया गया कि कम शुक्राणुओं की संख्या वाले लोगों में उच्च रक्तचाप, कोलेस्ट्रॉल और शरीर में अधिक फैट का प्रतिशत 20 अधिक है।

इटली के ब्रेशिया विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर और अध्ययन के मुख्य लेखक अल्बटरे फेरलिन के मुताबिक, “हमारा अध्ययन स्पष्ट रूप से बताता है कि पुरुषों में स्पर्म की कमी मेटाबॉलिक परिवर्तन, हृदय जोखिम और हड्डी के द्रव्यमान में कमी से जुड़ा हुआ है। इसके लिए शोधकर्ताओं ने बांझ दंपतियों के 5,177 पुरुषों पर यह अध्ययन किया।

स्पर्म काउंट को लेकर वैज्ञानिकों की चेतावनी

 

एक अध्ययन में पाया गया कि वैश्विक रूप में हाल के वर्षों में स्पर्म की संख्या और क्वालिटी में गिरावट हुई है। इसको देखते हुए कई वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है, यह मानव जाति के भविष्य के लिए बड़ी समस्याओं का चेतावनी संकेत हो सकता है। इसके लिए जेनेटिक और बिगड़ती लाइफस्टाइल को जिम्मेदार बताया गया है।

पुरुषों में हार्मोनल या ऑटोइम्यून ऑटोइम्यून एबनॉर्मिलिटी हैं जो शुक्राणु उत्पादन में बाधा देती हैं या शुक्राणु को नष्ट करती हैं। इसके अलावा तनाव, शराब और मोटापा जैसे कारक भी प्रजनन क्षमता को प्रभावित करते हैं।

स्पर्म बढ़ाने के उपाय

जंक फूड से परहेज

जंक फूड शब्द का अर्थ उस भोजन से है, जो आपके शरीर के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं होता है। इसमें पोषण की कमी होती है और शरीर के तंत्र के लिए नुकसानदेह होता है। उसी तरह शुगर भी आपके शरीर के लिए नुकसानदेह है।

जंक फूड, कैफीन, शुगर और प्रोसेस्ड फूड यह कुछ ऐसी चीजें है जिसकी वजह से आपका स्पर्म काउंट घट सकता है। इसलिए इसका सेवन बहुत ही कम कर दीजिए। इसके अलावा जंक फूड खाने से दिल के रोगों का खतरा बढ़ जाता है क्योंकि जंक फूड में कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसेराइड प्रचुर मात्रा में होता है।

सिगरेट और अल्कोहल दूरी

 

शराब और सिगरेट की लत ऐसी है कि अच्छे अच्छों का घर और शरीर को तबाह हो जाता है। एक बार अगर नशे की लत लग गई तो इससे पीछा छुड़ाना बहुत ही मुश्किल हो जाता है।

यदि स्पर्म बढ़ाने के उपाय के बारे में आप सोच रहे हैं तो आपको सबसे पहले सिगरेट और अल्कोहल जैसी बुरी आदतों छुटकारा पाना होगा। यह न केवल आपके लिवर और फेफड़े को बर्बाद करते हैं बल्कि आपने प्रजनन क्षमता को भी प्रभावित करते हैं।

स्पर्म बढ़ाने के लिए पौष्टिक आहारों का सेवन

 

विटामिन और मिनरल से भरपूर पौष्टिक आहार आपके स्पर्म बढ़ाने के उपाय में एक बेहतरी उपाय है। इसके लिए आप अपने आहार में हरी पत्तेदार सब्जियां तथा फलों को शामिल कीजिए। इसके अलावा ड्राई फ्रूट भी इसमें योगदान दे सकता है।

विटामिन डी, विटामिन सी और विटामिन ई जैसे कुछ प्रकार के विटामिन, हेल्दी स्पर्म के लिए महत्वपूर्ण हैं। इसके अलावा मछली का तेल ओमेगा -3 फैटी एसिड में समृद्ध हैं जो स्वस्थ पुरुष प्रजनन के लिए आवश्यक हैं। स्पर्म बढ़ाने वाले आहार 

स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए वजन पर करें कंट्रोल

यदि आपका वजन ज्यादा है तो इसे कम करने की कोशिश कीजिए। स्पर्म काउंट बढ़ाने के उपायों में यह बहुत ही असरदार उपाय है।
अध्ययनों से पता चला है कि वजन घटाने से वीर्य या सीमेन की मात्रा, एकाग्रता और गतिशीलता के साथ ही साथ स्पर्म की समग्र स्वास्थ्य में वृद्धि हो सकती है।

स्पर्म बढ़ाने के लिए नियमित रूप से करें व्यायाम

 

