स्वास्थ्य क्या है आइए जाने की अपने आप को कैसे स्वास्थ्य रखें

स्वास्थ्य क्या है आइए जाने की अपने आप को कैसे स्वास्थ्य रखें

स्वस्थ रहना सबसे बड़ा सुख है। कहावत भी है- 'पहला सुख निरोगी काया'। कोई आदमी तभी अपने जीवन का पूरा आनन्द उठा सकता है, जब वह शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहे। स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क निवास करता है। इसलिए मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी शारीरिक स्वास्थ्य अनिवार्य है। ऋषियों ने कहा है 'शरीरमाद्यं खलु धर्मसाधनम्‌' अर्थात्‌ यह शरीर ही धर्म का श्रेष्ठ साधन है। यदि हम धर्म में विश्वास रखते हैं और स्वयं को धार्मिक कहते हैं, तो अपने शरीर को स्वस्थ रखना हमारा पहला कर्तव्य है। यदि शरीर स्वस्थ नहीं है, तो जीवन भारस्वरूप हो जाता है।

 

यजुर्वेद में निरन्तर कर्मरत रहते हुए सौ वर्ष तक जीने का आदेश दिया गया है- 'कुर्वन्नेवेह कर्माणि जिजीविषेत्छतं समाः' अर्थात्‌ 'हे मनुष्य! इस संसार में कर्म करते हुए सौ वर्ष तक जीने की इच्छा कर।' 

वेदों में ईश्वर से प्रार्थना की गई है- 

पश्येम्‌ शरदः शतम्‌, जीवेम्‌ शरदः शतम्‌,

श्रुणुयाम्‌ शरदः शतम्‌, प्रब्रवाम्‌ शरदः 

शतम्‌, अदीनः स्याम्‌ शरदः 

शतम्‌, भूयश्च शरदः शतात्‌'>  

अर्थात्‌ 'हम सौ वर्ष तक देखें, जिएं, सुनें, बोलें और आत्मनिर्भर रहें। (ईश्वर की कृपा से) हम सौ वर्ष से अधिक भी वैसे ही रहें।' 

 

एक विदेशी विद्वान्‌ डॉ. बेनेडिक्ट जस्ट ने कहा है- 'उत्तम स्वास्थ्य वह अनमोल रत्न है, जिसका मूल्य तब ज्ञात होता है, जब वह खो जाता है।' 
एक शायर के शब्दों में- 'कद्रे-सेहत मरीज से पूछो, तन्दुरुस्ती हजार नियामत है।'

 

प्रश्न उठता है कि स्वास्थ्य क्या है अर्थात्‌ किस व्यक्ति को हम स्वस्थ कह सकते हैं? साधारण रूप से यह माना जाता है कि किसी प्रकार का शारीरिक और मानसिक रोग न होना ही स्वास्थ्य है। यह एक नकारात्मक परिभाषा है और सत्य के निकट भी है, परन्तु पूरी तरह सत्य नहीं। वास्तव में स्वास्थ्य का सीधा सम्बंध क्रियाशीलता से है। जो व्यक्ति शरीर और मन से पूरी तरह क्रियाशील है, उसे ही पूर्ण स्वस्थ कहा जा सकता है। कोई रोग हो जाने पर क्रियाशीलता में कमी आती है, इसलिए स्वास्थ्य भी प्रभावित होता है।

 

प्रचलित चिकित्सा पद्धतियों में स्वास्थ्य की कोई सर्वमान्य परिभाषा नहीं दी गई है। ऐलोपैथी और होम्योपैथी के चिकित्सक किसी भी प्रकार के रोग के अभाव को ही स्वास्थ्य मानते हैं।

 

वे रोग को या उसके अभाव को तो माप सकते हैं, परन्तु स्वास्थ्य को मापने का उनके पास कोई पैमाना नहीं है। रोग के अभाव को मापने के लिए उन्होंने कुछ पैमाने बना रखे हैं, जैसे हृदय की धड़कन, रक्तचाप, लम्बाई या उम्र के अनुसार वजन, खून में हीमोग्लोबिन की मात्रा आदि। इनमें से एक भी बात अनुभव द्वारा निर्धारित सीमाओं से कम या अधिक होने पर वे व्यक्ति को रोगी घोषित कर देते हैं और अपने हिसाब से उसकी चिकित्सा भी शुरू कर देते हैं।

पहला सुख निरोगी काया।

दूजा सुख घर होवै माया॥

तीजा सुख कुलवन्ती नारी।

चौथा सुख सुत आज्ञाकारी॥

पंचम सुख भाई बलवीरा।

छठा सुख हो राज में सीरा॥

सप्तम सुख स्वदेश में वासा।

अष्टम सुख हों पंडित पासा॥

नौवां सुख हों मित्र घनेरे।

ऐसे नर नहिं जग बहुतेरे॥

आयुर्वेद के प्रसिद्ध ग्रंथ सुश्रुत संहिता में ऋषि ने लिखा है-

 

समदोषाः समाग्निश्च समधातुमलक्रियः।

प्रसन्नात्मेन्द्रियमनः स्वस्थ इत्यभिधीयते॥

 

