विज्ञान एवं तकनीकी समाचार

पांच तरह के एप जिन्हें आपको अपने स्मार्टफोन से हटा देना चाहिए

स्मार्टफोन के आ जाने से बहुत सारी चीजें आसान हो गई हैं. एक स्मार्टफोन में नार्मल मोबाइल फोन के मुकाबले आप कहीं ज्यादा और कई तरह के टास्क परफॉर्म कर सकते हैं. हर टास्क को पूरा करने के लिए इसमें अलग-अलग एप होते हैं जिन्हें आप ‘एप स्टोर’ या ‘प्ले स्टोर’ से इन्स्टॉल कर सकते हैं. Read More : पांच तरह के एप जिन्हें आपको अपने स्मार्टफोन से हटा देना चाहिए about पांच तरह के एप जिन्हें आपको अपने स्मार्टफोन से हटा देना चाहिए

जिओ के सस्ता होने के कारण

जिओ के सस्ता होने के कारण

अगर चार तरफ से फायदा हो रहा हो तो एक तरफ से थोडा खर्च भी हो जाए कोई फर्क नहीं पड़ता यही बात Jio पर भी लागू होती है। क्योंकि Jio नयी कंपनी है इस लिए वो ऐसा कर रही है। ये मुकेश अंबानी की दूर की सोच रही जब सभी कंपनियां 3G को नहीं संभाल नहीं पा रही थी तब मुकेश अंबानी ने सीधे 4G के साथ दूरसंचार सेवा में कदम रखा। Jio अकेली कम्पनी थी जिसे 4G के सारे स्पेक्ट्रोम मिले थे। Jio की कमाई सिर्फ Jio के सिम तक ही सीमित नहीं है, Jio सिम के शुरू करने के बाद उसने कंपनी की तरफ से फ़ोन, ब्रॉडबैंड, एंड्राइड एप्लीकेशन और ना जाने कितनी सेवाओं में भी कदम रखा। अगर इन सभी सेवाओं को सुंचारु रूप से चलाये रखना है तो Jio क Read More : जिओ के सस्ता होने के कारण about जिओ के सस्ता होने के कारण

इंटरनेट ऑफ थिंग्स: दस साल बाद हममें से कइयों को याद भी नहीं होगा कि उनका आज कैसा था

इंटरनेट ऑफ थिंग्स: दस साल बाद हममें से कइयों को याद भी नहीं होगा कि उनका आज कैसा था

मान लीजिए कि सोमवार की सुबह आप दफ्तर जाने के लिए निकले, गैराज में गए और देखा कि आपकी कार स्टार्ट ही नहीं हो रही है। अब क्या करेंगे? या तो मैकेनिक को बुलाएंगे, गाड़ी ठीक कराएंगे और फिर दफ्तर जाएंगे. या फिर पब्लिक ट्रांसपोर्ट के भरोसे घर से निकलेंगे. दोनों ही स्थितियों में आपका मूड खराब होगा, वक्त भी ज़ाया होगा, परेशानी होगी सो अलग. लेकिन अब ज़रा फर्ज़ करिए कि शनिवार की ड्राइव के दौरान ही आपकी गाड़ी अपने अंदर आई हुई खराबी के बारे में मैकेनिक को खुद खबर कर दे. फिर वहां से आपके मोबाइल पर संदेश आए कि आपकी गाड़ी में फलां समस्या है, जिसे आप तुरंत आकर ठीक करा लें, तो? Read More : इंटरनेट ऑफ थिंग्स: दस साल बाद हममें से कइयों को याद भी नहीं होगा कि उनका आज कैसा था about इंटरनेट ऑफ थिंग्स: दस साल बाद हममें से कइयों को याद भी नहीं होगा कि उनका आज कैसा था

