कौशल भारत कुशल भारतप्रधानमंत्री कौशल विकास योजना

कौशल भारत कुशल भारत

मिडिया

फिज़िका माइंड पोर्टल में आपका हार्दिक स्वागत है ,फिज़िका माइंड आपका अपना वेब पोर्टल है इस वेबसाइट में आप हमें समाज से जुडी न्यूज़, कृषि से जुडी न्यूज़ , शिक्षा,समाज न्यूज़ पेपर कटिंग , न्यूज़ के विडियो क्लिप भेज सकते है समाज से जुडी सभी जानकारियो को एक ही जगह समाहित करने का प्रयास किया गया है।

Read more

घरबैठे कंप्यूटर सर्टिफिकेट कोर्स

फिजिका माइड भारत सरकार के लघुरूप सुक्षम मंत्रालय से पंजीकृत संस्था है | संस्था २००४ से सेवा में प्रयासरत है | फिज़िका माइंड के द्वारा अब आप घर बैठे कंप्यूटर के सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते हैं जो कि आपको लेटेस्ट ज्ञान से भरपूर होगा और सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी को आप सीखेंगे|

Read more

व्यापार में सफलता के उपाय

आप की कामयाबी को ही हम अपनी कामयाबी मानते हैं आपके व्यापार को सफल बनाने के लिए फिज़िका माइंड आपके लिए वेबसाइट और Android ऐप बनाना चाहता है , और भी बहुत सारे मार्केटिंग के उपाय हमारे पास आप के लिए हैं | हमारी सफलता का कारवां बढ़ता ही जा रहा है जिसमें आपका भी स्वागत है

Read more

नासा ने बनाया नया अंतरिक्ष इंजन

नासा ने बनाया नया अंतरिक्ष इंजन

वाशिंगटन| अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने अपने अभियान में नई उपलब्धि जोड़ते हुए एक नए ‘माइक्रोवेव थ्रस्टर सिस्टम’ का सफल परीक्षण किया है। यह ऐसा उपकरण है, जिसमें बल उत्पन्न करने के लिए किसी प्रणोदक की आवश्यकता नहीं पड़ती। यह इंजन बिजली की सहायता से खुद ही प्रणोदन उत्पादन करता है और इसके लिए इंजन को अतिरिक्त प्रेरक की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

इंटरनेट की जान कहाँ बसती है?

इंटरनेट की जान कहाँ बसती है?

इंटरनेट कभी बंद नहीं होगा. कम से कम हम लोग तो ऐसा ही सोचते हैं. तभी तो जब कोई चीज़ इंटरनेट पर काफ़ी ज्यादा वायरल हो जाती है चाहे वो किम कार्दाशियां की तस्वीरें हो या फिर द ड्रेस हैशटैग का वायरल होना हो, हम मजाक में कहते हैं कि ये 'ब्रेकिंग द इंटरनेट' जैसा है.

हम ऐसा इसलिए कहते हैं कि क्योंकि हमें ये मालूम है कि ऐसा होने वाला नहीं है. लेकिन क्या इंटरनेट को ब्रेक किया जा सकता है? अगर मान लीजिए कि ऐसा हो जाए तो फिर क्या होगा, क्या हम इसका अंदाजा भी लगा सकते हैं?

प्रकाश से भी तेज़ गति से होगी बात?

प्रकाश से भी तेज़ गति से होगी बात?

प्रकाश की गति इतनी ज्यादा होती है कि यह लंदन से न्यूयार्क की दूरी को एक सेकेंड में 50 से ज़्यादा बार तय कर लेगी.

लेकिन मंगल और पृथ्वी के बीच (22.5 करोड़ किलोमीटर की दूरी) यदि दो लोग प्रकाश गति से भी बात करें, तो एक को दूसरे तक अपनी बात पहुंचाने में 12.5 मिनट लगेंगे.

वॉयेजर स्पेसक्राफ्ट हमारी सौर व्यवस्था के सबसे बाहरी हिस्से यानी पृथ्वी से करीब 19.5 अरब किलोमीटर दूर है. हमें पृथ्वी से वहाँ संदेश पहुँचाने में 18 घंटे का वक्त लगता है.

पृथ्वी पर उत्पत्ति का राज़ क्या है?

पृथ्वी पर उत्पत्ति का राज़ क्या है?