अगर पूरे दिन सक्रिय रहते हैं तो इससे आपको स्पर्म बढ़ाने में मदद मिलेगी। स्वस्थ जीवनशैली और व्यायाम करने से आपके शुक्राणुओं या स्पर्म को बढ़ाने में मदद मिल सकती है। एक अध्ययन में पाया गया कि आउटडोर एक्सरसाइज शुक्राणु के स्वास्थ्य में मदद कर सकता है।

Vote: 
1
Average: 1 (1 vote)

New Health Updates

Total viewssort descending Views today
विटामिन डी सप्लीमेंट- कितना फ़ायदेमंद 63 0
*ऊर्जा का स्त्रोत है राजमा* 66 0
कितना विटामिन डी सप्लीमेंट ठीक है? 70 0
डिप्रेशन पर विटामिन डी का असर 75 1
विटामिन डी के फ़ायदे 80 0
अगर चाहिए सर्वगुण सम्पन्न पति तो पहले जानें ये बातें 83 0
विटामिन डी की कितनी मात्रा ज़रूरी 84 0
यदि आप झपकी नहीं लेतीं तो आप बहुत कुछ खो रही हैं 85 0
बुखार के कारण क्या है 85 1
संभलकर! हफ्ते में पीएंगे शराब के 7 पैग तो हो जाएंगे प्रोस्टेट कैंसर का शिकार 87 0
किडनी रोग का आयुर्वेदिक उपचार 88 1
नेल रिमूवर के खत्म होने पर इन ट्रिक्स से साफ करें नेलपॉलिश 88 0
रक्तचाप कम होने पर उपाय 93 0
बिना दवा के किडनी को स्वस्थ कैसे रखेंगे 93 0
प्रदर :परिचय (आयुर्वेद से इलाज) 94 0
प्रेगनेंसी में किस प्रकार का डांस करना चाहिए? 95 0
पढ़ाई का सही वक्त : जेईई मेन में सफल होने के लिए आखिरी वक्त की तैयारी वाले टिप्स 98 1
क्यों होता है अल्जाइमर 101 0
चमत्कारी पौधा है आक 101 0
हरी मिर्च खाने के चमत्कार 101 0
पुदीना खाने के औसधीय फायदे 102 0
दवाएं जो बन गई थीं दर्द 103 1
क्या होती है नेगेटिव कैलोरी? 104 1
वायु प्रदूषण के चलते शरीर पर बेअसर हो रही दवाइयां 104 0
मछली, मीट त्यागकर केवल पूर्ण शाकाहारी भोजन आपकी सर की रूसी दूर करने में सहायक होगा 107 0
रात की बजाय सुबह बनायें शारीरिक सम्बन्ध, होंगे ये फायदे 108 0
ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के लिए जरूर खाएं टमाटर 109 1
बॉलीवुड एक्ट्रेस में बढ़ रहा है कपिंग थैरेपी का क्रेज, जानिए इसके फायदे 109 0
बिमारियों का घर हैं ब्रेड 109 0
प्रकति स्वयं चिकित्सक है 111 0
साइकिल चलाने के चमत्कारी फ़ायदे 112 0
अंजीर में फाइबर उच्च मात्रा में होता है 113 0
ठण्डा मतलब टॉयलेट क्लीनर, नारियल मतलब रोग क्लीनर 113 0
आयुर्वेद में गुनगुना पानी पीने के कई फायदे बताए गए हैं 115 1
योग का चमत्कार 115 0
सूजी हुई नसों में आराम देगी हरे टमाटर से बनी यह प्राकृतिक दवा 116 1
नवरात्रि में उपवास के दौरान खाएं काजू, पास नही आएगी कमजोरी.. 116 0
BP High रक्तचाप अधिक होने पर उपाय 117 1
सूरज की रोशनी कितनी कारगर 118 0
यदि आप अपनी मस्तिष्क की देखभाल करते हैं 118 0
हैल्दी बालों के लिए डाइट 118 0
नींद ना आने की कई वजहें हैं 118 0
कम सोने वाले हो जाएं सावधान 119 0
एक आंवला दो संतरे के बराबर होता है। 119 0
मोटापा कम करने के घरेलू नुस्खे 119 0
ऑफिस में स्ट्रेस से बचने के लिए खाने से ज्यादा नींद है जरूरी 119 2
जानिए मांसाहार अच्छा है या शाकाहार?? 120 0
क्या होता है जब आप नियमित खाते हैं साबूदाना 121 0
चूने के चमत्कारी फायदे 122 0
मिनटों में गायब हो जाएंगे 'लव बाइट' के निशान, करें ये आसान काम 123 0