इंटरनेट पर सुरक्षित रखने के लिए

इंटरनेट पर सुरक्षित रखने के लिए

पिछले कुछ समय से डाटा लीक होने की चर्चाओं ने ज्यादा ही जोर पकड़ा है. डाटा मतलब किसी भी तरह की डिजिटल जानकारी. यह फोटो, वीडियो, टेक्स्ट जैसी कोई भी चीज हो सकती है. फोटो और वीडियो आपके नितांत निजी क्षणों के भी हो सकते हैं और टेक्स्ट आपके मेल अकाउंट के पासवर्ड से लेकर आपके बैंक के पिन तक कुछ भी हो सकता है. अब आप समझ सकते हैं कि इससे बचना कितना जरूरी है. डाटा लीक होने का सबसे बड़ा सोर्स इंटरनेट है. इस पर की गई छोटी-छोटी गलतियों की वजह से यूजर का डाटा थर्ड पार्टी तक पहुंच जाता है. Read More : इंटरनेट पर सुरक्षित रखने के लिए about इंटरनेट पर सुरक्षित रखने के लिए

माइक्रोसॉफ्ट ने अपने विंडोज फोन्स के यूजर्स से कहा है कि ऐंड्रॉयड या आईओएस डिवाइसेज खरीद लें

माइक्रोसॉफ्ट ने अपने विंडोज फोन्स के यूजर्स से कहा है कि वे इसकी जगह पर ऐंड्रॉयड या आईओएस डिवाइसेज खरीद लें,

दिग्गज टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने अपने विंडोज फोन्स के यूजर्स से कहा है कि वे इसकी जगह पर ऐंड्रॉयड या आईओएस डिवाइसेज खरीद लें, क्योंकि वह विंडोज 10 मोबाइल का सपोर्ट बंद कर रही है। कंपनी की ओर से बताया गया कि इस साल 10 दिसंबर से सभी विंडोज मोबाइल के लिए सपॉर्ट बंद कर दिया जाएगा। इसके बाद से माइक्रोसॉफ्ट की तरफ से कोई सिक्यॉरिटी अपडेट मोबाइल्स पर नहीं भेजा जाएगा।   Read More : माइक्रोसॉफ्ट ने अपने विंडोज फोन्स के यूजर्स से कहा है कि ऐंड्रॉयड या आईओएस डिवाइसेज खरीद लें about माइक्रोसॉफ्ट ने अपने विंडोज फोन्स के यूजर्स से कहा है कि ऐंड्रॉयड या आईओएस डिवाइसेज खरीद लें

इंटरनेट पर सुरक्षा के हिसाब से किन बातों का ध्यान रखना चाहिए ?

इटरनेट बहुत उपयोगी चीज है, लेकिन छोटी सी लापरवाही सिरदर्द बन जायेगा।

इसिलए थोड़ी सावधानी के साथ इंटरनेट का फायदा उठाइये। Read More : इंटरनेट पर सुरक्षा के हिसाब से किन बातों का ध्यान रखना चाहिए ? about इंटरनेट पर सुरक्षा के हिसाब से किन बातों का ध्यान रखना चाहिए ?

फोन पर पासवर्ड कैसे डालें, और जानिए इसके विवरण के बारे में

फोन पर पासवर्ड

आज हम इस सवाल पर विचार करेंगे कि कैसेआप एक पासवर्ड डाल सकते हैं कभी-कभी फोन की सुरक्षा की आवश्यकता होती है ध्यान दें कि कार्यों का एल्गोरिथ्म इन डिवाइसों के विभिन्न मॉडलों के लिए समान है। डिवाइस की सुरक्षा के लिए, हमें कई सरल क्रियाएं करना होगा सबसे पहले, डिवाइस के मुख्य मेनू पर जाएं। इसके बाद, निर्णय लेने के लिए कि फोन पर पासवर्ड कैसे लगाया जाए, आइटम "सेटिंग्स" चुनें डिवाइस के मॉडल के आधार पर, निर्दिष्ट विभाजन को "कॉन्फ़िगरेशन" या "पैरामीटर" कहा जा सकता है। अगला हम आइटम "सुरक्षा सेटिंग" ढूंढते हैं यह इस खंड में है जिसे आप तय कर सकते हैं कि फोन पर कौन से पासवर्ड लगाया जाए, और अपने व्यक्तिगत Read More : फोन पर पासवर्ड कैसे डालें, और जानिए इसके विवरण के बारे में about फोन पर पासवर्ड कैसे डालें, और जानिए इसके विवरण के बारे में

जब पृथ्वी पर अधिकतर प्रजातियां नष्ट हो गईं...