पृथ्वी पर जीवन कैसे शुरू हुआ, इसे समझने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर के वैज्ञानिकों का एक समूह ब्रिटेन से मध्य अटलांटिक महासागर के लिए रवाना हो रहा है.

वैज्ञानिकों का ये दल समुद्र तल की गहराई से सूक्ष्म जीवों के नमूने इकट्ठे करेगा.

नमूने जुटाने के लिए रिमोट-कंट्रोल ड्रिल की मदद ली जाएगी.

रिमोट-कंट्रोल ड्रिल की मदद से वैज्ञानिक समुद्र तल में छेद करके पत्थरों और समुद्री सूक्ष्म जीवों के नमूने जुटाएंगे.

वे समुद्र में पानी के नीचे मौजूद पहाड़ों का शृंखला की खोज करेंगे.

सोनी का नया एलईडी बल्‍ब ब्‍लूटूथ स्‍पीकर के साथ

सोनी का नया एलईडी बल्‍ब ब्‍लूटूथ स्‍पीकर के साथ

सोनी इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स ने एक ऐसा एलईडी बल्‍ब पेश किया है, जिसे ब्‍लूटूथ स्‍पीकर की तरह भी उपयोग किया जा सकता है।

360 ल्‍यूमेन का यह बल्‍ब, स्‍मार्टफोन के साथ आसानी से पेयर किया जा सकता है तथा इसकी चमक एवं साउंड वॉल्‍यूम को कंट्रोल किया जा सकता है।

इस बल्‍ब के साथ एनएफसी पेयरिंग डिवाइस भी मिलेगी, जिसे रिमोट कंट्रोल से नियंत्रित किया जा सकेगा। सोनी का कहना है कि पहले लाइट्स को स्‍पीकर के साथ कनेक्‍ट कठिन था। लेकिन इस नए बल्‍ब के साथ यह काम आसान हो गया है।

An engineer was enjoying

An engineer was enjoying his very first vacation ever, relaxing on a cruise ship in the Caribbean. It was wonderful, the experience of his life. He was being waited on hand and foot. But a hurricane came, and the ship went down instantly. The man found himself swept up onto the shore of an island. There was nothing else anywhere to be seen. No person, no supplies, nothing. The man looked around. There were some bananas and coconuts, but that was it. He was desperate, and forlorn, but decided to make the best of it.

आसमान से इंटरनेट मुहैया कराना चाहता है फेसबुक

आसमान से इंटरनेट मुहैया कराना चाहता है फेसबुक

ड्रोन्स के जरिए फेसबुक देगा हाइ-स्पीड इंटरनेट!
विश्व का सबसे बड़ा नेटवर्क प्लेफॉर्म फेसबुक लेजर टेक्नोलॉजी पर काम कर रहा है ताकि हाइ-स्पीड इंटरनेट ड्रोन या सैटेलाइट के द्वारा प्रदान कर सकें।

फेसबुक के फाउंडर और सीइओ मार्क जुकरबर्ग ने आज अपने सोशल मीडिया पेज पर कहा कि “हमारी कनेक्टिविटी लैब एक लेजर कम्युनिकेशन सिस्टम को विकसित कर रही है, जो कम्युनिटीज को आसमान से किरणों के सहारे डाटा दे सकता है। इससे दूरवर्ती क्षेत्रों में भेजे जाने वाले डाटा की स्पीड बढ़ जाएगी।“

कागज से बनी बैटरी बैक्टीरिया से चलेगी

कागज से बनी बैटरी बैक्टीरिया से चलेगी

कभी सोचा है कि आपकी मेज पर रखा कागज भी बैटरी का काम कर सकता है? चौंकिए मत, अमेरिकी शोधकर्ताओं ने कागज मोड़ने की विशेष जापानी तकनीक ओरिगामी की मदद से कागज की बैटरी बनाई है। इसकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसे ऊर्जा बैक्टीरिया के जरिये मिलती है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि यह बैटरी सूक्ष्मजीवों की श्वसन क्रिया के माध्यम से ऊर्जा उत्पादित करती है। अमेरिका स्थित बिंघमटन यूनिवर्सिटी के श्योखेऊं चोई ने कहा, "कागज न केवल बेहद सस्ती बल्कि जैविक रूप से विघटित हो जाने वाली चीज भी है।

Pages