आसमान से इंटरनेट मुहैया कराना चाहता है फेसबुक

आसमान से इंटरनेट मुहैया कराना चाहता है फेसबुक

ड्रोन्स के जरिए फेसबुक देगा हाइ-स्पीड इंटरनेट!
विश्व का सबसे बड़ा नेटवर्क प्लेफॉर्म फेसबुक लेजर टेक्नोलॉजी पर काम कर रहा है ताकि हाइ-स्पीड इंटरनेट ड्रोन या सैटेलाइट के द्वारा प्रदान कर सकें।

फेसबुक के फाउंडर और सीइओ मार्क जुकरबर्ग ने आज अपने सोशल मीडिया पेज पर कहा कि “हमारी कनेक्टिविटी लैब एक लेजर कम्युनिकेशन सिस्टम को विकसित कर रही है, जो कम्युनिटीज को आसमान से किरणों के सहारे डाटा दे सकता है। इससे दूरवर्ती क्षेत्रों में भेजे जाने वाले डाटा की स्पीड बढ़ जाएगी।“

फेसबुक लोगों को सैटेलाइट और ड्रोन के द्वारा इंटरनेट मुहैया कराने वाली टेक्नोलॉजी के विकास पर काम कर चुका है। इसने पहले भारतीय सरकार को भी देश में पायलेट प्रोजेक्ट शुरू करने के लिए अप्रोच किया था।

बिलियनर टेक इंवेस्टर ने आगे कहा कि “इंटरनेट.ओआरजी के प्रयास के हिस्से की तरह,हम ड्रोन्स और सैटेलाइट के इस्तेमाल के तरीकों पर काम कर रहे हैं ताकि बिलियन लोग, जो वायरलेस नेटवर्क की रेंज में नहीं रहतें उनसे जुड़ सकें। सामान्यतौर पर आपको असल में किरणें नहीं दिखती।“

फेसबुक ने कुछ चुनिंदा मार्केट्स में टेलिकॉम प्लेयर्स के साथ इंटरनेट.ओआरजी भागीदारी में शुरू की थी। इस प्रोजेक्ट के तहत भारत समेत विकासशील देशों में रहने वाले लोग, मोबाइल इंटरनेट चार्जेस के लिए अदा किए बिना कुछ वेबसाइट्स एक्सेस कर सकते हैं।

 

आसमान से इंटरनेट मुहैया कराना चाहता है फेसबुक
फेसबुक पूरी दुनिया में इंटरनेट सुविधा मुहैया कराने के लिए महत्वाकांक्षी योजना के तहत ड्रोन, उपग्रह और सौर ऊर्जा से संचालित विमानों पर काम कर रहा है। इसके लिए उसने एक प्रयोगशाला तैयार की है।

दुनिया की नंबर एक सोशल नेटवर्किंग ने गुरुवार को बताया कि उसने नए "कनेक्टिविटी लैब" प्रोजेक्ट के लिए नासा की जेट प्रोपल्सन लैब और इसके एम्स रिसर्च सेंटर से अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी और संचार विशेषज्ञों को रखा है।

फेसबुक के प्रमुख मार्क जुकरबर्ग ने अपनी सोशल साइट पर एक पोस्ट में बताया कि आज, हम फेसबुक के "कनेक्टिविटी लैब" की कुछ जानकारियां साझा कर रहे हैं। यह सभी तक इंटरनेट पहुंचाने के लिए ड्रोन, उपग्रह और लेजर के निर्माण पर काम कर रही है। उन्होंने इसके बारे में कुछ खास जानकारियां दीं लेकिन यह कब तक काम करेगा इस बारे में कुछ नहीं बताया।

फेसबुक के येल मागुरे ने यूट्यूब पर पोस्ट एक वीडियो में बताया कि 20 हजार मीटर की ऊंचाई पर उड़ने वाले विमानों के दायरे में उपनगरीय आबादी इंटरनेट सेवा पा सकेगी। उन्होंने बताया कि ये विमान सूर्य की ऊर्जा से महीनों तक आसमान में रह सकते हैं।

दरअसल फेसबुक ने यह कदम दुनिया के सबसे बड़े इंटरनेट सर्च इंजन गूगल द्वारा पिछले साल एक महत्वाकांक्षी योजना की घोषणा किए जाने के बाद उठाया है। गूगल ने गत वर्ष दुनिया के दूरदराज वाले इलाकों में इंटरनेट मुहैया कराने के लिए सौर ऊर्जा से संचालित बैलून के इस्तेमाल की घोषणा की थी।

 

 

