नये मीडिया से जुड़ा एक जोखिम सामाजिक क़िस्म का

नये मीडिया से जुड़ा एक जोखिम सामाजिक क़िस्म का

न्यू यॉर्कर में 1993 में एक कार्टून प्रकाशित हुआ था जिसमें एक कुत्ता कम्प्यूटर के सामने बैठा है और साथ बैठे अपने सहयोगी को समझाते हुए कह रहा है, “इंटरनेट में, कोई नहीं जानता कि तुम कुत्ते हो।” (जेन बी सिंगर, ऑनलाइन जर्नलिज़्म ऐंड एथिक्स, अध्याय एथिक्स एंड द लॉ, पृ 90)।

यहां आशय ये है कि इंटरनेट में आपकी पहचान गुप्त रहती है। जब तक आप न चाहें आपको कोई नहीं जान सकता। ये स्वनिर्मित गुमनामी ही एक अदृश्यता की ओर ले जाती है। एक ऐसी अवस्था जहां आपको भौतिक उपस्थिति की ज़रूरत नहीं है। आपको सदेह कहीं किसी के समक्ष पेश नहीं होना है। इस तरह आप इंटरनेट पर एक तरह की “देहमुक्ति” के साथ विचरण करते रह सकते हैं। ऑपरेट आप उसे सदेह ही कर रहे होते हैं। इंटरनेट की विद्वान शेरी टर्कल ने अपनी किताब, “लाइफ़ ऑन स्क्रीनः आईडेंटिटी इन द एज ऑफ द इंटरनेट” (1995) में बताया है कि कम्प्यूटर जनित संचार (कम्प्यटूर मीडिएटड कम्यूनिकेशन-सीएमसी) के ज़रिए लोगों के पास अपनी “पुनर्खोज” कर सकने की प्रचुर संभावनाएं रहती हैं।

लेकिन सवाल यही है कि क्या ख़ुद को नए सिरे से ढूंढने की वास्तव में क्या कोई ज़रूरत है भी या ये जुनून या चाहत है। अगर थोड़ी देर के लिए मान भी लें कि एक व्यक्ति नये मीडिया में अपनी पहचान बिना उद्घाटित किए आवाजाही कर रहा है तो क्या वो गलत है। क्या उसे अदृश्य रहने की ज़रूरत है। नया मीडिया वैयक्तिक आज़ादी को तब तक नहीं छीनता जब तक कि आप ख़ुद ऐसा न चाहें। ये उसका एक गुण है। यूज़र के तौर पर चुनौती यही है कि वो इस आज़ादी को किस रूप में समझता है, कैसे इसे एन्ज्वॉय करता है। चिंता की बात ये है कि नये मीडिया की इस सौगात का इस्तेमाल कई यूज़र फ़र्ज़ी एकाउंट बनाने, किसी को गुमराह करने या भावनात्मक शोषण या आर्थिक फ़ायदा उठाने के लिए करते पाये गये हैं। इस मामले में नये मीडिया से जुड़े क़ानून भी एक सीमा के बाद लाचार ही नज़र आते हैं।

नये मीडिया से जुड़ा एक जोखिम सामाजिक क़िस्म का भी है। मिसाल के लिए फ़ेसबुक को ही लें। इस लोकप्रिय सोशल नेटवर्किग वेबसाइट का इस्तेमाल करने वालों की संख्या करोड़ों में है। करोड़ो फॉलोअर हैं। एक अत्यंत विस्तृत वर्चुअल समाज बन जाता है। वर्चुअल दोस्तियां बेशुमार होती हैं। अनंत रूप से संचार में मगन दुनिया फैली हुई है, लेकिन वास्तविक जीवन में, ऑफ़लाइन हो जाने पर यही यूज़र एकदम अलगथलग और समाज से कटे हुए नज़र आते हैं। संचार की प्रक्रिया सिकुड़ जाती है।

