मिडिया

फिज़िका माइंड पोर्टल में आपका हार्दिक स्वागत है ,फिज़िका माइंड आपका अपना वेब पोर्टल है इस वेबसाइट में आप हमें समाज से जुडी न्यूज़, कृषि से जुडी न्यूज़ , शिक्षा,समाज न्यूज़ पेपर कटिंग , न्यूज़ के विडियो क्लिप भेज सकते है समाज से जुडी सभी जानकारियो को एक ही जगह समाहित करने का प्रयास किया गया है।

Read more

घरबैठे कंप्यूटर सर्टिफिकेट कोर्स

फिजिका माइड भारत सरकार के लघुरूप सुक्षम मंत्रालय से पंजीकृत संस्था है | संस्था २००४ से सेवा में प्रयासरत है | फिज़िका माइंड के द्वारा अब आप घर बैठे कंप्यूटर के सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते हैं जो कि आपको लेटेस्ट ज्ञान से भरपूर होगा और सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी को आप सीखेंगे|

Read more

व्यापार में सफलता के उपाय

आप की कामयाबी को ही हम अपनी कामयाबी मानते हैं आपके व्यापार को सफल बनाने के लिए फिज़िका माइंड आपके लिए वेबसाइट और Android ऐप बनाना चाहता है , और भी बहुत सारे मार्केटिंग के उपाय हमारे पास आप के लिए हैं | हमारी सफलता का कारवां बढ़ता ही जा रहा है जिसमें आपका भी स्वागत है

Read more

झूठ कैसे दिमाग में पनपता है

झूठ, एक असत्य बयान के रूप में दिया गया एक प्रकार का धोखा है, जो विशेष रूप से किसी को धोखा देने की मंशा से बोला जाता है और प्रायः जिसका उद्देश्य होता है किसी राज़ या प्रतिष्ठा को बरकरार रखना, किसी की भावनाओं की रक्षा करना या सजा या किसी के द्वारा किए गए कार्य की प्रतिक्रिया से बचना. झूठ बोलने का तात्पर्य कुछ ऐसा कहने से होता है जो व्यक्ति जानता है कि गलत है या जिसकी सत्यता पर व्यक्ति ईमानदारी से विश्वास नहीं करता और यह इस इरादे से कहा जाता है कि व्यक्ति उसे सत्य मानेगा. Read More : झूठ कैसे दिमाग में पनपता है about झूठ कैसे दिमाग में पनपता है

सक्रिय ज्वालामुखी की हैरतअंगेज़ तस्वीरें

सक्रिय ज्वालामुखी की हैरतअंगेज़ तस्वीरें

जब कोई ज्वालामुखी पूरी तरह से सक्रिय हो यानी आग की लपटें उठ रही हों और उससे निकलने वाला लावा तेज़ रफ़्तार से निकल रहा हो, तो आस पड़ोस में तूफ़ान जैसी स्थिति होती है जिसे डर्टी थंडरस्टॉर्म कहते हैं.

ज्वालामुखी के संसार पर फ़िल्म बनाने वाले फ़िल्म मेकर मार्क सेज़ेगलट ने इस महीने की शुरुआत में एक सक्रिय ज्वालामुखी की तस्वीरों को अपने कैमरे में कैद किया.

वैसे तो ज्वालामुखी का सक्रिय होना दुर्लभ माना जाता है, लेकिन जापान का साकुराजिमा ज्वालामुखी आश्चर्यजनक रूप से दुनिया का सबसे सक्रिय ज्वालामुखी है. Read More : सक्रिय ज्वालामुखी की हैरतअंगेज़ तस्वीरें about सक्रिय ज्वालामुखी की हैरतअंगेज़ तस्वीरें

ब्रह्मांड के विचित्र सिद्धांत

ब्रह्मांड के विचित्र सिद्धांत

ब्रह्मांड, इन्फिनिटी और रहस्य की। छोटे सौर मंडल, ब्रह्मांड और अपने परिधीय, है बहुत ज्यादा सभी ज्ञान और समझ के भागों में, यह ऐसी एक सिरदर्द था। इसकी आंतरिक कार्रवाई और अन्य जीवन रूपों की उपस्थिति के साथ आमतौर पर परे, ब्रह्मांड के रहस्यों निकट से संबंधित हैं। सिद्धांत ही ब्रह्मांड के कई रहस्य पता करने के लिए, लेकिन भी मनुष्य वास्तविक दुनिया के सभी धारणा विकृत करने के लिए आसान नहीं है।

 कितने ग्रहों में सौर? कोई नहीं जानता Read More : ब्रह्मांड के विचित्र सिद्धांत about ब्रह्मांड के विचित्र सिद्धांत

शव क़ब्रों से क्यों निकाल रहे हैं लोग?

शव क़ब्रों से क्यों निकाल रहे हैं लोग?

