मिडिया

फिज़िका माइंड पोर्टल में आपका हार्दिक स्वागत है ,फिज़िका माइंड आपका अपना वेब पोर्टल है इस वेबसाइट में आप हमें समाज से जुडी न्यूज़, कृषि से जुडी न्यूज़ , शिक्षा,समाज न्यूज़ पेपर कटिंग , न्यूज़ के विडियो क्लिप भेज सकते है समाज से जुडी सभी जानकारियो को एक ही जगह समाहित करने का प्रयास किया गया है।

Read more

घरबैठे कंप्यूटर सर्टिफिकेट कोर्स

फिजिका माइड भारत सरकार के लघुरूप सुक्षम मंत्रालय से पंजीकृत संस्था है | संस्था २००४ से सेवा में प्रयासरत है | फिज़िका माइंड के द्वारा अब आप घर बैठे कंप्यूटर के सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते हैं जो कि आपको लेटेस्ट ज्ञान से भरपूर होगा और सबसे एडवांस टेक्नोलॉजी को आप सीखेंगे|

Read more

व्यापार में सफलता के उपाय

आप की कामयाबी को ही हम अपनी कामयाबी मानते हैं आपके व्यापार को सफल बनाने के लिए फिज़िका माइंड आपके लिए वेबसाइट और Android ऐप बनाना चाहता है , और भी बहुत सारे मार्केटिंग के उपाय हमारे पास आप के लिए हैं | हमारी सफलता का कारवां बढ़ता ही जा रहा है जिसमें आपका भी स्वागत है

Read more

केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान

केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान केवलादेव नैशनल पॉर्क घना बर्ड सैंक्चुरी केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान, घना पक्षी विहार कहाँ है, घना पक्षी अभयारण्य कहाँ है, केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान घना पक्षी विहार, मानस राष्ट्रीय उद्यान, केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान कहां स्थित है, केवलादेव नेशनल पार्क घना बर्ड सैंक्चुरी केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान, केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान कहां पर स्थित है

भरतपुर पक्षी अभयारण्य के नाम से जाना जाने वाला केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान भारत के दो सबसे ऐतिहासिक शहरों आगरा और जयपुर के बीच है। उत्तर भारत का यह उद्यान देश के राजस्थान राज्य के उत्तर पश्चिम हिस्से में स्थित है। वर्ष 1982 में इसे राष्ट्रीय उद्यान घोषित किया गया था और 1985 में यूनेस्को ने इसे विश्व विरासत स्थल घोषित किया। यह उद्यान बास्किंग पैथॉन (बास्किंग अजगर), पेंटेड स्टॉर्क, हिरण, नीलगाय और अन्य पशुओं समेत 370 से अधिक पक्षी और पशु प्रजातियों का निवास स्थान है। यह मुख्य रूप से प्रवासी साइबेरियाई सारसों के लिए जाना जाता है। Read More : केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान about केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान

बीड़ी-तंबाकू छुड़ाने का उपाय

अंडकोष वृधि के लिए विशेष लाभदायक::गोमुखासन

अंडकोष वृधि के लिए विशेष लाभदायक::गोमुखासन गोमुखासन योग, गोमुखासन फायदे, गोमुखासन का वर्णन, गोमुखासन, गोमुखासन बाबा रामदेव, गोमुखासन मराठी माहिती, पद्मासन, गोमुखासन को गोमुखासन क्यों कहते हैं

गोमुखासन आसन में व्यक्ति की आकृति गाय के मुख के समान बन जाती है इसीलिए इसे गोमुखासन कहते हैं। यह आसन आध्‍यात्मिक रूप से अधिक महत्‍व रखता है तथा इस आसन का प्रयोग स्‍वाध्‍याय एवं भजन, स्‍मरण आदि में किया जाता है। यह आसन पीठ दर्द, वात रोग, कंधे के कडे़ंपन, अपच तथा आंतों की बीमारियों को दूर करता है।

यह अंडकोष से संबन्धित रोगों को दूर करता है। यह आसन उन महिलाओं को अवश्‍य करना चाहिये, जिनके स्‍तन किसी कारण से छोटे तथा अविकसित रह गए हों। यह आसन स्‍त्रियों की सौंदर्यता को बढ़ाता है और यह प्रदर रोग में भी लाभकारी है।

गोमुखासन की विधि- Read More : अंडकोष वृधि के लिए विशेष लाभदायक::गोमुखासन about अंडकोष वृधि के लिए विशेष लाभदायक::गोमुखासन

वात रोग की अचूक नुस्खा

वात रोग प्राणायाम, वात रोग के आसन, वात रोग की होम्योपैथिक, वात रोग का आयुर्वेदिक उपचार, शरीर की वायु या वात विकार या बादी हटाने की दवा, वात रोग, वात रोग के लक्षण मराठी, वात कमी करण्यासाठी

