लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू

लहसुन रात को तकिये के नीचे रखने का जादू

लहसुन में रासायनिक तौर पर गंधक की अधिकता होती है। इसे पीसने पर ऐलिसिन नामक यौगिक प्राप्त होता है जो प्रतिजैविक विशेषताओं से भरा होता है। इसके अलावा इसमें प्रोटीन, एन्ज़ाइम तथा विटामिन बी, सैपोनिन, फ्लैवोनॉइड आदि पदार्थ पाये जाते हैं। लहसुन का नाम सुनते ही आपके दिमाग में एक तेज़ गंध दौड़ने लग जाती है. एक भारतीय होने के नाते आपकी निश्चित रूप से आयुर्वेद में पक्की आस्था होगी. कोई धार्मिक कारण आपको आयुर्वेद से दूर ले जाये, पर आपकी रसोई में चलने वाली कड़ाही की मसालेदार गंध से दूर नहीं ले जा सकता है. इन सब में लहसुन की महत्ता ख़ासतौर पर सामने निकल कर आती है.

व्हाट्सऐप : पासकोड भूले तो मैसेज हो जाएंगे डिलीट

व्‍हाट्सएप ने टू स्‍टेप वैरिफिकेशन

व्‍हाट्सएप ने टू स्‍टेप वैरिफिकेशन का नया फीचर अपडेट करना शुरु कर दिया है अगर आपके फोन में ये अपडेट नहीं आया है तो जल्‍द ही ये फीचर आपके एकाउंट में जुड़ जाएगा। टू स्‍टेप वैरिफिकेशन का फीचर एंडायड के अलावा विंडो और आईओएस डिवाइसेस में भी मिलेगा।

अब यूजर को अपना एकाउंट एक्‍टीवेट करने के लिए एक पासकोड की जरूरत पडेगी यानी व्‍हाट्सएप को किसी भी फोन में इंस्‍टॉल करने के बाद वैरिफिकेशन से पहले ये सिक्‍योरिटी पासकोड डालना होगा, अगर गलत पासकोड यूजर डालता है तो उस एकाउंट में सेव सारा डेटा अपने आप डिलीट हो जाएगा।

कैसे काम करेगा टू स्‍टेप वैरिफिकेशन

अब खुलेगा पेटीएम पेमेंट बैंक

अब खुलेगा पेटीएम पेमेंट बैंक

पेटीऍम एक भारतीय ई-कॉमर्स शॉपिंग वेबसाइट है जिसका उद्घाटन 2010 में किया गया, One97 Communications इसका मालिक है जो शुरू में मोबाइल और DTH रिचार्ज पर आकर्षित किया करती थी। कंपनी का मुख्यालय नॉएडा, भारत में है। यह धीरे-धीरे बिजली के बिल, गैस बिल साथ ही साथ विभिन्न पोर्टलों की रिचार्जिंग और बिल भुगतान प्रदान करती है। पेटीऍम ने 2014 में भारत के ई-कॉमर्स बाजार में प्रवेश किया, फ्लिप्कार्ट, अमेज़न और स्नेपडील के कारोबार की तरह सुविधाएँ और उत्पादों को उपलब्ध कराने लगी। 2015 में, इसने बस यात्रा टिकट बुकिंग को जोड़ा।

भारत सरकार ने तोड़ा बिल गेट्स से रिश्ता?

भारत सरकार

दुनिया के सबसे धनी व्यक्ति बिल गेट्स और भारत सरकार के बीच हुआ एक अहम करार अब तोड़ दिया गया है। ये करार भार प्रतिरक्षीकरण तकनीती सहायक यूनिट यानि इम्युनाइजेशन टेक्निकल सपोर्ट यूनिट से बिल गेट्स की तरफ से मिल रही फंडिंग बिल को खत्म कर दिया है। अब इस काम के लिए भारत सरकार स्वयं फंडिंग करेगी। स्वास्थ्य मंत्रालय इस कार्य के लिए फंडिंग करेगा। पिछले कई वर्षों से हो रही थी फंडिंग बिल गेट्स का फाउंडेशन, गेट्स फाउंडेशन पिछले कई वर्षों से I

Pages