स्वास्थ्य समाचार

झाइयाँ को दूर करने के घरेलु उपाय

चेहरे के काले दाग धब्बे और झाइयां होने से त्वचा के रंग में एक प्रकार की असमानता दिखनी शुरू हो जाती है। त्वचा पर गहरे कत्थई, काले रंग के धब्बे हो जाते हैं। त्वचा का रंग कभी हल्का तो कभी गहरा हो जाता है। दाग का आकार भी घटता-बढ़ता रहता है। त्वचा में आई इसी असमानता की झाइयां (Pigmentation) कहते हैं। झाइयों की वजह से त्वचा की सतह पर सिर्फ रंग मे बदलाव आता है, पर उसकी संवेदनशीलता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। चेहरे पर झाइयां  चांद पर लगे दाग के समान होती है जो चेहरे को सौंदर्य को नष्ट करती है। चेहरे की समस्याओं में से एक झाइयां प्राय: 25-30 वर्ष की उम्र के बाद देखने की मिलती है।

मटर की खेती

मटर की खेती

मटर की उन्नत खेती 

 

शीतकालीन सब्जियो मे मटर का स्थान प्रमुख है। इसकी खेती हरी फल्ली (सब्जी), साबुत मटर, एवं दाल के लिये किया जाता है।  मटर की खेती सब्जी और दाल के लिये उगाई जाती है। मटर दाल की आवश्यकता की पूर्ति के लिये पीले मटर का उत्पादन करना अति महत्वपूर्ण है, जिसका प्रयोग दाल, बेसन एवं छोले के रूप में अधिक किया जाता है ।आजकल मटर की डिब्बा बंदी भी काफी लोकप्रिय है। इसमे प्रचुर मात्रा मे प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फास्फोरस, रेशा, पोटेशियम एवं विटामिन्स पाया जाता है। देश भर मे इसकी खेती व्यावसायिक रूप से की जाती है।

जलवायु

 

मखाना की खेती

मखाना की खेती

मखाना की खेती कर अपनी आमदनी बढायें किसान

माननीय मंत्री, कृषि विभाग, बिहार डा. प्रेम कुमार ने कहा की मखाना जलाशयों, तलाबों, रुके हुए पानी में पैदा होने वाला एक अत्यंत ही पौष्टिक एवं पूर्णरूपेण प्राकृतिक, बिना किसी रसायन के प्रयोग से उत्पन्न होने वाली स्वस्थ, शुद्ध एवं गुणकारी नगदी फसल है | राज्य सरकार द्वारा राज्य में मखाना उत्पादक कृषकों की आमदनी बढ़ाने हेतु राष्ट्रीय बागवानी मिशन एवं मुख्यमंत्री बागवानी मिशन योजना अंतर्गत मखाना का क्षेत्र विस्तार अवयव को शामिल किया गया है | इसके तहत मखाना उत्पादक किसानों को प्रोत्साहित किया जाएगा |

मुहासे हटाने के घरेलु उपाय

चेहरे के दाग धब्बे ओर भी बढ़ जाते है जो चेहरे के सावले होने का कारण बनती है।

पिम्पल्स का इलाज के लिए रसायनिक पदार्थ का उपयोग करने से बेहतर होगा की आप प्राकृतिक उत्पादो का उपयोग करे। घरेलू उत्पाद बहुत सस्ते होते है और इनका कोई बुरा असर भी नही पड़ता।

चेहरे पर काले दाग और धब्बे होने का सबसे मुख्य कारण होता है स्किन में मेलेनिन का अत्यधिक स्त्राव होना। इसके आलावा अन्य कारण हैं -धूप या सूरज की रोशनी में अधिक रहना, हार्मोन असंतुलन, गर्भावस्था, विटामिन की कमी, नींद कम लेना, अत्यधिक डिप्रेशन में रहना और कुछ दवायों के सेवन से |

आंखों की रोशनी बढ़ाने के घरेलू उपाय

आंखों की रोशनी बढ़ाने के घरेलू उपाय

आंखों  की रोशनी बढ़ाने के उपाय के बारे में सबको सजग रहना चाहिए। आंखों की रोशनी बढ़ाने के उपाय बहुत आसान हैं। आंखों की रोशनी बढ़ाने के इन उपायों को आप घर पर ही आजमा सकते हैं।

लगातार कम्प्यूटर या लैपटॉप के सामने काम करने पर इसका बुरा असर आंखों पर पड़ता है। इसके अलावा मोबाइल का इस्तेमाल भी आंखों की रोशनी को प्रभावित करता है। साथ ही बदलती लाइफस्टाइल और पर्यावरणीय गतिविधियों के कारण भी आंखों की रोशनी कमजोर होती है।

 

झुर्रियां दूर करने के घरेलू उपाय

झुर्रियां दूर करने के  घरेलू उपाय

झुर्रियां आना मतलब बुढ़ापे की दस्तक। त्वचा में मौजूद कोलाजेन (Collagen) उम्र बढ़ने के साथ कम होने लगता है परिणाम स्वरुप त्वचा पर झुर्रियां नज़र आती हैं। हालांकि झुर्रियां आना बायोलॉजिकल प्रोसेस है लेकिन त्वचा की सही देखभाल न होने पर समय से पहले ही झुर्रियां नज़र आने लगती हैं।

पालक की खेती

 पालक की उन्नत खेती कैसे करें

पत्तियों वाली सब्जियों में पालक भी एक भारतीय सब्जी है जिसकी खेती अधिक क्षेत्र में की जाती है । यह हरी सब्जी के रूप में प्रयोग किया जाता है । इसकी पत्तियां स्वास्थ्य के लिये बहुत ही लाभकारी हैं । इसकी खेती सम्पूर्ण भारतवर्ष में की जाती है । यह सब्जी विलायती पालक की तरह पैदा की जाती है ।

दांतों को सफेद रखने के घरेलू उपाय

अक्सर आत्मविश्वास न होने के कारण कुछ लोग खुल कर नहीं मुस्कुराते। इसका कारण उनके दांतों का पीलापन होता है। सही ढंग से केयर न करने या प्लाक जमने के कारण दांत पीले हो जाते हैं। इसके अलावा, खाने की कुछ चीजों के लगातार उपयोग, बढ़ती उम्र या अधिक दवाइयों का सेवन भी दांतों के पीलेपन के कारण हो सकते हैं।

तरबूज खाने के फायदे

बाजार में इन दिनों तरबूज के ढेर लगे हुए हैं. ऊपर से थोड़ा सख्त नजर आने वाला तरबूज अंदर से पानी-पानी होता है. अक्सर दुकानदार आपको तरबूज का एक टुकड़ा काटकर दिखाता होगा और उसके लाल रंग का वास्ता देकर आपको उसे खरीदने के लिए कहता होगा.

आप भी उसके लाल रंग को देखकर उसके मीठे होने का अंदाजा लगा लेती होंगी और खरीद लेती होंगी. पर क्या आप जानती हैं कि जिसे आप सिर्फ मीठा फल समझकर खरीद लायी हैं असल में वो गुणों की खान है:

 

Pages

आप भी अपने लेख फिज़िका माइंड वेबसाइट पर प्रकाशित कर सकते है|

आप अपने लेख WhatsApp No 7454046894 पर भेज सकते है जो की पूरी तरह से निःशुल्क है | आप 1000 रु (वार्षिक )शुल्क जमा करके भी वेबसाइट के साधारण सदस्य बन सकते है और अपने लेख खुद ही प्रकाशित कर सकते है | शुल्क जमा करने के लिए भी WhatsApp No पर संपर्क करे. या हमें फ़ोन काल करें 7454046894