व्हाट्सऐप बना सिर दर्द मोबाइल कंपनियों के लिए

 व्हाट्सऐप बना सिर दर्द मोबाइल कंपनियों के लिए

हर महीने व्हाट्सऐप को 100 करोड़ से भी ज़्यादा लोग इस्तेमाल करते हैं.
दुनिया का ये सबसे पसंदीदा मेसेजिंग सर्विस है और टेलीकॉम कंपनियों के लिए ख़ासा सिर दर्द बन गया है.
सभी उम्र के लोगों के बीच ये काफी पसंद किया जाता है और इसीलिए दुनिया भर में इसकी धूम है.
53 भाषाओँ और 109 देशों में काम करने वाले व्हाट्सऐप पर आजकल हर दिन औसतन 42 सौ करोड़ मैसेज भेजे जाते हैं. यह संख्या तेज़ी से बढ़ रही है.
इसपर करीब 100 करोड़ व्हाट्सऐप ग्रुप भी हैं. मैसेज के अलावा हर दिन 1600 करोड़ फोटो भी शेयर किए जाते हैं. 20 करोड़ वॉइस नोट और करीब 25 करोड़ विडियो मैसेज भी हर दिन भेजे जाते हैं. हर दिन औसतन 10 लाख लोग व्हाट्सऐप डाउनलोड करते हैं.
व्हाट्सऐप के 73 फीसदी यूजर एंड्राइड स्मार्टफ़ोन पर इसका इस्तेमाल करते हैं जबकि एप्पल पर करीब 22 फ़ीसदी लोग इसे इस्तेमाल करते हैं.
पिछले साल दुनिया के सभी मोबाइल फ़ोन कंपनियों पर एक महीने में दो हज़ार करोड़ एसएमएस भेजे गए थे. इसके मुकाबले सिर्फ व्हाट्सऐप पर 3000 करोड़ मैसेज उसी महीने में भेजे गए थे.
इससे एक बात तो साफ़ है कि व्हाट्सऐप को दुनिया भर में लोग कितना पसंद करते हैं.
पिछले साल के आंकड़े के अनुसार भारत में मोबाइल इंटरनेट इस्तेमाल करने वाले करीब 40 करोड़ लोग में 60 फीसदी से कुछ कम व्हाट्सऐप इस्तेमाल करते हैं. लेकिन अगर मंथली एक्टिव यूजर यानि हर महीने व्हाट्सऐप इस्तेमाल करने वालों की संख्या देखें तो ये करीब 7 करोड़ है. जैसे जैसे ये भारतीय भाषाओँ में उपलब्ध होगा, ये संख्या तेज़ी से बढ़ने की उम्मीद की जा सकती है.
मीडियानामा ने कुछ महीने पहले अपने इस रिपोर्ट में कहा था कि 90 फीसदी स्मार्टफ़ोन पर व्हाट्सऐप इनस्टॉल किया हुआ है. लेकिन सभी के फ़ोन पर जो ये इनस्टॉल किया हुआ है वो इसे इस्तेमाल नहीं करते हैं.
चीन में व्हाट्सऐप उतना पसंद नहीं किया जाता है और वहां पर लाइन, वीचैट जैसे मेसेजिंग ऐप काफी लोग इस्तेमाल करते हैं. चीन में फेसबुक और उसकी ही कंपनी व्हाट्सऐप पर कुछ बंदिशें है इसलिए उसे तेज़ी से बढ़ने का मौका नहीं मिल रहा है.