अर्थात्‌ जिसके तीनों दोष (वात, पित्त एवं कफ) समान हों, जठराग्नि सम (न अधिक तीव्र,न अति मन्द) हो, शरीर को धारण करने वाली सात धातुएं (रस, रक्त, मांस, मेद, अस्थि, मज्जा और वीर्य) उचित अनुपात में हों, मल-मूत्र की क्रियाएं  भली प्रकार होती हों और दसों इन्द्रियां (आंख, कान, नाक, त्वचा, रसना, हाथ, पैर, जिह्वा, गुदा और उपस्थ), मन और सबकी स्वामी आत्मा भी प्रसन्न हो, तो ऐसे व्यक्ति को स्वस्थ कहा जाता 

Vote: 
No votes yet

New Health Updates

Total views Views today
स्तनों को छोटा करने के घरेलू उपाय 40,294 94
कब सेक्स के लिए पागल रहती है महिलाएं 30,727 71
स्पर्म काउंट कितना होना चाहिए 4,065 65
घुटने की लिगामेंट में चोट का कारगर इलाज 5,772 39
झाइयां होने के कारण 2,982 39
फिस्टुला रोग क्या है , इसको पहचाने के लक्षण इस प्रकार 1,896 38
सोते समय ब्रा क्यों नहीं पहननी चाहिए 5,329 35
हाथ-पैरो का सुन्न हो जाना और हाथ और पैरो में झनझनाहट होना जानें इस प्रकार 4,820 34
कान के पीछे सूजन लिम्फ नोड्स: उपचार तथा कारण का निवारण इस प्रकार करें 3,803 34
पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से नुकसान नहीं बल्कि होते हैं फायदे 13,965 32
खून में थक्‍के जमने के कारण और उपचार के तरीके 4,012 31
सप्ताह में इतनी बार सेक्स करना जरूरी है 4,055 29
आँखों का लाल होना जानिये हमारी आँखे क्यों लाल होती है कारण और लक्षण तथा समाधान 3,592 28
लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू 15,457 27
सुबह का नाश्ता राजा की तरह, दोपहर का भोजन राजकुमार की तरह और रात का भोजन भिखारी की तरह करना चाहिए।’ 3,378 26
टिटनेस इंजेक्‍शन से हो सकती हैं ये दिक्‍कतें 18,324 25
लिंग बड़ा लम्बा और मोटा करने के घरेलू उपाय 7,103 24
ख़तरनाक है सेक्स एडिक्शन 4,115 23
बहरे लोगो के सुनगे का आसान तरीका 3,051 22
इसलिए छोटे कद की लड़कियों से सम्बन्ध बनाना ज्यादा पसंद करते है लड़के 72 22
चेहरे का कालापन दूर करने के उपाय 2,640 21
तिल तथा मस्से हटाने के आसान घरेलू उपचार 9,139 21
गुप्तांगो या बगलों के बालों की सफाई का महत्व 8,832 21
आइये जाने कुटकी के फायदे और नुकसान के बारे में 3,504 21
क्‍या सोते समय ब्रा पहननी चाहिये ? 10,715 20
पीलिया कैसा भी हो जड़ से खत्म करेंगे 2,933 20
श्वेत प्रदर का आयुर्वेदिक इलाज 5,243 19
क्यों रहते हैं हाथ-पैर ठंडे? 3,087 19
लकवा (पैरालिसिस): लक्षण और कारण 559 19
हाई बीपी और माइग्रेन में फायदेमंद है मेंहदी 922 19
मियादी बुखार का कारण क्या है 2,934 18
इंसानी दूध पीने को लेकर ब्रिटेन में चेतावनी 6,364 18
टीबी से कैसे करें बचाव, क्या हैं लक्षण, जानें सब. 1,782 17
सेक्‍स करने से लोगों को होते हैं ये 10 फायदे 3,176 16
गिलोय के फायदे और अनेक प्रकार से रोगों से छुटकारा 959 16
जीभ हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के बारे में बताती है जैसे 1,437 16
लड़की नही समझ पा रही है इशारे तो ऐसे कराएं प्यार का अहसास 20 15
गुड़ और मूंगफली खाना सेहत और स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद 897 15
माँ का दूध बढ़ाने के तरीके 4,013 15
मौसमी का जूस पीने के फायदे 3,276 15
मौसमी को खाने और मौसमी के जूस को पीने के फायदे और नुकसान 985 15
कलौंजी एक फायदे अनेक : कलयुग में संजीवनी है कलौंजी (मंगरैला) 485 15
बेटी की बिदाई- मां के लिए बड़ी चुनौती है इस प्रकार 786 14
थायराइड की समस्या और घरेलु उपचार 1,564 14
क्यों मच्छर के काटने पर खुजली होती है जानिए 945 14
चिकनपॉक्स (छोटी माता): घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज 1,081 14
फल और सब्जियों के 'रंगों' में छिपा है हमारे स्‍वास्‍थ्‍य का राज 1,272 14
नुस्‍खों से हटाएं ठुड्डी के बाल 2,030 14
सर्दियों में जुकाम और नाक से पानी आने को दूर करनें के लिए पिये गर्म पानी और भी चीजो का प्रयोग करें आइये जानें 758 13
स्वास्थ्य शिक्षा कैसे 901 13