पृथ्वी के भीतर हैं महासागर जाने विस्तार से

पृथ्वी के भीतर हो सकते हैं महासागर

एक हीरे के अंदर पाई गई रहस्यपूर्ण चट्टान ने इस सवाल को अहम बनाया कि पृथ्वी की सतह के नीचे क्या-क्या छिपा है.

इस रहस्यपूर्ण चट्टान में पानी के कण मिलना महत्वपूर्ण खोज थी. ये चट्टानें हमें बताती हैं कि पृथ्वी के भीतर, सतह के 500-600 किलोमीटर नीचे सदियों पहले क्या हुआ. और वहां क्या मौजूद है.

वैज्ञानिक दशकों से इन सवालों से जूझ रहे हैं कि पृथ्वी पर पानी कैसे आया, महासागर कैसे बनें और क्या पृथ्वी की सतह के नीचे और महासागर छिपे हुए हैं?

अब तक मनुष्य ने पृथ्वी की सतह के नीचे जो सबसे गहरा गड्ढ़ा बनाया है वो 10 किलोमीटर तक ही पहुँच पाया है.

हम जिस ग्रह पर रहते हैं, उसके बारे में शायद उतना नहीं जानते जितना हम लाखों किलोमीटर दूर मंगल गृह की सतह के बारे में जानते हैं.

आंतरिक क्रोड के रहस्य

थिंकस्टॉक इमेज

पृथ्वी की आंतरिक संरचना तीन प्रमुख परतों से हुई है.

ऊपरी सतह भूपर्पटी यानी क्रस्ट, मध्य स्तर मैंटल और आंतरिक और बाहरी स्तर - क्रोड.

इनमें से बाहरी क्रोड तरल अवस्था में है. यह आंतरिक क्रोड के साथ क्रिया कर पृथ्वी में चुंबकीय क्षेत्र पैदा करता है.

ऐसा अनुमान है कि महासागरों के नीचे की परत लगभग पाँच किलोमीटर मोटी हो सकती है.

फ़ाइल फोटो

लेकिन यह छोटी सी परत कई प्रकाश वर्षों के समान भी हो सकती है, क्योंकि इसके बारे में हमारा ज्ञान बहुत कम है.

दशकों से वैज्ञानिकों का और मेरा भी मानना था कि पृथ्वी की सतह पर धूमकेतुओं के टकराने से पानी पैदा हुआ होगा या महासागरों का निर्माण हुआ होगा.

रिंगवुडाइट

थिंकस्टॉक इमेज

पृथ्वी के आवरण में मौजूद चट्टानों का महासागरों के निर्माण में योगदान का संकेत मिलता है रहस्यमयी चट्टानों से जो मैग्नीशियम युक्त सिलिकेट हैं और इन्हें रिंगवुडाइट कहते हैं.

दरअसल इन रहस्यमयी चट्टानों में पानी के अंश पाए गए, जिनता हम अनुमान लगाते थे, उससे लगभग 10 गुना.

थिंकस्टॉक इमेज

मैंने पृथ्वी की सतह से सैकड़ों किलोमीटर अंदर बने रिंगवुडाइट को प्रयोगशाला में बनाने की कोशिश की.

मैंने उन खनिज पदार्थों का इस्तेमाल किया जो रिंगवुडाइट में पाए जाते हैं लेकिन मैं पानी के इस्तेमाल के बिना इस चट्टान का निर्माण नहीं कर पाया.

पानी के इस्तेमाल के साथ ये संभव था. रिंगवुडाइट में काफ़ी मात्रा में पानी पाया जाता है.

इसका मतलब ये हुआ कि महासागरों और पृथ्वी की सतह के नीचे की चट्टानों यानी मैंटल या मध्य स्तर के भीतर भी महासागर मिल सकते हैं.

Vote: 
No votes yet

New Science news Updates

icon Total viewssort descending
क्या शुक्र ग्रह में कभी इंसान रहते थे ? जानिए शुक्र ग्रह के इतिहास को क्या शुक्र ग्रह में कभी इंसान रहते थे ? जानिए शुक्र ग्रह के इतिहास को 67
क्या हुवा जब Nasa ने एक बंदर को Space मे भेजा ? 69
प्लूटो के साथ क्या हुआ क्या प्लूटो अब नही रहा ? प्लूटो के साथ क्या हुआ क्या प्लूटो अब नही रहा ? 71
क्या आप जानते है कि कुत्ते मुस्कुराते भी हैं क्या आप जानते है कि कुत्ते मुस्कुराते भी हैं 81
फेसबुक के लिए फ्री इंटरनेट ऐप लाया रिलायंस फेसबुक के लिए फ्री इंटरनेट ऐप लाया रिलायंस 905
सैमसंग का फोल्डेबेल स्क्रीन वाला स्मार्टफोन सैमसंग का फोल्डेबेल स्क्रीन वाला स्मार्टफोन 944
फ़ेसबुक पोस्ट को अनडू करने का तरीका फ़ेसबुक पोस्ट को अनडू करने का तरीका 951
स्मार्टवॉच से लीक हो सकता है आपका डॉटा स्मार्टवॉच से लीक हो सकता है आपका डॉटा 987
व्‍हाट्सऐप गैरकानूनी हो सकता है तीन महीने से पहले व्‍हाट्सऐप मैसेज डिलीट करना 1,001
लिंक्डइन पर संभलकर कनेक्ट करें लिंक्डइन पर संभलकर कनेक्ट करें 1,009
फेसबुक पर लागू हुए अब ये कड़े नियम फेसबुक पर लागू हुए अब ये कड़े नियम 1,018
signs-of-life-from-presence-of-methane-on-mars मंगल पर मीथेन की मौजूदगी से जीवन के संकेत 1,037
फायरफॉक्‍स का इंस्टेंट मैसेजिंग फीचर फायरफॉक्‍स का इंस्टेंट मैसेजिंग फीचर 1,045
वेबसाइट पर कैमरे से लॉग इन करें वेबसाइट पर कैमरे से लॉग इन करें 1,047
घोंघे के दिमाग से समझदार बनेगा रोबोट घोंघे के दिमाग से समझदार बनेगा रोबोट 1,072
सांस लेने के आकृति को शाब्दिक रूप देने की  डिवाइस सांस लेने के आकृति को शाब्दिक रूप देने की डिवाइस 1,074
बैंक को बदल रहा है सोशल मीडिया! आपके बैंक को बदल रहा है सोशल मीडिया! 1,094
आसमान से इंटरनेट मुहैया कराना चाहता है फेसबुक आसमान से इंटरनेट मुहैया कराना चाहता है फेसबुक 1,096
ज़्यादा सफ़ाई हो सकता है ख़तरनाक? ज़्यादा सफ़ाई हो सकता है ख़तरनाक? 1,097
क्या फ्री टॉक टाइम या डेटा की तलाश में हैं आप क्या फ्री टॉक टाइम या डेटा की तलाश में हैं आप 1,104