शहरी जीवन की आपाधापी, बढ़ते उपभोक्तावाद और जीवन शैलियों में आए बदलावों ने लोगों को एक दूसरे से संवादहीनता की स्थिति में ला दिया है। लेकिन ताज्जुब है कि लोगों की वास्तविक जीवन की यही प्रवृत्ति सोशल मीडिया पर आते ही हिरन हो जाती है। वहां वो एकदम बेलौस, बेतकल्लुफ़ और संवादप्रिय बन जाता है। इस तरह नये मीडिया पर ये तोहमत भी लगाई जाती है कि वो यूज़र को समाजविमुख या असामाजिक भी बनाता है। लेकिन यहां पर ये बात फिर से ग़ौरतलब है कि नये मीडिया ने जो सुविधा और आज़ादी उपलब्ध कराई है उसका विवेकपूर्ण इस्तेमाल करने की ज़िम्मेदारी यूज़र पर ही है। नये मीडिया ने अवरोधों से आज़ादी हासिल कराई है लेकिन इसका अर्थ ये नहीं है कि ज़िम्मेदारियों से भी मुक्त हो जाएं।

 

Vote: 
No votes yet

आप भी अपने लेख फिज़िका माइंड वेबसाइट पर प्रकाशित कर सकते है|

आप अपने लेख WhatsApp No 7454046894 पर भेज सकते है जो की पूरी तरह से निःशुल्क है | आप 1000 रु (वार्षिक )शुल्क जमा करके भी वेबसाइट के साधारण सदस्य बन सकते है और अपने लेख खुद ही प्रकाशित कर सकते है | शुल्क जमा करने के लिए भी WhatsApp No पर संपर्क करे. या हमें फ़ोन काल करें 7454046894

 

 

 

New Science news Updates

icon Total views
नेगेटिव ब्लड ग्रुप वाले सभी लोग एलियन्स के वंशज है? नेगेटिव ब्लड ग्रुप वाले सभी लोग एलियन्स के वंशज है? 1,486
बढती ऊम्र की महिलाएं क्यों भाती है पुरूषों को- कारण बढती ऊम्र की महिलाएं क्यों भाती है पुरूषों को- कारण 1,257
मरने से ठीक पहले दिमाग क्या सोचता है | मरने से ठीक पहले दिमाग क्या सोचता है | 1,161
अरबों किलोमीटर का सफ़र संभव अरबों किलोमीटर का सफ़र संभव 2,176
बैंक को बदल रहा है सोशल मीडिया! आपके बैंक को बदल रहा है सोशल मीडिया! 772
अलग-अलग ग्रहों से आए हैं पुरुष और महिलाएं? अलग-अलग ग्रहों से आए हैं पुरुष और महिलाएं? 1,052
पुराने स्मार्टफ़ोन अब भी काफी काम की चीज़ पुराने स्मार्टफ़ोन अब भी काफी काम की चीज़ 1,390
सेल्‍फी का एंगल खोलता है पर्सनालिटी के राज सेल्‍फी का एंगल खोलता है पर्सनालिटी के राज 1,679
आपको डेंटिस्‍ट की जरूरत नहीं पड़ेगी आपको डेंटिस्‍ट की जरूरत नहीं पड़ेगी 1,642
मलेरिया से बचा सकती है,आपको मुर्गी की गंध मलेरिया से बचा सकती है,आपको मुर्गी की गंध 1,603
लघु रूपांतरण से डायनोसोर बने पक्षी लघु रूपांतरण से डायनोसोर बने पक्षी 1,851
ईमेल को हैकरों से कैसे रखें सुरक्षित ईमेल को हैकरों से कैसे रखें सुरक्षित 913
जीमेल ने शुरू की ब्लॉक व अनसब्सक्राइब सेवा जीमेल ने शुरू की ब्लॉक व अनसब्सक्राइब सेवा 1,037
कम्‍प्‍यूटर से नहीं सुधरती है स्‍कूली बच्‍चों की पढ़ाई कम्‍प्‍यूटर से नहीं सुधरती है स्‍कूली बच्‍चों की पढ़ाई 849
LG वॉलपेपर टीवी जिसे आप दीवार पर चिपका सकेंगे LG वॉलपेपर टीवी जिसे आप दीवार पर चिपका सकेंगे 1,593
गूगल ग्‍लास नया गूगल ग्‍लास : बिना कांच के 2,490
घोंघे के दिमाग से समझदार बनेगा रोबोट घोंघे के दिमाग से समझदार बनेगा रोबोट 827
 गूगल पर भूल कर भी न करें ये सर्च गूगल पर भूल कर भी न करें ये सर्च 1,452
स्मार्टफोन के लिए एन्क्रिप्शन क्यों ज़रूरी  है स्मार्टफोन के लिए एन्क्रिप्शन क्यों ज़रूरी है 1,146
इस साल विज्ञान की सबसे बड़ी खोज इस साल विज्ञान की सबसे बड़ी खोज 4,203