सेटेलाइट इंटरनेट से पीछे हटे गूगल-फेसबुक

फेसबुक और गूगल सेटेलाइट इंटरनेट की योजना से पीछे हट गए हैं। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार फेसबुक ने जियो-स्टेशनरी सेटलाइट की योजना लागत वसूल न होने की चिंता के चलते छोड़ दी है।

वहीं, गूगल जिसने 2014 में सेटेलाइट समूह तैयार करने के लिए सेटेलाइट उद्यमी ग्रेग व्यालर को नियुक्त किया था, इस साल की शुरुआत में ही योजना से पीछे हट गई। सेटेलाइट इंटरनेट सेवा अभी बहुत महंगी है और इसका डाटा स्पीड भी धीमा है।

हालांकि व्यालर और अन्य सेटेलाइट उद्यमियों का मानना है कि बहुत से छोटे सेटेलाइट लगाए जाने से तेज गति की सेवा प्रदान की जा सकती है। इसके बाद वे कम्युनिकेशन सेटेलाइट की तरह पृथ्वी के नजदीक आ जाएंगे।

अभी ज्यादा कवरेज के लिए उन्हें अधिक ऊंचाई पर उड़ना पड़ रहा है। इसके अलावा वह कम खर्चीले होंगे, क्योंकि छोटे सेटेलाइट के निर्माण में कम लागत आती है।

Vote: 
No votes yet

New Science news Updates

icon Total views
नेगेटिव ब्लड ग्रुप वाले सभी लोग एलियन्स के वंशज है? नेगेटिव ब्लड ग्रुप वाले सभी लोग एलियन्स के वंशज है? 956
बढती ऊम्र की महिलाएं क्यों भाती है पुरूषों को- कारण बढती ऊम्र की महिलाएं क्यों भाती है पुरूषों को- कारण 668
मरने से ठीक पहले दिमाग क्या सोचता है | मरने से ठीक पहले दिमाग क्या सोचता है | 696
अरबों किलोमीटर का सफ़र संभव अरबों किलोमीटर का सफ़र संभव 1,864
बैंक को बदल रहा है सोशल मीडिया! आपके बैंक को बदल रहा है सोशल मीडिया! 618
अलग-अलग ग्रहों से आए हैं पुरुष और महिलाएं? अलग-अलग ग्रहों से आए हैं पुरुष और महिलाएं? 792
पुराने स्मार्टफ़ोन अब भी काफी काम की चीज़ पुराने स्मार्टफ़ोन अब भी काफी काम की चीज़ 1,141
सेल्‍फी का एंगल खोलता है पर्सनालिटी के राज सेल्‍फी का एंगल खोलता है पर्सनालिटी के राज 1,409
आपको डेंटिस्‍ट की जरूरत नहीं पड़ेगी आपको डेंटिस्‍ट की जरूरत नहीं पड़ेगी 1,406
मलेरिया से बचा सकती है,आपको मुर्गी की गंध मलेरिया से बचा सकती है,आपको मुर्गी की गंध 1,327
लघु रूपांतरण से डायनोसोर बने पक्षी लघु रूपांतरण से डायनोसोर बने पक्षी 1,569
ईमेल को हैकरों से कैसे रखें सुरक्षित ईमेल को हैकरों से कैसे रखें सुरक्षित 743
जीमेल ने शुरू की ब्लॉक व अनसब्सक्राइब सेवा जीमेल ने शुरू की ब्लॉक व अनसब्सक्राइब सेवा 812
कम्‍प्‍यूटर से नहीं सुधरती है स्‍कूली बच्‍चों की पढ़ाई कम्‍प्‍यूटर से नहीं सुधरती है स्‍कूली बच्‍चों की पढ़ाई 660
LG वॉलपेपर टीवी जिसे आप दीवार पर चिपका सकेंगे LG वॉलपेपर टीवी जिसे आप दीवार पर चिपका सकेंगे 1,294
गूगल ग्‍लास नया गूगल ग्‍लास : बिना कांच के 2,233
घोंघे के दिमाग से समझदार बनेगा रोबोट घोंघे के दिमाग से समझदार बनेगा रोबोट 635
 गूगल पर भूल कर भी न करें ये सर्च गूगल पर भूल कर भी न करें ये सर्च 1,152
स्मार्टफोन के लिए एन्क्रिप्शन क्यों ज़रूरी  है स्मार्टफोन के लिए एन्क्रिप्शन क्यों ज़रूरी है 952
इस साल विज्ञान की सबसे बड़ी खोज इस साल विज्ञान की सबसे बड़ी खोज 3,596