सिर्फ एक दवा का प्रयोग कर आप 80 प्रकार के वात रोगों से बच सकते हैं। जी हां, इस दवा का सेवन करने से आप कठिन से कठिन बीमारियों से पूरी तरह से निजात पा सकते हैं। अगर आपको भी होते हैं वात रोग, तो पहले जानिए इस चमत्कारिक दवा और इसकी प्रयोग विधि के बारे में... Read More : वात रोग की अचूक नुस्खा about वात रोग की अचूक नुस्खा

लिंग मुद्रा

लिंग मुद्रा प्राण मुद्रा, अपान मुद्रा, पृथ्वी मुद्रा, ज्ञान मुद्रा, शून्य मुद्रा, वायु मुद्रा, लिंग मुद्रा

लिंग मुद्रा -

विधि-
सर्वप्रथम वज्रासन / पद्मासन या सुखासन में बैठ जाइए।
अब  अपने दोनो हाथों की उंगलियों को आपस में फँसाकर सीधे हाथ के अंगूठे को बिल्कुल सीधा रखेंगे यही लिंग मुद्रा कहलाती है  ।
आँखे बंद रखते हुए श्वांस सामान्य बनाएँगे।
अपने मन को अपनी श्वांस गति पर व मुद्रा  पर केंद्रित रखिए।

लाभ- 

    -बलगम व खाँसी में लाभप्रद।
    -शरीर में गर्मी उत्पन्न करती है व मोटापे को कम करती है।
    -श्वसन तंत्र को मजबूत करती है। Read More : लिंग मुद्रा about लिंग मुद्रा

दर्द निवारक तेल

पतंजलि दर्द निवारक तेल, दर्द निवारक तेल कैसे बनाये, दर्द निवारक औषधि, कमर दर्द का तेल, महानारायण तेल बनाने की विधि, जोड़ो के दर्द के लिए तेल बनाने की विधि, जॉइंट पैन आयल, दर्द निवारण तेल

दर्द निवारक तेल*
*सामग्री*
लौंग 50 ग्राम
अलसी 50 ग्राम 
धतूरे के पत्ते 5 पीस
आक के पत्ते 5 पीस

पानी 4 लीटर

4 लीटर पानी
में सब 12 घण्टो के लिए भिंगो दे,
सबेरे पकाओ इनको जब 1 लीटर रह जाए। तब इस पानी को छान लो फिर 100 ग्राम तेल डालो कोई भी,
बस एक लीटर काढ़ा जो बचा है और 100 ग्राम तेल 
पकाओ,
जब तेल तेल बचे तो वो तेल इस्तेमाल करो।
किसी भी तरह के दर्द में काम करेगा।

  Read More : दर्द निवारक तेल about दर्द निवारक तेल

नाक की अलर्जी में रामबाण है कपालभाति

नाक की अलर्जी में रामबाण है कपालभाति कपालभाति की सीमाएं, कपालभाति कब करे, कपालभाति के चमत्कार, कपालभाति से लाभ, कपालभाति प्राणायाम बाबा रामदेव, कपालभाति का फायदा, कपालभाति प्राणायाम वीडियो, पहले अनुलोम विलोम या कपालभाति करना चाहिए

दो महीने तक लगातार कपालभाति का अभ्यास करना है, आपका साइनस पूरी तरह से खत्म हो जाएगा। अगर आप इसे सही तरीके से करते हैं, तो कपालभाति से सर्दी-जुकाम से संबंधित हर रोग में आराम मिलेगा।

जिन लोगों को अलर्जी की समस्या है, उन्हें लगातार कपालभाति का अभ्यास करना चाहिए और इसकी अवधि को जितना हो सके, उतना बढ़ाना चाहिए। तीन से चार महीने का अभ्यास आपको अलर्जी से मुक्ति दिला सकता है। Read More : नाक की अलर्जी में रामबाण है कपालभाति about नाक की अलर्जी में रामबाण है कपालभाति

थायराइड का उपचार

थायराइड का अचूक इलाज, हाइपर थायराइड का इलाज, थायराइड का रामबाण इलाज, थायराइड का आयुर्वेदिक उपचार पतंजलि, पुरुषों में थायराइड का इलाज, थायराइड का इलाज बताइए, थायराइड खुराक, थायराइड के लिए योग

ज्यादा तेज पंखे के नीचे ना सोएं, पंखा धीमा या मीडियम स्पीड पर रखें । हंसी या रोना आने पर इन वेगों को ना रोकें , खुलकर हसें या रोएं ।

आयोडीन नमक की जगह सेंधा नमक का इस्तेमाल करें, अल्युमिनियम के बर्तनों का उपयोग बिल्कुल ना करें ।

चाय या काफी और शक्कर का सेवन बिल्कुल ना करें, Read More : थायराइड का उपचार about थायराइड का उपचार

Pages