जब पृथ्वी पर अधिकतर प्रजातियां नष्ट हो गईं...

हम आप जो भी चीज़ देख रहे हैं, उसका अतीत बन जाना तय है. पृथ्वी पर जीवन का अस्तित्व भी इसमें शामिल है. एक दिन ये भी अतीत बन जाएगा. लेकिन कब?

आपको भले यकीन ना हो, लेकिन जीवाश्मों के अध्ययन के मुताबिक पृथ्वी पर जीवन के अस्तित्व को करीब 3.5 अरब साल हो चुके हैं. इतने समय में पृथ्वी ने कई तरह की आपदाएँ झेली हैं - जम जाना या अंतरिक्ष की चट्टानों का टकराना, प्राणियों में बड़े पैमाने पर ज़हर का फैलना, जला कर सब कुछ राख कर देने वाली रेडिएशन.... Read More : जब पृथ्वी पर अधिकतर प्रजातियां नष्ट हो गईं... about जब पृथ्वी पर अधिकतर प्रजातियां नष्ट हो गईं...

ग्लास डिस्क' पर अरबों साल तक स्टोर रहेंगे डेटा

ग्लास डिस्क

स्टोरेज डिवाइसेज के क्षेत्र में अब एक ऐसी तकनीक आ गई है, जिससे अरबों साल तक आपके डेटा स्टोर रहेंगे। यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ हैम्पटन के शोधकर्ताओं ने साधारण ग्लास जैसे दिखने वाले "इंटरनल स्टोरेज सिस्टम" का निर्माण किया है। इस पर लेजर तकनीक के जरिए 360 टीबी (टेराबाइट्स) तक का डेटा रिकॉर्ड किया जा सकता है।

ऑप्टोइलेक्ट्रॉनिक्स रिसर्च सेंटर के शोधकर्ताओं ने इस "सुपरमैन ग्लास क्रिस्टल" का निर्माण किया है। फिलहाल शोधकर्ता ऐसी कंपनियों की तलाश में हैं जो इसे मार्केट में उपलब्ध करवा सके। ऐसे स्टोर होगा डेटाग्लास डिस्क में तीन लेयर्स हैं जिनमें पांच माइक्रोमीटर्स की दूरी है। Read More : ग्लास डिस्क' पर अरबों साल तक स्टोर रहेंगे डेटा about ग्लास डिस्क' पर अरबों साल तक स्टोर रहेंगे डेटा

झील जहाँ 'दुनिया ख़त्म हो' जाती है !

झील जहाँ 'दुनिया ख़त्म हो' जाती है !

'स्लोवेनिया में एक बात मशहूर है, बोहीन में हम दुनिया से एक या दो दिन पीछे हो जाते हैं."

पर्यटकों के लिए राजधानी ल्युब्लियाना से एक घंटे की दूरी पर बोहीन झील के पास हाइक एंड बाइक सर्विस चलाने वाली ग्रेगा सिल्क कहती हैं कि पहले तो वहाँ लोग बाक़ी दुनिया से ख़ासा पीछे रहते थे.

सचमुच ये झील ऐसी जगह है, जहां आप कहीं खो जाते हैं.

शताब्दियों से भेड़ और बकरियों चराने वालों का ये इलाका स्लोवेनिया के बाकी हिस्सों से कटा हुआ रहता है. Read More : झील जहाँ 'दुनिया ख़त्म हो' जाती है ! about झील जहाँ 'दुनिया ख़त्म हो' जाती है !

Pages