कौशल भारत कुशल भारतप्रधानमंत्री कौशल विकास योजना

कौशल भारत कुशल भारत

मिडिया

फिज़िका माइंड पोर्टल में आपका हार्दिक स्वागत है ,फिज़िका माइंड आपका अपना वेब पोर्टल है इस वेबसाइट में आप हमें समाज से जुडी न्यूज़, कृषि से जुडी न्यूज़ , शिक्षा,समाज न्यूज़ पेपर कटिंग , न्यूज़ के विडियो क्लिप भेज सकते है समाज से जुडी सभी जानकारियो को एक ही जगह समाहित करने का प्रयास किया गया है।

Read more

घरबैठे कंप्यूटर सर्टिफिकेट कोर्स

फिजिका माइड भारत सरकार के लघुरूप सुक्षम मंत्रालय से पंजीकृत संस्था है | संस्था २००४ से सेवा में प्रयासरत है | फिज़िका माइंड के द्वारा अब आप घर बैठे कंप्यूटर के सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते हैं जो कि आपको लेटेस्ट ज्ञान से भरपूर होगा और सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी को आप सीखेंगे|

Read more

व्यापार में सफलता के उपाय

आप की कामयाबी को ही हम अपनी कामयाबी मानते हैं आपके व्यापार को सफल बनाने के लिए फिज़िका माइंड आपके लिए वेबसाइट और Android ऐप बनाना चाहता है , और भी बहुत सारे मार्केटिंग के उपाय हमारे पास आप के लिए हैं | हमारी सफलता का कारवां बढ़ता ही जा रहा है जिसमें आपका भी स्वागत है

Read more

ल्यूकेमिया: लक्षणों को जानिये यह क्या है

ल्यूकेमिया: लक्षणों को जानिये यह क्या है

तीव्र और पुरानी रूपों के लक्षण अलग-अलग हैं। जब एक पुराने रोगी लगातार बीमारियों का सामना कर रहा है जो अन्य बीमारियों के लक्षणों से भ्रमित हो सकता है। यह तुरंत ध्यान दिया जाना चाहिए कि ये सभी बीमारियां स्थायी नहीं हैं, लेकिन दिखाई देती हैं और पूरी तरह अप्रत्याशित रूप से गायब हो जाती हैं पुरानी ल्यूकेमिया के साथ, काम करने की क्षमता हमेशा कम होती है। यहां तक ​​कि छोटे से शारीरिक श्रम को बहुत मेहनत के साथ किया जाएगा। जीर्ण ल्यूकेमिया, जिन लक्षणों पर हम विचार कर रहे हैं, नींद की गड़बड़ी का कारण बनता है यह सिर्फ अनिद्रा के बारे में नहीं है, लेकिन नींद की निरंतर इच्छा के बारे में दूसरे मामले में, क

पानी पीने का मन नहीं होता तो इन भोजन को करें डायट में शामिल

पानी पीने का मन नहीं होता तो इन भोजन को करें डायट में शामिल

सर्दियों मे आपके शरीर में अक्सर पानी की कमी देखने को मिलती है क्योंकि इस समय आप पानी बहुत कम पीने लगते है। इसलिए आपकी सेहत को खतरा रहता है। आपके शरीर को सर्दियों में भी पानी की काभी आवश्यकता रहती है।

आपको सर्दियों में कम से कम 10 गिलास पानी रोजाना पीना चाहिए। आपको बता दें कि अगर आप ऐसा नहीं करते है तो आपके शरीर में ऊर्जा कम होने लगती है और आपका शरीर बीमार हो सकता है।

आज आपको बताएंगे कि अगर आप पानी नहीं पी पाते है तो कुछ भोजन को अपनी डायट में शामिल कर सकते है जो कि आपके शरीर से पानी की कमी सर्दियों में नहीं होनो देते है।

राजमा की खेती कैसे करें और कब

राजमा की खेती कैसे करें और कब

समस्तीपुर। राजमा की खेती रबी ऋतु में की जाती है। अभी इसके लिए उपयुक्त समय है। यह मैदानी क्षेत्रों में अधिक उगाया जाता है। राजमा की अच्छी पैदावार हेतु 10 से 27 डिग्री सेंटीग्रेट तापमान की आवश्यकता पड़ती है। राजमा हल्की दोमट मिट्टी से लेकर भारी चिकनी मिट्टी तक में उगाया जा सकता है।

राजमा उन्नतशील प्रजातियां है

राजमा में प्रजातियां जैसे कि पीडीआर 14, इसे उदय भी कहते है। मालवीय 137, बीएल 63, अम्बर, आईआईपीआर 96-4, उत्कर्ष, आईआईपीआर 98-5, एचपीआर 35, बी, एल 63 एवं अरुण है।

खेत की तैयारी

कैंसर से बचने के घरेलु उपाय

कैंसर से बचने के घरेलु उपाय

बदलते लाइफस्टाइल और गलत खानपान की आदतों के कारण लोगों को कई गंभीर बीमारियों का सामना करना पडता हैं। इन्हीं में से एक है कैंसर। कैंसर एक एेसी बीमारी हैं जिसका नाम सुनते ही लोग डर जाते हैं। दिनों-दिन कैंसर से पीड़ित लोगों की सख्या बढ़ रही है। वहीं, अगर समय रहते इसे पहचान लिया जाए तो इसका इलाज संभव है। इस बीमारी से बचने के लिए अपनी खानपान की कुछ आदतों पर ध्यान दें। आज हम आपको कैंसर के कुछ घरेलू उपाय बताने जा रहे है।

 कैंसर के लक्षण

टांसिल्स से बचने के घरेलु उपाय

टांसिल्स से बचने के घरेलु उपाय

टांसिल्स की सूजन गले में होनेवाला मुख्य  बीमारी है. जिन लोगों को यह बीमारी होता है, उन्हें यह बार-बार सताता भी है. कफ एवं रक्त में खराबी के वजह से  तालू की जड़, जिसे ‘गलतुंडिका’ भी कहते हैं, उसमें ज्यादा सूजन आ जाती है. इसका मुख्य वजह से  सर्दी लगना है. सर्दी के वजह से  गला अधिक प्रभावित होता है. यह आपके शरीर में होनेवाले उपद्रव उपसर्गो से हमारी रक्षा करता है. 

     

क्यों होता है Tonsil सूजन

 

थायराइड की समस्या और घरेलु उपचार

थायराइड की समस्या और घरेलु उपचार

थायराइड की समस्या आजकल एक गंभीर समस्या बनी हुई है। थाइराइड गर्दन के सामने और स्वर तंत्र के दोनों तरफ होती है। ये तितली के आकार की होती है। थायराइड गले में पायी जाने वाली एक ग्रंथि है। गले में पायी जाने वाली इस थायराइड ग्रंथि से थायरोक्सिन हॉर्मोन निकलता है। जब इस ग्रंथि से निकलने वाले थायरोक्सिन हॉर्मोन का बैलेंस बिगड़ जाता है, जब शरीर में अनेक प्रकार की बीमारियां होने लगती है। जब ग्रंथि से निकलने वाले थायरोक्सिन हॉर्मोन की मात्रा कम हो जाती है, तब शरीर में मेटाबोलिज़्म तेज होने लगते है, जिससे हमारी बॉडी की एनर्जी जल्दी ख़त्म हो जाती है। इसके विपरीत इसकी मात्रा बढ़ने के कारण, मेटाबोलिज़्म कम हो

Pages