ग्रीस के थेस्सालोनिकी के मुख्य क़ब्रिस्तान में कैटरिना कित्सियाव अपने पिता की समाधि के पास खड़ी हैं. वो अपने पिता क्रिस्टोडोलस का शव क़ब्र से बाहर निकालते देखने आई हैं.

क्रिस्टोडोल्स को सात साल पहले दफ़न किया गया था, लेकिन उनके बच्चों के पास समाधि के लिए देने को पैसे नहीं हैं. Read More : शव क़ब्रों से क्यों निकाल रहे हैं लोग? about शव क़ब्रों से क्यों निकाल रहे हैं लोग?

पृथ्वी पर पानी की कहानी

पृथ्वी पर पानी की कहानी

हमारी आकाशगंगा में कई ख़त्म हो रहे तारे होते हैं जो क्षुद्र ग्रह के अवशेष होते हैं.

ठोस पत्थर के गोले के तौर पर ये किसी तारे पर गिर कर ख़त्म हो जाते हैं.

तारों के वायुमंडल पर नज़र रखने वाले वैज्ञानिकों के मुताबिक क्षुद्र ग्रह पत्थर के बने होते हैं, लेकिन इनमें काफ़ी पानी भी मौजदू होता है.

इस नतीजे के आधार पर इस सवाल का उत्तर मिल सकता है कि पृथ्वी पर पानी कहां से आया? Read More : पृथ्वी पर पानी की कहानी about पृथ्वी पर पानी की कहानी

मंगल पर मीथेन की मौजूदगी से जीवन के संकेत

signs-of-life-from-presence-of-methane-on-mars

वैज्ञानिकों ने मंगल ग्रह के उल्कापिंडों में मीथेन के निशान पाए हैं जो जीवन के मौजूदगी की तरफ इशारा करती है. वैज्ञानिकों ने मंगल ग्रह के उल्कापिंडों में मीथेन के निशान पाए हैं और यह एक ऐसी खोज है जो रक्ताभ ग्रह पर गर्म, नम और रासायनिक रूप से प्रतिक्रियाशील वातावरण की मौजूदगी की तरफ इशारा करती है, वैज्ञानिकों ने मंगल ग्रह से जुड़ी ज्वालामुखीय चट्टानों के उल्कापिंडों के नमूनों की जांच की है, उल्कापिंडों में मंगल ग्रह के वायुमंडल के ही अनुपात और उसी समस्थानिक संरचना में गैसें पाई गई हैं, सभी छह नमूनों में मीथेन गैस पाई गई है. Read More : मंगल पर मीथेन की मौजूदगी से जीवन के संकेत about मंगल पर मीथेन की मौजूदगी से जीवन के संकेत

क्या आप वही रंग देखते हैं जो मैं देखता हूं?

क्या आप वही रंग देखते हैं जो मैं देखता हूं?

कुछ हफ्ते पहले एक तस्वीर में ड्रेस का रंग, एक बड़ा मसला बनकर इंटरनेट पर चर्चित रहा.

कहीं भी उस ड्रेस के रंग को लेकर मत एक जैसा नहीं था. दफ्तरों में, घरों में जैसे दो ख़ेमे बन गए - एक, जिन्हें ड्रेस गोल्ड-व्हाइट दिखी और दूसरे, जिन्हें ड्रेस ब्लू-ब्लैक दिखी.

तो फिर असलियत क्या है? वही तस्वीर, दो इंसानों को नंगी आंख से अलग-अलग रंग की कैसे दिख सकती है?

दिमाग पर है सब निर्भर

दरअसल दिलचस्प बात ये जानने में है कि किसी वस्तु के रंग को लेकर हमारे दिमाग में क्या चलता है. क्या आप जानते हैं इसका विज्ञान क्या है? Read More : क्या आप वही रंग देखते हैं जो मैं देखता हूं? about क्या आप वही रंग देखते हैं जो मैं देखता हूं?

नष्ट होते तारों से आया धरती पर सोना

सोना पुराने समय से ही मनुष्य को आकर्षित करता रहा है. इस सोने की खोज में कइयों ने अपनी जान गंवाई. इसी सोने के कारण कई युध्द लड़े गये. एक ओर जहां यह आभूषण बनाने के काम आता है तो दूसरी ओर इसकी कमी इसका मूल्य बढ़ा देती है.

सोना केवल धरती पर ही कम मात्रा में नहीं है, बल्कि ब्रह्मांड में भी इसकी कमी है. पिछले दिनों एक खगोलीय घटना के विश्लेषण से वैज्ञानिकों ने यह संकेत दिया कि सोने का जन्म नष्ट होते तारों के टकराने से हुआ है. कार्बन और लोहे के विपरीत सोना तारों के अंदर नहीं पैदा होता है बल्कि इसका जन्म और भी जटिल घटना से होता है. Read More : नष्ट होते तारों से आया धरती पर सोना about नष्ट होते तारों से आया धरती पर सोना

Pages