लंबी उम्र पाने के लिए रोज पीएं 3 कप कॉफी

लंबी उम्र पाने के लिए रोज पीएं 3 कप कॉफी

प्रतिदिन तीन कप कॉफी पीने से कुछ बीमारियों के कारण समयपूर्व मौत का खतरा कम हो सकता है। एक नए शोध में यह बात कही गई है
यॉर्क। प्रतिदिन तीन कप कॉफी पीने से कुछ बीमारियों के कारण समयपूर्व मौत का खतरा कम हो सकता है। एक नए शोध में यह बात कही गई है। हारवर्ड युनिवर्सिटी के 'टी. एच. चान स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ' के शोधकर्ताओं को अध्ययन में पता चला कि कैफीन युक्त या कैफीन रहित दोनों तरह की कॉफी पीने के कई फायदे हैं। अन्य फायदों के अतिरिक्त इससे दिल के रोगों, मस्तिष्क संबंधी रोगों, टाइप टू डायबिटीज और आत्महत्या का खतरा भी कम हो सकता है।

बिजनेस शुरू करने से पहले जानें कानून का फंडा

बिजनेस शुरू करने से पहले जानें कानून का फंडा

स्टार्टअप शुरू करने के बाद सबसे बड़ी चुनौती उससे जुड़ी औपचारिकताओं को पूरा करने की है। रजिस्ट्रेशन की रस्सी जकड़ने लगती है तो परमिशन का पंगा निपटाने में पसीने छूट जाते हैं। एक्सपर्ट्स की मदद से अमित मिश्रा बता रहे हैं कैसे निपटें स्टार्टअप के आड़े आने वाली लीगल अड़चनों से: बूझें स्टार्टअप की लीगल पहेली अक्सर देखने में आता है जब कोई स्टार्टअप बड़ा होने लगता है तो रजिस्ट्रेशन और परमिशन के भंवर में फंस कर रह जाता है। इससे बचने का सही तरीका यह है कि शुरुआत से ही कुछ वक्त और पैसा अपनी कंपनी के हिसाब से इनवेस्ट करें। स्टार्टअप की शुरुआत में दो तरह की कानूनी अड़चनें आती हैं: - रजिस्ट्रेशन: यह मुख्

पॉजिटिव पे रोकेगा चेक से होने वाले फ्रॉड !

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने अपने पांच पूर्व सहयोगी बैंक और भारतीय महिला बैंक के ग्राहकों से नई चेक बुक के आवेदन के लिए कहा है। बैंक ने ग्राहकों को तुरंत प्रभाव से नई चेक बुक का आवेदन करने के लिए इसलिए कहा है कि क्योंकि 30 सितंबर, 2017 के बाद पुराने बैंक के चेक और IFS कोड वैध नहीं होंगे। इन्हें अमान्य करार दिया जाएगा। एसबीआई ने ग्राहकों से कहा है कि नई चेक बुक के लिए इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, एटीएम या फिर शाखा में जाकर तुरंत आवेदन कर लें।

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने अपने पांच पूर्व सहयोगी बैंक और भारतीय महिला बैंक के ग्राहकों से नई चेक बुक के आवेदन के लिए कहा है। बैंक ने ग्राहकों को तुरंत प्रभाव से नई चेक बुक का आवेदन करने के लिए इसलिए कहा है कि क्योंकि 30 सितंबर, 2017 के बाद पुराने बैंक के चेक और IFS कोड वैध नहीं होंगे। इन्हें अमान्य करार दिया जाएगा। एसबीआई ने ग्राहकों से कहा है कि नई चेक बुक के लिए इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, एटीएम या फिर शाखा में जाकर तुरंत आवेदन कर लें। 

खाने से पहले या ठीक बाद में फल खाना क्यों है गलत?

खाने से पहले या ठीक बाद में फल खाना क्यों है गलत?

कहते हैं लाइफ स्टाइल का हमारे शरीर पर बहुत गहरा प्रभाव पड़ता है। अनियमित दिनचर्या व खानपान से शरीर में कई तरह की बीमारियां पैदा कर सकता है। इसीलिए आयुर्वेद में मान्यता है कि नियमित दिनचर्या से आयु लंबी होती है। कुछ काम ऐसे होते हैं, जिन्हें करने से पाचन क्रिया तीव्र हो जाती है व खाना जल्दी पच जाता है। इसके ठीक विपरीत कुछ काम ऐसे भी होते हैं, जिन्हें करने से पाचन क्रिया धीमी हो जाती है व कई तरह के रोग शरीर को घेर लेते हैं।  आयुर्वेद में हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के हर एक तरीके के बारे में विस्तार से लिखा गया है। उसमें यह बताया गया है कि किस समय उठना चाहिये और दिन भर में कब क्या खाना चाहिये ज

Pages